स्ट्रेच मार्क्स हटाने के उपाय – How To Remove Stretch Marks in Hindi

Medically reviewed by Suvina Attavar (Dermatologist & Hair transplant surgeon)
Written by

क्या आप क्रॉप टॉप पहनने से पहले दस बार सोचती हैं? क्या आप साड़ी पहनने के बाद अपनी कमर और पेट को लेकर ज्यादा सचेत रहती हैं? क्या यह स्ट्रेच मार्क्स शर्मिंदगी का कारण बन रहे हैं? अगर ऐसा है, तो यह लेख रिडर्स की मदद कर सकता है। स्ट्रेच मार्क्स के निशान खास और अलग तरह के कपड़े पहनने की आजादी छीन लेते हैं। इनसे परेशान होने की जगह स्टाइलक्रेज के इस लेख में बताए गये स्ट्रेच मार्क्स हटाने के घरेलू उपाय को अपनाया जा सकता है। यहां हम स्ट्रेच मार्क्स हटाने का तरीका बताने के साथ ही स्ट्रेच मार्क्स ट्रीटमेंट और कुछ फेमस स्ट्रेस मार्क्स हटाने की क्रीम के बारे में भी बताएंगे। लेख में आगे बढ़ने से पहले रिडर्स जान लें कि बताए गए घरेलू उपाय स्ट्रेच मार्क्स के उपचार में वैकल्पिक रूप से सहायक हो सकते हैं। इन्हें इस समस्या का इलाज न समझा जाए।

चलिए, सबसे पहले स्ट्रेस मार्क्स के कारण जान लेते हैं। इसके बाद आगे हम स्ट्रेच निशान हटाने के उपाय के बारे में भी बताएंगे।

स्ट्रेच मार्क्स होने के कारण – Reason of Stretch marks in Hindi

स्ट्रेच मार्क्स होने के कारण कुछ इस प्रकार हैं (1) (2)

  • बढ़ती उम्र
  • गर्भावस्था
  • मोटापा
  • कोर्टीसोन स्किन क्रीम (Cortisone Skin Creams) का अधिक उपयोग। यह एक प्रकार की स्टेरॉयड युक्त क्रीम होती है, जिसका उपयोग खुजली व सूजन के लिए किया जाता है।
  • युवावस्था व किशोरावस्था (Puberty)
  • कोलेजन का असामान्य तरीके से बनना

कुछ बीमारियां और दवाओं की वजह से भी स्ट्रेच मार्क हो सकते हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं:

  • ऐसी दवाएं जो कोलेजन को बनने से रोकती हैं।
  • कुशिंग सिंड्रोम (Cushing Syndrome) यानी कोर्टिसोल हार्मोन का उच्च स्तर।
  • मार्फन सिंड्रोम, मतलब कनेक्टिंग टिश्यू संबंधी आनुवंशिक विकार।
  • एनोरेक्सिया नर्वोसा (Anorexia Nervosa)। खाना कम खाने वाला मनोवैज्ञानिक और खाने का विकार।
  • एहलर्स-डानलोस सिंड्रोम (Ehlers-Danlos syndrome)। ऐसा विकार जिसमें त्वचा में ज्यादा खिंचाव आ जाता है और त्वचा आसानी से छिल जाती है।
  • बुखार
  • लिवर संबंधी पुरानी समस्या
  • कीमोथेरेपी
  • गर्भनिरोधक व न्यूरोलेप्टिक दवा

चलिए, अब जानते हैं कि स्ट्रेच मार्क्स कहां-कहां हो सकते हैं। इसके बाद हम स्ट्रेच मार्क्स हटाने का तरीका भी बताएंगे।

स्ट्रेच मार्क्स कहां-कहां हो सकते हैं?

सामान्य तौर पर स्ट्रेच मार्क्स नीचे बताए गए शरीर के हिस्सों को प्रभावित कर सकते हैं (2)

  • पेट
  • कुल्हे
  • जांघ
  • स्तन
  • पीठ
  • आर्मपिट (बगल)
  • कमर

अब हम स्ट्रेच मार्क्स हटाने के घरेलू उपाय बता रहे हैं। स्ट्रेच मार्क्स हटाने का तरीका बताने के बाद आगे हम अन्य जरूरी जानकारी भी देंगे।

स्ट्रेच मार्क्स कम करने के लिए घरेलू उपाय – Home Remedies for Stretch Marks in Hindi

नीचे हम स्ट्रेच मार्क्स हटाने के घरेलू उपाय की जानकारी दे रहे हैं। स्ट्रेच मार्क्स हटाने के इन उपायों का उपयोग करने से पहले यह जान लें कि ये घरेलू उपाय स्ट्रेच मार्क्स का उपचार नहीं हैं। ये नुस्खे कुछ हद तक इस समस्या से आराम दिलाने में मदद कर सकते हैं।

1. एलोवेरा 

सामग्री:
  • ताजा एलोवेरा जेल
  • 10 विटामिन-ई कैप्सूल
उपयोग का तरीका:
  • एक ताजा पत्ते से एलोवेरा का जेल एक कटोरी में निकाल लें।
  • अब इसमें विटामिन-ई कैप्सूल का जेल मिलाएं।
  • फिर इससे स्ट्रेच मार्क से प्रभावित त्वचा की हल्की हाथों से मालिश करें।
  • मालिश करने के करीब 15 मिनट बाद त्वचा को गुनगुने पानी से धो लें।
  • इसे दिन में एक या दो बार दोहराया जा सकता है।
  • वैकल्पिक रूप से एलोवरा जेल को सीधे प्रभावित जगह पर लगा सकते हैं।
कैसे लाभदायक है:

स्ट्रेच मार्क्स हटाने के घरेलू उपाय में एलोवेरा को भी शामिल किया जा सकता है। एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) में मौजूद एक अध्ययन में एलोवेरा युक्त क्रीम को स्ट्रेच मार्क्स और इसकी वजह से होने वाली खुजली को कम करने में लाभदायक माना गया है। वहीं, एलोवेरा जेल का सीधा उपयोग भी खिंचाव के निशान कम करने में मदद कर सकता है। दरअसल, एलोवेरा में एंटी-इन्फ्लामेटरी गुण होता है, जो खुजली से राहत दे सकता है। साथ ही इसमें मौजूद हीलिंग गुण कोलेजन को बढ़ाने का काम करता है (3)। स्ट्रेच मार्क्स ट्रीटमेंट में कोलेजन को बढ़ाया जाता है (4)। वहीं, विटामिन-ई त्वचा को मॉइचराइज करके स्ट्रेच मार्क्स को कम करने में मदद कर सकता है (5)। इसी वजह से माना जाता है कि एलोवेरा स्ट्रेच मार्क्स ठीक करने में मदद कर सकता है (6)

2. अरंडी का तेल: 

सामग्री:
उपयोग का तरीका:
  • अरंडी के तेल को गुनगुना कर लें।
  • फिर स्ट्रेच मार्क्स पर हल्के हाथों से मालिश करें।
  • हर रात सोने से पहले अरंडी का तेल लगाएं। 
कैसे लाभदायक है:

अरंडी का तेल यानी कैस्टर ऑयल की मालिश को भी स्ट्रेच मार्क को कम करने में लाभदायक माना गया है। यह त्वचा को मॉइस्चराइज भी करता है। इसका नियमित इस्तेमाल करने से स्ट्रेच मार्क को कुछ हद तक कम किया जा सकता है (7) (8)। बेहतर परिणाम के लिए अरंडी के तेल का उपयोग रोजाना दो बार किया जा सकता है।

3. विक्स वेपोरब 

सामग्री :
  • विक्स वेपोरब
  • चिपकाकर लपेटने वाली पन्नी (Cling Wrap)
उपयोग का तरीका:
  • रात को स्ट्रेच मार्क्स पर विक्स लगाएं और एक या दो मिनट तक मालिश करें।
  • क्लिंग रैप की मदद से कवर करें और रातभर छोड़ दें।
  • इसे हर रात दोहराया जा सकता है। 
कैसे लाभदायक है:

विक्स वेपोरब में कुछ खास एसेंशियल ऑयल मौजूद होते हैं। साथ ही इसमें पेट्रोलियम जेली भी होती है (9)। यह सब त्वचा को मॉइस्चराइज करने और उसे नरम बनाने में मदद करते हैं। शायद इसी वजह से माना जाता है कि यह स्ट्रेच मार्क्स को ठीक करने में मदद कर सकता है। हालांकि, इसको लेकर कोई भी शोध उपलब्ध नहीं है। वैसे कई महिलाएं अनुभव के आधार पर भी इसका उपयोग करती हैं।

4. बायो ऑयल:

सामग्री:
  • बायो ऑयल की कुछ बूंदें

उपयोग का तरीका:

  • बायो ऑयल की कुछ बूंदें हाथों में लें।
  • अब हल्के हाथों से खिंचाव के निशान पर मालिश करें।
  • करीब 10 मिनट तक ऐसा करें।
  • रोजाना इस प्रक्रिया को दो बार दोहराया जा सकता है। 
कैसे लाभदायक है:

बायो ऑयल का इस्तेमाल अधिकतर लोग स्ट्रेच मार्क को ठीक करने के लिए करते हैं। इसके प्रभाव को लेकर हुए एक रिसर्च के मुताबिक यह कुछ हद तक स्ट्रेच निशान को हल्का कर सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर मौजूद एक शोध में 8 हफ्ते तक इसका इस्तेमाल करने से स्टैच मार्क में कुछ सुधार देखा गया। यह सुधार 50 प्रतिशत लोगों में देखा गया है। फिर इसको लेकर दूसरा परीक्षण भी किया गया। दूसरे परीक्षण में भी शरीर के विभिन्न हिस्सों में हुए स्ट्रेच मार्क में सुधार पाया गया (10)

5. बादाम का तेल: 

सामग्री:
  • बादाम के तेल की कुछ बूंदें
उपयोग का तरीका:
  • बादाम के तेल में अपने पसंदीदा एसेंशियल ऑयल की कुछ बूंदें मिलाएं।
  • फिर इसे कुछ सेकंड के लिए गरम करें और खिंचाव के निशान पर हल्के हाथों से मालिश करें।
  • रोज इसे दिनभर में दो बार दोहराएं।
कैसे लाभदायक है:

बादाम तेल का उपयोग स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए किया जा सकता है। यह रुखी त्वचा को नमी देने के साथ ही स्किन पर मौजूद निशान को कम करके, त्वचा में होने वाली खुजली से राहत पहुंचा सकता है। दरअसल, इसमें एंटी-इंफ्लामेटरी गुण पाया जाता है, जो खुजली दूर करने में कुछ हद मदद कर सकता है (11)। यूएस नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन की एक रिसर्च में यह पाया गया कि गर्भावस्था के दौरान बादाम के तेल से 15 मिनट की मालिश करने से स्ट्रेच मार्क (Striae Gravidarum) को बढ़ने से रोका जा सकता है। हालांकि, यह प्रभाव  बिटर आल्मंड ऑयल के इस्तेमाल करने पर नहीं पाया गया (12)। शायद इसी वजह से कई मार्केट में उपलब्ध स्ट्रेच मार्क्स को ठीक करने वाले प्रोडक्ट्स में स्विट आल्मंड ऑयल का इस्तेमाल किया जाता है (10)। बादाम तेल को लेकर किए गए अन्य शोध में बिटर आल्मंड ऑयल को भी स्ट्रेच मार्क कम करने के लिए प्रभावकारी माना गया है (13)

6. नींबू

सामग्री:
  • एक से दो चम्मच ताजा नींबू का रस
उपयोग का तरीका:
  • स्ट्रेच मार्क्स पर ताजा नींबू का रस लगाएं।
  • इसे 10 मिनट तक लगा रहने दें, फिर गुनगुने पानी से धोकर मॉइस्चराइजर लगा लें।
  • हर रोज एक से दो बार इसे लगाएं।
कैसे लाभदायक है:

नींबू के रस का उपयोग स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के आसान तरीकों में से एक है। इसमें विटामिन-सी मौजूद होता है, जो स्ट्रेच मार्क्स को कम करने का काम कर सकता है (14)। दरअसल, विटामिन-सी कोलेजन के उत्पादन को बढ़ाने में मदद करता है (15)। कोलेजन का उत्पादन बढ़ने से स्ट्रेर्च मार्क्स ठीक होने में मदद मिलती है (10)। इसी वजह से नींबू का उपयोग भी स्ट्रेच निशान हटाने के उपाय की तरह किया जाता है।

7. विटामिन-ई ऑयल 

सामग्री:
  • एक से दो चम्मच विटामिन-ई ऑयल
उपयोग का तरीका:
  • स्ट्रेच मार्क्स पर सीधे विटामिन-ई ऑयल लगा लें।
  • ऑयल न हो, तो विटामिन-ई की कैप्सूल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • इसे 10 मिनट तक लगा रहने दें, फिर गुनगुने पानी से धोकर मॉइस्चराइजर लगा लें।
  • हर रोज एक से दो बार इसे लगाएं।
कैसे लाभदायक है:

स्ट्रेच मार्क्स हटाने के उपाय में विटामिन-ई ऑयल, कैप्सूल और क्रीम को भी काफी लाभकारी माना जाता है। शोध के अनुसार, विटामिन-ई युक्त कई सारी क्रीम को स्ट्रेच मार्क्स को कम करने, फैलने से रोकने और बचाव के लिए बेहतर पाया गया है (16)। इसके साथ ही स्ट्रेच मार्क्स को कुछ हद तक कम करने के लिए मॉइस्चराइजर भी जरूरी होता है। विटामिन-ई शरीर में बतौर मॉइस्चराइजिंग एजेंट काम करता है (5)। साथ ही यह स्किन की इलास्टिसिटी को बेहतर करता है और कोलेजन के उत्पादन को बढ़ावा देता है (17)। इसी वजह से माना जाता है कि स्ट्रेच निशान हटाने के उपाय में विटामिन-ई ऑयल को शामिल किया जाना चाहिए।

8. नारियल का तेल: 

सामग्री:
  • एक चम्मच नारियल का तेल
उपयोग का तरीका:
  • स्ट्रेच मार्क्स पर नारियल का तेल लगाएं।
  • इसे लगाकर करीब 10 मिनट तक मसाज करें।
  • फिर गुनगुने पानी से धोकर मॉइस्चराइजर लगा लें।
  • हर रोज एक से दो बार इसे लगाया जा सकता है।
कैसे लाभदायक है:

नारियल तेल का उपयोग भी स्ट्रेच मार्क्स हटाने का तरीका माना जाता है। लंबे समय से नारियल के तेल का इस्तेमाल स्ट्रेच मार्क को कम करने के लिए किया जाता रहा है। कई लोगों को इसका इस्तेमाल करने से स्ट्रेच निशान को कम करने में मदद मिली (18)। फिलहाल, इसके संबंध में कोई स्पष्ट शोध मौजूद नहीं है। हालांकि, एक रिसर्च में बताया गया है कि नारियल के तेल का इस्तेमाल फाइब्रोब्लास्ट और त्वचा के कोलेजन के उत्पादन को बढ़ाने का काम करता है (19)। फाइब्रोब्लास्ट और कोलेजन के बढ़ने से स्ट्रेच मार्क्स को दूर करने में मदद मिल सकती है।

9. शुगर स्क्रब

सामग्री:
  • एक चौथाई चीनी
  • नमी के लिए नारियल या बादाम के तेल की कुछ बूंदें
  • नींबू की कुछ बूंदें 
उपयोग का तरीका:
  • एक चौथाई चीनी में बादाम का तेल या नारियल का तेल मिलाएं।
  • अब इसमें कुछ बूंदें नींबू के रस की डालें।
  • जहां भी शरीर में स्ट्रेच के निशान हों, वहां इससे स्क्रब करें।
  • करीब पांच से सात मिनट तक हल्के हाथों से स्क्रब करें।
  • नहाते हुए भी शुगर स्क्रब कर सकते हैं, जिससे शरीर के सभी प्रभावित हिस्सों को स्क्रब करने में आसानी होगी।
  • हफ्ते में दो करीब दो से तीन बार ऐसा किया जा सकता है।
कैसे लाभदायक है:

माना जाता है कि स्क्रब करने से भी स्ट्रेच मार्क्स हल्के हो सकते हैं। हालांकि, इसको लेकर किसी तरह का वैज्ञानिक प्रमाण मौजूद नहीं है, लेकिन इसे काफी उपयोग में लाया जाता है। स्क्रब में मिलाए जाने वाले बादाम और नारियल का तेल जरूर स्ट्रेच के निशान को कम करने में मदद कर सकते हैं। इस संबंध में हम ऊपर जानकारी दे चुके हैं।

10. शिया बटर (Shea Butter) 

सामग्री :
  • शिया बटर
उपयोग का तरीका :
  • स्ट्रेच मार्क्स पर शिया बटर से मालिश करें और उसे लगा रहने दें।
  • हर दिन एक से दो बार मालिश करें।
कैसे लाभदायक है:

शिया बटर को भी स्ट्रेच मार्क्स हटाने के घरेलू उपाय की तरह इस्तेमाल में लाया जाता है। इसे मार्केट में मौजूद कई स्ट्रेच मार्क्स ट्रीटमेंट क्रीम में भी बतौर सामग्री उपयोग किया जाता है। शिया बटर युक्त प्रोडक्ट्स को स्किन इलास्टिसिटी बढ़ाने में मददगार पाया गया है। इसमें मौजूद चिकनाई त्वचा को मॉइस्चराइज करने का भी काम करती है। इसी आधार पर कहा जा सकता है कि शिया बटर का उपयोग करने से स्ट्रेच मार्क्स को कुछ हद तक कम किया जा सकता है। हालांकि, यह स्ट्रेच मार्क्स पर कितना असरदार है, उसका अभी तक कोई ठोस वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है (10)

11. बेबी ऑयल 

सामग्री :
  • बेबी ऑयल की कुछ बूंदें
उपयोग का तरीका :
  • गुनगुने पानी से नहाने के बाद अपनी त्वचा को सूखा लें।
  • फिर स्ट्रेच मार्क्स पर बेबी ऑयल से मालिश करें।
  • हल्के हाथों से करीब 5 से 10 मिनट मालिश करें, जिससे त्वचा, तेल को पूरी तरह अवशोषित कर ले।
  • इसे रोज एक से दो बार लगाया जा सकता है।
कैसे लाभदायक है:

बेबी ऑयल का उपयोग न सिर्फ बच्चे, बल्कि अक्सर बड़े भी करते हैं। कई लोग इसे स्ट्रेच मार्क्स को हल्का करने के लिए भी उपयोग करते हैं (18)। बेबी ऑयल त्वचा की नमी देता है। साथ ही यह त्वचा को मुलायम भी बनाए रखता है (20)। स्किन की नमी बनाए रखने को स्ट्रेच मार्क्स ट्रीटमेंट का एक स्टेप माना जाता है (10)। शायद इसी वजह से स्ट्रेच मार्क्स के लिए क्रीम में भी इसका उपयोग किया जाता है (21)। हालांकि, यह स्ट्रेच मार्क्स को हटाने के उपाय के तौर पर कितना प्रभावकारी हो सकता है, यह स्पष्ट नहीं है।

12. जोजोबा ऑयल

सामग्री :
  • शुद्ध जोजोबा ऑयल
उपयोग का तरीका :
  • जोजोबा ऑयल की कुछ बूंदें अपने स्ट्रेच मार्क्स पर लगाएं और कुछ मिनट के लिए मालिश करें।
  • इस तेल को लगा रहने दें।
  • यह तेल रोज दो से तीन बार लगा सकते हैं।
कैसे लाभदायक है:

जोजोबा ऑयल को बेहतरीन मॉइस्चराइजर माना जाता है। साथ ही इसका उपयोग स्ट्रेच निशान को हटाने के उपाय के रूप में भी किया जाता है। मिस्र में हुए एक शोध में भी इसका जिक्र किया गया है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होता है, जिसे स्ट्रेच मार्क्स ट्रीटमेंट के लिए जरूरी माना जाता है। साथ ही इसमें हीलिंग गुण भी होता है, जो निशान को कम करने में मदद कर सकता है (22) (10)। इसी वजह से जोजोबा ऑयल को स्ट्रेच मार्क्स हटाने के उपाय में गिना जाता है। इसका उपयोग स्ट्रेच मार्क्स को बढ़ने से रोक सकता है। बस जरूरी है तो स्ट्रेच निशान दिखते ही इसका इस्तेमाल करने की।

13. आर्गन ऑयल

सामग्री :
  • ऑर्गेनिक आर्गन ऑयल
उपयोग का तरीका :
  • इस तेल को स्ट्रेच मार्क्स पर लगाएं और एक मिनट तक मसाज करें।
  • यह तेल आसानी से त्वचा में अवशोषित (Absorbed) हो जाता है, इसलिए इसे पोंछने या धोने की जरूरत नहीं है।
  • स्ट्रेच मार्क्स से छुटकारा पाने के लिए इसे हर दिन दो बार लगाएं।
कैसे लाभदायक है:

आर्गन ऑयल बड़े पैमाने पर कॉस्मेटिक्स उत्पादों में उपयोग किया जाता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर मौजूद एक अध्ययन के मुताबिक आर्गन ऑयल में विटामिन-ई होता है, जो एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है। यह स्किन इलास्टिसिटी को बनाए रखने के साथ ही फाइब्रोबलास्ट और कोलेजन के उत्पादन को बढ़ावा देता है (17)। स्ट्रेच मार्क्स कैसे हटाए, अगर यह सवाल मन में आए, तो आर्गन ऑयल इसका सही जवाब हो सकता है। अगर स्ट्रेच मार्क्स के शुरुआत में इस तेल का उपयोग किया जाए, तो इसका अच्छा असर स्ट्रेच मार्क्स पर देखा जा सकता है। इसका इस्तेमाल कई स्ट्रेच मार्क्स ट्रीटमेंट क्रीम से भी किया जाता है (14)

14. रोजहिप ऑयल

सामग्री :
  • रोजहिप ऑयल की कुछ बूंदें
उपयोग का तरीका :
  • स्ट्रेच मार्क्स पर रोजहिप ऑयल लगाकर थोड़ी देर मसाज करें।
  • तेल को त्वचा पर लगा रहने दें।
कैसे लाभदायक है:

स्ट्रेच निशान हटाने के उपाय के रूप में रोजहिप ऑयल का भी इस्तेमाल किया जाता है। कई कंपनियां भी रोजहिप ऑयल को स्ट्रेच मार्क ट्रीटमेंट क्रीम में भी इसका उपयोग किया जाता है (5)। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं, जो त्वचा को रिपेयर करने का काम करते हैं (23)। गर्भावस्था में स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए इसका इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है (24)। हालांकि, कई रिपोर्ट यह भी कहती हैं कि इसका इस्तेमाल स्ट्रेच मार्क्स पर किया तो जाता है, लेकिन इसके समर्थन में किसी तरह का वैज्ञानिक शोध मौजूद नहीं है (25)

15. गुलाब जल

सामग्री :
  • गुलाब जल (आवश्यकतानुसार)
  • थोड़ा पानी
उपयोग का तरीका :
  • पहले स्ट्रेच मार्क्स से प्रभावित हिस्से को धोएं और तौलिए से सूखा लें।
  • गुलाब जल को पानी में मिलाएं।
  • फिर सोने से पहले रुई की मदद से इसे लगाकर रात भर के लिए छोड़ दें।
  • जब तक न असर दिखे इसे हर रोज उपयोग करें।
  • इसके अलावा, डॉक्टर की सलाह लेकर रोज एसेंशियल ऑयल भी लगाया जा सकता है।
कैसे लाभदायक है:

गुलाब को स्ट्रेच मार्क्स को दूर करने के लिए भी जाना जाता है (26)। हालांकि, गुलाब जल को लेकर कोई स्पष्ट शोध मौजूद नहीं है, जो यह कहे कि गुलाब जल स्ट्रेच मार्क्स को दूर करने में मदद कर सकता है।

16. आलू 

सामग्री :
  • आधा घिसा हुआ आलू
  • आधे आलू का रस
उपयोग का तरीका :
  • दोनों सामग्री का मिश्रण तैयार कर लें।
  • फिर इस मिश्रण को स्ट्रेच मार्क्स पर लगाएं।
  • इसे सूखने दें और फिर ठंडे पानी से धो लें।
कैसे लाभदायक है:

आलू न सिर्फ खाने में, बल्कि त्वचा के लिए भी लाभकारी हो सकता है। आलू में ब्लीचिंग गुण होते हैं, जो त्वचा की रंगत को निखारने का काम करते हैं। ऐसे में यह स्ट्रेच मार्क्स के लिए फायदेमंद हो सकता है, लेकिन इसका अभी तक कोई वैज्ञानिक प्रमाण मौजूद नहीं है (27)

आगे हम स्ट्रेच मार्क्स के लिए जैतून तेल के बारे में बता रहे हैं।

क्या स्ट्रेच मार्क्स में जैतून का तेल लगाना फायदेमंद है? – Olive Oil for Stretch Marks in Hindi

स्ट्रेच मार्क्स के लिए जैतून के तेल का उपयोग करने की सलाह कई लोग देते हैं। कई लेख और विज्ञापन भी इस बात का दावा करते हैं। वैज्ञानिक प्रमाण की बात करें, तो अधिकांश शोध इस बात का सपोर्ट नहीं करते हैं। कई अध्ययनों में यही कहा गया है कि स्ट्रेच मार्क्स में जैतून का तेल लाभकारी नहीं होता है। इसके बजाय स्ट्रेच मार्क्स के लिए बादाम का तेल फायदेमंद माना गया है (10)

वहीं, एक अन्य शोध में कहा गया है कि ऑलिव ऑयल लगाने से स्ट्रेच मार्क्स हल्का होता है या नहीं, इसको लेकर किसी तरह के स्पष्ट परिणाम मौजूद नहीं है। रिसर्च के दौरान इसके विरोधी परिणाम निकले हैं। शोध के दौरान की गई तीन स्टडी में इसे लाभकारी नहीं पाया गया, जबकि एक स्टडी ने इसे फायदेमंद भी बताया है। हालांकि, रिसर्च के अंत में यह स्पष्ट कर दिया गया है कि स्ट्रेच मार्क्स के लिए जैतून के तेल से बेहतर विकल्प बादाम के तेल से मालिश करना है (28)

चलिए, आगे जानते हैं कुछ ऐसे व्यायाम जो स्ट्रेच मार्क्स से बचाव कर सकते हैं।

स्ट्रेच मार्क्स से छुटकारा पाने के लिए व्यायाम – Exercises For Stretch Marks in Hindi

स्ट्रेच निशान हटाने के उपाय में एक्सरसाइज को भी शामिल किया जा सकता है। हल्के-फुल्के व्यायाम या योग का सहारा ले सकते हैं। इसके अलावा, वॉकिंग, दौड़, वेट ट्रेनिंग और स्क्वाट को भी शामिल कर सकते हैं। कम जानकारी और अनुभव के अभाव में जटील या गलत व्यामाय न करें। विशेषज्ञ की देखरेख व सलाह पर ही व्यायाम  किया जाए तो बेहतर होगा। स्ट्रेच मार्क्स पर योग या व्यायाम कितना कारगर होगा, इस पर अभी ठोस वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है।

अब जानते हैं, गर्भावस्था में स्ट्रेच मार्क्स कैसे हटाए जा सकते हैं।

प्रेगनेंसी के बाद स्ट्रेच मार्क्स कैसे हटाए – How to Remove Stretch Marks After Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी के बाद स्ट्रेच मार्क्स का पड़ना काफी आम बात है। इसके बचाव के लिए कई तरीकों को महिलाएं अपनाती है। वैसे इससे बचने के लिए या इसे फैलने से रोकने के लिए गर्भावस्था के दौरान ही एहतियात बरतना जरूरी होता है। गर्भावस्था के बाद स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए मसाज का इस्तेमाल किया जा सकता है (29)। मसाज के लिए उपयोग में लाए जाने वाले तेल महिला ऊपर स्ट्रेच मार्क के घरेलू उपाय में देख सकती हैं।

लेख में आगे हम स्ट्रेच मार्क्स दूर करने के अन्य तरीकों के बारे में बता रहे हैं।

स्ट्रेच मार्क्स हटाने के अन्य इलाज – Other Stretch Marks Treatment in Hindi

  1. हायलूरॉनिक एसिड (Hyaluronic Acid) – हायलूरॉनिक एसिड का भी इस्तेमाल स्ट्रेच मार्क्स को दूर करने के लिए किया जाता है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लामेटरी गुण और हाइड्रेटिंग इफेक्ट स्ट्रेच मार्क्स में होने वाली खुजली और निशान को हल्का करने में मदद कर सकते हैं। माना जाता है कि यह एसिड फाइब्रोब्लास्ट गतिविधि और कोलेजन के उत्पादन को बढ़ाने का काम करता है (10)। इसकी बताई गई गतिविधियां और गुण स्ट्रेच मार्क्स के लक्षणों को दूर करने में सहायक माने गए हैं (10)। शायद इसी वजह से कई एंटी-स्ट्रेच मार्क क्रीम में हायलूरॉनिक एसिड का इस्तेमाल किया जाता है (16)। इसे रोज रात को सोने से पहले स्ट्रेच मार्क प्रभावित जगहों पर लगा सकते हैं।
  1. ग्लाइकोलिक एसिड (Glycolic Acid) – ग्लाइकोलिक एसिड मेडिकल स्टोर में आसानी से उपलब्ध है। यह त्वचा में कोलेजन को बढ़ाता है। जैसा कि हम ऊपर बता ही चुके हैं कि कोलेजन के बढ़ने से स्ट्रेच मार्क्स ट्रीटमेंट में मदद मिल सकती है (8)। इसका इस्तेमाल डॉक्टर के परामर्श में ही करें। इसका इस्तेमाल करने के बाद धूप में न निकलने की सलाह दी जाती है।
  1. लेजर थेरेपी – कुछ लोगों को काफी ज्यादा स्ट्रेच मार्क्स होते हैं। इनकी वजह से उनकी रोजमर्रा की जिंदगी प्रभावित होने लगती है। ऐसे लोग लेजर थेरेपी की सहायता ले सकते हैं। एक अध्ययन में बताया गया है कि लेजर ट्रीटमेंट की मदद से स्ट्रेच मार्क्स काफी कम हो जाते हैं। इसके लिए अच्छे विशेषज्ञ से संपर्क किया जाना जरूरी है (5)
  1. माइक्रोनीडलिंग – लेजर थेरेपी के अलावा स्ट्रेच मार्क्स कम करने के लिए माइक्रोनीडलिंग को भी बेहतर विकल्प माना जाता है। इसमें सुई की मदद से स्ट्रेच मार्क्स का उपचार किया जाता है। इस प्रक्रिया को करने से कोलेजन का उत्पादन होता है और स्किन टिशू स्मूद और टाइट हो जाते हैं। एनसीबीआई की वेबसाइट पर मौजूद एक अध्ययन के मुताबिक स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए कोरियन महिलाओं पर जब माइक्रोनीडलिंग का इस्तेमाल किया गया, तो यह अन्य ट्रीटमेंट के मुकाबले प्रभावकारी पाया गया (5)। इसके अलावा, डॉक्टर स्ट्रेच मार्क्स की स्थिति को देखते हुए पीआरपी थेरेपी (एक प्रकार का ट्रीटमेंट), डर्मारोलर (एक प्रकार का ट्रीटमेंट) और रेटिनोइक एसिड युक्त क्रीम के उपयोग की सलाह भी दे सकते हैं।

आगे, हम जानेंगे कि क्या स्ट्रेच मार्क्स पूरी तरह से ठीक हो सकते हैं।

क्या स्ट्रेच मार्क्स से पूरी तरह से छुटकारा पाना संभव है?

स्ट्रेच मार्क्स से पूरी तरह से छुटकारा पाना संभव है या नहीं, यह कह पाना थोड़ा मुश्किल है। स्ट्रेच मार्क्स का पूरी तरह गायब होना मौजूदा स्थिति पर निर्भर करता है। अगर स्ट्रेच निशान पुराने हैं, तो इसे जाने में वक्त लग सकता है। वहीं, अगर ये निशान अभी-अभी उभरने शुरू हुए हैं, तो इन्हें बताए गए घरेलू उपचार या डॉक्टरी मदद के जरिए ठीक किया जा सकता है। हालांकि, यह पूरी तरह ठीक होंगे या नहीं, यह डॉक्टर ही आपको सही तरह से बता सकते हैं। इसी वजह से स्ट्रेच मार्क्स का इलाज करने के लिए एक बार विशेषज्ञ से संपर्क जरूर किया जाना चाहिए।

आगे जानिए गर्भावस्था में स्ट्रेच मार्क्स या अन्य समय में इससे बचाव कैसे किया जा सकता है।

खिंचाव के निशान से बचने के उपाय – Prevention Tips for Stretch Marks in Hindi

अगर बात करें गर्भावस्था के बाद स्ट्रेच मार्क्स से बचने की, तो इसका ख्याल गर्भावस्था के दौरान से ही रखना शुरू कर देना चाहिए। वहीं, गर्भावस्था के साथ ही कई अन्य कारण भी हैं, जो खिंचाव के निशान का कारण बनते हैं। गर्भावस्था या अन्य समय में स्ट्रेच मार्क्स से बचाव के लिए नीचे बताए गये उपायों को अपनाया जा सकता है (30) (10)

खूब पानी पिएं – खूब पानी व जूस पिएं और खुद को हाइड्रेट रखें। अगर शरीर हाइड्रेट रहेगा, तो त्वचा संबंधी समस्याओं से राहत मिलेगी और त्वचा स्वस्थ रहेगी।

खान-पान – अपनी डाइट का भी पूरी तरह से ध्यान रखें। पोषक तत्व युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें, साथ ही ऐसे फल और सब्जियों का सेवन करें, जिनमें पानी की मात्रा अधिक हो। ऐसे में अगर कोई कम पानी पीता है, तो पानी की पूर्ति आसानी से हो जाएगी। इसके साथ ही वो खाद्य पदार्थ ज्यादा लें, जिसमें विटामिन-सी और ई मौजूद हों।

मॉइस्चराइजर – अच्छी क्रीम, मॉइस्चराइजर या बॉडी लोशन का नियमित तौर पर उपयोग करें। इसके अलावा, एसेंशियल ऑयल से त्वचा की मालिश करें।

वजन संतुलित रखें – वजन बढ़ने के कारण भी स्ट्रेच मार्क्स हो सकते हैं, इसलिए एक्सरसाइज और योग करें, ताकि वजन नियंत्रित रहे और त्वचा पर स्ट्रेच मार्क्स न हों।

आगे, अब हम स्ट्रेच मार्क्स के लिए क्रीम से संबंधित जानकारी दे रहे हैं।

स्ट्रेच मार्क्स हटाने की क्रीम – Best Stretch Mark Creams in Hindi

स्ट्रेच मार्क्स हटाने की क्रीम भी मार्केट में उपलब्ध हैं। कई लोगों को इन क्रीम से भी कुछ हद तक स्ट्रेच मार्क्स हटाने में मदद मिलती है। स्ट्र्रेच मार्क्स की दवाई न होने के कारण इन क्रीम का इस्तेमाल काफी ज्यादा होता है। इसी वजह से हम नीचे ऐसी स्ट्रेच मार्क्स के लिए क्रीम के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें लोग ज्यादा इस्तेमाल में लाते हैं। 

1. ब्लू नेक्टर स्ट्रेच मार्क्स एंड स्कार बॉडी लोशन क्रीम (Blue Nectar Stretch Marks & Scar Body Lotion Cream)

स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए यह क्रीम भी काफी लोकप्रिय है। इस क्रीम के रिव्यू काफी अच्छे हैं। कंपनी का दावा है कि यह प्राकृतिक चीजों से बनी है और हानिकारक रसायन का इस्तेमाल इसे बनाते समय नहीं किया गया है। 

यहां से खरीदें 

2. मॉम एंड वर्ल्ड बैली बटर (Mom & World Belly Body Butter):

यह क्रीम भी लोगों के बीच काफी प्रचलित है। कंपनी का दावा है कि यह क्रीम गर्भावस्था में भी सुरक्षित है। कंपनी की मानें तो यह स्ट्रेच हो रही स्कीन को मॉइस्चराइज करके इसकी इलास्टिसिटी बनाए रखने में मदद करती है। 

यहां से खरीदें

 

3. वाओ स्ट्रेच मार्क्स एंड स्कार लाइटनिंग ऑयल क्रीम (WOW Stretch Marks and Scar Lightening Oil Cream)

माना जाता है कि इस क्रीम के रोजाना इस्तेमाल करने से स्ट्रेच मार्क्स हल्के हो सकते हैं। ऑनलाइन इसे चार स्टार भी मिले हैं और इसके रिव्यू भी अन्य क्रीम के मुकाबले बेहतर हैं। 

यहां से खरीदें

लेख में स्ट्रेच निशान हटाने के उपाय आप जान ही चुके हैं। उम्मीद करते हैं कि अब आपको स्ट्रेच मार्क्स कैसे हटाए, इस सवाल का जवाब मिल गया होगा। बस ध्यान रखें कि सटीक स्ट्रेच मार्क्स का इलाज इससे बचाव और दिनचर्या में बदलाव ही है। गर्भावस्था में स्ट्रेच मार्क्स से बचने के लिए प्रेगनेंसी शुरू होने के समय से ही बचाव का प्रयास कर देना चाहिए। साथ ही लेख में बताए गये स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के घरेलू उपाय को अपना सकते हैं। स्ट्रेच मार्क्स से खुद को बचाने के लिए आर्टिकल में बताए गए टिप्स को भी जरूर अपनाएं।

और पढ़े:

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

    1. Stretch marks
      https://medlineplus.gov/ency/article/003287.htm
    2. Stretch marks
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK436005/
    3. ALOE VERA: A SHORT REVIEW
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2763764/
    4. Stretch Marks
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK436005/
    5. Management of stretch marks (with a focus on striae rubrae)
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5782435/
    6. Plants used to treat skin diseases
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3931201/
    7. Castor Oil Plant (Ricinus communis L.): Botany, Ecology and Uses
      https://www.ijsr.net/archive/v3i5/MDIwMTMyMDY1.pdf
    8. Striae Distensae (Stretch Marks) and Different Modalities of Therapy: An Update
      https://www.researchgate.net/publication/24375828_Striae_Distensae_Stretch_Marks_and_Different_Modalities_of_Therapy_An_Update
    9. Vicks Vaporub: A Mother Touch Therapy
      https://www.researchgate.net/publication/329013923_Vicks_Vaporub_A_Mother_Touch_Therapy
    10. Topical management of striae distensae (stretch marks): prevention and therapy of striae rubrae and albae
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5057295/
    11. The uses and properties of almond oil
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/20129403/
    12. The effect of bitter almond oil and massaging on striae gravidarum in primiparaous women
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22594386/
    13. The use of anti stretch marks’ products by women in pregnancy: a descriptive, cross-sectional survey
      https://bmcpregnancychildbirth.biomedcentral.com/articles/10.1186/s12884-016-1075-9
    14. Preliminary study on the development of an antistretch marks water-in-oil cream: ultrasound assessment, texture analysis, and sensory analysis
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5019162/
    15. The Roles of Vitamin C in Skin Health
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5579659/
    16. Striae gravidarum: Risk factors, prevention, and management
      https://www.sciencedirect.com/science/article/pii/S2352647516300272
    17. The effect of dietary and/or cosmetic argan oil on postmenopausal skin elasticity
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4321565/
    18. The use of anti stretch marks’ products by women in pregnancy: a descriptive, cross-sectional survey
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5031338/
    19. Anti-Inflammatory and Skin Barrier Repair Effects of Topical Application of Some Plant Oils
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5796020/
    20. Clinical Evaluation of Baby Oil as a Dermal Moisturizer
      http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.585.6732&rep=rep1&type=pdf
    21. Risk factors for the development of striae gravidarum
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC1913631/
    22. Jojoba oil: Anew media for frying process
      https://juniperpublishers.com/ctbeb/pdf/CTBEB.MS.ID.555952.pdf
    23. Anti-Inflammatory and Skin Barrier Repair Effects of Topical Application of Some Plant Oils
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/29280987/
    24. Scientific evidence on the use of rose hip oil pregnancy
      https://www.researchgate.net/publication/286129872_Scientific_evidence_on_the_use_of_rose_hip_oil_pregnancy
    25. Rose Hip
      https://medlineplus.gov/druginfo/natural/839.html
    26. Assessment of oil in water emulsion based on rose oil
      https://www.researchgate.net/publication/325193752_Assessment_of_oil_in_water_emulsion_based_on_rose_oil
    27. Knowledge, Attitude and Practice of Skin Whitening among Female University Students in Northeastern Nigeria
      https://www.scirp.org/journal/PaperInformation.aspx?PaperID=83813
    28. The use of anti stretch marks’ products by women in pregnancy: a descriptive, cross-sectional survey
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5031338/
    29. Self-assessment of striae gravidarum prophylaxis
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4697027/
    30. Striae distensae treatment review and update
      https://www.idoj.in/article.asp?issn=2229-5178;year=2019;volume=10;issue=4;spage=380;epage=395;aulast=Lokhande
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.
विनिता पंगेनी ने एनएनबी गढ़वाल विश्वविद्यालय से मास कम्यूनिकेशन में बीए ऑनर्स और एमए किया है। टेलीविजन और डिजिटल मीडिया में काम करते हुए इन्हें करीब चार साल हो गए हैं। इन्हें उत्तराखंड के कई पॉलिटिकल लीडर और लोकल कलाकारों के इंटरव्यू लेना और लेखन का अनुभव है। विशेष कर इन्हें आम लोगों से जुड़ी रिपोर्ट्स करना और उस पर लेख लिखना पसंद है। इसके अलावा, इन्हें बाइक चलाना, नई जगह घूमना और नए लोगों से मिलकर उनके जीवन के अनुभव जानना अच्छा लगता है।

ताज़े आलेख