शिया बटर के 17 फायदे, उपयोग और नुकसान – All About Shea Butter in Hindi

by

त्वचा, शरीर और बालों को स्वस्थ रखने के लिए लोग कई जतन करते हैं। अगर इन सभी के लिए मक्खन का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाए तो? जी हां, मक्खन! हम यहां किसी आम मक्खन की नहीं, बल्कि शिया बटर की बात कर रहे हैं। शिया बटर में मौजूद गुणों की वजह से ब्यूटी प्रोडक्ट से लेकर कई अन्य उत्पादों में इसका इस्तेमाल किया जाता है। इसी वजह से स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम शिया बटर के फायदे, उपयोग और इस्तेमाल के तरीके के बारे में बता रहे हैं। इतना ही नहीं, सावधानी के रूप में शिया बटर के नुकसान से भी हम आपको अवगत कराएंगे।

शुरू करते हैं लेख

सबसे पहले हम बता रहे हैं कि शिया बटर क्या है?

शिया बटर क्या है – What is Shea Butter in Hindi

शिया पेड़ के बीजों से निकाले गए बटर को शिया बटर कहते हैं। शिया मूल रूप से एक अफ्रीकी पेड़ है, जिसके बीजों में फैट होता है। इसी फैट से शिया बटर बनाया जाता है। बटर निकालने के लिए सबसे पहले बीजों को तोड़ा जाता है, फिर उबालकर फैट निकालकर शिया बटर बनाया जाता है (1)।

आगे पढ़ें

शिया बटर क्या है, बताने के बाद आगे हम शिया बटर क्यों अच्छा होता है, यह बता रहे हैं।

शिया बटर आपके लिए क्यों अच्छा है?

शिया बटर के फायदे की वजह से यह शरीर के लिए अच्छा माना जाता है। इसका उपयोग त्वचा और बालों के लिए एक कारगर मॉइस्चराइजर, क्रीम व लोशन के रूप में किया जाता है। इसमें एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होते हैं (2)। इसके इस्तेमाल से त्वचा संबंधी रोग जैसे एटोपिक डर्मेटोसिस (AD) यानी त्वचा का पपड़ीदार बनना और उसपर होने वाली खुजली को कम कर सकता है। साथ ही यह सूरज की पैराबैंगनी किरणों से भी त्वचा की रक्षा करने में सहायक हो सकता है (3)।

स्क्रॉल करें

आगे हम शिया बटर के फायदे के बारे में विस्तार से बता रहे हैं।

शिया बटर के फायदे – Benefits of Shea Butter in Hindi

शिया बटर त्वचा, बालों और स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों के लिए लाभदायक माना गया है। वर्तमान में इस बटर का इस्तेमाल सौंदर्य प्रसाधनों जैसे लोशन, शैम्पू व कंडीशनर में किया जा रहा है, जिस कारण इसे बॉडी बटर भी कहते हैं। शिया बटर के फायदे की वजह से इसे विश्व-भर में काफी पसंद किया जाता है। इसी वजह से आगे हम विस्तार से शिया मक्खन के फायदे के बारे में बता रहे हैं। बस यह ध्यान दें कि यह किसी बीमारी का इलाज नहीं है, बल्कि स्वस्थ रहने और शारीरिक समस्याओं से संबंधित लक्षण से राहत पाने का एक उपाय हो सकता है।

1. मांसपेशियों के लिए

अधिक काम-काज और थकावट के कारण मांसपेशियों में दर्द होना आम है। खासकर उम्र बढ़ने के साथ-साथ यह समस्या बढ़ सकती है। इस स्थिति में शिया बटर का उपयोग किया जा सकता है। इसमें पाए जाने वाला स्टिग्मास्टेरोल (Stigmasterol) अकड़न से राहत दिलाने में सहायक हो सकता है (4)। यह एक एंटी-स्टिफनेस एजेंट होता है, जो मांसपेशियों के दर्द से आराम दिला सकता है (5)। दो बड़े चम्मच अनरिफाइंड शिया बटर को 30-60 सेकंड के लिए माइक्रोवेव में रख कर पिघलाकर इससे मांसपेशियों की मसाज कर लें। पूरी तरह आराम न मिलने तक इस प्रक्रिया को प्रतिदिन एक बार दोहराया जा सकता है।

2. अर्थराइटिस

जोड़ों में दर्द, सूजन और अकड़न को अर्थराइटिस कहा जाता है। इस समस्या से राहत पाने के लिए शिया बटर का इस्तेमाल किया जा सकता है। इस बटर में ल्यूपॉल नामक ट्राइटरपीन होता है, जो एंटी-अर्थरिटिक और एंटी-इंफ्लेमेटरी एजेंट की तरह कार्य करते हैं। रिसर्च में कहा गया है कि यह ल्यूपॉल तत्व से न केवल जानवरों में गठिया की समस्या कम हुई बल्कि जोड़ों की सूजन भी कम हुई। इसके अलावा, दर्द से बचाव करने और पैरों की गतिशिलता में भी सुधार हो सकता है (6)। पूरी तरह से आराम न मिलने तक इसे गुनगुने शिया बटर से जोड़ों की मसाज कर सकते हैं।

3. नेजल कंजेशन और इंफ्लेमेशन

बंद नाक (नेजल कंजेशन) और नाक की सूजन (इंफ्लेमेशन) के लिए भी शिया मक्खन का इस्तेमाल कर सकते हैं। नेजल कंजेशन नाक के मार्ग में इंफ्लेमेशन की वजह से होता है। जैसा कि हम पहले ही बता चुके हैं कि शिया बटर एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होता है। यह प्रभाव नाक में दर्द और सूजन को कम करने का काम कर सकता है। इसकी मदद से नाक को साफ किया जा सकता है (7)। बंद नाक से राहत पाने के लिए पिघले हुए शिया बटर की दो बूंदें नाक में डालें। ध्यान दें कि वह ज्यादा गर्म न हो।

4. कोलेस्ट्रॉल

शिया बटर रक्त में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने का काम कर सकता है। शिया बटर स्टीयरिक एसिड से समृद्ध होता है, जो एक प्रकार का सैचुरेटेड फैटी एसिड है। अमेरिकन जर्नल ऑफ लाइफ साइंसेज में प्रकाशित एक जर्नल के अनुसार यह टोटल कोलेस्ट्रॉल और लिपोप्रोटीन के साथ ही प्लाज्मा कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने का काम कर सकता है। इसके अलावा, शिया बटर में मौजूद सैपोनिन कंपाउंड में एंटी-हाइपरकोलेस्टेरोलेमिक प्रभाव दिखाता है, जो खराब कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकता है। इसी अध्ययन में यह बात भी कही गई है कि यह एचडीएल (अच्छे कोलेस्ट्रॉल) को भी कम कर सकता है (3)। इसी वजह से इसका उपयोग ज्यादा न करें। शिया बटर का उपयोग आम बटर या तेल की जगह किया जा सकता है।

5. सनबर्न

सूर्य की हानिकारक यूवी किरणें त्वचा को बुरी तरह प्रभावित करती हैं। यहां शिया बटर के उपयोग से इनसे बचा जा सकता है। दरअसल, शिया बटर में सन स्क्रीनिंग गुण होता है, जो सूर्य की हानिकारण किरणों से बचाव कर सकता है (3)। इसमें मौजूद विटामिन-ई भी सूर्य के हानिकारक प्रभाव से बचाने में सहायक हो सकता है (8)। सूरज की किरणों से बचने से सनबर्न का खतरा कम हो जाता है।

6. शुष्क त्वचा को करता है मॉइस्चराइज

एक शोध के अनुसार, शिया बटर त्वचा को भरपूर नमी प्रदान कर सकता है। इसमें मौजूद फैटी एसिड त्वचा को मॉइस्चराइज करने और नमी को बनाए रखने के लिए जाना जाता है। यह मॉइचराइजर और एमोलिएंट्स (मुलायम बनाने वाला) की तरह कार्य कर सकता है (3)। फटी एड़ियों व रूखी त्वचा के खुरदरेपन को ठीक करने के लिए शिया बॉडी बटर का उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा, सर्दियों में भी इसका इस्तेमाल एक मॉइस्चराइजर की तरह किया जा सकता है (9)।

7. स्किन इन्फ्लेमेशन

शिया बटर में अल्फा-एम्रिन (α-amyrin) ट्राइटेर्पेन कंपाउंड होता है, जो एंटीइंफ्लेमेटरी गुण के लिए जाना जाता है। अल्फा-एम्रिन (α-amyrin) ट्राइटेर्पेन एडिमा (सूजन) को कम करने में मदद कर सकता है। यह कंपाउंड त्वचा की जलन से भी राहत दे सकता है। इसके अलावा, प्रभावित क्षेत्र पर शिया बटर के उपयोग से डर्मेटाइटिस (एग्जिमा) की सूजन को ठीक किया जा सकता है। सनबर्न, रैशेज और खराेंच आदि में भी शिया बटर से आराम मिल सकता है (3)।

8. एंटी-एजिंग

शिया बटर एंटी-एजिंग प्रभाव से भी युक्त होता है। शिया बटर में यूवी एंटी-एरिथेमिक गतिविधि होती है, जो कोशिका पुनर्जनन (Regenration) और त्वचा को नरम बनाने में मदद कर सकता है। कुछ लोगों पर हुए रिसर्च में पता चला है कि शुद्ध शिया मक्खन का इस्तेमाल करने से विभिन्न तरह के उम्र बढ़ने के संकेतों को कम किया जा सकता है। यह फोटोएजिंग (सूर्य की किरणों के कारण समय से पहले एजिंग) को रोक सकता है। साथ ही, यह कोलेजन को बढ़ावा देकर भी एंटी-एजिंग प्रभाव दिखा सकता है (3)।

जारी रखें पढ़ना

9. एक्ने और काले-धब्बे

माना जाता है कि एक्ने को कम करने में भी शिया बटर मदद कर सकता है। एक शोध के मुताबिक, शिया बटर से बने साबुन का इस्तेमाल करने से मुंहासे की समस्या कम हो सकती है। अन्य साबुन से एलर्जिक लोग भी शिया बटर से बने साबुन का उपयोग करके स्किन संबंधी समस्याओं से बच सकते हैं (10)। इसके अलावा, शिया बटर काले-धब्बों यानी ब्लैमिशेज को भी कम करने में मदद कर सकता है (11)। वहीं, शिया बटर मुहांसों से प्रभावित त्वचा पर एंटी-इंफ्लेमेटरी मॉइस्चराइजर की तरह भी काम कर सकता है (12)।

10. लिप केयर

जैसा कि हम बता चुके हैं कि शिया बटर एक अच्छा मॉइस्चराइजर है (3)। मॉइस्चराइजर में त्वचा के अंदर आसानी से समा जाने का गुण होता है, जिस कारण यह त्वचा में नमी बनाए रखता है। यह होठों को अतिरिक्त नमी और पोषक तत्व प्रदान कर सकता है (13)। इस प्रकार यह असरदार लिप बाम के रूप में काम कर सकता है, जो फटे और रूखी स्किन पर प्रभावी तरीके से काम कर सकता है (11)।

11. स्ट्रेच मार्क्स

स्ट्रेच मार्क्स को हटाने के लिए भी शिया बटर का उपयोग किया जा सकता है। एक रिसर्च पेपर में इस बात का जिक्र है कि गर्भावस्था के समय शरीर पर पड़ने वाले स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए शिया बटर फायदेमंद हो सकता है। दरअसल, इसमें स्किन हिलिंग प्रोपर्टिज होती हैं, जो खिंचाव के निशान को कम कर सकता है (11)।

इसके अलावा, यह बढ़ते केलोइड फाइब्रोब्लास्ट (Proliferating Keloid Fibroblasts) को सक्रिय रूप से कम करके स्ट्रेच मार्क्स को ठीक कर सकता है। केलोइड फाइब्रोब्लास्ट यानी ऐसी जगह व निशान जहां स्कार टिश्यू का अनियमित उत्पादन हो रहा हो। इसी वजह से मार्केट में मौजूद कई स्ट्रेच मार्क्स ट्रीटमेंट क्रीम में भी बतौर सामग्री शिया बटर का उपयोग होता है। शिया बटर युक्त प्रोडक्ट्स भी स्किन इलास्टिसिटी बढ़ाकर स्ट्रेच मार्क्स कम कर सकते हैं (14)।

12. खुजली व छिलने वाली त्वचा से राहत

त्वचा का रूखापन अक्सर खुजली का कारण बनता है (15)। रूखी त्वचा पर खुजली करने से वह छिलने लगती है। इस समस्या को कम करने के लिए शिया बटर की मदद ली जा सकती है। हम ऊपर भी बता चुके हैं कि शिया बटर में मॉइस्चराइजिंग गुण होता है (3)। यह प्रभाव रूखी त्वचा को गहराई से पोषण देकर खुजली कम करने और परतदार व छिलने वाली त्वचा से राहत दिला सकता है (12)। साथ ही, इसका एमोलिएंट (मुलायम बनाने वाला) प्रभाव त्वचा को मुलायम बनाने में सहायक हो सकता है (3)।

13. सोरायसिस और एक्जिमा से आराम

शिया बटर में स्टीयरिक एसिड, लिनोलिक एसिड और कैटेचिन नाम के तीन एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। ये सभी मिलकर एक्जिमा की समस्या और सोरायसिस को कम कर सकते हैं। ये दोनों ही एंटीइंफ्लेमेटरी समस्या हैं, तो शिया बटर में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण इनसे बचाव में मदद कर सकता है (16)।

14. घाव भरने और कीड़े के काटने से आराम

घाव भरने के लिए शिया मक्खन का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें स्किन हीलिंग प्रभाव होता है, जो त्वचा के घाव को भरने का काम कर सकता है। एक रिसर्च में कहा गया है कि यह हल्के घाव को ठीक कर सकता है। इसके अलावा, कीड़े के काटने से होने वाली असुविधा को भी कम कर सकता है (11)।

15. बालों का झड़ना

माना जाता है कि बालों का झड़ना कम करने के लिए भी शिया बटर अच्छा हो सकता है। एक रिसर्च में कहा गया है कि बालों का ख्याल रखने वाले पोषक तत्व जैसे जिंक, मैग्निशियम और कॉपर इसमें मौजूद होते हैं (17)। हालांकि, इसको लेकर कोई स्पष्ट शोध उपलब्ध नहीं है कि यह बालों का झड़ना कम कर सकता है या नहीं।

16. क्षतिग्रस्त बालों के लिए

मान्यता है कि क्षतिग्रस्त बालों को भी ठीक करने में शिया बटर मदद कर सकता है। दरअसल, बाल जब रूखे हो जाते हैं, तो वह दो-मुंहें होने और टूटने लग जाते हैं। जैसे कि हम बता ही चुके हैं कि इसमें मॉइस्चराइजिंग प्रभाव होते हैं, जो बालों को मॉइस्चराइज करके बालों को क्षतिग्रस्त होने से बचा सकता है। हालांकि, इसे लेकर भी अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

17. प्राकृतिक कंडीशनर

कंडीशनर का काम होता है बालों की नमी बनाए रखना, उन्हें उलझने से बचाना और संभालने में आसान बनाना। इन सभी काम के लिए शिया बटर का उपयोग किया जा सकता है। इसमें मौजूद मॉइस्चराइजिंग प्रभाव स्कैल्प को कंडीशन करके रूखेपन से बचा सकता है। साथ ही यह बालों को मुलायम बनाए रखने में भी सहायक हो सकता है (3)।

इसे डीप कंडीशनर की तरह कुछ इस तरह उपयोग कर सकते हैं।

विधि:

  • एक चम्मच शिया बटर को पिघला लें।
  • इससे अपने सिर की मसाज करें।
  • इसके बाद गर्म पानी में भीगे हुए तौलिये को अच्छे से निचोड़ कर अपने सिर पर लपेट लें।
  • इस गर्म तौलिये से 15-20 मिनट तक स्टीम लें।
  • आखिरी में बालों को शैम्पू से धो लें।

बने रहें हमारे साथ

लेख के अगले भाग में हम आपको बताएंगे कि शिया बटर में कौन-कौन से पोषक तत्व मौजूद होते हैं।

शिया बटर के पौष्टिक तत्व – Shea Butter Nutritional Value in Hindi

शिया बटर के फायदों के बारे में जानने के बाद यह जानना जरूरी है कि इसमें कौन-कौन से पोषक तत्व कितनी मात्रा में मौजूद हैं (4) :

पोषक तत्व मात्रा (प्रति 100 ग्राम)
मॉइस्चर1.4 प्रतिशत
कार्बोहाइड्रेट22.3 ग्राम
क्रूड लिपिड75 ग्राम
कैल्शियम9.6 मिलीग्राम
कॉपर0.8 मिलीग्राम
आयरन3.6 मिलीग्राम
पोटेशियम2.2 मिलीग्राम
मैग्नीशियम4.5 मिलीग्राम
मैंगनीज0.006 मिलीग्राम
सोडियम4.2 मिलीग्राम
जिंक2.7 मिलीग्राम

इसके उपयोग जानें

शिया बटर क्या होता है और इसके पोषक तत्व के बाद आगे हम शिया बटर के उपयोग के बारे में बता रहे हैं।

शिया बटर का उपयोग – How to Use Shea Butter in Hindi

शिया बटर के उपयोग के तरीके जानना भी जरूरी है। इसी वजह से हम विस्तार से बता रहे हैं कि शिया बटर को किस तरीके से इस्तेमाल किया जा सकता है।

त्वचा के लिए बॉडी बटर का उपयोग : शिया बटर को सीधे अपनी त्वचा पर लगा सकते हैं। थोड़ा-सा बॉडी बटर अपनी हथेली में लेकर मॉइस्चराइजर की तरह लगाएं। इसे तब तक मलें जब तक कि यह त्वचा में अवशोषित न हो जाए।

बालों के लिए शिया बटर का उपयोग : शिया बटर को पिघला कर इसे स्कैल्प पर लगाकर मसाज करें। 30 मिनट रखने के बाद बालों को शैम्पू से धो लें। इसे साधारण तेल की तरह बालों के लिए उपयोग कर सकते हैं।

खाने के लिए : अनरिफाइंड शिया बटर का इस्तेमाल खाने के लिए भी किया जा सकता है। इसे नॉर्मल अन्य बटर की तरह या तेल की तरह इस्तेमाल में लाया जा सकता है।

इसके उपयोग की मात्रा निर्धारित नहीं है। इसी वजह से इसे अन्य बटर से ज्यादा इस्तेमाल न करें। अधिक मात्रा में शिया बटर के उपयोग करने से हानि भी हो सकती है।

पढ़ते रहें

चलिए, आगे जानते हैं कि शिया बटर कहां मिलता है।

शिया बटर कहां से खरीदें?

शिया बटर क्या होता है, जानने के बाद यह जान लेना भी जरूरी है कि शिया बटर कहां मिलता है। वैसे, शिया मक्खन को आसानी से ई-कॉमर्स वेबसाइट से कच्चा और ऑर्गेनिक खरीदा जा सकता है। इसके अलावा, ऑर्गेनिक स्टोर और बड़े डिपार्टमेंटल स्टोर में भी यह बटर उपलब्ध होता है।

स्क्रॉल करें

लेख के अगले भाग में शिया बटर को लंबे समय तक सुरक्षित रखने के तरीके पर नजर डाल लेते हैं।

शिया बटर का चयन और लंबे समय तक सुरक्षित रखना – Selection and Storage of Shea Butter in Hindi

100 प्रतिशत शिया बटर को स्टोर करने का सबसे अच्छा तरीका है कि इसे एयरटाइट कंटेनर में ठंडे वातावरण में रखा जाए। इस पर सीधे धूप नहीं पड़नी चाहिए। औसतन 100 प्रतिशत शिया बटर की शेल्फ लाइफ दो साल हो सकती है। वहीं, इसकी गंध अगर बासी जैसी लगने लगे, तो इसे उपयोग न करें।

आगे नुकसान पढ़ें

आइए, अब आपको बताएंगे कि शिया बटर के साइड इफेक्ट्स क्या हो सकते हैं।

शिया बटर के नुकसान – Side Effects of Shea Butter in Hindi

शिया बटर क्या होता है और इसके फायदे, तो आप जान चुके हैं। अब शिया बटर के नुकसान के बारे में जानना भी जरूरी है। वैसे, अभी तक शिया बटर के नुकसान पर अधिक वैज्ञानिक अध्ययन नहीं हुए हैं। इसी वजह से हम नीचे कुछ सामान्य शिया बटर के नुकसान के बारे में बता रहे हैं।

  • अगर आप पहली बार शिया बटर का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो एक बार पैच टेस्ट जरूर कर लें। हालांकि, इससे एलर्जी होना इतना आम नहीं है, लेकिन खुद को सुरक्षित रखने के लिए सतर्कता जरूरी है।
  • अगर इसके उपयोग से त्वचा पर किसी भी तरह की एलर्जी या रैशेज दिखते हैं, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।
  • इसके सेवन से प्रोटीन डाइजेशन पर असर पड़ सकता है (3)।
  • कहा जाता है कि शिया बटर काफी मोटा होता है। इसी वजह से इसके ज्यादा इस्तेमाल करने से बालों में बिल्ड-अप रह सकता है।

अब आप जान गए हैं कि बॉडी बटर यानी शिया बटर एक प्राकृतिक पदार्थ है। इसका इस्तेमाल करके त्वचा, बाल व स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं से जल्द राहत मिल सकती है। वहीं, इसके उपयोग की मात्रा का भी जरूर ध्यान रखें, क्योंकि इसकी अधिक मात्रा का उपयोग स्वास्थ्य के लिए हानिकारक भी हो सकता है। हम उम्मीद करते हैं कि यह लेख आपको पसंद आया होगा। आप चाहें, तो इसे अन्य लोगों के साथ भी शेयर कर सकते हैं। अब हम नीचे रिडर्स द्वारा अक्सर पूछे जाने वाले कुछ सवालों के जवाब दे रहे हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल:

शिया बटर को ‘महिलाओं का सोना’ क्यों कहा जाता है?

अफ्रीका में कई महिलाएं शिया बटर उद्योग से आजीविका चलाती हैं। इसी वजह से शिया मक्खन को ‘महिलाओं का सोना’ नाम दिया गया है।

क्या शिया बटर खाने योग्य है?

हां, शिया मक्खन को खाया जा सकता है। इसे खाने के लिए सुरक्षित बताया जाता है (18)।

शिया बटर की शेल्फ लाइफ क्या है?

शिया बटर का औसत शेल्फ लाइफ दो साल है, लेकिन ब्रांड के आधार पर इसकी शेल्फ लाइफ कम या ज्यादा हो सकती है।

क्या शिया मक्खन प्राकृतिक है?

हां, शिया मक्खन प्राकृतिक होता है।

किस तरह का शिया मक्खन सबसे अच्छा होता है?

अनरिफाइंड, रॉ और ऑर्गेनिक शिया मक्खन को सबसे अच्छा माना जा सकता है।

शिया बटर की गंध कैसी होती है?

शुद्ध शिया बटर में तेज और नट्स जैसी गंध होती है।

क्या सभी शिया बटर एक समान होते हैं?

नहीं, विभिन्न किस्म के शिया बटर बाजार में उपलब्ध हैं। इसकी क्वालिटी इसके प्रोसेसिंग पर निर्भर करती है। कुछ अनरिफाइन्ड होते हैं और कुछ रिफाइन्ड होते हैं।

क्या शिया बटर वीगन है?

हां, शिया मक्खन 100% वीगन है। दरअसल, यह एक फैटी पदार्थ है, जो अफ्रीकी शिया के पेड़ के नट से निकाला जाता है।

क्या नट्स से एलर्जी होने वाले लोगों के लिए शिया बटर सुरक्षित है?

शिया बटर से एलर्जी होने से जुड़ा कोई वैज्ञानिक प्रमाण मौजूद नहीं है।

क्या शिया मक्खन त्वचा की रंगत को हल्का करता है?

शिया बटर त्वचा को कई तरह से फायदा पहुंचाता है, लेकिन रंगत को लेकर कोई सटीक शोध उपलब्ध नहीं है।

शिया बटर को काम करने में कितना समय लगता है?

यह व्यक्ति के शरीर पर निर्भर करता है।

क्या शिया बटर पिंपल्स का कारण बन सकता है?

नहीं, हम बता चुके हैं कि यह पिंपल्स की समस्या को कम कर सकता है। हां, अधिक तैलीय त्वचा वालों को इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।

क्या शिया बटर मॉइस्चराइजर या सीलेंट है?

हां, शिया बटर मॉइस्चराइजर होता है। सीलेंट है या नहीं यह स्पष्ट नहीं है। सीलेंट एक पदार्थ होता है, जो सतह के माध्यम से तरल पदार्थों को पास होने से रोक देता है।

शिया बटर पीला क्यों होता है?

रॉ शिया बटर पीला होता है।

शिया बटर और अफ्रीकी शिया बटर में क्या अंतर है?

दोनों शिया बटर अफ्रीका से ही आते हैं, क्योंकि यह अफ्रीकी शिया पेड़ से ही बनता है। कहा जाता है कि अफ्रीकी शिया मक्खन नदियों के करीब की भूमि के शिया पेड़ से बनता है। दूसरे शिया बटर हाइलैंड्स (पहाड़ी इलाकों) में होते हैं। माना जाता है कि दोनों के बीच सबसे महत्वपूर्ण अंतर बायोएक्टिव हो सकता है।

क्या शिया बटर बालों के लिए अच्छा होता है?

जी हां, शिया मक्खन बालों के लिए अच्छा होता है। शिया बटर के फायदे बालों के लिए क्या-क्या हैं, यह आप ऊपर लेख में पढ़ सकते हैं।

क्या शिया बटर डार्क स्पॉट को हटा सकता है?

हां, हम ऊपर लेख में बता चुके हैं कि शिया बटर काले धब्बे यानी डार्क स्पॉर्ट हटा सकता है।

संदर्भ (Sources) :

Stylecraze has strict sourcing guidelines and relies on peer-reviewed studies, academic research institutions, and medical associations. We avoid using tertiary references. You can learn more about how we ensure our content is accurate and current by reading our editorial policy.

और पढ़े:

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

vinita pangeni

विनिता पंगेनी ने एनएनबी गढ़वाल विश्वविद्यालय से मास कम्यूनिकेशन में बीए ऑनर्स और एमए किया है। टेलीविजन और डिजिटल मीडिया में काम करते हुए इन्हें करीब चार साल हो गए हैं। इन्हें उत्तराखंड के कई पॉलिटिकल लीडर और लोकल कलाकारों के इंटरव्यू लेना और लेखन का अनुभव है। विशेष कर इन्हें आम लोगों से जुड़ी रिपोर्ट्स करना और उस पर लेख लिखना पसंद है। इसके अलावा, इन्हें बाइक चलाना, नई जगह घूमना और नए लोगों से मिलकर उनके जीवन के अनुभव जानना अच्छा लगता है।

ताज़े आलेख

scorecardresearch