सामग्री और उपयोग

सफेद मिर्च के फायदे, उपयोग और नुकसान – White Pepper Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

by
सफेद मिर्च के फायदे, उपयोग और नुकसान – White Pepper Benefits, Uses and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 December 26, 2019

खाने में तीखा और चटक स्वाद लाने के लिए तरह-तरह के मसालों का उपयोग किया जाता है। इन्हीं मसालों में मुख्य भूमिका अदा करती है मिर्च। मिर्च की कई किस्में और प्रकार हैं, जिन्हें उनकी खूबियों, स्वाद और सुगंध के कारण अलग-अलग व्यंजनों में उपयोग किया जाता है। उन्हीं में से एक है सफेद मिर्च। हल्के रंग के सूप और सब्जी की प्राकृतिक रंगत बरकार रखने के लिए इसे काली मिर्च की जगह उपयोग किया जाता है। कम ही लोग ऐसे होंगे, जिन्हें मिर्च के इस प्रकार के बारे में पता हो। यह खाने को स्वादिष्ट तो बनाती ही है, साथ ही अपने औषधीय गुणों के कारण स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक है। वहीं, इस लेख में बताई जा रही बीमारियों के लक्षणों से उबरने में मदद कर सकती है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आपको सफेद मिर्च के फायदे और उपयोग संबंधी कई जरूरी बातें बता रहे हैं।

सफेद मिर्च का उपयोग और इसके पौष्टिक तत्वों से जुड़ी जानकारी हासिल करने से पहले आइए, इसके फायदों के बारे में थोड़ा जान लेते हैं।

सफेद मिर्च के फायदे – Benefits of White Pepper in Hindi

पिपरकॉर्न यानी मिर्च के पेड़ के पके हुए फल को सफेद मिर्च कहा जाता है। सफेद मिर्च में सुगंधित तेल, ओलेओरिंस (एसेंशियल ऑयल का मिक्सचर) और अल्कलॉइड के साथ-साथ पेपेरिन नाम का मुख्य तत्व पाया जाता है। विशेषज्ञों के मुताबिक पेपेरिन में एंटी इंफ्लेमेटरी (सूजन कम करने वाला), एंटीऑक्सीडेंट (मुक्त कणों से कोशिका की क्षति को रोकने वाला), एंटीम्यूटाजेनिक (डीएनए को सुरक्षित रखने वाला) और एंटीट्यूमर (ट्यूमर कोशिकाओं को नष्ट करने वाला) प्रभाव पाया जाता है। इन प्रभावों के कारण सफेद मिर्च को कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं में सहायक माना गया है। वहीं, सेहत के साथ-साथ त्वचा और बालों के लिए भी इसके कई फायदे हैं, जिनके बारे में हम आपको आगे लेख में विस्तार से बताएंगे (1)

सफेद मिर्च के फायदे में सबसे पहले हम बात करते हैं, इसके सेहत संबंधी लाभ के बारे में।

सेहत/स्वास्थ्य के लिए सफेद मिर्च के फायदे – Health Benefits of White Pepper in Hindi

1. वजन घटाने में मददगार

अगर कोई वजन घटाने की कोशिश में लगा है, तो सफेद मिर्च बड़े काम आ सकती हैं। दरअसल, इसमें पेपेरिन नाम का खास तत्व मौजूद होता है (1)। यह उपापचय प्रक्रिया को ठीक करने में मदद करता है। साथ ही वजन बढ़ाने वाले कारकों को नियंत्रित कर मोटापे की समस्या को दूर करने में भी सहायता कर सकता है (2)। इस कारण यह माना जा सकता है कि मोटापे की समस्या से निजात पाने के लिए सफेद मिर्च की थोड़ी-सी मात्रा लाभकारी सिद्ध हो सकती है।

2. कैंसर से करे बचाव

सफेद मिर्च का उपयोग कैंसर से बचने के लिए भी किया जा सकता है। एनसीबीआई (नेशन सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर प्रकाशित मेडिकल रिसर्च के  अनुसार, सफेद मिर्च में सैफरोल नाम का कार्सिनोजेन (कैंसर के जोखिमों को खत्म करने वाला तत्व) पाया जाता है (3)। इस तत्व के कारण यह कहा जा सकता है कि सफेद मिर्च कैंसर की समस्या से बचने में मददगार साबित हो सकता है। वहीं, कैंसर से ग्रस्त मरीज को उचित मेडिकल ट्रीटमेंट जरूर करवाना चाहिए।

3. सिर दर्द को करे दूर

सफेद मिर्च का उपयोग सिरदर्द की समस्या में भी लाभकारी माना जाता है। कारण यह है इसमें पेपेरिन नाम का एक खास तत्व पाया जाता है (1), जो एनाल्जेसिक (दर्दनिवारक) और एंटीकॉन्वेलसेंट (तंत्रिका संबंधी विकार को दूर करने वाला) प्रभाव प्रदर्शित करता है (4)। इन्हीं गुणों के कारण यह कहा जा सकता है कि सिरदर्द की समस्या को दूर करने के लिए सफेद मिर्च को उपयोग में लाया जा सकता है।

4. खांसी में दिलाए राहत

जैसा कि लेख में पहले भी बताया जा चुका है कि सफेद मिर्च में पेपेरिन नाम का एक खास तत्व पाया जाता है (1)। वहीं, इससे संबंधित एक शोध में इस बात का जिक्र मिलता है कि यह तत्व सर्दी, खांसी और छाती में जकड़न की समस्या को दूर करने में सहायता कर सकता है (2)। इस कारण इसे खांसी से राहत पाने के लिए उपयोग में लाया जा सकता है।

5. जोड़ों के दर्द को करे दूर

अगर आप अर्थराइटिस की समस्या से जूझ रहे हैं, तो ऐसे में सफेद मिर्च का सेवन आपको इस समस्या से कुछ हद तक राहत दिलाने का बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। दरअसल, इसमें पाए जाने वाले खास तत्व पेपेरिन को अर्थराइटिस की समस्या के लिए भी लाभकारी माना गया है (1) (2)। वहीं, अर्थराइटिस की गंभीर समस्या में डॉक्टरी इलाज काे अनदेखा न करें।

6. दिल का रखे ख्याल

दिल से संबंधित समस्याओं से बचे रहने के लिए भी सफेद मिर्च का इस्तेमाल किया जा सकता है। विशेषज्ञों के मुताबिक सफेद मिर्च में पिपेरिन नाम का एक खास तत्व पाया जाता है। वहीं, पिपेरिन में कार्डियोडिप्रेसेंट (ब्लड प्रेशर को कम करने वाला) और वैसोडिलेटर (हृदय की धमनियों में रूकावट को दूर करने वाला) प्रभाव मौजूद होता है (5)। इस कारण यह कहा जा सकता है कि सफेद मिर्च का उपयोग हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखने में लाभकारी परिणाम दे सकता है।

7. पेट के अल्सर में फायदेमंद

लेख में ऊपर बताया गया है कि सफेद मिर्च में पेपेरिन नाम का एक खास तत्व पाया जाता है। इस तत्व की मौजूदगी के कारण ही सफेद मिर्च को कई गंभीर समस्याओं से निजात दिलाने में सहायक माना गया है। उन्हीं में अल्सर की समस्या भी शामिल है। बताया जाता है कि पेपेरिन में एंटी-अल्सर गुण भी मौजूद होता है, जो शरीर में किसी भी तरह के अल्सर को पनपने नहीं देता है (6)। इस कारण यह कहना गलत नहीं होगा कि सफेद मिर्च का उपयोग आपको पेट के अल्सर से भी राहत दिलाने में सहायक साबित हो सकता है। वहीं, अगर कोई पेट में अल्सर की समस्या से जूझ रहा है, तो उसे सफेद मिर्च के साथ-साथ डॉक्टरी सलाह की भी जरूरत है।

8. डायबिटीज को करे नियंत्रित

विशेषज्ञों के मुताबिक पेपेरिन एक ऐसा तत्व है, जिसमें एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-डायबिटिक गुण पाए जाते हैं। ये सभी गुण ब्लड शुगर को नियंत्रित करने और इंसुलिन की सक्रियता को बढ़ाने में मददगार साबित हो सकते हैं (7)। वहीं लेख में ऊपर भी बताया गया है कि सफेद मिर्च में पेपेरिन मुख्य रूप से मौजूद रहता है (1)। इस कारण यह कहा जा सकता है कि सफेद मिर्च का सेवन करने से डायबिटीज से बचा जा सकता है। वहीं, जिन्हें डायबिटीज है, वो इस घरेलू नुस्खे के साथ-साथ डॉक्टर की सलाह पर दवा भी जरूर लें।

9. पाचन में करे सुधार

पाचन संबंधी समस्याओं के लिए भी सफेद मिर्च को फायदेमंद माना गया है। जैसा कि यह स्पष्ट हो गया है कि सफेद मिर्च औषधीय गुणों से भरपूर होती है। इसका इस्तेमाल खाने की दुर्गंध और चिकनाई दूर करने के साथ-साथ पाचन क्रिया में भी सहयोगात्मक भूमिका निभा सकती है (1)

10. ब्लड प्रेशर को करे नियंत्रित

एक शोध के अनुसार, पेपेरिन नाम के तत्व में ब्लड प्रेशर को बढ़ने से रोकने की क्षमता पाई जाती है (8)। यह तत्व काली मिर्च के साथ-साथ सफेद मिर्च में भी उपलब्ध होता है (1)। इस कारण सफेद मिर्च को ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के उद्देश्य से इस्तेमाल में लाया जा सकता है।

11. आंखों के लिए लाभदायक

विटामिन-सी और जिंक को आंखों के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक माना जाता है (9)। वहीं, सफेद मिर्च में ये दोनों तत्व मौजूद होते हैं (10)। इस कारण ऐसा माना जा सकता है कि इसका सेवन आंखों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में लाभकारी साबित हो सकता है।

सेहत संबंधी लाभ के बाद अब हम त्वचा से जुड़े सफेद मिर्च के फायदे जानेंगे।

त्वचा के लिए सफेद मिर्च के फायदे – Skin Benefits of White Pepper in Hindi

1. झुर्रियों को हटाए

सफेद मिर्च में विटामिन-सी मौजूद होता है (10)। विटामिन सी त्वचा संबंधित कई समस्याओं के साथ झुर्रियों को दूर करने में सहायक माना जाता है (11)। इस कारण यह माना जा सकता है कि दही के साथ आधा चम्मच सफेद मिर्च पाउडर से तैयार फेस पैक आपको झुर्रियों की समस्या से छुटकारा दिलाने में मददगार साबित हो सकता है।

2. विटिलिगो की समस्या में सहायक

जैसा कि ऊपर जिक्र किया गया है कि सफेद मिर्च में विटामिन-सी पाया जाता है (10)। यह विटामिन त्वचा के दाग धब्बों को दूर कर त्वचा के प्राकृतिक रंग को बरकरार रखने में मदद करता है (11)। विटिलिगो ऐसी समस्या है, जिसमें त्वचा पर सफेद रंग के धब्बे नजर आने लगते हैं (12)। इसलिए, सफेद मिर्च पाउडर के फेसपैक का इस्तेमाल इस समस्या को दूर करने में सहायक माना जा सकता है।

त्वचा के बाद अब हम बालों से संबंधित सफेद मिर्च के फायदे के बारे में बात करेंगे।

बालों के लिए सफेद मिर्च के फायदे – Hair Benefits of White Pepper in Hindi

1. बालों को करे मजबूत

सफेद मिर्च बालों के विकास में भी सहायक साबित हो सकती है। जैसा कि आप जान ही चुके हैं कि सफेद मिर्च में पेपेरिन नाम का खास तत्व पाया जाता है (1)। विशेषज्ञों के मुताबिक, यह तत्व अन्य स्वास्थ्य लाभों के साथ-साथ बालों के विकास के लिए भी फायदेमंद माना जाता है (13)। इस कारण हम यह कह सकते हैं कि सफेद मिर्च पाउडर और दही के साथ इसका हेयर मास्क बालों को मजबूत और घना बनाने में आपकी सहायता कर सकता है।

2. डैंड्रफ को रखे दूर

डैंड्रफ की समस्या से निजात पाने के लिए भी आप सफेद मिर्च के हेयर मास्क का इस्तेमाल कर सकते हैं। दरअसल, सफेद मिर्च में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण पाए जाते हैं (14)। वहीं, बैक्टीरियल और फंगल इन्फेक्शन डैंड्रफ की समस्या के मुख्य कारण हैं (15)। इस वजह से यह कहा जा सकता है कि इस समस्या से राहत पाने के लिए सफेद मिर्च पाउडर का दही के साथ हेयर मास्क बनाकर इस्तेमाल किया जा सकता है।

बालों से जुड़े सफेद मिर्च के फायदे जानने के बाद अब हम आपको इसके पौष्टिक तत्वों के बारे में बताएंगे।

सफेद मिर्च के पौष्टिक तत्व – White Pepper Nutritional Value in Hindi

नीचे दिए गए चार्ट की सहायता से आप सफेद मिर्च के पौष्टिक तत्वों के बारे में विस्तार से जान सकते हैं (10)

पोषक तत्वयूनिटमात्रा प्रति 100 ग्राम
पानीg11.42
एनर्जीKcal296
प्रोटीनg10.4
टोटल लिपिड (फैट)g2.12
कार्बोहाइड्रेटg68.61
फाइबर (टोटल डाइटरी)g26.2
मिनरल
कैल्शियमmg265
आयरनmg14.31
मैग्नीशियमmg90
फास्फोरसmg176
पोटैशियमmg73
सोडियमmg5
जिंकmg1.13
कॉपरmg0.91
सेलेनियमµg3.1
मैंगनीजµg4.3
विटामिन
विटामिन सीmg21
थियामिनmg0.022
राइबोफ्लेविनmg0.126
नियासिनmg0.212
विटामिन बी-6mg0.1
फोलेट (डीएफई)µg10
लिपिड
फैटी एसिड (सैचुरेटेड)g0.626
फैटी एसिड (मोनोअनसैचुरेटेड)g0.789
फैटी एसिड (पॉलीसैचुरेटेड)g0.616

पौष्टिक तत्वों के बाद अब हम सफेद मिर्च का पाउडर उपयोग करने के तरीकों के बारे में जानेंगे।

सफेद मिर्च का उपयोग – How to Use White Pepper in Hindi

आप निम्न बिंदुओं के माध्यम से सफेद मिर्च का पाउडर उपयोग करने के तरीके जान सकते हैं।

  • खाना पकाने के दौरान एक चुटकी सफेद मिर्च का पाउडर इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • सलाद में आप स्वाद और सुगंध के लिए इसे एक से दो चुटकी तक इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • त्वचा और बालों के लिए आप इसे एक कटोरी दही में करीब आधा से एक चम्मच तक सफेद मिर्च का पाउडर इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसके उपयोग के बाद अब हम सफेद मिर्च के नुकसान के बारे में भी जान लेते हैं।

सफेद मिर्च के नुकसान – Side Effects of White Pepper in Hindi

फायदे के साथ-साथ सफेद मिर्च के नुकसान भी हैं, जिन्हें हम निम्न बिंदुओं के माध्यम से जानेंगे।

  • इसमें पेपेरिन नाम का तत्व पाया जाता है, जो काफी गर्म प्रकृति प्रदर्शित करता है। इस कारण इसका अधिक उपयोग त्वचा पर जलन संबंधी समस्या पैदा कर सकता है (6)
  • इसके अधिक सेवन से कब्ज की शिकायत हो सकती है (5)
  • गर्भवती महिलाओं को इसके सेवन से बचना चाहिए, क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है, जिस कारण यह गर्भपात का कारण बन सकती है (5)
  • कुछ विशेष लोगों में इससे एलर्जी की समस्या हो सकती है, ऐसे में इससे दूरी बनाना ही बेहतर होगा।

अब तो आप सफेद मिर्च के फायदे और गुणों से अच्छी तरह परिचित हो गए होंगे। साथ ही आपको यह भी मालूम हो गया होगा कि इसका उपयोग किन-किन समस्याओं में प्रभावी साबित हो सकता है। फिर देर किस बात की है, आज से ही आप इसका नियमित इस्तेमाल शुरू कर दें और इससे होने वाले सेहत व स्वास्थ्य संबंधी फायदों का लाभ उठाएं। साथ ही इस बात को जरूर ध्यान में रखें कि लेख में बताई गई समस्याओं में सफेद मिर्च काफी हद तक राहत तो दिला सकती है, लेकिन यह इन समस्याओं का उपचार नहीं हो सकती। इसलिए, इसके उपयोग से पहले डॉक्टरी सलाह जरूर लें, ताकि आपको इसका पर्याप्त लाभ हासिल हो सके और इससे होने वाले नुकसान की भी कोई गुंजाइश न रह जाए। इस विषय से जुड़ा कोई अन्य सवाल या सुझाव आपके मन में हो, तो नीचे दिए कमेंट बॉक्स के माध्यम उसे हमें जरूर बताएं।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Ankit Rastogi

अंकित रस्तोगी ने साल 2013 में हिसार यूनिवर्सिटी, हरियाणा से एमए मास कॉम की डिग्री हासिल की है। वहीं, इन्होंने अपने स्नातक के पहले वर्ष में कदम रखते ही टीवी और प्रिंट मीडिया का अनुभव लेना शुरू कर दिया था। वहीं, प्रोफेसनल तौर पर इन्हें इस फील्ड में करीब 6 सालों का अनुभव है। प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में इन्होंने संपादन का काम किया है। कई डिजिटल वेबसाइट पर इनके राजनीतिक, स्वास्थ्य और लाइफस्टाइल से संबंधित कई लेख प्रकाशित हुए हैं। इनकी मुख्य रुचि फीचर लेखन में है। इन्हें गीत सुनने और गाने के साथ-साथ कई तरह के म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट बजाने का शौक भी हैं।

संबंधित आलेख