टांके के निशान को हटाने के घरेलू उपाय – Home Remedies To Get Rid of Stitches Marks in Hindi

Written by , (शिक्षा- बैचलर ऑफ जर्नलिज्म एंड मीडिया कम्युनिकेशन)

जब किसी को गंभीर चोट लगती है तो उसे इलाज के दौरान टांके लगाए जाते हैं। हालांकि, घाव भरने के बाद ये टांके तो हटा दिए जाते हैं, लेकिन इसके जिद्दी निशान वैसे ही रह जाते हैं। इस वजह से त्वचा की खूबसूरती प्रभावित होने लगती है। ऐसे में जरूरी है कि टांके के निशान को कम किया जाए और इसी के मद्देनजर स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम टांके के निशान हटाने के लिए घरेलू उपाय लेकर आए हैं।

शुरू करते हैं लेख

सबसे पहले समझिए कि टांके के निशान कैसे पड़ते हैं।

टांके के निशान कैसे पड़ते हैं और कैसे नियंत्रित किया जाता है?

जब ऑपरेशन के दौरान चीरा पड़ता है तो उसका निशान त्वचा पर रह जाता है, जिसे टांके का निशान कहा जाता है। इस प्रकार के निशान रेशेदार दिखाई देते हैं (1)। वहीं, अगर बात की जाए इसके नियंत्रण कि तो एक शोध में इस बात का जिक्र मिलता है कि त्वचा की नमी को बढ़ाकर इस तरह के निशान को कुछ हद तक हल्का किया जा सकता है (2)।

इसके अलावा, एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध की मानें तो कुछ डॉक्टर टांके के लिए एंटी बैक्टीरियल गुणों से भरपूर क्रीम और त्वचा की नमी को बरकरार रखने वाली क्रीम लगाने की सलाह देते हैं। हालांकि, इस विषय पर अधिक स्पष्टता के लिए अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है (3)।

स्क्रॉल करें

लेख की शुरुआत करते हैं टांके के निशान हटाने के लिए घरेलू उपाय के साथ।

टांके के निशान हटाने के लिए घरेलू उपाय – Tanke Ke Nishan Hatane ke Gharelu Upay in Hindi

यहां हम टांके के निशान हटाने के लिए कुछ घरेलू उपाय बता रहे हैं। साथ हम स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि यहां बताए गए घरेलू नुस्खों की मदद से कभी भी टांके के निशान को जड़ से खत्म नहीं किया जा सकता है। यह केवल उन निशानों को हल्का करने में मदद कर सकते हैं। चलिए अब जानते हैं, टांके के निशान हटाने के लिए घरेलू उपाय:

1. एलोवेरा

सामग्री:

  • एक चम्मच एलोवेरा जेल

कैसे करें उपयोग:

  • सबसे पहले प्रभावित क्षेत्र को पानी से साफ कर लें।
  • इसके बाद प्रभावित क्षेत्र पर एलोवेरा जेल लगाएं।
  • निशान के हल्के होने तक इसका इस्तेमाल रोजाना किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद:

जैसा कि हमने लेख में बताया कि त्वचा नमी बढ़ा कर स्कार यानी निशान को कम किया जा सकता है (2)। ऐसे में टांके के निशान को कम करने के लिए एलोवेरा का उपयोग फायदेमंद हो सकता है। दरअसल, एलोवेरा एक बेहतरीन मॉइस्चराइजर के रूप में जाना जाता है, जो त्वचा की नमी को बरकरार रखने में कारगर साबित हो सकता है (4)। इस आधार पर टांके के निशान को कम करने के लिए एलोवेरा का उपयोग लाभकारी साबित हो सकता है।

2. नींबू का रस

सामग्री:

  • एक या दो चम्मच नींबू का रस
  • कॉटन

कैसे करें उपयोग:

  • नींबू के रस में कॉटन के पैड को डुबोएं।
  • इस पैड को कुछ देर के लिए प्रभावित स्थान पर लगाएं।
  • इसके बाद स्थान को साफ कर लें और फिर मॉइश्चराइजर लगा लें।
  • इसे रोजाना दो या तीन बार तक उपयोग कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

टांकों के निशान को कम करने के लिए नींबू का उपयोग किया जा सकता है। दरअसल, नींबू में विटामिन सी की अच्छी मात्रा पाई जाती है (5)। वहीं, एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध से जानकारी मिलती है कि विटामिन-सी स्कार यानी टांके के निशान को हल्का कर सकता है (6)। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि नींबू के रस का इस्तेमाल टांकों के निशान को कम करने में मददगार हो सकता है।

3. प्याज का रस

सामग्री:

  • दो चम्मच प्याज का रस
  • एक विटामिन ई कैप्सूल
  • काॅटन

कैसे करें उपयोग:

  • विटामिन ई कैप्सूल के तरल पदार्थ को प्याज के रस में मिला लें।
  • अब इसमें कॉटन डुबोकर उसे टांके के निशान पर लगाएं।
  • फिर 15 मिनट तक कॉटन वैसे ही लगा रहने दें।
  • इसके बाद गीले कपड़े से उस स्थान को साफ कर लें और मॉइश्चराइजर लगा लें।
  • हफ्ते में रोजाना इसका इस्तेमाल एक बार किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद:

टांकों के निशान के लिए यदि बात करें प्याज के रस की तो यह भी कुछ हद तक प्रभावी हो सकता है। एक रिसर्च के अनुसार प्याज के अर्क का उपयोग उन महिलाओं पर किया जिनका पूर्व में सी-सेक्शन किया गया है। रिसर्च में पाया गया कि प्याज के रस को लगातार 4 हफ्ते तक उपयोग करने पर सी-सेक्शन के निशान और त्वचा के लचीलेपन में सुधार हुआ (7)।

इसके अलावा, एक अन्य रिसर्च में इस बात की पुष्टि हुई है कि विटामिन-ई स्किन को मॉइस्चराइजर करने का काम कर सकता है (8)। वहीं, लेख में हम यह बता ही चुके हैं कि त्वचा की नमी को बढ़ाकर इस तरह के निशान को कुछ हद तक हल्का किया जा सकता है (2)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि प्याज के रस के साथ विटामिन-ई के इस्तेमाल से टांके के निशान को कुछ हद तक कम किया जा सकता है।

4. टी ट्री ऑयल

सामग्री:

  • चार या पांच चम्मच टी ट्री ऑयल
  • एक चम्मच नारियल का तेल

कैसे करें उपयोग:

  • सबसे पहले दोनों तेलों को आपस में अच्छी तरह मिला लें।
  • इसके बाद इस मिश्रण से टांकों के निशान पर हल्के हाथों से मसाज करें।
  • इसे दिन में दो बार तक किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद:

ऐसा माना जाता है कि एंटी बैक्टीरियल गुण से भरपूर और त्वचा की नमी को बरकरार रखने वाली क्रीम टांके के निशान को कुछ हद तक कम कर सकते हैं (3)। वहीं, टी ट्री ऑयल में एंटी बैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं (9)। इसके अलावा नारियल का तेल अपने मॉइस्चराइजिंग गुण के लिए जाना जाता है, जो त्वचा की नमी को बरकरार रख सकता है। इस आधार पर देखा जाए तो टी ट्री ऑयल का उपयोग त्वचा पर होने वाले टांकों के निशान में भी फायदेमंद हो सकता है। हालांकि, इस विषय में अभी शोध किए जाने की आवश्यकता है।

5. आंवला

सामग्री:

  • एक चम्मच आंवला का पाउडर
  • एक चम्मच जोजोबा ऑयल

कैसे करें उपयोग:

  • आंवला पाउडर और जोजोबा ऑयल को मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को कुछ देर के लिए टांकों वाले स्थान पर लगा लें।
  • सूख जाने के बाद इसे पानी से साफ कर लें।
  • ऐसा रोजाना तीन बार तक कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

टांकों के निशान को कम करने के लिए आंवले का इस्तेमाल भी किया जा सकता है। दरअसल, नींबू की तरह आंवला भी विटामिन-सी से समृद्ध होता है (10)। वहीं, टांके के निशान को हल्का करने में विटामिन-सी लाभकारी साबित हो सकता है (6)। वहीं, अगर बात करें जोजोबा ऑयल की तो बता दें कि इस तेल को एक बेहतरीन मॉइस्चराइजर माना जाता है। इसके अलावा, यह स्कार को हल्का करने में भी मदद कर सकता है (11)।

वहीं, एक शोध में जिक्र मिलता है कि मॉइस्चराइजर त्वचा की नमी को बढ़ाकर स्कार को हल्का करने में कारगर हो सकता है (2)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि आंवला और जोजोबा ऑयल का इस्तेमाल कर टांके के निशान को कम किया जा सकता है।

6. आलू

सामग्री:

  • एक कटोरी आलू का रस
  • आधा कटोरी कद्दूकस आलू

कैसे करें उपयोग:

  • आलू के रस और कद्दूकस आलू को अच्छी तरह मिलाकर एक लेप तैयार कर लें।
  • इस लेप को टांके के निशान वाली जगह पर अच्छी तरह से लगा लें।
  • 15 मिनट बाद इससे साफ कर लें।
  • इसका उपयोग दिन में एक बार किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद:

टांके के निशान से निजात पाने के लिए आलू का उपयोग भी किया जा सकता है। दरअसल, निशान भरने के लिए आलू को लाभकारी माना गया है (12)। इसके अलावा, आलू में विटामिन सी की भरपूर मात्रा मौजूद होता है। साथ ही यह त्वचा की नमी को भी बनाए रखने में मदद कर सकता है (13)।

वहीं, जैसा कि हमने लेख में बताया कि विटामिन-सी टांके के निशान को हल्का करने में प्रभावी साबित हो सकता है (6)। इसके अलावा, मॉइस्चराइजर त्वचा की नमी को बढ़ाकर निशान को हल्का करने में मदद कर सकता है (2)। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि टांकों के निशान कम करने के लिए आलू का इस्तेमाल करना लाभकारी साबित हो सकता है।

7. शहद

सामग्री:

  • एक चम्मच शहद
  • आधा चम्मच बेकिंग सोडा

कैसे करें उपयोग:

  • शहद और बेकिंग सोडा को अच्छी तरह से मिला लें।
  • अब इस मिश्रण को प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं।
  • सूख जाने पर गुनगुने पानी से धो लें।
  • इसके बाद इस पर मॉइश्चराइजर लगा लें।
  • रोजाना एक बार इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

शहद का उपयोग सेहत के साथ ही टांकों के निशान को कम करने में भी किया जा सकता है। इस पर हुए एक शोध में साफतौर से इस बात का जिक्र मिलता है कि शहद में हीलिंग गुण मौजूद होते हैं, जो निशानों को तेजी से भरने में मदद कर सकते हैं (14)। इसके अलावा, शहद प्राकृतिक मॉइस्चराइजर की तरह भी काम कर सकता है (15)।

वहीं, निशानों को कम करने पर हुए एक शोध में जिक्र मिलता है कि मॉइस्चराइजर त्वचा की नमी को बढ़ा कर उसे कम करने में मदद कर सकता है (2)। इस आधार पर शहद का भी इस्तेमाल भी टांकों के निशान को कम करने के लिए किया जा सकता है।

8. बादाम का तेल

सामग्री:

  • एक चम्मच बादाम का तेल

कैसे करें उपयोग:

  • बादाम के तेल को टांकों के निशान पर लगाएं।
  • फिर 20 मिनट के लिए उसे ऐसे ही छोड़ दें।
  • इसके बाद गुनगुने पानी से इसे धो लें।
  • इस क्रिया को दिन में दो बाद किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद:

त्वचा के लिए बादाम तेल के फायदे तो है ही। इसके अलावा, यह टांके के निशान को भी कम करने में मदद कर सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध से जिक्र मिलता है कि बादाम का तेल ऑपरेशन के बाद के निशानों को कम कर सकता है। साथ ही यह त्वचा को मुलायम और जवां बनाए रख सकता है। यही नहीं, बादाम का त्वचा की रंगत और टोन में भी सुधार कर सकता है (16)।

पढ़ते रहें

लेख में आगे हम बता रहे हैं कि टांके के निशान से किस प्रकार बचा जा सकता है।

टांके के निशान से बचाव – Prevention Tips for Stitches Marks in Hindi

टांके के निशान से बचना थोड़ा हो सकता है। दरअसल, जब भी कोई ऑपरेशन होता है तो उसके टांकों के निशान पड़ते ही हैं। हालांकि इसे अधिक गहरा होने से भले भी बचाया जा सकता है। यहां कुछ ऐसे ही टिप्स बता रहे हैं, जिनको ध्यान में रखकर टांकों और उसके निशान दोनों से बचा जा सकता है:

  • कभी भी कोई ऐसा काम न करें जिससे गंभीर चोट लगने की संभावना हो।
  • अगर टांके लगे हो तो भी कोई ऐसा काम न करे जिससे उस पर जोर पड़े।
  • जब तक टांके लगे हो तो उसमें कुछ भी न लगाएं। हां अगर डॉक्टर ने कोई क्रीम दिया है तो केवल उसका ही इस्तेमाल करें।
  • स्टिच कटने के बाद टांके वाली जगह को मॉइस्चराइज करते रहें।
  • अगर धूप में निकल रहे हैं तो सनस्क्रीन जरूर लगाएं।

किसी भी गंभीर चोट को भरने के लिए डॉक्टर टांके लगाते ही हैं, जो समय के साथ अपने निशान छोड़ जाते हैं। यहां हमने आपको टांके के निशान हटाने के उपाय के बारे में विस्तार से बताया है। इसके अलावा चाहें तो डॉक्टर की सलाह पर टांके के निशान हटाने की क्रीम का उपयोग भी कर सकते हैं। अंत में हम उम्मीद करते हैं कि हमारा यह लेख आपके लिए मददगार साबित होगा। त्वचा के दाग-धब्बों को हटाने से जुड़े ऐसे ही नुस्खे जानने के लिए पढ़ते रहें स्टाइलक्रेज।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या टांके के निशान दूर हो जाते हैं?

नहीं, टांके के निशान पूरी तरह से दूर नहीं हो सकते हैं। हां, टांके के निशान हटाने के उपाय को अपनाकर इन निशानों को कुछ हद तक हल्का जरूर किया जा सकता है।

टांके के निशान हटाने के लिए कौन सी क्रीम बेहतर होती है?

टांके के निशान हटाने के लिए बाजार में कई सारी क्रीम मौजूद हैं। उनमें से आपके लिए कौन-सी बेहतर होगी यह डॉक्टर ही बता सकते हैं। हां, लोकप्रियता के आधार पर बात करें, तो मेडरमा और लांबेना स्कार रिमूवल क्रीम को अच्छा बताया जाता है।

टांके के निशान कितने समय में हल्के हो सकते हैं?

टांके के निशान कितने समय में हल्के हो सकते हैं, यह टांकों और घाव की स्थिति पर निर्भर करता है कि वह कितना गहरा है और उस पर कितने टांके लगाए गए हैं। वहीं, कुछ टांकों के निशान स्थाई भी होते हैं। ऐसे में सटीक जानकारी दे पाना थोड़ा मुश्किल है।

क्या मेडरमा क्रीम टांके के निशान हटा सकती है?

हां, इसे बनाने वाली कंपनी का दावा है कि मेडरमा क्रीम से टांकों के निशान हट सकते हैं। कुछ लोगों का भी मानना है कि मेडरमा क्रीम का इस्तेमाल करने से उनके टांकों के निशान में सुधार हुआ है। हालांकि, हर व्यक्ति में इसका असर अलग हो सकता है। इसी वजह से डॉक्टर की सलाह पर ही किसी तरह की क्रीम को उपयोग में लाएं।

संदर्भ (Sources):

संदर्भ (Sources):

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Surgical Scar Revision: An Overview
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3996787/
  2. Management of scars: Updated practical guidelines and use of silicones
    https://www.researchgate.net/publication/264941128_Management_of_scars_Updated_practical_guidelines_and_use_of_silicones
  3. Update on Postsurgical Scar Management
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4961501/
  4. REVIEW ON ALOE VERA
    http://www.journalijar.com/uploads/464_IJAR-2927.pdf
  5. Lemons raw without peel
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/167746/nutrients
  6. The Roles of Vitamin C in Skin Health
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5579659/
  7. Effectiveness and Tolerability of a Patch Containing Onion Extract and Allantoin for Cesarean Section Scars
    https://www.frontiersin.org/articles/10.3389/fphar.2020.569514/full
  8. Management of stretch marks (with a focus on striae rubrae)
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5782435/
  9. Melaleuca alternifolia (Tea Tree) Oil: a Review of Antimicrobial and Other Medicinal Properties
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC1360273/
  10. Analgesic Effect of Indian Gooseberry (Emblica officinalis Fruit) Extracts on Postoperative and Neuropathic Pain in Rats
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5188415/
  11. Jojoba oil: Anew media for frying process
    https://juniperpublishers.com/ctbeb/pdf/CTBEB.MS.ID.555952.pdf
  12. Health Benefits and Cons of Solanum tuberosum
    https://www.plantsjournal.com/vol1Issue1/Issue_jan_2013/3.pdf
  13. Nutritional value and health benefits of potatoes
    http://researchjournal.co.in/upload/assignments/12_117-119.pdf
  14. Honey for Wound Healing Ulcers and Burns; Data Supporting Its Use in Clinical Practice
    https://downloads.hindawi.com/journals/tswj/2011/526901.pdf
  15. Honey in dermatology and skin care: a review
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24305429/
  16. The uses and properties of almond oil
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/20129403/
Was this article helpful?
thumbsupthumbsup
The following two tabs change content below.
सरल जैन ने श्री रामानन्दाचार्य संस्कृत विश्वविद्यालय, राजस्थान से संस्कृत और जैन दर्शन में बीए और डॉ. सी. वी. रमन... more

ताज़े आलेख