हरे प्याज के 13 फायदे और नुकसान – Spring Onion Benefits and Side Effects in Hindi

Written by

हरे प्याज के सेवन से आने वाली दुर्गंध के बारे में सोचकर अगर आप इससे परहेज करते हैं, तो इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद इसे अपने आहार में शामिल करने के बारे में जरूर सोचेंगे। दरअसल, हरा प्याज कई खास पोषक तत्वों से समृद्ध होता है, जो सामान्य सर्दी से लेकर अस्थमा जैसी बीमारी से बचाव में लाभकारी हो सकता है। इसके अलावा, इसका सेवन और भी कई शारीरिक समस्याओं के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है, जिनके बारे में जानने के लिए आप यह लेख जरूर पढ़ें। स्टाइलक्रेज के इस लेख में जानिए शरीर के लिए हरे प्याज के फायदे, उपयोग का तरीका और इसके कुछ संभावित नुकसान।

स्क्रॉल करें

आर्टिकल में सबसे पहले जानते हैं हरा प्याज क्या है। 

हरा प्याज क्‍या है? – What is Spring Onion in Hindi

जब प्याज को उगाया जाता है, तो सबसे पहले प्याज के हरे रंग के स्प्रिंग निकलते हैं। इसे स्प्रिंग अनियन या हरे प्याज के नाम से जाना जाता है। हरा प्याज दाम में कम और पोषण में अधिक होता है। यह स्वास्थ्य को बनाए रखने में सहायक हो सकता है। ज्यादातर जगहों में स्प्रिंग को सब्जी बनाकर खाया जाता है। इसके अलावा, हरे प्याज को विभिन्न व्यंजनों में इस्तेमाल कर बड़े चाव के साथ खाया जाता है। वहीं, इसके कई स्वास्थ्य फायदे भी हैं, जिन्हें नीचे विस्तार से बताया गया है।

पढ़ना जारी रखें

नीचे जानिए विभिन्न शारीरिक समस्याओं पर हरे प्याज के फायदे। 

हरे प्याज के फायदे – Benefits of Spring Onion in Hindi

हरे प्याज में मौजूद औषधीय गुण सेहत के लिए कई प्रकार से फायदेमंद हो सकते हैं। वहीं, इस बात का ध्यान रखें कि हरा प्याज किसी भी बीमारी का इलाज नहीं है। इसका सेवन एक शारीरिक समस्याओं से बचाव और उनके प्रभाव को कुछ हद तक कम करने में सहायक हो सकता है। अब पढ़ें आगे :

1. रक्तचाप के लिए

हरे प्याज का सेवन रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए किया जा सकता है (1)। दरअसल, एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर इस विषय से जुड़ा एक शोध उपलब्ध है। रिसर्च में पाया गया कि हरे प्याज में एंटी हाइपरटेंसिव (रक्तचाप को कम करने वाला) प्रभाव पाया जाता है। हरे प्याज में पाया जाने वाला यह गुण बढ़े हुए रक्तचाप को कम करने में फायदेमंद हो सकता है (2)

2. हृदय के लिए

हरे प्याज का सेवन हृदय संबंधी समस्या को कम करने में मददगार हो सकता है। इस विषय पर हुए शोध में पाया गया कि हरे प्याज में एंटीथ्रॉम्बोटिक (रक्त के थक्के को बनने से रोकने वाला) प्रभाव होता है। इससे हार्ट अटैक का जोखिम कम हो सकता है। इसके अलावा, शोध में इस बात का भी जिक्र मिलता है कि हरे प्याज का सेवन कोलेस्ट्रॉल और रक्तचाप को कम कर इनसे होने वाले हृदय रोग के जोखिम को कम कर सकता है (3)। इस आधार पर माना जा सकता है कि हरे प्याज का सेवन हृदय को स्वस्थ रखने का काम कर सकता है।

3. कैंसर से बचाव के लिए

हरे प्याज का उपयोग कैंसर से बचाव में मददगार हो सकता है। रिसर्च के अनुसार हरे प्याज में एलिल सल्फाइड नामक कंपाउंड होते हैं, जो कैंसर सेल के विकास को रोक सकते हैं (4)। एक अन्य अध्ययन के अनुसार हरे प्याज का मेथेनॉलिक अर्क कैंसर के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है (5)। हालांकि, हरा प्याज कैंसर का इलाज नहीं है। कैंसर होने पर डॉक्टरी चिकित्सा ही फायदेमंद हाे सकती है।

4. मधुमेह के लिए

रक्त में ग्लूकोज का स्तर बढ़ने से मधुमेह की समस्या होती है। इस समस्या को कम करने के लिए हरे प्याज का उपयोग किया जा सकता है। रिसर्च के मुताबिक हरे प्याज में एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव पाया जाता है। हरे प्याज में पाया जाने वाला यह प्रभाव मोटापे के कारण होने वाले मधुमेह को नियंत्रित करने का काम कर सकता है (6)

5. आंखों के लिए हरे प्याज के फायदे

आंखों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए विटामिन-ए मुख्य भूमिका निभा सकता है। यह अंधेरे में आंखों की रोशनी को बनाए रखने में मदद कर सकता है। साथ ही आंखों के रेटिना में पिगमेंट (रंगद्रव्य) को बढ़ाने में मदद कर सकता है (7)। हरे प्याज में विटामिन-ए की अच्छी मात्रा में मौजूद होती है (8)। इस आधार पर हम मान सकते हैं कि आंखों से संबंधित समस्या और आंखों के स्वास्थ्य में सुधार करने के लिए हरा प्याज  उपयोगी हो सकता है।

6. हड्डियों के लिए

हरे प्याज के नियमित रूप से सेवन करने पर हड्डियों के स्वास्थ्य में सुधार किया जा सकता है। दरअसल,  हरी प्याज में कैल्शियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है (9)। वहीं, कैल्शियम हड्डियों के घनत्व और मजबूती को बनाए रखने के लिए एक जरूरी पोषक तत्व है (10)। फिलहाल, इस विषय में अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

जारी रखें पढ़ना

7. जुकाम के लिए

प्राचीन काल से ही कई पौधों को जुकाम की समस्या में हर्बल दवा के रूप में उपयोग किया जाता रहा है। इनमें हरा प्याज भी शामिल है। दरअसल, इससे जुड़े एक शोध में कॉमन कोल्ड के लिए इसे उपयोगी माना गया है। वहीं, इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव पाया जाता है, जो जुकाम के कारण नाक बंद की समस्या को कम करने में मदद कर सकता है (1) (3)। इसलिए, ऐसा माना जा सकता है कि हरा प्याज जुकाम से राहत दिलाने में मदद कर सकता है। हालांकि, इस पर अभी और शोध की आवश्यकता है।

8. अस्थमा के लिए

अस्थमा की समस्या में भी हरे प्याज के लाभ देखे जा सकते हैं। दरअसल, एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव को अस्थमा में लाभकारी माना गया है, क्योंकि यह अस्थमा से जुड़ी सूजन संबंधी एलर्जिक प्रतिक्रिया को कम करने में मदद कर सकता है (1)। वहीं, हरे प्याज का सेवन इसमें लाभकारी हो सकता है, क्योंकि इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाया जाता है (11)। हालांकि, हर प्याज का उपयोग अस्थमा पर सीधे तौर से कितना प्रभावकारी होगा, इसे लेकर अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

9. गठिया के लिए

गठिया की समस्या के लिए हरे प्याज का उपयोग फायदेमंद हो सकता है। दरअसल, गठिया के प्रभाव को कम करने के लिए एंटीइंफ्लेमेटरी (सूजन कम करने वाला) गुण फायदेमंद होता है (12)। वहीं, हरे प्याज की पत्तियों के अर्क में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। इसलिए, ऐसा माना जा सकता है कि इसका उपयोग गठिया की समस्या में लाभ पहुंचाने का काम कर सकता है (11)। फिलहाल, इस विषय पर अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

10. पाचन संबंधी समस्या में

हरे प्याज का उपयोग पाचन को सुधारने में फायदेमंद हो सकता है। दरअसल, एक रिसर्च में पाया गया कि हरे प्याज में पाचन क्षमता को बढ़ाने वाले और पाचन संबंधी विकारों को कम करने वाले गुण पाए जाते हैं (13)। ऐसे में, हम यह मान सकते हैं कि अच्छे पाचन के लिए हरे प्याज का सेवन किया जा सकता है।

11. कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए

हरे प्याज का सेवन कोलेस्ट्रॉल की समस्या को नियंत्रित करने में भी मददगार हो सकता है (9)। इस विषय पर हुए एक शोध के अनुसार हरे प्याज में एंटी-हाइपरलिपिडेमिक (कोलेस्ट्रॉल कम करने वाला) प्रभाव होता है। एंटी-हाइपरलिपिडेमिक प्रभाव कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मददगार हो सकता है (3)। इससे हम मान सकते हैं कि प्याज और उसके रस का सेवन कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने में मददगार हो सकते हैं।

12. एंटी बैक्टीरियल और एंटीफंगल प्रभाव

हरे प्याज का उपयोग बैक्टीरिया और फंगल के कारण होने वाले संक्रमण को रोकने में मददगार हो सकता है। दरअसल, हरे प्याज में एंटी बैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं, जो बैक्टीरियल और फंगल संक्रमण से बचाव और उनके प्रभाव को कम करने में मददगार हो सकते हैं (9)

13. गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल डिसऑर्डर

गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल डिसऑर्डर में एसिड रिफ्लक्स (पेट का सामग्री का वापस भोजन नली में आना), पेट का अल्सर, कब्ज और बवासीर जैसी समस्याएं शामिल हैं। वहीं, इन गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल विकारों के प्रभाव को कम करने के लिए फाइबर को अहम पोषक तत्व माना गया है (14)। यहां हरे प्याज का उपयोग लाभकारी सिद्ध हो सकता है, क्योंकि इसमें फाइबर की मात्रा में पाई जाती है (8)। फिलहाल, इस विषय पर और सटीक शोध की आवश्यकता है।

पढ़ना जारी रखें

हरे प्याज के फायदे जानने के बाद जानते हैं हरे प्याज के पोषक तत्वों के बारे में। 

हरे प्याज के पौष्टिक तत्व – Spring Onion Nutritional Value in Hindi

हरे प्याज में मौजूद पोषक तत्वों के कारण ही यह फायदा पहुंचाने का काम कर सकता है। उन पोषक तत्वों को नीचे एक टेबल के माध्यम से जानेंगे (8) :

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी89.83 g
ऊर्जा32 kcal
प्रोटीन1.83 g
टोटल लिपिड (फैट)0.19 g
कार्बोहाइड्रेट7.34 g
फाइबर , टोटल डाइटरी2.6 g
शुगर, टोटल2.33 g
कैल्शियम72 mg
आयरन1.48 mg
मैग्नीशियम 20 mg
फास्फोरस37 mg
पोटैशियम276 mg
सोडियम16 mg
जिंक0.39 mg
विटामिन सी18.8 mg
थियामिन0.055 mg
राइबोफ्लेविन0.08 mg
नियासिन0.525 mg
विटामिन बी-60.061 mg
फोलेट64 µg
विटामिन ए ,RAE50 µg
विटमिन ए ,।U997 ।U
विटामिन ई0.55 mg
विटामिन के207 µg
फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेड0.032 g
फैटी एसिड, टोटल मोनोअनसैचुरेटेड0.027 g
फैटी एसिड, टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड0.074 g

आगे पढ़ें कुछ खास 

आगे जानिए हरे प्याज का उपयोग किस प्रकार किया जा सकता है। 

हरे प्याज का उपयोग – How to Use Spring Onion in Hindi

हरे प्याज को उपयोग करने के कई तरीके हो सकते हैं। यहां हम कुछ तरीकों के बारे में बता रहे हैं।

कैसे खाएं :

  • हरे प्याज को सब्जी बनाकर खाया जा सकता है।
  • हरे प्याज और अंकुरित मूंग को मिलाकर टिक्की बनाई जा सकती है।
  • सूप में हरे प्याज को मिला सकते हैं। इससे सूप का स्वाद बढ़ जाएगा।
  • गार्निश करने के लिए भी हरे प्याज का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • हरे प्याज को पराठे में भी उपयोग किया जा सकता है।

कब खाएं :

वैसे तो हरे प्याज को खाने का कोई निर्धारित समय नहीं है। फिर भी इसे सुबह नाश्ते, दोपहर या रात के भोजन में इस्तेमाल कर खाया जा सकता है।

कितना खाएं :

हरे प्याज को एक कप यानी लगभग 125 ग्राम मात्रा में सेवन किया जा सकता है (9)। हालांकि, इसकी सही मात्रा के बारे में डॉक्टर की सलाह लेना ज्यादा फायदेमंद हो सकता है।

आगे पढ़ें

आइये, आर्टिकल में आगे हरे प्याज के नुकसान के बारे में पढ़ते हैं। 

हरे प्याज के नुकसान – Side Effects of Spring Onion in Hindi

वैसे तो हरे प्याज खाने के फायदे अधिक हैं, लेकिन इसके अधिक सेवन से कुछ नुकसान भी हो सकते हैं, जो इस प्रकार हैं :

  • जिन्हें प्याज से एलर्जी है, उन्हें हरा प्याज खाने से एलर्जी की समस्या हो सकती है।
  • हरे प्याज का अधिक मात्रा में सेवन हृदय संबंधित जोखिम बढ़ा सकता है, क्योंकि इसमें कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है और इसकी अधिक मात्रा इसके लिए जिम्मेदार हो सकती है (15) (8)
  • हरे प्याज में फाइबर की अच्छी मात्रा पाई जाती है (8)। वहीं, इसकी अधिक मात्रा गैस, पेट फूलना और मतली जैसी समस्याओं का कारण बन सकती है (16)
  • इसमें मूत्रवर्धक गुण भी मौजूद होते हैं। ऐसे में इसका अधिक सेवन बार-बार यूरिन पास की समस्या का कारण बन सकता है (13)
  • हरे प्याज का सेवन करने से मुंह से प्याज की दुर्गंध आ सकती है।

अब तो आप जान गए होंगे कि हरा प्याज क्या होता है और इसके सेवन को लेकर आपकी सोच में भी परिवर्तन हो गया होगा। साथ ही आपको इस बात की भी जानकारी हो गई होगी कि यह कौन-कौन सी समस्याओं में लाभकारी हो सकता है। इसके अलावा, इस लेख में हरे प्याज के उपयोग की जानकारी भी दी गई है, जिसकी मदद से आप विभिन्न तरीके से इसका सेवन कर सकते हैं। वहीं, इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करें, क्योंकि इसका अत्यधिक सेवन बताए गए हरे प्याज के नुकसान का कारण बन सकता है। आशा करते हैं कि इस आर्टिकल में दी गई जानकारी आपके लिए उपयोगी होगी।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल :

 क्या हरा प्याज और स्प्रिंग अनियन एक ही हैं?

हां, दोनों एक ही हैं।

क्या हरे प्याज को छिल सकते हैं?

सामान्य प्याज की तरह हरे प्याज को छिला नहीं जाता है, बल्कि उसे हरे भाग को चाकू से जरूरत के अनुसार काटकर इस्तेमाल में लाया जाता है।

क्या हरा प्याज वजन घटाने के लिए अच्छा है?

हरे प्याज का उपयोग वजन को कम करने के लिए किया जा सकता है। इसमें फाइबर पाया जाता है, जो वजन को नियंत्रित करने में मददगार हो सकता है (8) (14)। हालांकि, सही डाइट और व्यायाम के साथ हरे प्याज का सेवन वजन कम करने में ज्यादा कारगर हो सकता है।

 क्या कच्चा हरा प्याज खाना सुरक्षित है?

हां, इसकी थोड़ी मात्रा को वेजिटेबल सलाद में इस्तेमाल किया जा सकता है।

 क्या हरे प्याज में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं?

हां, हरे प्याज में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं, जो सूजन की समस्या में फायदेमंद हो सकते हैं (11)

16 Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Check out our editorial policy for further details.

    1. Allium cepa: A traditional medicinal herb and its health benefits
      https://www.jocpr.com/articles/allium-cepa-a-traditional-medicinal-herb-and-its-health-benefits.pdf
    2. Antioxidative and antihypertensive effects of Welsh onion on rats fed with a high-fat high-sucrose diet
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16041136/
    3. Combined effect of chemical preservative and different doses of irradiation on green onions to enhance shelf life
      https://www.sciencedirect.com/science/article/pii/S1658077X18302522
    4. Vegetables, fruits and phytoestrogens in the prevention of diseases
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/15235216/
    5. Isolation and identification of potential cancer chemopreventive agents from methanolic extracts of green onion (Allium cepa)
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/17350659/
    6. Biological Properties and Bioactive Components of Allium cepa L.: Focus on Potential Benefits in the Treatment of Obesity and Related Comorbidities
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6337254/
    7. Vitamin A
      https://medlineplus.gov/ency/article/002400.htm#:~:text=Function&text=Vitamin%20A%20helps%20form%20and,eyesight%2C%20especially%20in%20low%20light.
    8. Onions, spring or scallions (includes tops and bulb), raw
      https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/170005/nutrients
    9. Spring onions
      https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/ingredientsprofiles/Spring-onions
    10. Calcium, vitamin D, and your bones
      https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000490.htm#:~:text=Bone%20Strength%20and%20Calcium&text=Your%20body%20needs%20calcium%20to,helps%20your%20body%20absorb%20calcium.
    11. Anti-inflammatory effects of an aqueous extract of Welsh onion green leaves in mice
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23411171/
    12. Anti-inflammatory Diet In Rheumatoid Arthritis (ADIRA)—a randomized, controlled crossover trial indicating effects on disease activity
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7266686/
    13. Drying kinetics and microbiological quality of green onions1
      https://www.redalyc.org/pdf/3052/305249823004.pdf
    14. Health benefits of dietary fiber
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/19335713/
    15. Risk of High Dietary Calcium for Arterial Calcification in Older Adults
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3820054/#targetText=Extremely%20high%20intakes%20of%20calcium,adult%20population%20is%20not%20established.
    16. Dietary Fiber
      https://medlineplus.gov/dietaryfiber.html
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.
सरल जैन ने श्री रामानन्दाचार्य संस्कृत विश्वविद्यालय, राजस्थान से संस्कृत और जैन दर्शन में बीए और डॉ. सी. वी. रमन विश्वविद्यालय, छत्तीसगढ़ से पत्रकारिता में बीए किया है। सरल को इलेक्ट्रानिक मीडिया का लगभग 8 वर्षों का एवं प्रिंट मीडिया का एक साल का अनुभव है। इन्होंने 3 साल तक टीवी चैनल के कई कार्यक्रमों में एंकर की भूमिका भी निभाई है। इन्हें फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी, एडवंचर व वाइल्ड लाइफ शूट, कैंपिंग व घूमना पसंद है। सरल जैन संस्कृत, हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती, मराठी व कन्नड़ भाषाओं के जानकार हैं।

ताज़े आलेख

scorecardresearch