सफेद दाग के कारण और हटाने के घरेलू उपाय – White Spots (Vitiligo) Home Remedies in Hindi

Medically reviewed by Suvina Attavar (Dermatologist & Hair transplant surgeon)
Written by

शरीर पर जगह-जगह सफेद दाग त्वचा संबंधी समस्या है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता या मेलनॉइट्स (मेलेनिन-उत्पादक कोशिकाएं, जो त्वचा के रंग को बनाए रखने का काम करती हैं) के कम होने पर हो सकती हैं (1)। अगर इन दागों का समय रहते उपचार नहीं किया जाए, तो ये पूरे शरीर पर फैल सकते हैं और इनका उपचार करना मुश्किल हो सकता है। इस लेख में हमारे साथ जानिए सफेद दाग के लक्षण और सटीक सफेद दाग का घरेलू उपचार, लेकिन आइए पहले यह जान लेते हैं कि सफेद दाग होने के कारण क्या हैं।

सफेद दाग होने का कारण – Causes of White Spots in Hindi

आपकी त्वचा पर सफेद दाग होने के कारण कई हो सकते हैं, जिनकी जानकारी लेख के इस भाग में हम देने जा रहे हैं (2), (3)।

  • इम्यून सिस्टम से जुड़ी हुई समस्या आपकी त्वचा पर सफेद दाग का कारण बन सकती है, क्योंकि इससे त्वचा में मौजूद मेलनॉइट्स (मेलेनिन-उत्पादक कोशिकाएं होती है, जो त्वचा के रंग को बनाए रखने का काम करती हैं) प्रभावित होते हैं।
  • सफेद दाग की समस्या वंशागत भी हो सकती है।
  • सूर्य की अल्ट्रा वॉइलेट किरणों का प्रभाव।

इसके अलावा, त्वचा पर सफेद दाग के लिए निम्नलिखित कारण भी हो सकते हैं, जिसका अभी तक कोई वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है (4) –

इस लेख के आगे के भाग में सफेद दाग के लक्षण की जानकारी देंगे।

सफेद दाग के लक्षण – Symptoms of Vitiligo in Hindi

सफेद दाग होने से पहले ही इसके लक्षण दिखाई देने लगते हैं। इसका तुरंत उपचार करने से इस समस्या के प्रभाव को रोका जा सकता है। नीचे जानिए सफेद दाग के लक्षण (5) (3)।

  • त्वचा के रंग में परिवर्तन होना शुरू हो जाता है।
  • सूर्य की किरणों के संपर्क में आने से बगल, जननांग व पेट पर धब्बे नजर आने लगते हैं।
  • बाल जल्दी भूरे होने लगते हैं।
  • आंखों की पुतलियों का रंग बदलने लगता है।
  • पतली झिल्ली (Mucous membrane) के रंग में परिवर्तन भी सफेद दाग की ओर इशारा करता है।

आगे के भाग में सफेद दाग के प्रकार के बारे में जानकारी देंगे।

सफेद दाग के प्रकार – Types of White Spots in Hindi

सफेद दाग के प्रकार उसके प्रभाव क्षेत्र के अनुसार निर्धारित किया जा सकता है। नीचे जानिए सफेद दाग कितने प्रकार के होते हैं (6)।

जनरलाइज विटिलिगो : यह सफेद दाग का सबसे सामान्य रूप है। इसमें शरीर के दोनों तरफ घाव दिखाई देते हैं। जनरलाइज विटिलिगो से ग्रसित व्यक्ति के हाथ, कलाई, कोहनी, अंडरआर्म्स, पलकें, नासिका, होंठ, कान, कूल्हे, घुटने, टखने और पैर पर सफेद दाग दिखाई देते हैं। विटिलिगो का यह प्रकार निरंतर फैलता है।

सेगमेंटल विटीलिगो : इसमें शरीर के केवल एक ही हिस्से में प्रभाव दिखाई देता है। सफेद दाग का यह प्रकार चेहरे, गर्दन, बाहों या पैरों को निशाना बनाता है। ये घाव अक्सर बचपन में शुरू होते है और कुछ वर्षों में फैलने बंद हो जाते हैं।

यूनिवर्सल विटिलिगो : यह सफेद दाग का एक गंभीर रूप है, जो शरीर के 80 प्रतिशत भाग को प्रभावित करता है।

लिप-टिप विटिलिगो : यह विटिलिगो का एक असामान्य रूप है, जिसका प्रभाव होंठों व हाथ-पैर की उंगलियों पर दिखाई देता है।

फोकल विटिलिगो : यह सफेद दाग का एक असामान्य रूप है, जिसमें त्वचा पर कुछ घाव दिखाई देते हैं। कभी-कभी फोकल विटिलिगो जनरलाइज विटिलिगो की पहली अवस्था के रूप में दिखा देता है। फोकल विटिलिगो का इलाज जनरलाइज विटिलिगो की तुलना में ज्यादा आसान होता है।

इस लेख के आगे के भाग में सफेद दाग के घरेलू उपचार की जानकारी देंगे ।

सफेद दाग कम करने के लिए घरेलू उपाय – Home Remedies for Vitiligo in Hindi

त्वचा पर सफेद दागों को घरेलू तरीके से उपचार कर कम किया जा सकता है और इसे शरीर के अन्य हिस्सों में फैलने से रोका जा सकता है। हालांकि, हम यहां स्पष्ट कर दें कि यहां बताए गए घरेलू उपाय इस समस्या का इलाज नहीं, बल्कि इसे कुछ हद तक बढ़ने से रोक सकते हैं। बेहतर परिणाम के लिए इन घरेलू तरीकों का उपयोग चिकित्सा उपचार के साथ किया जाना चाहिए क्योंकि केवल घरेलू उपचार का उपयोग करने से इस समस्या में कुछ खास मदद नहीं मिलेगी। तो नीचे जानिए सफेद दाग को कम करने के लिए घरेलू उपचारों के बारे में।

1. नारियल तेल की मालिश

Coconut oil for white spots treatment in hindi

Shutterstock

सामग्री
  • नारियल तेल
इस्तेमाल कैसे करें
  • सफेद दाग वाले क्षेत्रों पर नारियल तेल लगाएं और हल्की मालिश करें।
कितनी बार करें
  • रोजाना दिन में दो बार इस उपाय को करें।
कैसे है लाभदायक

सफेद दाग को नारियल तेल से कम किया जा सकता है। नारियल तेल में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा को स्वस्थ रखने का काम करते हैं। नारियल तेल का एंटीऑक्सीडेंट गुण सफेद दागों के लिए फायदेमंद हो सकता है (7),(8)।

2. सरसों का तेल और हल्दी

सामग्री
  • 250 मिली सरसों का तेल
  • 5 चम्मच हल्दी पाउडर
इस्तेमाल कैसे करें
  • सरसों के तेल में हल्दी डालकर अच्छी तरह मिलाएं।
  • अब इस मिश्रण को सफेद दागों पर लगाएं और इसे कुछ घंटों के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
  • आगे के उपयोग के लिए बचे हुए तेल को एक एयरटाइट कंटेनर में स्टोर करें।
कितनी बार करेंं
  • दिन में दो बार इस उपाय को करें
कैसे है लाभदायक

सरसों के तेल और हल्दी को मिलाकर सफेद दाग का घरेलू उपचार किया जा सकता है। हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट के गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा के सफदे दागों को मिटाने का काम कर सकते हैं (7),(9)। वहीं, सरसों तेल का उपयोग कर सफेद दाग का कम किया जा सकता है (10)।

3. एलोवेरा सफेद दाग की दवा के रूप में

Aloe vera for white spots treatment in hindi

Shutterstock

सामग्री
  • एक एलोवेरा की पत्ती
इस्तेमाल कैसे करें
  • चाकू और चम्मच की मदद से एलोवेरा की पत्ते से जेल निकालें।
  • अब इस जेल को प्रभावित जगह पर लगाएं और कुछ घंटों के लिए छोड़ दें।
कितनी बार करें
  • दिन में 2 से 3 बार इस उपाय को करें।
कैसे है लाभदायक

एलोवेरा त्वचा के लिए बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। यह त्वचा से झुरियां और स्ट्रेच मार्क्स को दूर करने का काम करता है। साथ ही यह त्वचा में पिगमेंटशन को बढ़ावा देने का काम भी करता है, जिससे त्वचा के सफेद दागों से निजात पाया जा सकता है (11)।

4. विटामिन सफेद दाग की दवा के रूप में

विटामिन और फोलिक एसिड त्वचा में सफेद दाग को कम करने का काम कर सकते हैं। एक शोध के जरिए 100 विटिलिगो के मरीजों पर इसका परीक्षण किया गया, जिससे यह साबित हो गया कि सफेद दाग के इलाज के लिए यह लाभदायक होता है (12)।

5. अदरक सफेद दाग के इलाज के लिए

ginger for white spots treatment in hindi

Shutterstock

सामग्री
  • अदरक का अर्क (आवश्यकतानुसार)
इस्तेमाल कैसे करें
  • अदरक के अर्क को प्रभावित जगह पर लगाएं और 20 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • फिर पानी से धो लें।
कितनी बार करें
  • इस उपाय को रोजाना एक से दो बार कर सकते हैं।
कैसे है लाभदायक

विटिलिगो का इलाज करने में अदरक का रस लाभकारी हो सकता है। अदरक एक हर्बल औषधि है, जिसका अर्क सफेद दाग से निजात दे सकता है (13)।

6. लाल मिट्टी का उपयोग

सामग्री
  • दो बड़े चम्मच लाल मिट्टी
  • एक बड़ा चम्मच अदरक का अर्क
इस्तेमाल कैसे करें
  • अदरक और लाल मिट्टी को मिलाएं और पेस्ट बनाकर प्रभावित त्वचा लगाएं।
  • पेस्ट को 10 मिनट तक प्रभावित त्वचा पर लगा रहने दें।
  • इसके बाद आप त्वचा को पानी से धो लें।
कितनी बार करें
  • दिन में एक बार उपयोग करें।
कैसे है लाभदायक

अदरक के अर्क के साथ लाल मिट्टी को मिलाकर सफेद दाग का घरेलू उपचार किया जा सकता है, लेकिन त्वचा के सफेद दागों के लिए लाल मिट्टी का उपयोग कितना फायदेमंद है, इस पर वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है।

7. मूली के बीज

Radish seeds for white spots treatment in hindi

Shutterstock

सामग्री
  • मूली के बीज
  • रेड विनेगर
इस्तेमाल कैसे करें
  • मूली के बीजों का पाउडर बनाकर विनेगर के साथ मिलाकर पेस्ट बनाएं।
  • फिर पेस्ट को प्रभावित त्वचा पर लगाएं।
  • इसे 15 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर पानी से धो लें।
कितनी बार करें
  • प्रतिदिन 1 बार उपयोग करें।
कैसे है लाभदायक

सफेद दाग के इलाज में मूली के बीज सहायक हो सकते हैं। एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, मूली के बीज का पेस्ट विनेगर के साथ मिलाकर त्वचा पर लगाने से सफेद दागों से निजात पाया जा सकता है (14)।

8. शहद और चंदन की लकड़ी

सामग्री
  • एक बड़ा चम्मच शहद
  • एक चम्मच लाल चंदन की लकड़ी का पाउडर
  • एक चुटकी हल्दी
इस्तेमाल कैसे करें
  • सभी सामग्रियों को मिलाकर पेस्ट बनाएं।
  • इसे प्रभावित त्वचा पर लगाएं।
  • 10 मिनट बाद त्वचा को पानी से धो लें।
कितनी बार करें
  • जल्द परिणाम के लिए इस उपाय को रोजाना करें।
कैसे है लाभदायक

सफेद दाग का उपचार करने में शहद का इस्तेमाल किया जा सकता है। शहद और लाल चंदन की लकड़ी में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा में ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम करके त्वचा पर सफेद दागों की समस्या पर प्रभावी असर दिखा सकते हैं (15),(16),(17)।

9. सफेद दाग का इलाज के लिए कॉपर

सामग्री
  • पानी
  • तांबे का गिलास या बर्तन
इस्तेमाल कैसे करें
  • सामान्य तापमान पर तांबे के बर्तन में पानी भर कर रातभर के लिए रखें।
  • अगली सुबह इस पानी को पी लें।
कितनी बार करें
  • इस उपाय को रोजाना करें।
कैसे है लाभदायक

सफेद दाग का इलाज करने के लिए तांबा का उपयोग किया जा सकता है। तांबे सफेद दाग के खिलाफ एक सटीक आयुर्वेदिक इलाज के रूप में काम कर सकता है। यह त्वचा में मेलेनिन (प्राकृतिक रंगद्रव्य) की मात्रा बढ़ाने का काम करता है, जिससे विटिलिगो की समस्या को दूर करने में मदद मिल सकती है (18)।

 10. ग्रीन टी

Green tea for white spots treatment in hindi

Shutterstock

सामग्री
  • एक ग्रीन टी बैग
  • एक कप गर्म पानी
  • कॉटन बॉल
इस्तेमाल कैसे करें
  • ग्रीन टी बैग को एक कप गर्म पानी में डालें और थोड़ा ठंडा होने दें।
  • अब कॉटन बॉल की मदद ग्रीन टी को प्रभावित त्वचा पर लगाएं।
  • आप ग्रीन टी का सेवन भी कर सकते हैं।
कितनी बार करें
  • दिन में दो बार ग्रीन टी त्वचा पर लगाएं।
  • आप दिन में दो-तीन बार ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं।
कैसे है लाभदायक

ग्रीन टी से त्वचा के सफेद धब्बों को हटाने में काफी हद तक मदद मिल सकती है। ग्रीन टी में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होते हैं, जो ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम कर त्वचा के सफेद दागों से छुटकारा देने में मदद कर सकते हैं (19), (16)। इसे सफेद दाग का सफल इलाज माना जा सकता है।

11. नीम

सामग्री
  • मुट्ठी भर नीम के पत्ते
  • एक चम्मच शहद
इस्तेमाल कैसे करें
  • पेस्ट बनाने के लिए पत्तियों को पीसकर और इसमें शहद मिलाएं।
  • अब इस मिश्रण को सफेद दागों पर लगाएं।
  • 10-12 मिनट के बाद हल्के गुनगुने पानी से त्वचा को धो लें।
कितनी बार करें
  • जल्दी परिणाम के लिए इस उपाय को रोजाना करें।
कैसे है लाभदायक

त्वचा की समस्याओं के इलाज के लिए नीम एक अच्छा प्राकृतिक उपचार है। नीम की पत्तियां त्वचा के रंग को वापस लाने में मदद कर सकती हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते है (20),(16), जो विटिलिगो को दूर करने का काम कर सकते हैं।

12. गोभी सफेद दाग के इलाज के लिए

Cauliflower for white spots treatment in hindi

Shutterstock

सामग्री
  • गोभी के पत्ते
इस्तेमाल कैसे करें
  • रस निकालने के लिए गोभी के पत्तों को अच्छी तरह से कुचलें।
  • फिर रस को सफेद धब्बों पर लगाएं।
  • करीब 5-10 मिनट ऐसे ही रहने दें और फिर पानी से धो लें।
कितनी बार करें
  • अच्छे परिणाम के लिए इस उपाय रोजाना दो बार करें।
कैसे है लाभदायक

पत्तागोभी का रस विटिलिगो जैसी त्वचा संबंधी बीमारियों को दूर करने का काम कर सकता है। दरअसल, पत्ता गोभी में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जिससे त्वचा के सफेद दागों को ठीक करने में मदद मिल सकती है (21),(16)।

[ पढ़े: पत्ता गोभी के 12 फायदे, उपयोग और नुकसान ]

13. सफेद दाग की दवा के रूप में दही

Curd for white spots treatment in hindi

Shutterstock

सामग्री
  • दही
इस्तेमाल कैसे करें
  • भोजन के साथ या भोजन के बाद एक कप दही लें।
कितनी बार करें
  • इसे हर दिन लें।
कैसे है लाभदायक

दही में फॉलिक एसिड और विटामिन बी-12 पाए जाते हैं और एक शोध के अनुसार सूर्य की हल्की धूप के साथ फॉलिक एसिड और विटामिन बी-12 के सप्लीमेंट, सफदे दागों के इलाज में फायदेमंद साबित हो सकते हैं (22)।

14. सफेद दाग के लिए जूस

क. चुकंदर का रस

सामग्री
  • एक कप ताजा चुकंदर का जूस
  • गाजर का रस (वैकल्पिक)
इस्तेमाल कैसे करें
  • रोजाना इस जूस का सेवन करें।
  • आप चुकंदर के जूस के साथ गाजर का जूस मिलाकर भी पी सकते हैं।
कितनी बार करें
  • प्रतिदिन जूस का सवेन करें।
कैसे है लाभदायक

सफेद दाग के इलाज में शामिल खाद्य पदार्थ में चुकंदर को भी शामिल किया जा सकता है। चुकंदर एक लाभकारी खाद्य पदार्थ है, जो सफदे दाग से निजात दिलाने में मदद कर सकता है (23)।

ख. गाजर का रस

सामग्री
  • गाजर का रस
इस्तेमाल कैसे करें
  • ताजा रस निकल कर पिएं।
कितनी बार करें
  • 5 से 6 हफ्ते प्रतिदिन सेवन करें।
कैसे है लाभदायक

गाजर के रस का प्रतिदिन सेवन करने से सफेद दाग की समस्या को कम किया जा सकता है। इसका निरंतर उपयोग करने से असर जल्दी दिख सकता है (23)।

15. सफेद दाग के इलाज के लिए पपीता

Papaya for white spots treatment in hindi

Shutterstock

सामग्री
  • पपीता का कुछ हिस्सा
इस्तेमाल कैसे करें
  • पपीते के टुकड़ों को सीधे सफेद धब्बों पर रगड़ें।
  • इसे 10-12 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • फिर त्वचा को ठंडे पानी से धो लें।
कितनी बार करें
  • दिन में एक बार उपयोग करें।
कैसे है लाभदायक

सफेद दाग के इलाज के लिए पपीते का इस्तेमाल किया जा सकता है। पपीता एंटीऑक्सीडेंट गुणों से समृद्ध होता और एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, एंटीऑक्सीडेंट विटिलिगो जैसी त्वचा संबंधी समस्या से निजात दिलाने का काम कर सकता है (24), (7)।

16. सफेद दाग के लिए एसेंशियल ऑयल

क. काली मिर्च का तेल

सामग्री
  • काली मिर्च के तेल की कुछ बूंदें
  • जैतून का तेल
इस्तेमाल कैसे करें
  • दोनों तेलों को मिला लें और प्रभावित जगह पर लगाएं।
  • तेल को त्वचा में अवशोषित होने दें।
कितनी बार करें
  • प्रतिदिन इसका उपयोग कर सकते हैं।
कैसे है लाभदायक

काली मिर्च (Black Pepper) में पिपेरिन नामक तत्व पाया जाता है, जो मेलनॉइट्स को बढ़ाने का कार्य करता है। इससे त्वचा के सफेद दागों से छुटकारा पाया जा सकता है (25), (26)।

ख. टी ट्री ऑयल

सामग्री
  • टी ट्री ऑयल की कुछ बूंदें
  • जैतून के तेल की कुछ बूंदें
  • कॉटल बॉल
इस्तेमाल कैसे करें
  • तेलों को मिलाएं और प्रभावित त्वचा पर हल्की मालिश करें।
  • इसे कुछ समय के लिए छोड़ दें, ताकि तेल त्वचा में समा सके।
कितनी बार करें
  • जल्द राहत पाने के लिए रोजाना इस उपाय दो बार करें।
कैसे है लाभदायक

टी ट्री आयल में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो सफेद दागों का इलाज आसानी से कर सकते हैं (27), (16)।

17. सफेद दाग के लिए जिंको बिलोबा

जिंको बिलोबा का अर्क सफेद दागों के लिए एक अद्भुत घरेलू उपचार हो सकता है। यह एंटीऑक्सीडेंट गुणों से समृद्ध होता है, जो विटिलिगो को बढ़ने से रोकने के साथ-साथ त्वचा पर सफेद दागों को भरने का काम करते हैं (28)।

18. सोरालें सफेद दाग के इलाज के लिए

Souralle for white spots treatment in hindi

Shutterstock

सामग्री
  • 25 ग्राम इमली
  • 2 चम्मच सोरालें बीज
  • पानी
इस्तेमाल कैसे करें
  • इमली और सोरालें के बीज को चार दिनों के लिए पानी में भिगो दें।
  • बीज सुखा लें और उसे पीस कर पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को सफेद पैच पर लगाएं।
  • इसे 20 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर इसे धो लें।
कितनी बार करें
  • दिन में एक या दो बार लगाए
कैसे है लाभदायक

सोरालें एक तरह की जड़ी-बूटी है, जिसे सफेद दाग की समस्या के लिए उपयोग किया जा सकता है। यह उन कणों को रोकता है, जो मेलेनिन (त्वचा के प्राकृतिक रंग को प्रभावित करने वाली प्रक्रिया) के उत्पादन में बाधा उत्पन्न करता हैं (29)।

19. तुलसी पत्ती

Basil leaf for white spots treatment in hindi

Shutterstock

सामग्री
  • कुछ तुलसी के पत्ते
  • 1 चम्मच नींबू का रस
इस्तेमाल कैसे करें
  • पत्तियों को कुचल लें और नींबू का रस मिलाएं।
  • इसे प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं।
  • लगभग 10 मिनट के बाद इसे धो लें।
कितनी बार करें
  • दिन में एक बार लगाए
कैसे है लाभदायक

तुलसी का प्रयोग त्वचा के सफेद दागों के लिए भी किया जा सकता है। तुलसी एक कारगर औषधि है, जो एंटीबैक्टीरियल और एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों के साथ एंटीऑक्सीडेंट से भी समृद्ध होती है। तुलसी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण सफेद दागों को दूर करने में मदद कर सकते हैं (30), (16)।

20. अम्मी विसनागा (Ammi Visnaga)

सफेद दाग का इलाज करने के लिए मिस्र के इस औषधीय पौधे का इस्तेमाल किया जा सकता है। एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, अम्मी विसनागा में मौजूद किलिन (khelin) तत्व सफेद दागों का इलाज कर सकता है (31)।

इस लेख के आगे भाग में सफेद दाग प्रभावित मरीज के लिए उचित आहार की जानकारी देंगे।

सफेद दाग के लिए आहार – Diet For Vitiligo in Hindi

सफेद दाग की समस्या से छुटकारा पाने के लिए खान-पान का भी बड़ा योगदान होता है। नीचे जानिए सफदे दाग के लिए सबसे उपयोगी खाद्य पदार्थ (23)।

  • दालों का सेवन
  • चकुंदर का जूस या सीधे चकुंदर का सेवन।
  • गाजर का जूस या सीधे गाजर का सेवन
  • पालक
  • करेला
  • प्याज
  • बीन्स
  • काली मिर्च
  • तुरई

इस लेख के आगे सफेद दाग से बचने के उपाय की जानकारी देंगे।

सफेद दाग से बचने के उपाय – Prevention Tips for White Spots in Hindi

त्वचा के सफदे दागों से बचने के लिए आप निम्नलिखित सुझावों का पालन कर सकते हैं। जैसे,

  • संतुलित मात्रा में खानपान करें। फलों और हरी सब्जियों को दैनिक आहार में स्थान दें।
  • त्वचा पर पूरा ध्यान रखें, त्वचा के अनुसार साबुन और अन्य सौंदर्य प्रसाधनों का चयन करें।
  • तेज धूप में बाहर निकलने से पहले सनस्क्रीन का उपयोग करें।
  • सफदे दागों के लिए अंडे, मछली व बैंगन जैसे खाद्य पदार्थों के सेवन से बचें (23)।

अब तो आप भलीभांति जान गए होंगे कि सफेद दाग का घरेलू उपचार किस प्रकार किया जाए। दोस्तों, अगर आपको लेख में बताए गए विटिलिगों के लक्षण दिखते हैं, तो पूरी तरह सतर्क हो जाएं और बताए गए घरेलू उपचारों का पालन शुरू कर दें। अगर इन घरेलू उपचारों के बाद भी सफेद दाग हटने का नाम नहीं ले रहे हैं, तो आप सीधे त्वचा विशेषज्ञ से बात करें। आशा है कि हमारी दी हुई जानकारी आपके लिए मददगार साबित होगी।

और पढ़े:

31 Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Check out our editorial policy for further details.

    1. Vitiligo- Part 1
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4056705/
    2. Vitiligo
      https://medlineplus.gov/ency/article/000831.htm
    3. Vitiligo
      https://www.niams.nih.gov/health-topics/vitiligo
    4. Vitiligo
      https://rarediseases.info.nih.gov/diseases/10751/vitiligo
    5. Vitiligo
      https://rarediseases.info.nih.gov/diseases/10751/vitiligo
    6. Vitiligo – Part 2 – classification, histopathology and treatment
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4155957/
    7. VITILIGO TREATMENT WITH VITAMINS, MINERALS AND POLYPHENOL SUPPLEMENTATION
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2807713/
    8. Sample records for virgin coconut oil
      https://www.science.gov/topicpages/v/virgin+coconut+oil
    9. Herbal Compounds for the Treatment of Vitiligo: A Review
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5816300/
    10. Clinical evaluation of the efficacy of Shvitrahara kashaya and lepa in vitiligo
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3215421/
    11. Plants used to treat skin diseases
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3931201/
    12. Improvement of vitiligo after oral treatment with vitamin B12 and folic acid and the importance of sun exposure
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/9394983/
    13. CLINICAL TRIAL OF CERTAIN AYURVEDIC MEDICINES INDICATED IN VITILIGO
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3331338/
    14. Plants Used in the Treatment of Leucoderma by the Tribals of Yerramalai Forest of Kurnool District, Andhra Pradesh, India
      https://www.researchgate.net/publication/259764245_Plants_Used_in_the_Treatment_of_Leucoderma_by_the_Tribals_of_Yerramalai_Forest_of_Kurnool_District_Andhra_Pradesh_India
    15. Honey and Health: A Review of Recent Clinical Research
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5424551/
    16. Antioxidants in vitiligo treatment
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16783073/
    17. Anti-inflammatory, analgesic, and antioxidant activities of methanolic wood extract of Pterocarpus santalinus L.
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3157138/
    18. HYPOTHESIS: ZINC CAN BE EFFECTIVE IN TREATMENT OF VITILIGO
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3221203/
    19. Antioxidant effects of green tea
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3679539/
    20. Therapeutics Role of Azadirachta indica (Neem) and Their Active Constituents in Diseases Prevention and Treatment
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4791507/
    21. Matrix Effects on the Stability and Antioxidant Activity of Red Cabbage Anthocyanins under Simulated Gastrointestinal Digestion
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3915797/
    22. Improvement of vitiligo after oral treatment with vitamin B12 and folic acid and the importance of sun exposure
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/9394983/
    23. Bars (Vitiligo/Leucoderma)
      https://www.nhp.gov.in/bars-vitiligo-leucoderma_mtl
    24. ANTIOXIDANT AND IMMUNOSTIMULANT EFFECT OF CARICA PAPAYA LINN. AQUEOUS EXTRACT IN ACRYLAMIDE INTOXICATED RATS
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3508853/
    25. In vivo evaluation of piperine and synthetic analogues as potential treatments for vitiligo using a sparsely pigmented mouse model
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/18284389/
    26. Piperine, active substance of black pepper, alleviates hypertension induced by NO synthase inhibition
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/21033621/
    27. Successful Treatment of Vitiligo Vietnamese Patients with Vitilinex® Herbal Bio-Actives in Combination with Phototherapy
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6364738/
    28. Effectiveness of oral Ginkgo biloba in treating limited, slowly spreading vitiligo
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/12780716/
    29. Effectiveness of oral Ginkgo biloba in treating limited, slowly spreading vitiligo
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/12780716/
    30. Tulsi – Ocimum sanctum: A herb for all reasons
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4296439/
    31. Successful Treatment of Refractory Vitiligo with a Combination of Khellin and 308-nm Excimer Lamp: An Open-Label, 1-Year Prospective Study
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5825323/
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.
भूपेंद्र वर्मा ने सेंट थॉमस कॉलेज से बीजेएमसी और एमआईटी एडीटी यूनिवर्सिटी से एमजेएमसी किया है। भूपेंद्र को लेखक के तौर पर फ्रीलांसिंग में काम करते 2 साल हो गए हैं। इनकी लिखी हुई कविताएं, गाने और रैप हर किसी को पसंद आते हैं। यह अपने लेखन और रैप करने के अनोखे स्टाइल की वजह से जाने जाते हैं। इन्होंने कुछ डॉक्यूमेंट्री फिल्म की स्टोरी और डायलॉग्स भी लिखे हैं। इन्हें संगीत सुनना, फिल्में देखना और घूमना पसंद है।

ताज़े आलेख

scorecardresearch