सामग्री और उपयोग
Stylecraze

त्वचा, बाल और स्वास्थ्य के लिए खजूर के 18 अद्भुत फायदे – Amazing Benefits Of Dates in Hindi

by
त्वचा, बाल और स्वास्थ्य के लिए खजूर के 18 अद्भुत फायदे – Amazing Benefits Of Dates in Hindi February 27, 2019

ड्राई फ्रूट्स की बात हो, तो खजूर का नाम आना लाजमी है। शायद ही कोई होगा जिसे खजूर पसंद न हो। इसमें कोई शक नहींं कि इसका मीठा स्वाद मुंह का जायका बना देता है। सिर्फ स्वाद के लिए ही नहीं, बल्कि इसका सेवन विभिन्न स्वास्थ्य लाभों के लिए भी किया जाता है। इस लेख में हमारे साथ जानिए त्वचा, बाल और स्वास्थ्य के लिए खजूर के विभिन्न फायदों के बारे में।

विषय सूची


खजूर क्या है? – What is Dates in Hindi

यह एक लोकप्रिय खाद्य पदार्थ है, जिसे हिंदी में खजूर, अंग्रेजी में डेट्स, अरबी में तवारीख और फ्रेंच में पामियर के नाम से जाना जाता है। यह ताड़ वृक्ष की एक प्रजाति है, जिसे इसके मीठे फल के लिए उगाया जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम फीनिक्स डेक्टाइलीफेरा है। माना जाता है कि खजूर मूल रूप से इराक का है। इस पेड़ का आकार अन्य पेड़ों के मुकाबले काफी अलग है। इसकी पत्तियां करीब चार-छह मीटर लंबी होती हैं। इस फल के बीजों को भिगोकर और पीसकर जानवरों को खिलाया जाता है। वहीं, इसका तेल कॉस्मेटिक और साबुन बनाने में इस्तेमाल किया जाता है। कई बार इसके बीजों को कॉफी बीन्स में भी मिलाया जाता है।

ताजे खजूर अगस्त से दिसंबर तक उपलब्ध रहते हैं, लेकिन सूखे खजूर सालभर बाजार में उपलब्ध रहते हैं।

खजूर का इतिहास – History of Dates in Hindi

खजूर का इतिहास भी काफी दिलचस्प है। माना जाता है कि यह हजारों सालों से मध्य पूर्व के देशों और सिंधु घाटी के प्रमुख भोजन में शामिल रहा है। इतिहास से जुड़े दस्तावेज बताते हैं कि प्राचीन मिस्र के लोग शराब बनाने के लिए इस फल का इस्तेमाल करते थे। इसकी लोकप्रियता ने इसकी खेती को जन्म दिया, और सबसे पहली खजूर की खेती 7 हजार ई.पू. के दौरान आधुनिक पाकिस्तान में हुई। धीरे-धीरे इसकी खपत बढ़ी और यह दक्षिण-पश्चिम एशिया, उत्तरी अफ्रीका और स्पेन में अच्छी तरह फैल गया। बाद में यह पश्चिम देशों द्वारा भी पसंद किया जाने लगा। विभिन्न खोजों के अनुसार माना जाता है कि खजूर का अस्तित्व लगभग 5 करोड़ वर्षों से है।

यह तो था खजूर का संक्षिप्त इतिहास, अब नीचे जानिए इसके विभिन्न प्रकारों के बारे में।

मेडजूल – इसकी उत्पत्ति मोरक्को में हुई है। यह बहुत ही स्वादिष्ट होता है और इनका स्वाद टॉफी की तरह होता है।
बरही – इसे पीला खजूर भी कहा जाता है। खजूर की यह प्रजाति इराक से संबंध रखती है। यह मुलायम और आकार मोटा होता है।
डेयरी – यह खजूर लंबे होते हैं और इनका रंग काला होता है।
हेलवी – यह बेहद ही मीठा और आकार में छोटा होता है।
डेगलेट नूर – ट्यूनीशिया और अल्जीरिया की सबसे अच्छी किस्मों में से एक। थोड़ा सूखा और ज्यादा मीठा नहीं। खजूर की इस किस्म का इस्तेमाल आमतौर पर भोजन में किया जाता है।
हयानी – इसे मिस्र में उगाया जाता है। यह मुलायम होता, रंग इसका लाल और काला होता है।
मिग्राफ – यह दक्षिण यमन में लोकप्रिय है और यह खजूर बड़ा व सुनहरे रंग का होता है।
इतिमा – यह अल्जीरिया की प्रजाति है और यह भी स्वाद में मीठा होता है।

इन सभी में से मेडजूल को सबसे स्वादिष्ट और पौष्टिक किस्म माना गया है। यह काले खजूर की सबसे आम किस्म है। यह एंटीऑक्सीडेंट और फाइबर से समृद्ध हैं और इसमें पोटैशियम की भी प्रचुर मात्रा पाई जाती है।

क्या आपके लिए खजूर फायदेमंद है? – Are Dates good for you in Hindi?

खजूर की विभिन्न किस्में आपको बाजार में मिल जाएंगी, जिनमें से मेडजूल सबसे लोकप्रिय है। बाकी किस्मों के लाभ थोड़े बहुत कम-ज्यादा है। खजूर का सेवन हमारे लिए कई मायनों में फायदेमंद है। यह कोलेस्ट्रॉल को कम करने के साथ-साथ कब्ज कम करता, शरीर की ऊर्जा बढ़ाता है और हड्डियों के लिए फायदेमंद है।

आप अच्छे स्वास्थ्य के लिए ऑर्गेनिक मेडजूल डेट्स का चुनाव कर सकते हैं। ये खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होते हैं और विभिन्न पोषक तत्वों से समृद्ध होते हैं। आप पिट डेट्स का भी चयन कर सकते हैं। यह बिना बीज के आते हैं और मेडजूल से थोड़े सूखे होते हैं, जिन्हें आसानी से आप चबा सकते हैं।

खजूर में कितनी कैलोरी होती है? – Calories Present in Dates in Hindi?

कैलोरी की बात करें तो एक खजूर में 20 कैलोरी होती हैं। वहीं, इसमें 2.8 मिलीग्राम कैल्शियम और 5 ग्राम कार्बोहाइड्रेट भी होता है। यह एंटीऑक्सीडेंट से समृद्ध होता है, साथ ही टैनिन भी होता है। टैनिन कोशिकाओं को क्षति होने और ऑक्सीकरण से रोकते हैं। टैनिन सूजन को कम करने में भी सक्षम है। खजूर को खाली पेट खाने से पेट के कीड़े मर जाते हैं।

आप विशेष रूप से अरब देशों में पाए जाने वाले अजवा खजूर को भी आजमा सकते हैं। खजूर की इस प्रजाति को भी गुणकारी माना जाता है।

व्यस्कों के साथ-साथ खजूर शिशुओं के लिए भी फायदेमंद है। मजबूत हड्डियों और दांतों के लिए इस ड्राई फ्रूट का सेवन जरूर करना चाहिए। खजूर खाने से प्रतिरक्षा प्रणाली बेहतर होती है, वजन में सुधार होता है, बुखार के दौरान जरूरी पोषक तत्व मिलते हैं और पेचिश की समस्या दूर होती है।

खजूर के पोषक तत्वों के बारे में विस्तार से जानने के लिए लेख पढ़ते रहें यह लेख।

खजूर में मौजूद पोषक तत्व – Dates Nutrition Facts in Hindi

खजूर विटामिन्स और खनिजों का अच्छा स्रोत हैं और शरीर के लिए बहुत फायदेमंद हैं।

पोषक तत्वपोषक मूल्यआरडीए का प्रतिशत
ऊर्जा277 Kcal14%
कार्बोहाइड्रेट74.97 g58%
प्रोटीन1.81g3%
कुल फैट0.15 g1%
कोलेस्ट्रॉल0 mg0%
फाइबर डायट्री6.7 g18%
विटामिन
फफोलेट्स15 µg4%
नियासिन1.610 mg10%
पैंटोथैनिक एसिड0.805 mg16%
पायरीडॉक्सीन0.249 mg19%
राइबोफ्लेविन0.060 mg4.5%
फथायमिन0.050 mg4%
149 IU5%
विटामिन-सी0 mg0%
विटामिन-के2.7 µg2%
इलेक्ट्रोलाइट
सोडियम1 mg0%
पोटैशियम696 mg16%
मिनरल्स
कैल्शियम64 mg6.5%
कॉपर0.362 mg40%
आयरन0.90 mg11%
मैग्नीशियम54 mg13%
मैंगनीज0.296 mg13%
फास्फोरस62 mg9%
जिंक0.44 mg4%
फाइटो न्यूट्रिएंट्स
कैरोटीन-ß89 µg
क्रिप्टो-शंतहीं -ß0 µg
लुटें जेआक्शंतहीं23 µg

खजूर विटामिन-बी6, ए और के से भरपूर होता है। यह हड्डियों के विकास में मदद करता है और आंखों को स्वस्थ रखता है। खजूर में मौजूद फाइबर आंतों के स्वास्थ्य में सुधार करता है और कोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है। इसके अलावा, यह पेट के कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों से भी शरीर की रक्षा करता है। कैल्शियम, आयरन, पोटैशियम, प्रोटीन, मैंगनीज, मैग्नीशियम, फास्फोरस, जिंक और सल्फर जैसे खनिज समग्र रूप से शरीर की आंतरिक कार्यप्रणाली को सुचारू रूप से चलाने में मदद करते हैं। फोलेट गर्भावस्था के लिए अच्छा है, वहीं थियामिन (तंत्रिका तंत्र), नियासिन (कोलेस्ट्रॉल का स्तर) और राइबोफ्लेविन (ऊर्जा उत्पादन) अन्य खनिज हैं, जो खजूर में पाए जाते हैं।

खजूर के पोषक तत्वों के बाद जानिए शरीर के लिए खजूर खाने के फायदों के बारे में।

खजूर के स्वास्थ्य लाभ – Health Benefits of Dates in Hindi

खजूर खाने के स्वास्थ्य लाभों में कब्ज से राहत, कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करना, आंतों के विकार, हृदय की समस्याएं, एनीमिया और यौन रोग शामिल हैं।

1. कब्ज के लिए खजूर

एक अध्ययन के अनुसार, खजूर का गूदा गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल संक्रमण को संतुलित करता है और कब्ज के इलाज में सहायता कर सकता है (1)। कब्ज के दौरान खनिज के स्तर में आए असंतुलन को कम करने में खजूर कारगर है। इसके अलावा, खजूर में मौजूद फाइबर से पाचंन तंत्र के कैंसर को रोकने में मदद मिलती है।

रोचेस्टर मेडिकल सेंटर विश्वविद्यालय के अनुसार, फाइबर की कमी से कब्ज हो सकती है (2)। खजूर, फाइबर का एक अच्छा स्रोत है और वह इस समस्या को हल कर सकता है। हर दिन कम से कम 20 से 35 ग्राम फाइबर खाने से आपका मल नरम होता है और पाचन की प्रक्रिया में कोई बाधा नहीं आती है।

2. हृदय स्वास्थ्य

Salud del corazon Pinit

Shutterstock

हृदय शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है और इसका स्वस्थ रहना बहुत जरूरी है। हृदय को बेहतर रखने के लिए आप दिन में मुट्ठीभर खजूर का सेवन कर सकते हैं (3)। डेट्स में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट एथेरोस्क्लेरोसिस को रोकते हैं। दरअसल, यह स्थिति धमनियों (आर्टरी) के सख्त होने और प्लाक के भर जाने की कारण होती है। खजूर का एंटीऑक्सीडेंट गुण आर्टरी सेल्स से कोलेस्ट्रॉल को हटाने में मदद करता है।

खजूर आइसोफ्लेवोंस से भी समृद्ध होता है, जो हृदय रोग की आंशका को कम करने का काम करता है (4)। ब्रिटेन के एक अध्ययन के अनुसार, खजूर के नियमित सेवन से कोरोनरी हृदय रोग को कम किया जा सकता है (5)। इसमें मौजूद फाइबर वजन को कम करने में मदद करता है, जो हृदय रोग का कारण बन सकता है (6)।

3. कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण

खजूर खाने का एक लाभ कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण भी है। एक इजरायली अध्ययन के अनुसार, अगर स्वस्थ व्यक्ति खजूर का सेवन करता है, तो कोलेस्ट्रॉल के स्तर और ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस पर प्रभावी रूप से असर पड़ता है (7)। खजूर में कोई कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है। यह आयरन से भी समृद्ध होता है और इसमें केले की तुलना में अधिक फाइबर होता है।

4. हड्डी स्वास्थ्य

खजूर कॉपर, मैग्नीशियम, सेलेनियम और मैंगनीज का एक बड़ा स्रोत है। ये सभी पोषक तत्व मिलकर हड्डियों से संबंधित परेशानियों को दूर करने का काम करते हैं। इसके अलावा, खजूर विटामिन-के से भी भरपूर होता है, जो ब्लड को गाढ़ा करने और हड्डियों को मेटाबॉलाइज करने में मदद करता है (8)। नॉर्थ डकोटा स्टेट यूनिवर्सिटी की एक रिपोर्ट के अनुसार, खजूर में बोरॉन भी होता है, जो हड्डियों के लिए फायदेमंद होता है (9)।

5. रक्तचाप को नियंत्रित करता है

खजूर पोटैशियम और मिनरल्स से समृद्ध होता है, जो निम्न रक्तचाप के स्तर को नियंत्रित करने मंृ मदद करता है (10)। एक मेडजूल खजूर में लगभग 167 मिलीग्राम पोटैशियम होता है, जो अन्य फलों की तुलना में अपेक्षाकृत अधिक होता है। शरीर में पोटैशियम की कमी से गुर्दे की पथरी भी हो सकती है।

हार्वर्ड मेडिकल स्कूल की एक रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि रक्तचाप के लिए दवाओं के प्रयोग से बचना चाहिए। हालांकि, कुछ दवाएं इस मामले में अच्छी तरह से काम करती हैं, लेकिन समस्या को पूरी तरह खत्म नहीं कर सकती हैं। साथ ही इनके दुष्प्रभाव भी होते हैं (11)।

खजूर में मौजूद फाइबर रक्त शर्करा के स्तर को स्थिर करता है। यह आपके आहार में सोडियम के प्रभावों को भी संतुलित करता है, जिससे रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। इसमें मौजूद मैग्नीशियम आपके हृदय और रक्त वाहिकाओं की मांसपेशियों को आराम देता है, जिससे उच्च रक्तचाप नियंत्रित होने लगता है।

6. यौन स्वास्थ्य

एक भारतीय अध्ययन के अनुसार, खजूर के पराग का इस्तेमाल पारंपरिक दवाओं में पुरुष प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए किया जाता है (12)।

7. डायरिया का इलाज

कोलंबिया यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर की एक रिपोर्ट के अनुसार, दस्त होने पर हम जो कुछ भी खाते हैं, उससे यह बीमारी ठीक या बढ़ सकती है। इसलिए, सही भोजन का चुनाव बेहद जरूरी है। खजूर में पोटैशियम की मात्रा अधिक होती है, जिस कारण यह स्थिति को सुधारने में मदद कर सकता है। इसलिए, डाइरिया के इलाज के लिए आप खजूर का सेवन कर सकते हैं (13)।

8. मस्तिष्क स्वास्थ्य

Salud Pinit

Shutterstock

मस्तिष्क को ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस और सूजन से सुरक्षा प्रदान करने में खजूर काफी कारगर हैं। नियमित रूप से खजूर का सेवन करने से न्यूरोडीजेनेरेटिव बीमारियों से बचा जा सकता है। खजूर ज्ञान की क्षमता को भी बढ़ाने में मदद करता है (14)।
एक अन्य अध्ययन में निष्कर्ष निकाला गया है कि खजूर में अल्जाइमर की बढ़ती गति को धीमा करने की क्षमता है (15)।

ओमान के एक अन्य अध्ययन में कहा गया है कि खजूर मस्तिष्क में सूजन को रोकने में मदद कर सकता है (16)।

9. पेट का कैंसर

खजूर का सेवन कोलोरेक्टल कैंसर को कम कर सकता है (17)। खजूर के सेवन से आंत में लाभकारी जीवाणुओं की वृद्धि होती है और यह आंतों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है (18)।

10. बढ़ाता है ऊर्जा

खजूर के फल में कई पोषक तत्व होते हैं, जो आपकी ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने में मदद करते हैं। इसमें प्राकृतिक शर्करा जैसे सुक्रोज, फ्रूटोज और ग्लूकोज शामिल हैं। ये सभी ऊर्जा को बढ़ावा देते हैं।

11. वजन बढ़ाने में मदद

अगर आप बहुत पतले हैं, तो खजूर का सेवन करना शुरू कर सकते हैं। खजूर वजन बढ़ाने में भी सहयोग करता है। बकरी के बच्चे पर किए गए एक अध्ययन के अनुसार, ग्राउंड डेट सीड्स की खपत के बाद वजन में वृद्धि (30% तक) देखी गई (19)। यह मनुष्यों में भी देखा जा सकता है, लेकिन इस विषय में अभी और शोध की आवश्यकता है।

12. नाइट ब्लाइंडनेस

रतौंधी का प्राथमिक कारण विटामिन-ए की कमी है। खजूर इस विटामिन से भरपूर होता है और इस स्थिति से निपटने में मदद करता है (20)। माना जाता है कि खजूर के अधिक खपत वाले क्षेत्रों में रतौंधी की समस्या कम पाई जाती है। खजूर के पेड़ों को सबसे पुराना माना गया है, जो नाइट ब्लाइंडनेस से निजात दिला सकते हैं (21)।

13. नशा को करता है कम

क्या सच में खजूर नशे को कम करता है? हालांकि, इस पर कोई व्यापक शोध नहीं हुआ है, लेकिन आपको बताने के लिए हमारे पास कुछ दिलचस्प किस्से जरूर हैं। माना जाता है कि उत्तरी नाइजीरिया के कुछ हिस्सों में खजूर (काली मिर्च के साथ) को देसी बीयर में मिलाया जाता था, ताकि बीयर कम नशीली बन सके (22)।

14. बवासीर का इलाज

गर्भावस्था के दौरान बवासीर एक आम शिकायत है। यह समस्या अपर्याप्त फाइबर के कारण हो सकती है। जैसा कि हम पहले भी जिक्र कर चुके हैं कि खजूर फाइबर का एक बड़ा स्रोत है और यह बवासीर की समस्या को कम करने का काम कर सकता है। गर्भावस्था के दौरान बवासीर होने पर डॉक्टरी परामर्श पर खजूर को खाया जा सकता है।

15. त्वचा के लिए खजूर के फायदे

खजूर विटामिन-सी और डी से समृद्ध होते हैं। त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए खजूर का सेवन किया जा सकता है। डेट्स को आप अपने दैनिक आहार में शामिल कर सकते हैं, जिसका परिणाम आप जल्द ही देखेंगे।

खजूर एंटी-एजिंग तत्वों से भी समृद्ध होता है। यह शरीर में मेलेनिन के संचय को रोकने का काम करता है। डेट्स के बीज का अर्क फाइटोहोर्मोन से समृद्ध होता है, जो त्वचा पर एंटी-एजिंग प्रभाव डालता है। यह अर्क झुर्रियों से भी निजात दिलाने का काम करता है (23)।

16. बालों का झड़ना

Caída del cabello Pinit

Shutterstock

बालों के लिए खजूर के कई फायदे हैं। आयरन से भरपूर होने के कारण, खजूर स्कैल्प में रक्त संचालन को बढ़ावा देता है, जिससे बालों के विकास में मदद मिलती है। यह तब होता है, जब ऑक्सीजन आपके पूरे शरीर में ठीक से फैल जाती है, जिसमें आपका स्कैल्प भी शामिल होता है। इस प्रकार यह बालों को झड़ने से रोकता है और नए बाल के विकास में मदद करता है।

17. सूजन को करता है कम

एक लोकप्रिय ऑनलाइन लाइब्रेरी की रिपोर्ट के अनुसार, खजूर में दर्द और सूजन से लड़ने वाले घटक शामिल होते हैं (24)। खजूर में अच्छी मात्रा में मैग्नीशियम होता है – एक ऐसा खनिज, जो प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए महत्वपूर्ण है। अगर आपके आहार में मैग्नीशियम कम है, तो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली सूजन से ठीक प्रकार से लड़ नहीं पाएगी।

18. स्वस्थ गर्भावस्था

क्या आपने गर्भावस्था के दौरान खजूर के लाभों के बारे में सुना है? गर्भवती महिलाओं को लगभग 300 कैलोरी की आवश्यकता होती है। डेट्स अपनी कैलोरी शक्ति से गर्भवती महिलाओं को ऊर्जा देने का काम करता है। ज्यादातर गर्भवती महिलाएं उच्च कैलोरी वाले खाद्य पदार्थों का चयन करती हैं, लेकिन उनमें पोषक तत्वों की कमी होती है, जो गलत है।

इस स्थिति में डेट्स इन महिलाओं की मदद कर सकता है। हालांकि, इसमें कैलोरी थोड़ा अधिक है, लेकिन अन्य पोषक तत्वों की मात्रा भी पर्याप्त होती है।

लेख में हम पहले भी जान चुके हैं कि खजूर में मौजूद फाइबर गर्भावस्था के दौरान बवासीर को कम करने का काम करता है। जॉर्डन की रिपोर्ट के अनुसार, डिलीवरी से पहले अंतिम चार हफ्तों में खजूर का सेवन अधिक अनुकूल परिणाम दे सकता है (25)। गर्भावस्था के अंतिम महीनों में खजूर गर्भाशय की मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए भी जाना जाता है।

ये थे खजूर के सबसे महत्वपूर्ण लाभ, लेकिन ऐसा नहीं है कि इसके और लाभ नहीं हैं। नीचे जानिए, खजूर के अन्य शारीरिक फायदों के बारे में, लेकिन इनकी पुष्टि करने वाले वैज्ञानिक साक्ष्म कम हैं। इस मामले में अभी और अध्ययन की जरूरत है। इए जानते हैं, डेट्स का सेवन करने के अन्य शारीरिक फायदे।

खजूर का सेवन करने के अन्य शारीरिक लाभ – Other Health Benefits of Dates in Hindi

1. आंतों के विकार का इलाज

यकीनन खजूर में मौजूद फाइबर के कई शारीरिक लाभ हैं। खासकर पाचन तंत्र पर यह काफी सकारात्मक प्रभाव डालता है। हालांकि, अधिक सेवन करने से आंतों में बैक्टीरिया फैल सकता है, जिससे गैस की परेशानी खड़ी हो सकती है।

कुछ अध्ययन कहते हैं कि खजूर में निकोटीन होता है, जो आंतों के विकारों के इलाज में मदद करता है। इस पर अभी और शोध होना बाकी है।

2. एनीमिया उपचार में सहायता

एनीमिया एक घातक बीमारी है, जो शरीर में आयरन की कमी से होती है। जैसा कि हम पहले ही बता चुके हैं, खजूर आयरन से समृद्ध होता है। यह एनीमिया की शिकायत से निजात दिला सकता है। हालांकि, इस पर और शोध होने की जरूरत है।

3. यौन स्वास्थ्य में वृद्धि

लेख में हम पहले ही जान चुके हैं कि खजूर पुरुष प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में मदद कर सकता है। कुछ अध्ययनों में कहा गया है कि खजूर एमिनो एसिड से भरपूर होता है, जो यौन शक्ति को बढ़ाता है। इस विषय पर अभी और अध्ययन किया जा रहा है।

4. मांसपेशियों का विकास

कार्बोहाइड्रेट को अक्सर अन्य पोषक तत्वों की तुलना में नीचे देखा जाता है, लेकिन अगर आपके शरीर में इसकी मात्रा कम है, तो यह शरीर में ऊर्जा की बजाय मांसपेशियों को जला सकता है। खजूर, हाई कार्बोहाइड्रेट फल होने के कारण मांसपेशियों के विकास में मदद कर सकता है।

5. पेट की चर्बी कम करने में मदद

कम पोषण युक्त भोजन का अधिक मात्रा में सेवन पेट की चर्बी का कारण बनता है। जंक फूड्स कुछ ऐसे ही खाद्य पदार्थ होते हैं। अगर आप मोटापे से परेशान हैं, तो खजूर को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बना सकते हैं। डेट्स फाइबर से समृद्ध होता है। इसके सेवन से भूख कम लगती है, जिससे अधिक भोजन करने की इच्छा कम हो जाती है। यह स्वाद में मीठा होता है और आप इसका सेवन आसानी से कर सकते हैं।

खजूर खाने के सबसे अच्छे तरीके क्या हैं?

खजूर का इतिहास, इसके प्रकार और शरीर के विभिन्न फायदों के बाद यह जानना जरूरी बन जाता है कि इसका सेवन किस प्रकार किया जा सकता हैं। यहां हम आपको एक नहीं, बल्कि इसके खाने के कई तरीकों के बारे में आपको बताने जा रहे हैं-

  • आप खजूर को स्टफ स्नैक्स के रूप में खा सकते हैं। इसके बीज को हटाकर डेट्स के साथ आप बादाम, काजू व अखरोट को मिलाकर खाएं।
  • आप नाश्ते में लेने वाले अनाज के साथ खजूर को छोटा-छोटा काटकर खा सकते हैं।
  • आप डेट्स को टूना, चिकन सलाद या अन्य सब्जियों का साथ रैप करके खा सकते हैं।
  • आप फ्रोजन वेनिला दही के साथ खजूर को छोटा-छोटा काटकर परोसें।
  • सबसे सरल आप खजूर को ऐसे ही खाएं।
  • आप खजूर को भिगोकर भी खास सकते हैं। भिगोने से यह बहुत नरम हो जाता है। आप डेट्स सिरप भी ले सकते हैं। यह एंटी बैक्टीरियल तत्वों से भरपूर होता है। कुछ अध्ययन के अनुसार यह शहद से ज्यादा प्रभावकारी होता है।

खजूर को खाने के विभिन्न तरीकों के बाद जानिए ताजे और सूखे डेट्स के बीच अंतर।

सूखे और ताजे खजूर में अंतर – Difference Between Fresh and Dried Dates in Hindi

  • ताजे खजूर नरम होते हैं, जबकि सूखे खजूर सख्त प्रकृति के होते हैं। ताजे खजूर में सूखे की तुलना में अधिक नमी होती है।
  • सूखे खजूर ताजे भी हो सकते हैं। यह फ्रेश शॉप्ट डेट्स होते हैं, जो एक अवधि के बाद सूख जाते हैं।
  • पौष्टिकता के दृष्टिकोण से ताजे और सूखे खजूर के मध्य कोई बड़ा अंतर नहीं होता।
  • ताजे खजूर की तुलना में सूखे खजूर में कार्बोहाइड्रेट दोगुनी मात्रा में होता है। यह फाइबर का एक बेहतर स्रोत भी हैं। सूखे खजूर में कैल्शियम और आयरन की मात्रा भी अधिक होती है, लेकिन वहीं ताजे खजूर में विटामिन-सी की मात्रा सूखे खजूर की तुलना में अधिक होती है। आप अपनी इच्छानुसार खजूर का चयन और सेवन कर सकते हैं।

आप डेट्स का सेवन करने के लिए नीचे बताई जा रही पॉपुलर रेसिपी ट्राई कर सकते हैं।

डेट्स मिल्कशेक

डेट्स मिल्कशेक विश्व भर में प्रसिद्ध एक हेल्दी मिल्कशेक रेसीपी है। इमसें प्राकृतिक मिठास होती है, इसलिए आपको इसमें अतिरिक्त मिठास की जरूरत नहीं पड़ती। नीचे जानिए किस प्रकार बनाएं डेट्स मिल्कशेक –

सामग्री

  • एक गिलास ताजा ठंडा दूध
  • मुठ्ठी भर अच्छे क्वालिटी के डेट्स

प्रक्रिया

  • सबसे पहले आप डेट्स के बीज निकाल लें और उसके बड़े-बड़े टुकड़े कर लें।
  • अब आप जूसमेकर में दूध और कटे हुए खजूर को डालकर अच्छी तरह मिक्स कर लें।
  • आप इसमें अखरोट, काजू और बादाम भी डाल सकते हैं।
  • इस प्रकार आप एक पौष्टिक खजूर मिल्क शेक बना सकते हैं।

डेट्स ऊर्जा का सबसे बड़ा स्रोत माना जाता है। खासकर, गर्मियों के दिनों में जब भी आप थके-हारे घर लौंटे, तो यह शानदार डेट्स मिल्क शेक पी सकते हैं। यह आपका पेट भी भरेगा और ऊर्जा भी देगा।

चयन और भंडारन (स्टोरेज)

चयन

  • डेट्स आमतौर छोटे व बड़े पैकेट में साबूत बेचे जाते हैं।
  • हमेशा चमकदार, नम और बिना पॉलिश किए हुए खजूर ही खरीदें।
  • ताजे खजूर थोड़े सिकुड़े हुए हो सकते है, लेकिन वे ज्यादा सख्त नहीं होते। उनकी त्वचा पर क्रिस्टल शुगर भी लगी रहती है।
  • खजूर को मोटा और चमकदार दिखना चाहिए और एक समान रंग होना चाहिए।

कैसे स्टोर करें डेट्स को

  • हमेशा एक एयरटाइट कंटेनर का इस्तेमाल करें और रेफ्रिजरेटर में डेट्स को रखें। इस तरह खजूर को छह महीने तक स्टोर किया जा सकता है।
  • सूखे खजूर की शैल्फ लाइफ (जीवनकाल) ज्यादा होती है। अगर ऊपर बताए गए तरीके से इन्हें रखा जाए, तो इन्हें 1 साल तक स्टोर किया जा सकता है।
  • एयरटाइट प्लास्टिक की थैली या कंटेनर में डेट्स को रखने से इनकी शैल्फ लाइफ बढ़ जाती है।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

सवाल – क्या खजूर नट है?

जवाब – खजूर नट नहीं है, बल्कि डेट्स पाम पेड़ का एक फल है।

सवाल – मुझे एक दिन में कितने खजूर खाने चाहिए?

जवाब – एक दिन में आप लगभग तीन से पांच खजूर खा सकते हैं।

सवाल – दूध के साथ खजूर का सेवन करने के क्या फायदे हैं?

जवाब – खजूर के अतिरिक्त लाभ पाने के लिए आप इसे दूध के साथ ले सकते हैं। इस प्रकार आपको कैल्शियम का दोगुना लाभ मिलेगा। खजूर और दूध दोनों ही कैल्शियम के बड़े स्रोत हैं।

सवाल – क्या मैं चाय के साथ खजूर ले सकती हूं?

जवाब – आप चाय में खजूर डालकर न लें, बल्कि आप फीकी चाय के साथ खजूर को अलग से खा सकते हैं।

सवाल – क्या मधुमेह रोगी खजूर खा सकते हैं?

जवाब – खजूर प्राकृतिक रूप से मीठा होता है और यह फाइबर के गुणों से भी समृद्ध होता है। मधुमेह के रोगियों को खजूर लाभ पहुंचा सकता है। डायबिटीज के मरीज इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर कर लें।

सवाल – क्या खजूर को ऑड नंबर में खाने के ज्यादा फायदे हैं ?

जवाब – हां, इस प्रकार आप खजूर खाने से उसका औषधी प्रभाव नजर आ सकता हैं। हालांकि, आप खजूर ऑड और ईवन नंबर दोनों में खा सकते हैं।

सवाब – क्या खजूर को रोज खाया जा सकता है?

जवाब – जी हां, खजूर को रोज खाया जा सकता है।

सवाल – कब्ज के इलाज के लिए मुझे कितनी खजूर खाने चाहिए?

जवाब – इसकी कोई विशिष्ट संख्या नहीं है, लेकिन अगर आप हर दिन सामान्य मात्रा में खजूर खाते हैं, तो आप कब्ज जैसी समस्या से बचे रहेंगे। साथ ही आपको अपने अन्य खान-पान पर भी नियंत्रण करना होगा।

सवाल – जूजूबे डेट्स के स्वास्थ्य लाभ क्या-क्या हैं?

जवाब – जूजूबे डेट्स को चाइनीज और रेड डेट्स भी कहा जाता है। खजूर के इस प्रकार को अनिद्रा और स्ट्रेस का इलाज करने में कारगर माना गया है। इसके अलावा, जूजूबे डेट्स के सेवन से प्रतिरक्षा और लिवर प्रणाली में भी सुधार होता है।

शरीर के लिए खजूर के विभिन्न लाभों की वजह से इसे पूरे विश्व भर में पसंद किया जाता है। अगर आपने इसे अभी तक अपनी जीवनशैली का हिस्सा नहीं बनाया है, तो आज ही बाजार से डेट्स खरीद कर लाएं और खाना शुरू करें। आपको हमारा यह लेख कैसा लगा, हमें कमेंट बॉक्स में बताना न भूलें। अन्य जानकारी के लिए आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में अपने सवाल पूछ सकते हैं।

संबंधित आलेख