सामग्री और उपयोग

सोंठ के फायदे, उपयोग और नुकसान – Ginger Powder (Sonth) Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

by
सोंठ के फायदे, उपयोग और नुकसान – Ginger Powder (Sonth) Benefits, Uses and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 December 4, 2019

क्या आपको पता है कि सब्जियों का स्वाद बढ़ाने वाला सोंठ कई बीमारियों से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकता है। लंबे समय से सोंठ को एक कारगर औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। यह अदरक को सूखाकर बनाया जाने वाला पाउडर है, जिसका इस्तेमाल अदरक की तरह ही किया जाता है। भोजन में एक मसाले की तरह इस्तेमाल किया जाने वाला सोंठ आंतरिक स्वास्थ्य से लेकर त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए भी फायदेमंद हो सकता है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हमारे साथ जानिए सोंठ के गुण और शरीर के लिए सोंठ के फायदे।

सोंठ के फायदे – Benefits of Ginger Powder (Sonth) in Hindi

सोंठ आपको किस तरह से फायदा पहुंचा सकता है, इस पर एक नजर डालेंगे।

1. जुकाम से राहत

सोंठ अदरक का पाउडर है, जो हर घर की रसोई में उपयोग किया जाता है। इसे मुख्यतः सब्जी, चाय और अन्य पेय पदार्थों में इस्तेमाल किया जाता है। शोध के अनुसार, अदरक मलेरिया और बुखार जैसी समस्याओं के साथ सर्दी-जुकाम से राहत देने का काम कर सकता है (1)। इसलिए, माना जा सकता है कि सोंठ का प्रयोग कर जुकाम से राहत पाई जा सकती है।

2. वजन कम करने के लिए

सोंठ का उपयोग शरीर के वजन को कम करने के लिए किया जा सकता है। जैसा कि हमने ऊपर बताया कि सोंठ अदरक का चूर्ण है और अदरक में लिपिड प्रोफाइल कम करने की क्षमता होती है। शोध के अनुसार, अदरक लिपिड प्रोफाइल को कम कर वजन को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है (2)।

3. पेट की जलन से राहत

पेट की जलन को दूर करने में अदरक कारगर भूमिका निभा सकता है। दरअसल, इस खाद्य पदार्थ का इस्तेमाल प्राचीन समय से पेट से जुड़ी हुई कई समस्याओं, जैसे कब्ज, दस्त, अपच, पेट फूलना, गैस, गैस्ट्रिक अल्सर, मतली और उल्टी का इलाज करने के लिए किया जा रहा है, जो पेट में जलन का कारण बन सकती हैं (3)।

4. सिरदर्द

सिरदर्द में भी सोंठ के फायदे देखे जा सकते हैं। दरअसल, एक पारंपरिक दवा के रूप में अदरक का इस्तेमाल लंबे समय से किया जा रहा है। अदरक उल्टी, मतली के साथ सिरदर्द और यहां तक कि माइग्रेन को ठीक करने की क्षमता रखता है (4)।

5. छाती में दर्द

अदरक का उपयोग प्राचीन काल से ही चीनी आयुर्वेदिक और तिब्बत-यूनानी हर्बल दवाओं में किया जाता रहा है। यह मांसपेशियों में दर्द के साथ ऐंठन जैसी समस्याओं को दूर करने की क्षमता रखता है, जिसका सकारात्मक असर छाती में दर्द को दूर करने में भी दिख सकता है। इसके अलावा, अदरक में जिंजरोल नामक खास तत्व मौजूद होता है, जो रक्त प्रवाह को प्रोत्साहित करने के साथ-साथ दर्द को दूर करने का काम कर सकता है (5)।

6. सूजन को कम करना

कई बीमारियों और दर्द का कारण सूजन हो सकता है। इस सूजन की समस्या को दूर करने के लिए सोंठ आपके लिए उपयोगी सिद्ध हो सकता है। जैसा कि आपको पहले बताया जा चुका है कि सोंठ अदरक से बना पाउडर होता है और अदरक में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं, जो दर्द के साथ-साथ सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं (6)।

7. चयापचय

अदरक अधिक इस्तेमाल में आने वाले मसालों और औषधीय पौधों में से एक है, जो चयापचय संबंधी असामान्यता (Metabolic Abnormalities) में सुधार का काम कर सकता है (7)। साथ ही अदरक में मौजूद जिंजरोल नामक तत्व लिपिड चयापचय (lipid Metabolism) को बनाए रखने में मदद कर सकता है (8)।

8. माइग्रेन लिए सोंठ के फायदे

माइग्रेन को दूर करने के लिए आप कई तरह के उपचार का सहारा लेते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि सोंठ का सेवन माइग्रेन की समस्या से राहत दिलाने का काम कर सकता है। दरअसल, सोंठ पर किए गए एक अध्ययन से पता चला है कि सोंठ (Ginger Powder) माइग्रेन कम करने वाली दवा के सामान प्रभावकारी हो सकता है (9)।

9. कैंसर के लिए

कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी पर भी सोंठ के सकारात्मक परिणाम देखे जा सकते हैं। जैसा कि हमने बताया कि सोंठ अदरक का पाउडर है और अदरक एंटी-कैंसर गुणों से समृद्ध होता है। शोध के अनुसार, अदरक कई प्रकार के कैंसर से बचाव कर सकता है। इनमें कोलन कैंसर और प्रोस्टेट कैंसर मुख्य हैं (10)।

10. गर्भावस्था में सोंठ का सेवन

गर्भावस्था में सोंठ का सेवन लाभकारी परिणाम दे सकता है। सोंठ अदरक का चूर्ण है और एक शोध में इस बात का पता चला है कि अदरक प्रेगनेंसी के दौरान मतली और उल्टी जैसी समस्याओं को दूर करने का काम कर सकता है (11)। बेशक, गर्भावस्था में सोंठ फायदेमंद है, लेकिन फिर भी आप डॉक्टर से पूछकर ही इसका सेवन करें।

11. पाचन के लिए

सोंठ फाइबर से समृद्ध होता है, जो पाचन क्रिया में सुधार का काम कर सकता है और कब्ज जैसी पाचन संबंधी समस्याओं पर भी प्रभावी असर दिखा सकता है (12) (13)।

12. इम्युनिटी सिस्टम के लिए

शरीर के इम्यून सिस्टम के कमजोर होने पर कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। यहां सोंठ एक अहम भूमिका निभा सकता है। दरअसल, अदरक और अदरक से बने खाद्य उत्पाद अपने एंटी इंफ्लेमेटरी गुण से इम्यून सिस्टम को बढ़ावा देने का काम कर सकते हैं। (14)। हालांकि, सोंठ पूर्ण रूप रोग प्रतिरोधक प्रणाली पर किस प्रकार काम करता है, इस पर अभी और शोध की आवश्यकता है।

13. मधुमेह

सोंठ का सेवन मधुमेह की समस्या से निजात दिलाने का काम कर सकता है। दरअसल, अदरक को लेकर किए गए शोध में इसमें मौजूद एंटी-डायबिटिक, हाइपोलिपिडेमिक और एंटी-ऑक्सीडेटिव गुणों के बारे में पता चला है, जो मधुमेह के रोगियों में शुगर की मात्रा को संतुलित करने का काम कर सकता है (15)।

14. दांत दर्द से राहत

सोंठ का उपयोग एक आयुर्वेदिक दवा के रूप में कई शारीरिक समस्याओं के लिए किया जाता है, जिसमें दांत दर्द का उपचार भी शामिल है। दरअसल, अदरक एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण से समृद्ध होता है, जो दांत दर्द के राहत देने में एक अहम भूमिका निभा सकता है (16)।

15. व्यंजनों में प्रयोग

सोंठ का इस्तेमाल कई प्रकार के व्यंजनों का जायका बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। खासकर, मसालेदार भोजन में इसकी भूमिका अहम मानी जाती है।

16. पेट फूलने की समस्या के लिए

सोंठ का इस्तेमाल पेट फूलने जैसी समस्या से निजात पाने के लिए भी किया जा सकता है। दरअसल, सोंठ अदरक से बना उत्पाद है और अदरक एक आयुर्वेदिक औषधि के रूप में पेट से जुड़े विकारों को दूर कर सकता है, जिसमें पेट फूलने की समस्या भी शामिल है (3)।

17. यूरिन इन्फेक्शन

यूरिनरी ट्रेक्ट इन्फेक्शन (यूटीआई) ज्यादातर महिलाओं में देखा जाता है। यहां सोंठ एक प्रभावकारी विकल्प हो सकता है, क्योंकि अदरक में एंटीबायोटिक प्रभाव पाए जाते हैं, जो यूटीआई की समस्या को दूर करने का काम कर सकते हैं (17) (18)।

18. जिंजर बाथ

अदरक में एंटी बैक्टीरियल प्रभाव पाए जाते हैं, जो शरीर के बैक्टीरिया को कम करने का काम कर सकते हैं (19)। बैक्टीरिया के कारण शरीर में संक्रमण उत्पन्न हो सकता है। इसलिए, अदरक के पानी में किया गया स्नान संक्रमण को दूर करने का काम कर सकता है। हालांकि, जिंजर बाथ और किस प्रकार लाभदायक हो सकता है, इस पर और शोध की जरूरत है।

आगे जानते हैं कि त्वचा के लिए सोंठ कैसे लाभकारी साबित हो सकता है।

त्वचा के लिए सोंठ के फायदे – Skin Benefits of Ginger Powder in Hindi

1. मुंहासों के लिए

अदरक के पाउडर को सोंठ के नाम से जाना जाता है। अदरक में पाए जाने वाला गुण सोंठ में भी मौजूद होते हैं। सोंठ को होम्योपैथिक इलाज के लिए भी उपयोग किया जाता है, जो आपके मुंहासे की समस्या को दूर करने में मददगार हो सकता है। इसके अलावा, अदरक का उपयोग मुंहासों को दूर करने वाली क्रीम में भी किया जाता है (20)।

2. टोनर के रूप में

टोनर का इस्तेमाल त्वचा से गंदगी हटाने के लिए किया जाता है, जिसमें एंटी बैक्टीरियल गुणों को भी शामिल किया जाता है। जैसा कि ऊपर बताया गया है, कि अदरक का एक गुण एंटी बैक्टीरियल भी है। इसलिए, सोंठ (अदरक चूर्ण) का इस्तेमाल एक टोनर के विकल्प के रूप में किया जा सकता है। टोनर के रूप में सोंठ का सही इस्तेमाल जानने के लिए आप एक बार चिकित्सा विशेषज्ञ से जरूर परामर्श करें (21) (22)।

इस लेख के आगे भाग में सोंठ के पौष्टिक तत्वों के बारे में जानेंगे।

सोंठ के पौष्टिक तत्व – Ginger Powder Nutritional Value in Hindi

सोंठ में अधिक मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते है, जिसकी जानकारी इस लेख के माध्यम से जानेंगे (13)।

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी9.94 g
ऊर्जा335 kcal
प्रोटीन8.98 g
टोटल लिपिड (फैट)4.24 g
कार्बोहाइड्रेट71.62 g
फाइबर, टोटल डाइटरी14.1 g
शुगर3.39 g
सुक्रोस0.20 g
ग्लूकोज1.22 g
फ्रुक्टोज1.78g
गैलेक्टोज0.19g
मिनरल
कैल्शियम,Ca114 mg
आयरन,Fe19.80 mg
मैग्नीशियम,Mg214 mg
फास्फोरस,P168 mg
पोटैशियम ,k1320mg
सोडियम ,Na27mg
जिंक,Zn3.64 mg
कॉपर,Cu0.480 mg
मैंगनीज,Mn33.300 mg
सेलेनियम,Se55.8 µg
विटामिन
विटामिन सी0.7 mg
थायमिन0.046 mg
राइबोफ्लेविन0.170 mg
नियासिन9.620 mg
पैंटोथैनिक एसिड0.477 mg
विटामिन बी-60.626 mg
फोलेट टोटल13 µg
फोलिक एसिड0µg
कोलीन41.2mg
बिटाइन3.4mg
विटामिन
विटामिन बी-120. 00 µg
विटामिन ए,RAE2 µg
कैरोटीन18 µg
विटामिन के0. 8 µg
लिपिड
फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेड2.599 g
फैटी एसिड, टोटल मोनोअनसैचुरेटेड0.479 g
फैटी एसिड, टोटल पॉलीसैचुरेटेड0.929 g
कोलेस्ट्रॉल0 mg

इस लेख के आगे भाग में सोंठ के उपयोग के बारे में बताएंगे ।

सोंठ का उपयोग – How to Use Ginger Powder in Hindi

सोंठ का उपयोग अनेक प्रकार से कर सकते हैं, जिसकी जानकारी नीचे दी जा रही है –

  • सोंठ का उपयोग मसाले के रूप में किया जाता है।
  • चाय का स्वाद बढ़ाने और खुशबू के लिए ताजा सोंठ का उपयोग किया जा सकता है।
  • सोंठ को सूप में मिलाया जा सकता है।
  • सोंठ को लड्डू बनाने में भी इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • सोंठ के पाउडर को गुनगुने पानी में डालकर नहाया जा सकता है।

इस लेख के आगे भाग में सोंठ के नुकसान की जानकारी देंगे।

सोंठ के नुकसान – Side Effects of Ginger Powder in Hindi

यहां हम सोंठ के नुकसान के बारे में बता रहे हैं (23)।

  • सोंठ को जरूरत से ज्यादा खाने से पेट में परेशानी उत्पन्न हो सकती है।
  • सोंठ के अधिक मात्रा हृदय की समस्या पैदा कर सकती है।
  • दस्त और गैस जैसी समस्या भी हो सकती है।

अब तो आप सोंठ के सारे औषधीय गुणों के बारे में जान ही गए होंगे। साथ ही ऊपर बताई गई समस्याओं पर यह किस तरह राहत पहुंचाने का काम कर सकता है, यह भी आपको अच्छे से पता चल गया होगा। आप सोंठ का इस्तेमाल लेख में बताए गए विभिन्न तरीकों को अपनाकर कर सकते हैं। हो सकता है कि इसके उपयोग के दौरान कुछ दुष्प्रभाव सामने आएं। दुष्प्रभाव की स्थिति में आप इसका सेवन बंद करें और डॉक्टर से संपर्क करें। उम्मीद करते हैं कि यह लेख आपके लिए फायदेमंद साबित होगा। लेख से जुड़ी अन्य जानकारी और सुझावों के लिए आप नीचे कमेंट बॉक्स की मदद ले सकते हैं। हमें आपकी प्रतिक्रिया का इंतजार रहेगा।

और पढ़े: