टाइगर नट्स के फायदे और नुकसान – Tiger Nuts Benefits and Side Effects in Hindi

by

टाइगर नट्स कई तरह के पोषक तत्वों से समृद्ध होता है। यह नट्स का खास प्रकार है, जिसे काजू और बादाम की तरह ही स्वास्थ्य के लिए लाभदायक माना जाता है। टाइगर नट्स कई बीमारियों से बचाव और उनके लक्षणों को कम करने में अहम भूमिका निभा सकता है। इसी वजह से स्टाइलक्रेज के इस लेख में हमने बताया है कि टाइगर नट्स क्या है और टाइगर नट्स खाने के फायदे क्या हो सकते हैं। साथ ही यहां टाइगर नट्स के नुकसान की जानकारी भी दी गई है।

विस्तार से पढ़ें 

चलिए, सीधे लेख के मुख्य विषय यानी टाइगर नट्स क्‍या है, जान लेते हैं।

टाइगर नट्स क्‍या है – What are Tiger Nuts in Hindi

टाइगर नट्स मूंगफली की तरह जमीन के अंदर उगता है। यह अफ्रीकी देश घाना की मुख्य फसल है, जिसका वैज्ञानिक नाम साइपरस एस्कुलेंटस एल है। इसे नट्सएडज, अर्थ नट्स, नट्स आलमंड जैसे नाम से भी जाना जाता है। मुख्य रूप से इसके दो प्रकार होते हैं, एक हल्का भूरा या पीली ( Yellowish) और दूसरा काला या डार्क ब्राउन (Dark Brown) (1)। टाइगर नट्स की खेती अफ्रीका के अलावा विश्व के कई अन्य देशों में भी होती है, जिसमें भारतीय उपमहाद्वीप भी शामिल है।

स्क्रॉल करें

अब लेख में आगे बढ़ते हुए टाइगर नट्स खाने के फायदे जान लीजिए।

टाइगर नट्स के फायदे – Benefits of Tiger Nuts in Hindi

टाइगर नट्स कई तरह के औषधीय गुणों से भरपूर होता है। यही कारण है कि इसके सेवन से शारीरिक समस्याओं को दूर करने में मदद मिल सकती। बेशक, यह स्वास्थ्य के लिहाज से फायदेमंद है, लेकिन मेडिकल ट्रीटमेंट का विकल्प नहीं हो सकता। हां, यह बीमारियों से बचाव और उनके लक्षणों को कम कर सकता है। चलिए, अब आगे विस्तार पूर्वक टाइगर नट्स के फायदे जानिए।

1. वजन कम करने में मददगार

वजन घटाने के लिए टाइगर नट्स के फायदे देखे जा सकते हैं। इससे संबंधित रिसर्च एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर भी प्रकाशित है। शोध के अनुसार, टाइगर नट्स में आवश्यक फाइटोन्यूट्रिएंट्स और फाइटोकेमिकल्स होते हैं, जो मोटापे को कम करने में प्रभावी हो सकते हैं (2)। इसके अलावा, टाइगर नट्स फाइबर से भरपूर होता है, जो पेट को भरा हुआ महसूस करता है। इससे व्यक्ति जरूरत से ज्यादा खाने से बचता है, जिससे वजन नियंत्रण में मदद मिल सकती है (3)

2. पाचन के लिए सहायक

टाइगर नट्स खाने के फायदे में पाचन स्वास्थ्य भी शामिल है। दरअसल, टाइगर नट्स की गिनती फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों में होती है, जिसे बेहतर पाचन के लिए जाना जाता है। रिसर्च के अनुसार, यह चयापचय दर (Metabolic Rate) को धीमा होने से रोककर पाचन में मदद कर सकता है। बताया जाता है कि सालों से टाइगर नट्स का उपयोग खराब पेट और अन्य पाचन संबंधी समस्याओं के घरेलू इलाज के लिए होता रहा है। इसे पेट फूलने के लक्षण और डायरिया की समस्या से राहत दिलाने में भी लाभकारी माना जाता है (3)

3. ब्लड शुगर को कम करने के लिए

ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के लिए भी टाइगर नट्स के फायदे देखे जा सकते हैं। इसकी वजह भी टाइगर नट्स में मौजूद अघुलनशील फाइबर को माना जाता है। रिसर्च के अनुसार, इससे रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है (4)। एक अन्य शोध में कहा गया है कि इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स में भी डायबिटीज को नियंत्रित करने की क्षमता हो सकती है (3)। इसी आधार पर मधुमेह को नियंत्रित करने के तरीके में टाइगर नट्स को भी गिना जाता है।

4. हृदय स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद

टाइगर नट्स खाने के फायदे में स्वस्थ हृदय को भी गिना जा सकता है । बताया जाता है कि टाइगर नट्स में फाइबर की उच्च मात्रा होती है, जो हृदय को रोग से बचा सकता है (4)। यही नहीं, टाइगर नट्स मैग्नीशियम का भी अच्छा प्राकृतिक स्रोत है, जो दिल की धड़कन और रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। ब्लड प्रेशर भी हृदय रोग का ही जोखिम होता। साथ ही टाइगर नट्स को हार्ट अटैक के खतरे को कम करने में भी सहायक माना जाता है (3)

5. यौन क्षमता में सुधार

टाइगर नट्स का उपयोग करने से यौन क्षमता बेहतर हो सकती है। इस बात की जानकारी एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित चूहों पर हुए एक रिसर्च से मिलती है। इसमें बताया गया है कि टाइगर नट्स में कामोत्तेजक (Aphrodisiac) और सहवास की क्षमता बढ़ाने वाला प्रभाव हो सकता है। इसका मेथेनॉलिक अर्क शुक्राणुओं की संख्या और गतिशीलता में सुधार कर सकता है। इसके अलावा, टाइगर नट में मौजूद क्वेरसेटिन, विटामिन और जिंक टेस्टोस्टेरोन (पुरुषत्व बढ़ाने वाला हार्मोन) के स्तर में वृद्धि  कर सकते हैं (5)

6. प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए

टाइगर नट्स का सेवन शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में अहम भूमिका निभा सकता है। इसके लिए इसमें मौजूद इम्यूनो रेगुलेटरी प्रभाव सहायक हो सकता है। इस इफेक्ट के कारण इम्यूनिटी शरीर की जरूरत के हिसाब से कार्य करती है (6)। इसके अलावा, टाइगर नट में मौजूद मैग्नीशियम भी प्रतिरक्षा प्रणाली के कार्य के लिए सहायक माना जाता है (3)। इस आधार पर यह कहना गलत नहीं होगा कि प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए टाइगर नट्स खाने के फायदे देखे जा सकते हैं।

7. संक्रमण को दूर रखने के लिए

संक्रमण से बचाव के लिए भी टाइगर नट्स के फायदे देखे जा सकते हैं। दरअसल, टाइगर नट्स में एंटी बैक्टीरियल प्रभाव होता है। यह जीवाणु यानी बैक्टीरिया के कारण होने वाले संक्रमण से बचाव करने और उन्हें पनपने से रोकने में मदद कर सकता है। रिसर्च में कहा गया है कि संक्रमण से बचने के लिए टाइगर नट्स जैसे एंटीबैक्टीरियल और इम्यून बूस्टिंग आहार जरूरी है (3)

8. कैंसर के लिए

कैंसर से बचाव में भी टाइगर नट्स को फायदेमंद माना जा सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के मुताबिक, टाइगर नट्स के अर्क में एंटी-कैंसर (कैंसर सेल्स को पनपने से रोकने वाला) गुण होता है (7)। इसमें क्वेरसेटिन, बीटा-सिटोस्टेरोल, फैटी हाइड्रोकैमिक एसिड, ओलिक एसिड जैसे तत्व होते हैं, जो एंटी-कैंसर गुण प्रदर्शित कर सकते हैं (8)

बताया जाता है कि टाइगर नट में मौजूद विटामिन, फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट, मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड और अमीनो एसिड इसे एंटी कैंसर डाइट के लिए उपयुक्त बनाते हैं (8)। गौर हो कि कैंसर एक गंभीर बीमारी है, इसलिए डॉक्टर से इसका इलाज करवाना जरूरी है। घरेलू नुस्खों की मदद से इस बीमारी का इलाज संभव नहीं है।

बने रहें हमारे साथ

टाइगर नट्स खाने के फायदे के बाद आगे टाइगर नट्स में मौजूद पोषक तत्वों के बारे में पढ़िए।

टाइगर नट्स के पौष्टिक तत्व – Tiger Nut Nutritional Value in Hindi

टाइगर नट्स खाने के फायदे इसमें मौजूद औषधीय गुण के साथ ही पोषक तत्व के कारण होते हैं। क्या हैं टाइगर नट्स में मौजूद पोषक तत्व, इसकी जानकारी हम आगे दे रहे हैं (9)

पोषक तत्व          मात्रा प्रति 30 ग्राम
ऊर्जा150 किलो कैलोरी
प्रोटीन2 ग्राम
टोटल लिपिड (फैट)7  ग्राम
कार्बोहाइड्रेट19 ग्राम
फाइबर9.99  ग्राम
शुगर6 ग्राम
कैल्शियम20.1 ग्राम
आयरन1.8 मिलीग्राम
मैग्नीशियम32.1 मिलीग्राम
पोटेशियम275 मिलीग्राम
जिंक0.6 मिलीग्राम
विटामिन-सी1.8 मिलीग्राम
विटामिन-बी60.1 मिलीग्राम
फैटी एसिड, टोटल सैच्युरेटेड2 ग्राम

अभी बाकी है जानकारी

लेख के इस हिस्से में जानिए कि टाइगर नट्स का उपयोग किन-किन तरीकों से कर सकते हैं।

टाइगर नट्स का उपयोग – How to Use Tiger Nuts in Hindi

टाइगर नट्स के फायदे पाने के लिए इसे अलग-अलग तरीकों से खाया जा सकता है। आगे पढ़िए टाइगर नट्स का उपयोग करने के तरीके।

  • टाइगर नट्स को बाकी नट्स की तरह सीधे तौर पर खाया जा सकता है।
  • इसे अन्य नट्स के साथ मिक्स करके भी खाया जा सकता है।
  • पानी में नमक डालकर उसमें टाइगर नट्स को भिगोकर भी खाया जा सकता है। इसके लिए नट्स को कुछ घंटे ही पानी में रखना होगा।
  • मिल्कशेक में मिलाकर भी इसका सेवन किया जा सकता है।
  • इसे रात भर पानी में भिगोकर सुबह सीधे खाया जा सकता है।
  • सूखे टाइगर नट्स को पीसकर पाउडर बनाएं और दूध में डालकर पी लें।
  • इसी पाउडर को मिठाई बनाने में इस्तेमाल किया जा सकता है।

टाइगर नट्स का सेवन कब कर सकते हैं :

  • टाइगर नट्स को सुबह नाश्ते में खाया जा सकता है।
  • अगर कोई जिम जाते हैं, तो टाइगर नट्स को मिल्कशेक के साथ जिम के बाद सुबह या शाम ले सकते हैं।
  • इसके अलावा, शाम के समय स्नैक्स के तौर पर भी इस नट्स को खाया जा सकता है।

कितना खाएं :

पाचन को बेहतर करने और फाइबर की आधी जरूरत को पूरा करने के लिए एक सर्विंग यानी 30 ग्राम टाइगर नट्स का सेवन किया जा सकता है (3)। यह मात्रा उम्र और शारीरिक स्वास्थ्य के हिसाब से कम या ज्यादा हो सकती है, इसलिए इस विषय पर डॉक्टर या डायटिशियन से सलाह जरूर लें।

 स्क्रॉल कर आगे पढ़ें

चलिए, अब टाइगर नट मिल्क बनाने की विधि भी जान लीजिए।

टाइगर नट मिल्क कैसे बनता है  – How Can You Make Tiger Nut Milk?

टाइगर नट मिल्क घर में आसानी से बनाया जा सकता है। आगे हम टाइगर नट मिल्क कैसे बनाते हैं, इसकी विधि बता रहे हैं।

सामग्री :

  • एक कप टाइगर नट्स
  • आधा कप पानी

टाइगर नट मिल्क बनाने की विधि :

  • सबसे पहले टाइगर नट्स को अच्छे से धो लें।
  • अब पानी और टाइगर नट्स को ब्लेंडर में डाल दें।
  • फिर ब्लेंडर को चलाएं और नट्स को अच्छे से पीसें।
  • जब नट्स अच्छे से ब्लेंड हो जाए, तो इसे छानकर इससे निकलने वाला सफेद पानी निकाल लें।
  • यही सफेद पानी टाइगर नट मिल्क कहलाता है।
  • इस तरह तैयार हो जाएगा टाइगर नट मिल्क।

आगे पढ़ें

लेख के आखिरी भाग में टाइगर नट्स के नुकसान के बारे में जानिए।

टाइगर नट्स के नुकसान – Side Effects of Tiger Nuts in Hindi

टाइगर नट्स के फायदे आप ऊपर जान ही गए हैं, लेकिन इसका अधिक मात्रा में सेवन नुकसानदायक हो सकता है। नीचे जानिए टाइगर नट्स के नुकसान क्या हैं:

  • जैसा कि लेख के शुरुआत में बताया गया है कि टाइगर नट्स जमीन के अंदर उगता है। इसलिए, ठीक से साफ किए बिना इसका सेवन करने से संक्रमण का खतरा हो सकता है (1)
  • इसके अलावा, टाइगर नट्स में फाइबर की भरपूर मात्रा पाई जाती है (3)। ऐसे में इसका अधिक सेवन करने से गैस, पेट में ऐंठन और पेट फूलना की समस्या उत्पन्न हो सकती है (10)
  • टाइगर नट्स पोटेशियम से भी समृद्ध होता है (3)। इसकी अधिकता से हाइपरकलेमिया (खून में पोटेशियम की अधिक मात्रा होना) हो सकता है। इस वजह से हृदय गति का असामान्य होना और किडनी की कार्य प्रणाली पर बुरा असर पड़ सकता है (11)

इसमें कोई दो राय नहीं की टाइगर नट्स अपने गुण और प्रभाव के कारण एक सुपरफूड की तरह कार्य करता है। कई रोगों के लक्षणों से बचने और स्वस्थ रहने के लिए टाइगर नट्स को डाइट में शामिल करने में कोई बुराई नहीं है। बस इसके सेवन से पहले एक बार टाइगर नट्स के नुकसान पर भी जरूर गौर करें। वैसे तो उचित मात्रा में इसका सेवन सुरक्षित माना जाता है, लेकिन किसी स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहे व्यक्ति को इसे आहार में शामिल करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल :

मैं टाइगर नट कहां से खरीद सकता हूं?

टाइगर नट्स को ड्राई फ्रूट्स की दुकान या ऑनलाइन खरीद सकते है। इसकी उपलब्धता सामान्य किराने की दुकान में मुश्किल है।

टाइगर नट्स किस चीज से बने होते हैं?

टाइगर नट्स एक प्राकृतिक खाद्य पदार्थ है, जो कई पौष्टिक तत्वों जैसे – सोडियम, कैल्शियम, आयरन, जिंक, फास्फोरस, पोटेशियम, मैग्नीशियम, कॉपर और मैंगनीज से मिलकर बना होता है (1)

टाइगर नट फल है या सब्जी?

टाइगर नट फल या सब्जी नहीं, बल्कि एक ड्राई फ्रूट है।

क्या रोज टाइगर नट्स खाना ठीक है?

हां, सीमित मात्रा व समय तक टाइगर नट्स का रोजाना सेवन किया जा सकता है।

क्या टाइगर नट्स वजन घटाने के लिए अच्छा है?

हां, टाइगर नट्स वजन घटाने के लिए अच्छा माना जा सकता है। दरअसल, यह फाइबर से भरपूर होता है, जो पेट को लंबे समय तक भरा महसूस कराता है। इससे वजन नियंत्रण में मदद मिल सकती है (3)

 

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Aviriti Gautam

आवृति गौतम ने सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ बिहार से मास कम्युनिकेशन में एमए किया है। इन्होंने अपने करियर की शुरूआत डिजिटल मीडिया से ही की थी। इस क्षेत्र में इन्हें काम करते हुए दो वर्ष से ज्यादा हो गए हैं। आवृति को स्वास्थ्य विषयों पर लिखना और अलग-अलग विषयों पर विडियो बनाना खासा पसंद है। साथ ही इन्हें तरह-तरह की किताबें पढ़ने का, नई-नई जगहों पर घूमने का और गाने सुनने का भी शौक है।

ताज़े आलेख

scorecardresearch