स्ट्रेच मार्क्स के लिए एलोवेरा का उपयोग – Aloe Vera for Stretch Marks in Hindi

Written by , (एमए इन मास कम्युनिकेशन)

गर्भावस्था के दौरान या बाद में स्ट्रेच मार्क्स यानी खिंचाव के निशान महिलाओं में एक आम समस्या है। इसके पीछे का मुख्य कारण शरीर के बढ़े हुए वजन को माना जाता है (1)। हालांकि, यह कोई गंभीर समस्या तो नहीं है, लेकिन ये निशान कहीं न कहीं खूबसूरती को प्रभावित जरूर करते हैं। इससे छुटकारा पाने के लिए लोग कई तरह के क्रीम और घरेलू उपायों का सहारा लेते हैं। इन्हीं घरेलू उपचारों में एलोवेरा का नाम भी शामिल किया जा सकता है। तो स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए एलोवेरा के इस्तेमाल से संबंधित जानकारी लेकर आए हैं। तो चलिए स्ट्रेच मार्क्स के लिए एलोवेरा का उपयोग जानने के लिए लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

पढ़ते रहें

लेख की शुरुआत में जानें स्ट्रेच मार्क्स के लिए एलोवेरा उपयोगी है या नहीं।

क्या स्ट्रेच मार्क्स के लिए एलोवेरा अच्छा है? – Is Aloe Vera Good For Stretch Marks?

हां, स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए एलोवेरा को उपयोगी माना जा सकता है। इस बात की जानकारी एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध से मिलती है, जिसमें बताया गया है कि एलोवेरा स्ट्रेच मार्क्स के इलाज में कारगर साबित हो सकता है (2)। इसके अलावा, एक अन्य शोध में भी यह बताया गया है कि एलोवेरा और बादाम (स्वीट आलमंड) के तेल से युक्त क्रीम स्ट्रेच मार्क्स की खुजली को कम करने के साथ-साथ स्ट्रेच मार्क्स को बढ़ने से रोकने में भी मददगार साबित हो सकती है (3)

दरअसल, एलोवेरा कोलेजन को बढ़ाने का काम कर सकता है और त्वचा की नमी को बरकरार रखने में भी सहायक माना जा सकता है। साथ ही एलोवेरा जेल में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण भी मौजूद होते हैं (4)। वहीं, स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए उपचार के दौरान कोलेजन को बढ़ाने के साथ-साथ त्वचा की नमी में भी सुधार किया जाता है (5)। साथ ही एंटी-इन्फ्लेमेटरी तत्व स्ट्रेच मार्क्स में त्वचा की लालिमा को कम करने में उपयोगी हो सकते हैं (5)। यही वजह है कि स्ट्रेच मार्क्स के लिए एलोवेरा का उपयोग लाभकारी माना जा सकता है।

नीचे स्क्रॉल करें

अब हम जानकारी देंगे कि स्ट्रेच मार्क्स के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं।

स्ट्रेच मार्क्स के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल कैसे करें – How To Use Aloe Vera For Stretch Marks In Hindi

यहां हम स्ट्रेच मार्क्स के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल करने के कुछ तरीके बता रहे हैं। हालांकि, इससे पहले हम यह स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि यहां बताए गए उपाए, स्ट्रेच मार्क्स को पूरी तरह से खत्म नहीं कर सकते हैं। यह केवल इस समस्या को कुछ हद तक कम कर सकते हैं। तो अब पढ़ें स्ट्रेच मार्क्स के लिए एलोवेरा का उपयोग:   

1. एलोवेरा जेल

सामग्री:

  • ताजा एलोवेरा जेल या बाजार में मिलने वाले एलोवेरा जेल (आवश्यकतानुसार)

उपयोग करने का तरीका:

  • हाथों में एलोवेरा जेल लगाकर स्ट्रेच मार्क वाली जगह पर हल्की मालिश करें।
  • दिन में रोजाना दो बार इसका इस्तेमाल करें।

कैसे है फायदेमंद:

जैसा कि हमने लेख के शुरुआत में ही बताया कि स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल किया जा सकता है (2)। दरअसल, यह सूजन को कम करने के साथ-साथ कोलेजन को भी बढ़ाने में मददगार साबित हो सकता है । इसके अलावा, यह त्वचा की नमी को भी बरकरार रखने में सहायक साबित हो सकता है (4)। वहीं, स्ट्रेच मार्क्स के उपचार का मुख्य केंद्र कोलेजन और त्वचा की नमी का सुधार करना होता है (6)। यही वजह है कि स्ट्रेच मार्क्स के लिए एलोवेरा का उपयोग करना फायदेमंद माना जा सकता है।

2. एलोवेरा जेल और नारियल तेल

सामग्री:

  • एलोवेरा जेल – एक चम्मच
  • नारियल तेल – एक चम्मच
  • एक कटोरी

उपयोग करने का तरीका:

  • सबसे पहले एक कटोरी में एलोवेरा जेल और नारियल तेल को अच्छी तरह से मिला लें।
  • इसके बाद रात में सोने से पहले स्ट्रेच मार्क्स वाले हिस्से पर इससे मालिश करें और रातभर के लिए उसे वैसे ही छोड़ दें।
  • रोजाना सोने से पहले एक बार इसका उपयोग कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

त्वचा के लिए नारियल तेल के फायदे तो हैं ही साथ ही यह स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए भी लाभकारी माना जा सकता है। इस बारे में एनसीबीआई की वेबसाइट पर एक शोध प्रकाशित है, जिसमें यह बताया गया है कि नारियल तेल के मसाज से स्ट्रेच मार्क्स को कम करने में काफी मदद मिल सकती है क्योंकि यह त्वचा को हाइड्रेट कर सकता है (7)। इसके अलावा, एक अन्य रिसर्च से भी इस बात की जानकारी मिलती है कि नारियल तेल का इस्तेमाल स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए लंबे समय से किया जाता रहा है (8)। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए एलोवेरा के साथ अगर नारियल का तेल मिला दिया जाए तो यह और भी प्रभावी साबित हो सकता है।

3. एलोवेरा जेल और विटामिन-ई

सामग्री:

  • एलोवेरा जेल- एक चम्मच
  • विटामिन- ई – दो कैप्सूल
  •  एक कटोरी

उपयोग करने का तरीका :

  • सबसे पहले एक कटोरी में एलोवेरा जेल को डालें।
  • इसके बाद उसमें विटामिन-ई कैप्सूल के अंदर का तरल भाग मिलाएं।
  • अब इस मिश्रण को स्ट्रेच मार्क्स वाली जगह पर लगाएं।
  • दिन भर में दो बार इसका उपयोग कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद :

स्ट्रेच मार्क्स को दूर करने के लिए भी विटामिन-ई का उपयोग किया जा सकता है। इससे संबंधित एक शोध में बताया गया है कि विटामिन-ई युक्त क्रिम स्ट्रेच मार्क्स को कम करने में प्रभावी साबित हो सकती है। हालांकि, इसमें कई अन्य सामग्रियां भी मौजूद थीं (9)। इसलिए, अकेले विटामिन-ई स्ट्रेच मार्क्स को कम करने में कितना प्रभावी साबित हो सकता है, फिलहाल इस बारे में अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

4. एलोवेरा जेल और जोजोबा ऑयल

सामग्री:

  • जोजोबा ऑयल- एक चम्मच
  • एलोवेरा जेल – एक से दो चम्मच
  • एक बाउल

उपयोग करने का तरीका :

  • एक कटोरी में जोजोबा ऑयल और एलोवेरा जेल को मिला लें।
  • इसके बाद इस मिश्रण से कुछ मिनट तक स्ट्रेच मार्क्स वाली जगह पर मालिश करें।
  • फिर 10 मिनट के लिए उसे वैसे ही छोड़ दें।
  • इसके बाद पानी से उसे धो लें।
  • इस प्रक्रिया को सप्ताह में तीन बार कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद :

स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए एलोवेरा के साथ जोजोबा ऑयल का इस्तेमाल करना भी फायदेमंद साबित हो सकता है। बताया जाता है कि जोजोबा ऑयल खिंचाव के निशान को कम करने में कारगर साबित हो सकता है। दरअसल, जोजोबा ऑयल एक बेहतरीन मॉइस्चराइजर माना जाता है। साथ ही यह सूजन को भी कम करने में सहायक सिद्ध हो सकता है (10)। इस आधार पर यह माना जा सकता एलोवेरा जेल के साथ जोजोबा ऑयल का इस्तेमाल करना लाभकारी साबित हो सकता है।

5. एलोवेरा जेल और नींबू का रस

सामग्री:

  • नींबू का रस – आधा चम्मच
  • एलोवेरा जेल – एक चम्मच
  • एक कटोरी

उपयोग करने का तरीका :

  • सबसे पहले एक कटोरी में नींबू के रस में आधा चम्मच पानी मिलाएं।
  • इसके बाद उसमें एलोवेरा जेल मिलाएं।
  • अब इस पेस्ट को स्ट्रेच मार्क्स वाली जगह पर लगाएं और 15 मिनट के लिए सूखने दें।
  • फिर इसे साफ पानी से धो लें और अच्छे से पोछकर मॉइस्चराइजर लगा लें।
  • दिन भर में एक बार इस प्रक्रिया को किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

स्ट्रेच मार्क्स के लिए एलोवेरा के साथ अगर नींबू का रस मिला दिया जाए तो यह और भी प्रभावी साबित हो सकता है। दरअसल, नींबू विटामिन -सी से भरपूर होता है (11)। बता दें कि विटामिन-सी कोलेजन को बढ़ाने में मदद कर सकता है। साथ ही यह त्वचा की नमी को भी बनाए रखने में सहायक सिद्ध हो सकता है  (12)। वहीं, स्ट्रेच मार्क्स के ट्रीटमेंट में कोलेजन को बढ़ाना भी शामिल है (6)। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि एलोवेरा के साथ नींबू के इस्तेमाल से खिंचाव के निशान को कम करने में काफी मदद मिल सकती है।

6. एलोवेरा जेल और अरंडी का तेल

सामग्री:

  • अरंडी का तेल – आधा चम्मच
  • एलोवेरा जेल – एक चम्मच
  • एक बाउल

उपयोग करने का तरीका:

  • एक बाउल में स्ट्रेच मार्क्स के लिए एलोवेरा जेल के साथ अरंडी का तेल मिलाएं।
  • फिर खिंचाव के निशान पर इससे हल्की मालिश करें।
  • इसके बाद इसे 30 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
  • फिर आधे घंटे के बाद इसे धोकर मॉइस्चराइजर लगा लें।
  • रोजाना एक या दो बार इसे अपनाया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद:

एलोवेरा के साथ अरंडी के तेल को भी स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए लाभकारी माना जा सकता है। दरअसल, एक शोध में साफतौर से इस बाद का जिक्र मिलता है कि अरंडी के तेल के इस्तेमाल से खिंचाव के निशान को कम करने में मदद मिल सकती है (13)। इसके पीछे इसमें मौजूद रिसिनोलिक एवं लिनोलेनिक एसिड को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है, जो त्वचा की नमी और इलास्टिसिटी को सुधारने का काम कर सकते हैं (14)। बता दें कि त्वचा की लोच और नमी में सुधार लाकर भी खिंचाव के निशान को कम किया जा सकता है (6)

7. एलोवेरा जेल और ऑलिव ऑयल

सामग्री:

  • ऑलिव ऑयल – आधा चम्मच
  • एलोवेरा जेल – एक चम्मच
  • एक कटोरी

उपयोग करने का तरीका:

  • स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए एक कटोरी में एलोवेरा जेल के साथ ऑलिव ऑयल मिला लें।
  • फिर इस मिश्रण से प्रभावित क्षेत्र की मालिश करें।
  • 30 मिनट के लिए उसे वैसे ही छोड़ दें।
  • फिर पानी से धोकर वहां मॉइस्चराइजर लगा लें।
  • हर दिन एक बार इस प्रक्रिया को कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

त्वचा के लिए जैतून के तेल के फायदे तो हैं ही, इसके अलावा खिंचाव के निशान को कम करने के लिए भी जैतून के तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है (15)। दरअसल, जैतून का तेल एक बेहतरीन मॉइस्चराइजर होने के साथ-साथ एंटी इन्फ्लेमेटरी (सूजन को कम करने वाला) गुण भी प्रदर्शित करता है (16)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि ऑलिव ऑयल के इस्तेमाल से स्ट्रेच मार्क्स से जुड़ी लालिमा, सूजन की समस्या को कम किया जा सकता है। साथ ही यह त्वचा की नमी को भी बनाए रखने में कारगर साबित हो सकता है। वहीं, खिंचाव के निशान के इलाज में भी त्वचा की नमी में सुधार करना और सूजन को कम करना शामिल है (6)

8. एलोवेरा जेल और शहद

सामग्री:

  • शदह – एक चम्मच
  • एलोवेरा जेल – एक चम्मच
  • एक कटोरी

उपयोग करने का तरीका:

  • सबसे पहले एक छोटे से बर्तन में एलोवेरा जेल के साथ शहद को अच्छी तरह से मिला लें।
  • इसके बाद उस मिश्रण से प्रभावित हिस्से पर मसाज करें और 15 से 20 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • फिर पानी से उस हिस्से को धो लें और मॉइस्चराइजर लगा लें।
  • दिनभर में एक से दो बार इस विधि को अपनाया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद:

शहद का इस्तेमाल त्वचा के लिए करने के साथ-साथ स्ट्रेच मार्क्स के लिए भी किया जा सकता है। दरअसल, शहद में सूजन और लालीमा को कम करने के साथ-साथ स्किन को हाइड्रेट रखने की भी क्षमता होती है। इसके अलावा, एलोवेरा में भी हीलिंग गुण मौजूद होते हैं, जो जल्द ही घावों को भरने का कम कर सकते हैं (17)। वहीं, खिंचाव के निशान को कम करने के लिए भी सूजन को कम करने के साथ-साथ त्वचा की नमी में सुधार किया जाता है (6)। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए एलोवेरा के साथ शहद का इस्तेमाल करना भी फायदेमंद साबित हो सकता है।

9. एलोवेरा जेल और कोको बटर

सामग्री:

  • कोको बटर – एक चम्मच
  • एलोवेरा जेल – एक चम्मच
  • एक बाउल

उपयोग करने का तरीका:

  • स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए एलोवेरा और कोका बटर को एक बाउल में डालकर मिलाएं।
  • इसके बाद स्ट्रेच मार्क्स वाली जगह पर इस मिश्रण से मालिश करें।
  • हर रोज रात में सोने से पहले इसका उपयोग कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद :

कोको बटर का उपयोग भी स्ट्रेच मार्क्स से बचाव के लिए किया जा सकता है (18)। वहीं, एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक अन्य रिसर्च से जानकारी मिलती है कि कोको बटर युक्त क्रीम त्वचा की लोच और नमी में सुधार करके खिंचाव के निशान को कम करने में उपयोगी साबित हो सकता है (5)। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि एलोवेरा के साथ कोको बटर का इस्तेमाल स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए कुछ हद तक प्रभावी साबित हो सकता है।

10. एलोवेरा जेल और एवोकाडो ऑयल

सामग्री:

  • एवोकाडो का तेल – एक चम्मच
  • एलोवेरा जेल – एक चम्मच
  • एक कटोरी

उपयोग करने का तरीका:

  • एक कटोरी में दोनों सामग्रियों को मिला लें।
  • इसके बाद प्रभावित हिस्से पर इससे मसाज करें।
  • 15 से 20 मिनट बाद उस हिस्से को पानी से धो लें।
  • फिर तौलिए से पोंछकर मॉइस्चराइजर लगा लें।
  • दिनभर में एक बार इस प्रक्रिया को अपनाया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद:

एलोवेरा के साथ एवोकाडो के तेल का मिश्रण भी स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए प्रभावी साबित हो सकता है। दरअसल, स्ट्रेच मार्क्स से सबंधित एक रिसर्च से इस बात की जानकारी मिलती है कि एवोकाडो के तेल का इस्तेलाम खिंचाव के निशान को कम करने के लिए घरेलू उपचार के तौर पर किया जा सकता है (19)। हालांकि, इसके पीछे इसका कौन सा गुण काम करता है फिलहाल इस बारे में अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

11. एलोवेरा जेल और बायो ऑयल

सामग्री:

  • बायो ऑयल – एक चम्मच
  • एलोवेरा जेल – एक चम्मच
  • एक बाउल

उपयोग करने का तरीका:

  • एक बाउल में एलोवेरा जेल और बायो ऑयल को अच्छी तरह से मिला लें।
  • फिर खिंचाव के निशान पर कुछ मिनट तक उस मिश्रण से मालिश करें।
  • हफ्ते में 3 से 4 बार इस उपाय को अपनाया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद:

एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के मुताबिक, बायो ऑयल के इस्तेमाल से स्ट्रेच मार्क्स को कम करने में मदद मिल सकती है। इस बात की पुष्टि के लिए 20 महिलाओं पर एक रिसर्च किया गया, जिसमें 12 हफ्ते तक उन्हें खिंचाव के निशान पर प्रतिदिन दो बार बायो ऑयल लगाने की सलाह दी गई। इस शोध से यह निष्कर्ष निकाला गया कि बायो ऑयल स्ट्रेच मार्क्स को कम करने में कारगर सिद्ध हो सकता है (20)। इस आधर पर यह माना जा सकता है कि स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए एलोवेरा के उपयोग के साथ-साथ बायो ऑयल का इस्तेमाल भी फायदेमंद साबित हो सकता है।

12. एलोवेरा जेल और बादाम का तेल

सामग्री:

  • बादाम का तेल – एक चम्मच
  • एलोवेरा जेल – आधा चम्मच
  • एक कटोरी

उपयोग करने का तरीका:

  • एक कटोरी में बादाम के तेल और एलोवेरा जेल को अच्छी तरह से मिला लें।
  • अब इस मिश्रण से प्रभावित हिस्से की मालिश करें।
  • इस प्रक्रिया को दिन में दो बार कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए बादाम के तेल को एक बेहतरीन विकल्प माना जाता है। इस बारे में एक शोध से जानकारी मिलती है कि प्रेगनेंसी के दौरान ऑलमंड ऑयल से 15 मिनट तक मालिश करने से खिंचाव के निशान को बढ़ने से रोकने में मदद मिल सकती है (21)। दरअसल, बादाम का तेल त्वचा की नमी और स्किन इलास्टिसिटी को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है, जिससे इस निशान को बढ़ने से रोकने में काफी मदद मिल सकती है (5)। ऐसे में स्ट्रेच मार्क्स के लिए एलोवेरा और बादाम के तेल का मिश्रण एक कारगर नुस्खा माना जा सकता है। हालांकि, गर्भावस्था में इसके उपयोग और मालिश से जुड़ी सावधानी बरतने के लिए डॉक्टरी सलाह जरूर लें।

13. एलोवेरा जेल और गुलाब जल

सामग्री:

  • गुलाब जल – एक चम्मच
  • एलोवेरा जेल – एक चम्मच
  • एक बाउल

उपयोग करने का तरीका:

  • एक छोटे से बाउल में गुलाब जल और एलोवेरा जेल को अच्छे से मिला लें।
  • अब इसमें रूई भिगोएं और उसे प्रभावित हिस्से पर रख कर रात भर के लिए छोड़ दें।
  • इस नुस्खे का इस्तेमाल रोजाना सोने से पहले कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

एक शोध में गुलाब को खिंचाव के निशान कम करने के लिए प्रभावी माना गया है (22)। वहीं, गुलाब जल स्किन को हाइड्रेट रखने के साथ-साथ मॉइस्चराइज करने और लालिमा को कम करने में भी प्रभावी पाया गया है (23)। इसके अलावा, गुलाब जल में सूजन को कम करने की भी क्षमता होती है (24)। इन सभी तथ्यों के आधार पर खिंचाव के निशान को कम करने के लिए गुलाब जल के इस्तेमाल को प्रभावी माना जा सकता है। बता दें कि स्ट्रेच मार्क्स ट्रीटमेंट में भी सूजन और लालिमा को कम कर स्किन हाइड्रेशन में सुधार किया जाता है (6)। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि स्ट्रेच मार्क्स के लिए एलोवेरा का उपयोग गुलाब जल के साथ करना फायदेमंद साबित हो सकता है।

अभी बाकी है जानकारी

लेख के अंत में हम कुछ टिप्स और सावधानियों का जिक्र कर रहे हैं।

स्ट्रेच मार्क्स में एलोवेरा जेल के उपयोग के टिप्स और सावधानियां – Tips & Precautions

स्ट्रेच मार्क्स के लिए एलोवेरा का उपयोग जानने के बाद अब हम यहां स्ट्रेच मार्क्स के लिए एलोवेरा के उपयोग से जुड़ी कुछ सावधानियों की जानकारी दे रहे हैं। तो ये टिप्स और बचाव कुछ इस प्रकार हैं:

  • संवेदनशील त्वचा वाले लोगों को एलोवेरा के इस्तेमाल से परहेज करना चाहिए। एनसीबीआई की वेबसाइट पर उपलब्ध शोध के मुताबिक, सेंसेटिव स्किन पर इसके इस्तेमाल से जलन और त्वचा का लाल होने जैसी एलर्जी शामिल है (4)
  • इसके अलावा, लेख में बताई गई किसी भी सामग्री से अगर किसी को एलर्जी की समस्या है तो उसके इस्तेमाल से बचें।
  • गर्भावस्था के दौरान एलोवेरा के इस्तेमाल से पहले डॉक्टरी सलाह जरूर लें।
  • लेख में बताई गई किसी भी नुस्खे के उपयोग से पहले एक बार पैच टेस्ट जरूर करें।
  • स्ट्रेच मार्क्स वाले हिस्से पर किसी भी सामग्री का उपयोग करते समय जोर से न रगड़ें।
  • वहीं, लेख में बताए गए उपायों के बाद मॉइस्चराइजर लगाना न भूलें।

इसमें कोई दोराय नहीं कि त्वचा के लिए एलोवेरा जेल का इस्तेमाल बेहद लाभकारी साबित हो सकता है। ऐसे में, इस लेख में हमने स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए एलोवेरा के इस्तेमाल के बारे में विस्तृत जानकारी दी है। साथ ही यहां हमने इसके उपयोग से जुड़े कुछ टिप्स और सावधानियों के बारे में भी बताया है। वहीं, गर्भावस्था के दौरान इन उपायों को अपनाने से पहले एक बार डॉक्टरी सलाह जरूर लें। उम्मीद है यह लेख आपके लिए उपयोगी रहा होगा। अब लेख में आगे हम अपने पाठकों द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब दे रहे हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सावल

एलोवेरा जेल स्ट्रेच मार्क्स को कम करने में कितना समय लेता है?

एलोवेरा जेल स्ट्रेच मार्क्स को कम करने में कितना समय ले सकता है, फिलहाल इस बारे में बता पाना थोड़ा मुश्किल है। हालांकि, इसके इस्तेमाल के समय संयम बरतने की आवश्यकता है, क्योंकि इसका असर धीरे-धीरे ही होता है।

क्या एलोवेरा गर्भावस्था के खिंचाव के निशान को कम करने के लिए उपयोगी हो सकता है?

हां, एलोवेरा का उपयोग गर्भावस्था के स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए अच्छा माना जा सकता है (18)। हालांकि, यह पूरी तरीके से स्ट्रेच मार्क्स को खत्म नहीं कर सकता है, लेकिन उसके दाग को हल्का कर सकता है। वहीं, गर्भावस्था के दौरान इसके उपयोग से पहले एक बार डॉक्टरी सलाह भी जरूर लें।

क्या नारियल तेल और एलोवेरा से स्ट्रेच मार्क्स दूर हो सकते हैं?

नारियल तेल और एलोवेरा से स्ट्रेच मार्क्स को दूर नहीं, बल्कि कम किया जा सकता है। दरअसल, नारियल तेल का इस्तेमाल स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए किया जाता रहा है (8)। वहीं, एलोवेरा को भी स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए प्रभावी माना गया है (2)

क्या कॉफी के इस्तेमाल से स्ट्रेच मार्क्स को कम किया जा सकता है?

स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए कॉफी का इस्तेमाल से संबंधित फिलहाल कोई शोध मौजूद नहीं हैं। हालांकि, कॉफी में एंटी इन्फ्लेमेट्री गुण मौजूद होते हैं, जो सूजन को कम करने में मददगार साबित हो सकते हैं (25)। ऐसे में माना जा सकता है कि कॉफी के इस्तेमाल से स्ट्रेच मार्क्स से जुड़े सूजन को कुछ हद तक कम करने में मदद मिल सकती है।

क्या दही स्ट्रेच मार्क्स को कम कर सकता है?

स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए दही कितना प्रभावी हो सकता है, फिलहाल इस बारे में अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है। हालांकि, स्ट्रेच मार्क्स के लिए दही का उपयोग किया जा सकता है, क्योंकि इसमें त्वचा की नमी को बढ़ाने के साथ-साथ स्किन इलास्टिसिटी को बढ़ाने का गुण होता है (26)

क्या ग्लिसरीन खिंचाव के निशान को कम करने में उपयोगी हो सकता है?

हां, खिंचाव के निशान को कम करने के लिए ग्लिसरीन उपयोग हो सकता है। दरअसल, ग्लिसरिन को एक बेहतरीन मॉइस्चराइजिंग एजेंट माना जाता है (27)। वहीं, स्ट्रेच मार्क्स के उपचार में भी त्वचा की नमी में सुधार किया जाता है (6)। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि ग्लिसरीन खिंचाव के निशान को कम करने में उपयोगी साबित हो सकता है।

संदर्भ (Sources) :

  1. Stretch marks
    https://medlineplus.gov/ency/article/003287.htm
  2. Plants used to treat skin diseases
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3931201/
  3. The effect of Aloe vera gel and sweet almond oil on striae gravidarum in nulliparous women
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/28521546/
  4. ALOE VERA: A SHORT REVIEW
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2763764/
  5. Topical management of striae distensae (stretch marks): prevention and therapy of striae rubrae and albae
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5057295/
  6. Stretch Marks
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK436005/
  7. Striae Distensae Treatment Review and Update
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6615396/
  8. The use of anti stretch marks’ products by women in pregnancy: a descriptive, cross-sectional survey
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5031338/
  9. Use of a specific anti-stretch mark cream for preventing or reducing the severity of striae gravidarum. Randomized, double-blind, controlled trial
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23237514/
  10. Jojoba oil: Anew media for frying process
    https://juniperpublishers.com/ctbeb/pdf/CTBEB.MS.ID.555952.pdf
  11. [Vitamin C]
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/17173758/
  12. Preliminary study on the development of an anti stretch marks water-in-oil cream: ultrasound assessment, texture analysis, and sensory analysis
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5019162/
  13. Castor Oil Plant (Ricinus communis L.): Botany, Ecology and Uses
    https://www.ijsr.net/archive/v3i5/MDIwMTMyMDY1.pdf
  14. Biomaterials Based on Essential Fatty Acids and Carbohydrates for Chronic Wounds
    https://japsonline.com/admin/php/uploads/1673_pdf.pdf
  15. Striae Distensae (Stretch Marks) and Different Modalities of Therapy: An Update
    https://onlinelibrary.wiley.com/doi/pdf/10.1111/j.1524-4725.2009.01094.x
  16. Topical use of olive oil preparation to prevent radiodermatitis: results of a prospective study in nasopharyngeal carcinoma patients
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4565279/
  17. Formulation and Evaluation of Poly Herbal Anti Bacterial Soap
    https://ijesc.org/upload/8a79cb3e679ac2b0b4ce674d52bec45d.Formulation%20and%20Evaluation%20of%20Poly%20Herbal%20Anti%20Bacterial%20Soap.pdf
  18. The Effects of Topically-Applied Skin Moisturizer on Striae Gravidarum in East Indian Women
    https://www.longdom.org/open-access/the-effects-of-topicallyapplied-skin-moisturizer-on-striae-gravidarum-in-eastindian-women-2155-9554-10000303.pdf
  19. Striae Distensae (Stretch Marks) and Different Modalities of Therapy: An Update
    https://onlinelibrary.wiley.com/doi/10.1111/j.1524-4725.2009.01094.x
  20. The effect of a topically-applied cosmetic oil formulation on striae distensae
    https://www.researchgate.net/publication/277873117_The_effect_of_a_topically-applied_cosmetic_oil_formulation_on_striae_distensae
  21. The effect of bitter almond oil and massaging on striae gravidarum in primiparous women
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22594386/
  22. Assessment of oil in water emulsion based on rose oil
    https://www.researchgate.net/publication/325193752_Assessment_of_oil_in_water_emulsion_based_on_rose_oil
  23. Formulation and evaluation of herbal face mist
    http://www.jipbs.com/VolumeArticles/FullTextPDF/471_JIPBSV7I102.pdf
  24. Rose Water
    https://www.sciencedirect.com/topics/medicine-and-dentistry/rose-water
  25. Coffee and Skin: What do We Know About it?
    https://www.researchgate.net/publication/332525272_Coffee_and_Skin_What_do_We_Know_About_it
  26. Clinical efficacy of facial masks containing yoghurt and Opuntia humifusa Raf. (F-YOP)
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22152494/
  27. The 24-hour skin hydration and barrier function effects of a hyaluronic 1%, glycerin 5%, and Centella asiatica stem cells extract moisturizing fluid: an intra-subject, randomized, assessor-blinded study
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5560567/
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख