आंखों में सूखापन के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज – Home remedies for Dry Eyes in hindi

Written by , (शिक्षा- बैचलर ऑफ जर्नलिज्म एंड मीडिया कम्युनिकेशन)

आंसू हमारी आंखों के लिए जरूरी माने जाते हैं। यह आंखों को नम करने के साथ-साथ उसमें जमी हुई गंदगी को बाहर निकालने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। वहीं, जब आंखें आंसुओं की एक स्वस्थ परत बनाए रखने में असमर्थ हो जाती हैं, तो आंखों में सूखापन महसूस होने लगता है (1)। यह समस्या कई लोगों के साथ होती है। यही वजह है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आंखों में सूखापन के कारण, लक्षण और इलाज के बारे में जानकारी लेकर आए हैं। इसके अलावा, यहां हम आंखों में सूखापन से बचने के उपाय भी बताएंगे।

विस्तार से पढ़ें

आइए, लेख में सबसे पहले जानते हैं आंखों में सूखापन के कारण क्या हो सकते हैं।

आंखों में सूखापन होने का कारण – Causes of Dry Eyes in Hindi

बढ़ती उम्र के साथ-साथ आंखों में सूखापन की समस्या सामान्य मानी गई है। अगर इसके कारणों की बात करें, तो यह मुख्य रूप से हार्मोनल बदलाव की वजह हो सकता है, जिससे आंखों में कम आंसू आते हैं। इसके पीछे कुछ और भी कारण हैं, जिसकी चर्चा हम नीचे कर रहे हैं (1):

  • सूखा वातावरण या कार्यस्थल (हवा, एयर कंडीशनिंग)।
  • सूरज के अधिक संपर्क में आना।
  • धूम्रपान करना।
  • सर्दी या एलर्जी की दवाएं।
  • कॉन्टैक्ट लेंस पहनना।

इसके अलावा, कुछ अन्य कारणों से भी आंखों में सूखेपन की समस्या हो सकती है (1):

  • गर्मी या किसी केमिकल की वजह से जलन महसूस होना।
  • आंख की सर्जरी, जो पहले कभी हुई हो।
  • आंखों से संबंधित किसी रोगों के लिए आई ड्रॉप का उपयोग।
  • ऑटोइम्यून विकार, जिसमें आंसू पैदा करने वाली ग्रंथियां नष्ट हो जाती हैं।

स्क्रॉल करें

अब जरा आंखों में सूखापन के लक्षण जान लीजिए।

आंखों में सूखापन के लक्षण – Symptoms of Dry Eyes in Hindi

ड्राई आई एक सूजन संबंधी समस्या है (2)। इस समस्या से पीड़ित लोगों में निम्नलिखित लक्षण देखे जा सकते हैं,जो कुछ इस प्रकार है (1) (3):

आगे है कुछ खास

लेख के इस भाग में हम आंखों में सूखापन कम करने के लिए घरेलू उपाय बता रहे हैं।

आंखों में सूखापन कम करने के लिए घरेलू उपाय – Home Remedies To Cure Dry Eyes in Hindi

यहां हम आंखों के सूखापन की समस्या को कुछ हद तक कम करने के लिए कुछ घरेलू उपाय बता रहे हैं। ध्यान रहे कि यहां बताए गए घरेलू नुस्खे किसी भी तरह से आंखों में सूखापन का संपूर्ण इलाज नहीं है। यह केवल उसके लक्षणों को कुछ हद तक कम कर सकते हैं। चलिए, अब क्रमवार तरीके से आंखों में सूखापन कम करने के लिए घरेलू उपाय जानते हैं :

1. अरंडी का तेल

सामग्री :

  • अरंडी के तेल की कुछ बूंदें
  • रुई

उपयोग करने का तरीका :

  • अरंडी के तेल को रुई की मदद से आंखों के आस-पास लगाएं।
  • समस्या के दिनों में प्रतिदिन दो बार ऐसा कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

आंखों के लिए अरंडी का तेल बेहद लाभकारी माना जाता है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के मुताबिक, अरंडी के तेल का उपयोग ड्राई आई की समस्या के लिए किया जा सकता है। बताया जाता है कि कैस्टर ऑयल आंखों में आंसू की कमी को पूरा करने में मदद कर सकते हैं। साथ ही यह टियर फिल्म लिपिड परत की मोटाई को भी बढ़ा सकता है। इससे आंखों के सूखने के समस्या काफी हद तक कम हो सकती है (4)।

2. नारियल का तेल

सामग्री :

  • नारियल तेल की कुछ बूंदें
  • रुई

उपयोग करने का तरीका :

  • नारियल तेल को रुई की मदद से आंखों के आस-पास लगाएं।
  • ड्राई की समस्या से राहत पाने के लिए दिन में दो बार इसका उपयोग कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

त्वचा के लिए नारियल तेल के फायदे तो है ही, इसके अलावा सूखी आंख की समस्या से राहत पाने के लिए भी इसका इस्तेमाल करना लाभकारी साबित हो सकता है। इस बात की जानकारी एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध से मिलती है। इस शोध के मुताबिक,नारियल का तेल वाष्पीकरण के खिलाफ टियर फिल्म की परतों पर एक सुरक्षात्मक परत के रूप में कार्य कर सकता है।

इसके अलावा, इसमें एंटी इंफ्लामेटरी गुण भी होते हैं, जो आंखों में सूखेपन की समस्या वाले लोगों के लिए उपयोगी साबित हो सकते हैं। फिलहाल, इस विषय में नारियल तेल के इस्तेमाल को लेकर अभी और शोध किए जा रहे हैं (5)।

3. खीरा

सामग्री :

  • खीरे के दो टुकड़े (गोल कटे हुए)

उपयोग करने का तरीका :

  • खीरे को टुकड़ों को पहले फ्रिज में रखकर ठंडा कर लें।
  • इसके बाद बंद आंखों पर उन टुकड़ों को रखें।
  • इस प्रक्रिया को रोजाना अपनाया जा सकता है।

कैसे है लाभदायक :

आंखों के सूखापन को दूर करने के लिए खीरे का उपयोग करना फायदेमंद हो सकता है। इस पर हुए एक शोध से जानकारी मिलती है कि खीरे के दो स्लाइस को 10 मिनट तक आंखों पर रखने से सूजन में काफी कमी आ सकती है (6)। जैसा कि हमने लेख में बताया कि ड्राई आई एक सूजन संबंधी समस्या है (2)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि खीरे में मौजूद सूजन को कम करने की क्षमता आंखों के सूखापन का इलाज करने में लाभकारी साबित हो सकती है।

4. कैमोमाइल चाय

सामग्री :

  • 3 से 4 कैमोमाइल फूल
  • 1 कप पानी
  • रुई

उपयोग करने का तरीका :

  • एक पैन में पानी और कैमोमाइल फूल डालकर 10 मिनट के लिए उबालें।
  • फिर इसे एक कप में छान कर उसे ठंडा होने के लिए फ्रिज में रख दें।
  • इसके बाद रुई को ठंडी चाय में डुबोकर उसे हल्का निचोड़ कर अपनी बंद आंखों पर रखें और 10 से 15 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
  • इसका इस्तेमाल दिन में एक बार किया जा सकता है।

कैसे है लाभदायक :

जैसा कि हमने लेख में बताया है कि आंखों में सूखापन का इलाज करने के लिए एंटी इंफ्लेमेटरी ड्रग्स के इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है (2)। ऐसे में कैमोमाइल चाय का उपयोग करना भी लाभकारी साबित हो सकता है।

एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित शोध के मुताबिक, कैमोमाइल के फूलों में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं, जिस वजह से इसका उपयोग आंखों की सूजन के लिए किया जा सकता है (7)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि आंखों में सूखेपन की समस्या से राहत पाने के लिए कैमोमाइल चाय का इस्तेमाल करना लाभकारी साबित हो सकता है।

5. सौंफ के बीज की चाय

सामग्री :

  • 1 चम्मच सौंफ के बीज
  • 1 कप उबलता पानी

उपयोग करने का तरीका :

  • एक कप उबलते पानी में एक चम्मच सौंफ के बीज 10 से 15 मिनट के लिए भिगो दें।
  • इसे थोड़ा ठंडा होने दें।
  • सौंफ की चाय में दो कॉटन पैड डुबोएं और आंखों पर लगाएं।
  • उन्हें कम से कम 10 मिनट के लिए लगा रहने दें।
  • इसका उपयोग रोजाना 2 से 3 बार कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

आंखों में सूखापन का इलाज करने के लिए सौंफ के बीज का भी इस्तेमाल करना लाभकारी साबित हो सकता है। इससे जुड़े एक रिसर्च में साफतौर से इस बात का जिक्र मिलता है कि सौंफ ड्राई आई की समस्या को दूर करने में मदद कर सकता है (8)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि सौंफ के बीज की चाय आंखों के सूखेपन की समस्या को कम करने में लाभकारी साबित हो सकती है।

6. एलोवेरा

सामग्री :

  • एलोवेरा जेल

उपयोग करने का तरीका :

  • थोड़ा-सा एलोवेरा जेल उंगलियों पर लेकर आंखों के ऊपरी भाग पर अच्छे से लगाएं।
  • रोजाना इसे दो बार उपयोग किया जा सकता है।

कैसे है लाभदायक :

एलोवेरा में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो कई तरह की समस्याओं के लिए बेहद कारगर माने जा सकते हैं। एक शोध में बताया गया है कि एलोवेरा के इथेनॉल और एथिल एसीटेट अर्क से बने आई ड्रॉप आंखों की सूजन और आंख के बाहरी हिस्सों जैसे कॉर्निया की अन्य बीमारियों के इलाज में लाभकारी साबित हो सकते हैं। ऐसे में ये कहा जा सकता है कि आंखों के सूखापन की समस्या में एलोवेरा का इस्तेमाल करना फायदेमंद साबित हो सकता है (9)।

7. कैमोमाइल एसेंशियल ऑयल

सामग्री :

  • कैमोमाइल एसेंशियल ऑयल की 3 से 4 बूंदें
  • एक कप गर्म पानी
  • एक साफ वॉशक्लॉथ

उपयोग करने का तरीका :

  • एक कप पानी में कैमोमाइल एसेंशियल ऑयल के तेल की कुछ बूंदें मिलाएं।
  • इस घोल में एक साफ वॉशक्लॉथ को डुबोएं।
  • फिर उसे निचोड़ कर आंखों के ऊपर रख लें।
  • इसे आंखों पर 5 से 10 मिनट कर लगा रहे दें।
  • इसका उपयोग रोजाना एक से दो बार कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

कैमोमाइल एसेंशियल ऑयल के गुण कैमोमाइल चाय के समान ही हैं। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाया जाता है। इसका उपयोग आंखों के इंफेक्शन और आंखों की सूजन को कुछ हद तक कम करने में राहत प्रदान कर सकता है (7)। वहीं, लेख में हम यह बता ही चुके हैं कि ड्राई आई एक सूजन संबंधी समस्या है (2)। ऐसे में कहा जा सकता है कि कैमोमाइल एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल आंखों के लिए लाभकारी हो सकता है।

8. जैतून का तेल

सामग्री :

  • जैतून के तेल की कुछ बूंदें

उपयोग करने का तरीका :

  • जैतून के तेल की कुछ बूंदें अपनी उंगलियों पर लेकर बंद पलकों पर धीरे से मालिश करें और उन्हें अपने हाथों से कुछ मिनट के लिए ढकें।
  • इस प्रक्रिया को दिन में दो बार किया जा सकता है।

कैसे है लाभदायक :

आंखों के सूखेपन के लिए ऑलिव ऑयल का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। दरअसल, जैतून के तेल की गिनती एक बेहतरीन मॉइस्चराइजर के रूप में की जाती है (10)। यह आंखों की नमी को बरकरार रखकर रूखेपन की समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकता है। आंखों में सूखापन का इलाज करने के लिए जैतून का तेल किस प्रकार कारगर है, इस पर और शोध किया जा सकता है।

9. अलसी का तेल

सामग्री :

  • अलसी के तेल की कुछ बूंदें

उपयोग करने का तरीका :

  • अलसी के तेल को उंगलियों की मदद से आंखों के आस-पास के हिस्से पर लगाएं।
  • हफ्ते में 4 से 5 बार इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

कैसे है लाभदायक :

आंखों में सूखेपन से राहत पाने के लिए अलसी के तेल का भी उपयोग किया जा सकता है। इससे संबंधित एक रिसर्च से जानकारी मिलती है कि अलसी का तेल ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर होता है। इसका उपयोग ड्राई आई के उपचार में मददगार साबित हो सकता है। इसके अलावा, इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी गुण भी मौजूद होते हैं, जो सूजन से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं (11 )। वहीं, लेख में हम यह बता ही चुके हैं कि आंखों के सूखेपन से राहत पाने के लिए सूजन से राहत दिलाने वाले एजेंटों के इस्तेमाल की सलाह दी जाती है (2)।

10. ग्रीन टी

सामग्री :

  • 2 ग्रीन टी बैग्स
  • 1 कप गर्म पानी
  • कॉटन बॉल

उपयोग करने का तरीका :

  • सबसे पहले ग्रीन टी बैग्स को गर्म पानी में डालकर 10 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • फिर उस पानी से टी बैग्स को बाहर निकालें और पानी को ठंडा होने के लिए छोड़ दें।
  • अब उस पानी में दो कॉटन बॉल डुबोएं और उन्हें हल्का निचोड़ कर अपनी बंद पलकों पर रखें।
  • 10 मिनट के बाद कॉटन पैड को हटा लें।
  • इसका उपयोग रोजाना कई बार कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

आंखों में सूखापन का इलाज ग्रीन टी के अर्क से भी किया जा सकता है। दरअसल, सूखी आंख के इलाज में कई प्रकार के एंटी इंफ्लेमेटरी एजेंटों का उपयोग किया जाता है। ऐसे में ड्राई आई के लिए ग्रीन टी का इस्तेमाल करना भी लाभकारी साबित हो सकता है। बता दें कि ग्रीन टी में एपिग्लो कैटेचिन गैलेट (Epigallocatechin Gallate) नामक एक कंपाउंड मौजूद होता है, जो आंखों की सतह के सूजन को कम करने में कारगर साबित हो सकता है (12)।

11. शहद

सामग्री :

  • 1 चम्मच शहद
  • आधा कप पानी

उपयोग करने का तरीका :

  • सबसे पहले पानी को उबाल लें और फिर उसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें।
  • इसके बाद उसमें शहद मिलाएं।
  • अब इस घोल को अपनी उंगलियों में लेकर आंखों के आस-पास लगाएं।
  • ड्राई आई से छुटकारा पाने के लिए दिन में 2 से 3 तीन बार इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

कैसे है लाभदायक :

शहद त्वचा के लिए जितना लाभकारी है, उतना ही आंखों के लिए भी फायदेमंद माना जाता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध से जानकारी मिलती है कि शहद युक्त आई ड्रॉप का इस्तेमाल कॉन्टैक्ट लेंस पहनने के कारण होने वाले आंखों में सूखेपन से राहत दिला सकता है (13)। इसके अलावा, एक अन्य शोध में भी ड्राई आई समेत आंखों की अन्य समस्याओं के लिए शहद के इस्तेमाल को लाभकारी माना गया है। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि आंखों में सूखेपन को दूर करने के लिए शहद का उपयोग करना फायदेमंद हो सकता है (14)।

12. हॉट कम्प्रेस

सामग्री :

  • एक बाउल गुनगुना पानी
  • एक साफ कपड़ा

उपयोग करने का तरीका :

  • गुनगुने पानी में कपड़े को डूबाकर आंखों की सिकाई करें।
  • चाहें तो हीट पैक का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • दिन में कम से कम दो बार इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

आंखों में सूखापन कम करने के लिए घरेलू उपायों में गर्म सिकाई भी शामिल है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित शोध के मुताबिक, नियमित रूप से वॉर्म कम्प्रेस का इस्तेमाल आंखों में सूखापन से राहत दिलाने में मदद कर सकता है (15)। इसके अलावा, एक अन्य शोध में बताया गया है कि बंद आंखों पर गर्म सिकाई करने से आंसुओं की परत मोटी हो सकती है (16)। इस आधार पर हॉट कॉम्प्रेस को सूखी आंखों के लिए लाभकारी माना जा सकता है।

बने रहें हमारे साथ

आइए, अब उन टिप्स के बारे में जान लेते हैं, जो इस समस्या से बचाने में मदद करेंगे।

आंखों में सूखापन से बचने के उपाय – Prevention Tips for Dry Eyes in Hindi

आंखों के सूखेपन की समस्या को रोकने या कुछ हद तक कम करने के लिए कई तरह के उपाय अपनाए जा सकते हैं। साथ ही यह इसकी गंभीरता के आधार पर भिन्न भी हो सकता है (17) (1)।

  • आंखों में सूखापन की समस्या से बचाने के लिए ज्यादा देर तक कंप्यूटर, लैपटॉप, टीवी या फिर फोन का इस्तेमाल न करें।
  • अगर लगातार कंप्यूटर या लैपटॉप पर काम करना पड़े, तो ऐसे में बीच-बीच में कुछ देर का ब्रेक लेकर आंखों को आराम दें।
  • बार-बार पलकें झपकाकर आंखों की एक्सरसाइज करें।
  • घर के वातावरण को ठंडा और नम रखें।
  • सर्दियों में ह्यूमिडिफायर का प्रयोग करें।
  • पलकों को नियमित रूप से साफ करें और गर्म सेक लगाएं।
  • शुष्क वातावरण और आंखों में जलन पैदा करने वाली चीजों से दूर रहें।
  • स्वस्थ जीवन शैली अपनाएं।
  • धूम्रपान और शराब के सेवन से बचें।

आंखें शरीर के महत्वपूर्ण और नाजुक अंगों में से एक हैं, इसलिए इनका खास ख्याल रखना जरूरी है।
इस लेख में हमने आंखों में सूखापन के कारण, लक्षण और घरेलू उपायों के बारे में विस्तार से बताया है। इसलिए, आप डॉक्टर की सलाह पर इन उपायों की मदद से आंखों में सूखापन के लक्षणों को कम कर सकते हैं। इसके अलावा, ड्राई आई की समस्या से बचने के लिए हमने लेख में कुछ टिप्स भी बताए हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

मैं अपनी आंखों को हाइड्रेट कैसे कर सकता हूं?

आप आंखों को हाइड्रेट करने के लिए खीरा, नारियल तेल व अरंडी का तेल आदि उपयोग कर सकते हैं। हमने लेख में ऊपर आंखों में सूखापन कम करने के लिए घरेलू उपायों के बारे में विस्तार से बताया है।

मैं सूखी आंखों से जल्दी कैसे छुटकारा पा सकता हूं?

सूखी आंखों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए धैर्य बरतने की आवश्यकता है। इसके लिए आप लेख में बताए गए घरेलू उपायों को अपना सकते हैं।

मैं अपनी आंखों को नेचुरल तरीके से कैसे मॉइस्चराइज कर सकता हूं?

आंखों को नेचुरल तरीके से मॉइस्चराइज करने के लिए खीरा, बादाम का तेल, ऑलिव ऑयल व एलोवेरा आदि का उपयोग किया जा सकता है। इन सब में मॉइस्चराइजिंग गुण मौजूद होते हैं (10)।

क्या पानी पीने से सूखी आंखों की समस्या में मदद मिल सकती है?

हां, पानी पीने से सूखी आंखों में मदद मिल सकती है। इससे जुड़े एक शोध से जानकारी मिलती है कि निर्जलीकरण सूखी आंख की समस्या से जुड़ा हो सकता है (18)। ऐसे में माना जा सकता है कि पानी पीने से आंखों में सूखापन होने की समस्या कम हो सकती है।

शुष्क आंखों के लिए सबसे अच्छा फल कौन-सा है?

शुष्क आंखों के लिए गोजी बेरीज को सबसे अच्छा फल माना गया है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित शोध के मुताबिक, गोजी बेरीज आंसू की मात्रा को बढ़ाने के साथ-साथ क्षतिग्रस्त ओकुलर सतह के कोशिकाओं की मरम्मत कर सूखी आंख के लक्षणों को कम कर सकता है (19)।

शुष्क आंखों के लिए सबसे अच्छा विटामिन कौन सा है?

शुष्क आंखों के लिए विटामिन-ए को सबसे अच्छा माना गया है। यह ऑक्यूलर टियर फिल्म के स्वास्थ्य को बनाए रखने साथ-साथ सूखी आंख के लक्षणों को भी कम करने में मदद कर सकता है (20)।

सूखी आंखों के लिए सबसे अच्छी आई ड्रॉप कौन सी हैं?

सूखी आंखों के लिए सबसे अच्छी आई ड्रॉप कौन सी है, इस सवाल का जवाब स्पष्ट तौर पर दे पाना थोड़ा मुश्किल है। ऐसे में बेहतर होगा कि इसके लिए डॉक्टरी सलाह लें।

सूखी आंखों के लिए कौन से खाद्य पदार्थ अच्छे हैं?

सूखी आंख की समस्या वाले लोगों के लिए मेडिटेरेनियन डाइट को अच्छा माना गया है। इसमें फल, सब्जी, फलियां, नट्स, अनाज, मछली और ऑलिव ऑयल का सेवन शामिल है (21)।

क्या सूखी आंख मेरी दृष्टि को प्रभावित कर सकती है?

हां, सूखी आंख दृष्टि को भी प्रभावित कर सकती है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित शोध के मुताबिक, सूखी आंख की समस्या वाले लोगों की दृष्टि कुछ हद तक धुंधली हो सकती है (22)।

संदर्भ (Sources)

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Dry Eye Syndrome
    https://medlineplus.gov/ency/article/000426.htm
  2. The Pathophysiology Diagnosis and Treatment of Dry Eye Disease
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4335585/
  3. Dry Eye Syndrome
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3306104/
  4. Therapeutic potential of castor oil in managing blepharitis meibomian gland dysfunction and dry eye
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/33037703/
  5. A Pilot Study: The Efficacy of Virgin Coconut Oil as Ocular Rewetting Agent on Rabbit Eyes
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4352907/
  6. A REVIEW ON CUCUMBER
    https://ijtrs.com/uploaded_paper/A%20REVIEW%20ON%20CUCUMBER%201.pdf
  7. Chamomile: A herbal medicine of the past with bright future
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2995283/
  8. Saunf: Do we really need fennel seeds after a meal?
    https://www.researchgate.net/publication/335840673_Saunf_Do_we_really_need_fennel_seeds_after_a_meal
  9. Aloe vera extract activity on human corneal cells
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22338121/
  10. Assessment of viscoelasticity and hydration effect of herbal moisturizers using bioengineering techniques
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2992143/
  11. Overview
    http://ijcrr.com/uploads/3161_pdf.pdf
  12. Efficacy of Green Tea Extract for Treatment of Dry Eye and Meibomian Gland Dysfunction; A Double-blind Randomized Controlled Clinical Trial Study
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5376801/
  13. Treatment of contact lens related dry eye with antibacterial honey
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/29032921/
  14. [The potential use of honey in ophthalmology]
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24437960/
  15. Coping with dry eyes: a qualitative approach
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5771005/
  16. Increase in tear film lipid layer thickness following treatment with warm compresses in patients with meibomian gland dysfunction
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/12695712/
  17. Dry Eye Syndrome
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK470411/
  18. Hydration fluid regulation and the eye: in health and disease
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/25950246/
  19. Effects of Lycium barbarum (goji berry) on dry eye disease in rats
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5780158/
  20. Effects of short-term oral vitamin A supplementation on the ocular tear film in patients with dry eye
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6462169/
  21. Effectiveness of Mediterranean Diet Implementation in Dry Eye Parameters: A Study of PREDIMED-PLUS Trial
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7282256/
  22. Dry Eye Disease: Impact on Quality of Life and Vision
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3660735/
Was this article helpful?
thumbsupthumbsup
The following two tabs change content below.
सरल जैन ने श्री रामानन्दाचार्य संस्कृत विश्वविद्यालय, राजस्थान से संस्कृत और जैन दर्शन में बीए और डॉ. सी. वी. रमन... more

ताज़े आलेख