ताड़ के तेल के फायदे और नुकसान – Palm Oil (Taad ka Tel) Benefits and Side Effects in Hindi

by

ताड़ का तेल एक वनस्पति तेल है। इसे ताड़ के पेड़ पर लगने वाले फल से बनाया जाता है। इसका इस्तेमाल कॉस्मेटिक और फूड इंडस्ट्री, दोनों में किया जाता है। इसे तेल को स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना गया है। इस पर किए गए शोध भी बताते हैं कि यह कई तरह की शारीरिक समस्याओं पर सकारात्मक प्रभाव दिखा सकता है। इसलिए, स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम शरीर के लिए ताड़ के तेल के फायदे बता रहे हैं। इसके अलावा, इस लेख में ताड़ के तेल का उपयोग और इससे जुड़े कुछ नुकसानों के बारे में भी बताया गया है। बेशक, ताड़ के तेल के फायदे लेख में बताई गईं बीमारियों के प्रभाव को कम कर सकते हैं, लेकिन यह तेल किसी भी बीमारी का संपूर्ण इलाज नहीं हो सकता। इसलिए, गंभीर रोग से ग्रस्त मरीज को डॉक्टर से इलाज कराना चाहिए।

तो आइए जानते हैं कि ताड़ के तेल के फायदे स्वास्थ्य के लिए किस प्रकार लाभकारी हो सकते हैं।

ताड़ के तेल के फायदे – Benefits of Palm Oil in Hindi

विस्तार से जानते हैं कि ताड़ के तेल के फायदे किस प्रकार शरीर के लिए काम कर सकते हैं।

1. मस्तिष्क को स्वस्थ रखने में ताड़ के तेल के फायदे

ताड़ के तेल में फॉस्फोलिपिड्स (Phospholipids), फॉस्फोटिडाइलचोलिन (phosphatidylcholine), फॉस्फोटाइडलेटेनॉलमाइन (Phosphatidylethanolamine) और लिपोप्रोटीन (Lipoproteins) जैसे तत्व पाए जाते हैं। ये सभी तत्व मस्तिष्क की कार्यप्रणाली को सुचारू रखने में मदद कर सकते हैं (1)। इसलिए, ताड़ के तेल के नियमित सेवन से मस्तिष्क स्वास्थ्य को बढ़ावा मिल सकता है।

2. हृदय के लिए ताड़ के तेल के लाभ

पाम ऑयल का उपयोग हृदय के लिए भी किया जा सकता है। दरअसल, एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में इस बात का जिक्र किया गया है कि ताड़ के तेल में विटामिन-ई, कैरोटीनॉयड और एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होते हैं, जो हृदय को सुरक्षित रखने का काम कर सकते हैं (2), लेकिन इस पर अभी और शोध की आवश्यकता है।

3. कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में ताड़ के तेल की भूमिका

ताड़ के तेल में पाए जाने वाले लिपोप्रोटीन शरीर में खास भूमिका निभा सकते हैं। ये लिपोप्रोटीन शरीर में कोलेस्ट्राल की मात्रा को नियंत्रित कर सकते हैं। नाइजीरिया के निवासियों पर किए गए एक शोध के अनुसार, पाम ऑयल का सेवन करने वाले निवासियों में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अमेरिका के निवासियों के मुकाबले कम पाई गई, जो पाम ऑयल का उपयोग नहीं कर रहे थे (2)

4. कोमल त्वचा पाने में मदद करता है ताड़ का तेल

यह वनस्पति तेल त्वचा के लिए भी लाभकारी है। ताड़ का तेल त्वचा में नमी बनाए रखने में मदद कर सकता है। यह मॉइस्चराइजिंग गुणों से भरपूर होता है (3)। यही कारण है कि स्किन केयर से जुड़े कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स में पाम ऑयल का व्यापक इस्तेमाल होता है। साथ ही ताड़ के तेल में स्क्वालीन (Squalene) नामक कंपाउंड होता है। यह त्वचा को हाइड्रेट रखने में मदद करता है, जिससे त्वचा लंबे समय तक कोमल रह सकती है (4)

तो ये थीं पाम ऑयल के फायदे से जुड़ी जानकारियां। आइए, अब जानते हैं कि इस तेल में कौन-कौन से पौष्टिक तत्व होते हैं।

ताड़ के तेल के पौष्टिक तत्व – Palm Oil (Taad ka Tel) Nutritional Value in Hindi

100 ग्राम ताड़ के तेल में निम्न पोषक तत्व पाए जाते हैं (5):

पोषक  तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
एनर्जी824 kcal
टोटल लिपिड (फैट)100 g
आयरन0. 01mg
कोलीन0.3 mg
विटामिन ई15.94mg
विटामिन के8 µg
फैटी एसिड, सैचुरेटेड49.3 g
फैटी एसिड, मोनोअनसैचुरेटेड37 g
फैटी एसिड, पॉलीअनसैचुरेटेड9. 3 g

आइए, लेख के इस भाग में जानते हैं कि ताड़ के तेल का उपयोग कैसे किया जा सकता है।

ताड़ का तेल का उपयोग – How to Use Palm Oil in Hindi

  • ताड़ के तेल का उपयोग मुख्य रूप से खाद्य और सौंदर्य प्रसाधनों में इस्तेमाल होने वाले उत्पादों में किया जाता है। ।
  • इसका इस्तेमाल भोजन तैयार करने में किया जा सकता है।
  • स्किन के लिए भी पाम ऑयल के फायदे काफी होते हैं। इस तेल को आप मॉइस्चराइजर की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • बालों के लिए भी ताड़ के तेल का उपयोग किया जा सकता है। नहाने से पहले ताड़ के तेल से सिर की मालिश करें और फिर सिर को धो लें।

ताड़ के तेल की मात्रा : ताड़ के तेल का इस्तेमाल संतुलित मात्रा में ही करना सही है। प्रति व्यक्ति को  इसकी औसतन कितनी मात्रा लेनी चाहिए, इस संबंध में अभी तक कोई मेडिकल रिसर्च उपलब्ध नहीं है। इसलिए, आप आहार विशेषज्ञ से इसकी मात्रा के बारे में जरूर पूछें।

लेख के अंत में जानिए ताड़ के तेल से होने वाले नुकसान के बारे में।

ताड़ के तेल के नुकसान – Side Effects of Palm Oil in Hindi

ताड़ के तेल का उपयोग स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है, लेकिन इसका प्रयोग करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। अधिक मात्रा में लेने से पाम ऑयल के नुकसान भी हो सकते हैं, जो इस प्रकार हैं :

  • ताड़ के तेल का अधिक इस्तेमाल दिल से जुड़ी बीमारियों का कारण बन सकता है (6)
  • उच्च रक्त चाप की शिकायत रखने वाले व्यक्तियों को ताड़ के तेल का सेवन नहीं करना चाहिये (7)

हम उम्मीद करते हैं कि इस लेख को पढ़ने के बाद आप शरीर के लिए ताड़ के तेल के फायदे और ताड़ के तेल का उपयोग समझ गए होंगे। साथ ही आप ताड़ के तेल के नुकसान के विषय में जान गए होंगे। यहां एक बार फिर से बता दें कि ताड़ का तेल उपरोक्त बीमारियां का इलाज नहीं है, लेकिन यह इनके लक्षण और प्रभाव को कुछ हद तक कम करने में मदद कर सकता है। इस विषय से जुड़ी अन्य जानकारी या किसी सुझाव के लिए आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स के जरिए हमें संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़े:

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Auli Tyagi

औली त्यागी उभरती लेखिका हैं, जिन्होंने हरिद्वार (उत्तराखंड) से पत्रकारिता और जनसंचार में एम.ए. की डिग्री हासिल की है। औली को लेखन के क्षेत्र में दो साल का अनुभव है। औली प्रतिष्ठित दैनिक अखबार और कम्युनिटी रेडियो स्टेशन से ट्रेनिंग ले चुकी हैं। औली सामाजिक मुद्दों पर लिखना पसंद करती हैं। लेखन के अलावा इन्हें वीडियो एडिटिंग और फोटोग्राफी का तकनीकी ज्ञान भी हैं। इन्हें हिंदी और उर्दू साहित्य में विशेष रुचि है।

ताज़े आलेख

scorecardresearch