त्वचा के लिए ग्लिसरीन के फायदे और उपयोग – Benefits of Glycerin for Skin in Hindi

Written by

कई स्किन केयर प्रोडक्ट ऐसे हैं, जिनका उपयोग सालों से किया जा रहा है। ग्लिसरीन उन्हीं में से एक है। त्वचा के लिए ग्लिसरीन के फायदे वर्षों से देखे जा रहे हैं। इतना ही नहीं, अक्सर ग्लिसरीन का उपयोग कॉस्मेटिक प्रोडक्ट की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए भी किया जाता है। तो जरा सोचिए कि सीधे तौर पर त्वचा के लिए ग्लिसरीन का उपयोग करना कितना लाभकारी हो सकता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम इस लेख में त्वचा के लिए ग्लिसरीन के फायदे पाठकों के साथ साझा कर रहे हैं। इस विषय में ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ते रहें यह लेख।

नीचे स्क्रॉल करें

सबसे पहले जानते हैं कि ग्लिसरीन के फायदे त्वचा के लिए किस प्रकार हो सकते हैं।

त्वचा के लिए ग्लिसरीन क्यों फायदेमंद है?

ग्लिसरीन का वैज्ञानिक नाम ग्लिसरॉल है। इसका उपयोग कई प्रकार के बॉडी लोशन और हाइड्रेटिंग क्रीम में किया जाता है। यह त्वचा को हाइड्रेट रखने से लेकर, त्वचा में होने वाली जलन या खुजली के साथ ही त्वचा के घाव भरने में भी मदद कर सकता है। यही वजह है कि कई स्किन केयर प्रोडक्ट के रूप में इसका इस्तेमाल किया जाता है (1)।

त्वचा के लिए ग्लिसरीन के फायदे यहीं तक ही सीमित नहीं है, इसमें मौजूद एंटीमाइक्रोबियल गुण एटोपिक डर्मेटाइटिस जैसे त्वचा संक्रमण के लिए भी उपयोगी हो सकता है (1)। ग्लिसरीन के फायदे त्वचा के लिए और भी हैं, जिसके बारे में आप विस्तार से इस लेख में जानेंगे।

पढ़ना जारी रखें

ग्लिसरीन फॉर स्किन इन हिंदी के बारे में जानने के बाद जानें त्वचा के लिए ग्लिसरीन के फायदे।

त्वचा के लिए ग्लिसरीन के फायदे – Benefits Of Using Glycerin For The Face And Skin in Hindi

जैसे कि पहले ही हमने बताया कि त्वचा के लिए ग्लिसरीन के फायदे कई सारे हैं। अब बारी आती है, उन्हीं फायदों के बारे में विस्तारपूर्वक जानने की। साथ ही हम स्पष्ट कर दें कि ग्लिसरीन का इस्तेमाल त्वचा संबंधित परेशानियों को दूर करने में मददगार हो सकता है, लेकिन अगर समस्या गंभीर हो तो समय पर डॉक्टरी सलाह जरूर लें।

1. एंटी-एजिंग गुणों से भरपूर

ग्लिसरीन का उपयोग त्वचा पर बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने के लिए किया जा सकता है। कई एंटी-एजिंग क्लींजर में भी ग्लिसरीन का उपयोग किया जाता है। इसमें मौजूद ह्यूमेक्टेंट यानी मॉइस्चराइज करने वाला गुण और एमोलिएंट यानी त्वचा को आराम देने वाला गुण स्ट्रेटम कॉर्नियम यानी त्वचा की बाहरी परत में नमी बनाए रख सकता है। इससे त्वचा के एजिंग के प्रभाव पर असर पड़ सकता है (2)।

वहीं, एक अन्य शोध में संवेदनशील त्वचा के स्किन केयर रूटीन में ग्लिसरीन युक्त प्रोडक्ट को शामिल करना भी उपयोगी पाया गया है। इससे झुर्रियां, त्वचा की नमी, लोच और एजिंग के लक्षणों में सुधार देखा गया (3)।

2. एंटी इरिटेंट

त्वचा के लिए ग्लिसरीन के फायदे की बात करें, तो यह स्किन इर्रिटेशन की समस्या में भी लाभकारी हो सकता है। दरअसल, एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इनफार्मेशन) की वेबसाइट पर इस विषय में एक स्टडी प्रकाशित हुई है। यह चूहों पर किया गया शोध है, जिसमें एसएलएस जो कि एक प्रकार का केमिकल है इसके कारण त्वचा में होने वाली जलन और इर्रिटेशन में ग्लिसरॉल का उपयोग लाभकारी पाया गया है (4)।

वहीं, ग्लिसरीन में मौजूद पौलियोलस जो कि एक प्रकार का यौगिक है, इसमें एंटी-इर्रिटेटंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों की पुष्टि की गई है (4)। ऐसे में ग्लिसरीन के ये गुण त्वचा पर होने वाली खुजली या जलन से राहत दिलाने में मददगार हो सकते हैं।

3. त्वचा को हाइड्रेट रखने में सहायक

ग्लिसरीन का इस्तेमाल त्वचा को हाइड्रेट रखने में सहायक हो सकता है। एक शोध के अनुसार एटोपिक डर्मेटाइटिस जो एक प्रकार का एक्जिमा है, इसमें ग्लिसरीन युक्त क्रीम का उपयोग त्वचा को हाइड्रेट करता हुआ पाया गया। वहीं, इसमें त्वचा को नमी प्रदान करने वाले गुण की पुष्टि हुई है, जिस कारण इसका उपयोग त्वचा को मॉइस्चराइज करने के लिए किया जा सकता है (5)।

वहीं, एक अन्य शोध में यह बात सामने आई है कि ग्लिसरीन का उपयोग त्वचा को लगभग 24 घंटे तक हाइड्रेट रख सकता है (6)। इस तरह ग्लिसरीन प्राकृतिक तरीके से त्वचा को मॉइस्चराइज करने में अहम भूमिका निभा सकता है।

4. सोरायसिस रोग के लिए

सोरायसिस रोग त्वचा से जुड़ी समस्या है। इसमें त्वचा में खुजली और त्वचा लाल हो सकती है। यह एक संक्रामक चर्म रोग है (7)। ग्लिसरीन का उपयोग सोरायसिस में लाभकारी हो सकता है। दरअसल, एक शोध में सोरायसिस के मरीजों में ग्लिसरीन युक्त जेल का उपयोग प्रभावकारी साबित हुआ (8)। भले ही सोरायसिस रोग में ग्लिसरीन का उपयोग लाभकारी पाया गया है, लेकिन सोरायसिस रोग में ग्लिसरीन का उपयोग करने से पहले त्वचा विशेषज्ञ से परामर्श जरूर ले लें।

5. त्वचा को कोमल बनाने में मददगार

कोमल त्वचा की चाह ग्लिसरीन के उपयोग से पूरी की जा सकती है। दरअसल, ग्लिसरीन एक प्रभावकारी हुमेक्टैंट यानी त्वचा को नमी प्रदान करने वाला तत्व है (9)। एक अन्य रिसर्च के मुताबिक, ग्लिसरीन जैसे पदार्थों से बनाया गया मॉइस्चराइजर त्वचा के लिए कई प्रकार से फायदेमंद हो सकता है। ग्लिसरीन युक्त मॉइस्चराइजर का प्रयोग न सिर्फ फाइन लाइन को कम कर सकता है, बल्कि रूखी त्वचा को चिकना और मुलायम भी बना सकता है (10)।

घर में ही ग्लिसरीन युक्त मॉइस्चराइजर बनाने के लिए आवश्यकतानुसार वैसलीन, ग्लिसरीन और विटामिन ई कैप्सूल के द्रव्य को मिला लें। ग्लिसरीन युक्त घरेलू मॉइस्चराइजर बनकर तैयार है। इसे कुछ दिनों के लिए किसी कंटेनर में स्टोर करके भी रखा जा सकता है।

6. त्वचा की लोच में सुधार करने में सहायक

ग्लिसरीन त्वचा की लोच में सुधार करने में मददगार हो सकता है। कई बार यूवी किरणों के अत्यधिक संपर्क में आने के कारण त्वचा की लोच में कमी आती है (11)। एक अध्ययन की मानें तो ग्लिसरीन, को अन्य पदार्थों के साथ मिलाकर प्रयोग करने से त्वचा की लोच के स्तर में सुधार हो सकता है (12)।

वहीं, एक अन्य शोध की मानें तो स्किन केयर रूटीन के तौर पर ग्लिसरीन युक्त प्रोडक्ट का इस्तेमाल त्वचा की लोच में सुधार कर सकता है (13)। इस आधार पर ग्लिसरीन का उपयोग त्वचा की इलास्टिसिटी यानी लोच में सुधार के लिए उपयोगी माना जा सकता है।

7. घाव भरने और संक्रमण नियंत्रण के लिए

ग्लिसरीन का उपयोग त्वचा को कोमल बनाने के साथ ही घाव भरने और संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए भी किया जा सकता है। एनसीबीआई पर प्रकाशित एक रिसर्च में ग्लिसरीन युक्त जेल घाव के लिए उपयोगी पाया गया है। यह एंटीबैक्टीरियल घटक की तरह काम करके घाव को भरने में मददगार हो सकता है। घाव से निकलने वाले द्रव्य के रिसाव पर भी असर कर सकता है (14)।

इसके अलावा, ग्लिसरीन का एंटीबैक्टेरियल गुण संक्रमण को फैलने से भी रोक सकता है (14)। हालांकि, इसका उपयोग घाव की गंभीरता और व्यक्ति के स्वास्थ्य पर भी निर्भर करता है। अगर किसी का घाव गंभीर है, तो इसके लिए डॉक्टरी परामर्श जरूर लें।

8. मुंहासों के लिए

मुंहासों की समस्या को दूर करने के लिए ग्लिसरीन का उपयोग लाभदायक हो सकता है। इसकी पुष्टि दो अलग-अलग शोध से होती है। एनसीबीआई पर उपलब्ध पहले शोध में बताया गया है कि एक्ने पर ग्लिसरीन लगाने से इससे राहत मिल सकती है (15)।

वहीं, एक अन्य शोध के अनुसार, मुंहासों का एक कारण त्वचा में नमी की कमी हो सकता है। ग्लिसरीन में नमी को बरकराब बनाए रखने वाला हुमेक्टैंट गुण होता है। यही कारण है कि मुंहासों की समस्या में इसका गुलाब जल के साथ इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा, ग्लिसरीन में एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव भी होता है, जो एक्ने की सूजन को दूर कर सकता है (16)।

9. ऑयली स्किन के लिए परफेक्ट टोनर

यह तो आप जान ही चुके हैं कि ड्राई स्किन वालों के लिए ग्लिसरीन का इस्तेमाल फायदेमंद होता है, लेकिन तैलीय त्वचा वाले लोग भी इसका उपयोग टोनर के रूप में कर सकते हैं। दरअसल, यह बिना सीबम के उत्पादन को बढ़ाए ऑयली त्वचा को हाइड्रेट कर सकता है। यही कारण है कि ऑयल फ्री फेशियल मॉइस्चराइजर में इसका इस्तेमाल किया जाता है (16)। ऐसे में तैलीय त्वचा के लिए ग्लिसरीन का इस्तेमाल उपयोगी माना जा सकता है।

10. फोटोएजिंग को रोकने में सहायक

त्वचा पर यूवी किरणों का प्रभाव पड़ने के चलते त्वचा पर फोटोएजिंग की समस्या हो सकती है (17)। ग्लिसरीन का इस्तेमाल सूरज की यूवी किरणों से होने वाली त्वचा की क्षति को कम करने में सहायक हो सकता है। यही वजह है कि मार्केट में मौजूद कई सारे सनस्क्रीन में ग्लिसरीन मुख्य रूप से प्रयोग किया जाता है (18)। ऐसे में माना जा सकता है कि ग्लिसरीन का उपयोग त्वचा में फोटोएजिंग की समस्या को रोकने में सहायक हो सकता है।

पढ़ते रहें यह आर्टिकल

बेनेफिट्स ऑफ ग्लिसरीन फॉर स्किन इन हिंदी के बाद ग्लिसरीन कैसे लगाएं, इसकी जानकारी दे रहे हैं।

त्वचा और चेहरे के लिए ग्लिसरीन का उपयोग: How To Use Glycerin For Face And Skin in Hindi

त्वचा के लिए ग्लिसरीन के फायदे के बारे में तो आप जान ही गए हैं। अब सवाल यह है कि चेहरे और त्वचा के लिए ग्लिसरीन का उपयोग कैसे किया जाए। इसलिए, लेख के इस भाग में हम त्वचा के लिए ग्लिसरीन के उपयोग के कुछ आसान नुस्खे बता रहे हैं।

1. ग्लिसरीन फेस मास्क

सामग्री

  • आवश्यकता अनुसार ग्लिसरीन
  • रुई

उपयोग का तरीका

  • सबसे पहले अपने चेहरे को पानी से धो लें।
  • अब चेहरे को मुलायम-साफ तौलिये से पोंछ लें।
  • फिर रुई में आवश्यकता के अनुसार ग्लिसरीन लें।
  • अब इसे चेहरे पर लगाएं।
  • इसे 10 से 15 मिनट तक लगा रहने दें।
  • फिर पानी से चेहरा धो लें।

कैसे फायदेमंद है

जैसे कि हमने पहले ही जानकारी दी है कि ग्लिसरीन त्वचा को मॉइस्चराइज कर सकता है (19)। ऐसे में रात को सोने से पहले इस आसान नुस्खे का उपयोग त्वचा को स्वस्थ और मुलायम बनाने में सहायक हो सकता है।

2. टोनर के रूप में ग्लिसरीन

सामग्री

  • आधा चम्मच ग्लिसरीन
  • एक से दो चम्मच गुलाब जल
  • रुई

उपयोग का तरीका

  • बाउल में ग्लिसरीन और गुलाब जल को मिला लें।
  • अब रुई की मदद से इसे चेहरे पर लगाएं।
  • फिर चेहरे को पानी से धो लें।

कैसे फायदेमंद है

त्वचा और चेहरे के लिए ग्लिसरीन और गुलाब जल का उपयोग लाभकारी हो सकता है। जहां ग्लिसरीन त्वचा को हाइड्रेट कर सकता है। वहीं, गुलाब जल का उपयोग त्वचा की रंगत को निखारने में सहायक हो सकता है (20)। इन दोनों का मिश्रण त्वचा के लिए प्रभावकारी हो सकता है।

3. ग्लिसरीन एंटी-एजिंग फेस पैक

सामग्री

  • एक चम्मच ग्लिसरीन
  • एक अंडा
  • एक चम्मच शहद

उपयोग का तरीका

  • एक कटोरे में अंडे का सफेद भाग लें और इसे तब तक फेंटें जब तक कि यह झागदार न हो जाए।
  • इसके बाद इसमें एक चम्मच ग्लिसरीन और शहद डालकर अच्छी तरह से मिलाएं।
  • अब इस मिश्रण को चेहरे पर लगाएं।
  • इसे कुछ देर सूखने तक लगा रहने दें।
  • जब सूख जाए, तो गुनगुने पानी से चेहरा धो लें।

कैसे फायदेमंद है

ग्लिसरीन का उपयोग त्वचा की इलास्टिसिटी में सुधार करता हुआ पाया गया है। इसकी जानकारी हमने पहले ही आपके साथ साझा की है। इसके अलावा, इस मिश्रण में शहद का उपयोग किया गया है। शहद त्वचा को जवां बनाए रखने और झुर्रियों के निर्माण को धीमा करने में सहायक हो सकता है (21)। वहीं, अंडे का उपयोग त्वचा को स्वस्थ बना सकता है (22)। हालांकि, अगर किसी व्यक्ति को अंडे से एलर्जी है, तो सिर्फ ग्लिसरीन और शहद का ही उपयोग करें।

स्क्रॉल करें

ग्लिसरीन कैसे लगाएं जानने के बाद हम ग्लिसरीन से जुड़ी कुछ सावधानियों के बारे में जानकारी देंगे।

त्वचा पर ग्लिसरीन के उपयोग से जुड़ी सावधानियां –Precautions To Follow Before Using Glycerin on Skin in Hindi

  • त्वचा के लिए ग्लिसरीन के उपयोग करने के तरीके के बाद अब जानते हैं इसके इस्तेमाल से जुड़ी कुछ सावधानियों के बारे में।
  • जिसका पालन कर बेझिझक ग्लिसरीन का उपयोग कर सकते हैं। ग्लिसरीन के उपयोग से जुड़ी सावधानियां कुछ इस प्रकार हैं:
    त्वचा पर ग्लिसरीन के उपयोग से पहले पैच टेस्ट जरूर करें।
  • ग्लिसरीन गाढ़ा होता है, इसलिए इसका उपयोग हमेशा पानी या गुलाब जल में मिलाकर ही करें।
  • हमेशा अच्छे ब्रांड का ही ग्लिसरीन खरीदें।
  • ग्लिसरीन का उपयोग जरूरत से ज्यादा न करें।
  • यह अपने आप में ही एक चिपचिपा पदार्थ है, इसलिए किसी भी चिपचिपे लोशन और क्रीम के साथ ग्लिसरीन न मिलाएं।
  • संवेदनशील त्वचा वाले लोग ग्लिसरीन को सीधे त्वचा पर न लगाएं, बल्कि पानी या गुलाब जल के साथ मिलाकर लगाएं।
  • ग्लिसरीन का उपयोग रात में सोने से पहले कर सकते हैं।
  • ग्लिसरीन का त्वचा पर इस्तेमाल करते समय ध्यान दें कि यह मुंह, आंख व नाक में न जाए।

पढ़ना जारी रखें

ग्लिसरीन के उपयोग के बाद यहां हम बता रहे हैं ग्लिसरीन से होने वाले साइड इफेक्ट्स।

त्वचा और चेहरे के लिए ग्लिसरीन के नुकसान: Side Effects Of Using Glycerin On Your Face in Hindi

  • हर चीज के फायदे और नुकसान दोनों होते हैं। ऐसे में अगर ग्लिसरीन के फायदे हैं, तो कुछ स्थितियों में यह नुकसानदायक भी हो सकता है। लेख के इस भाग में हम ग्लिसरीन के नुकसान से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां साझा कर रहे हैं।
  • संवेदनशील त्वचा पर ग्लिसरीन का उपयोग एलर्जी या रैशेज पैदा कर सकता है (23)।
  • गर्मियों में ग्लिसरीन के उपयोग से त्वचा को चिपचिपा बना सकता है।
  • चेहरे पर ग्लिसरीन के उपयोग करते वक्त सावधानी बरतें। अगर ग्लिसरीन आंखों में चला जाए, तो जलन हो सकती है।
  • ग्लिसरीन लगाकर धूप में निकलने से परहेज करें।
  • आंखों के साथ-साथ मुंह के आस-पास भी ग्लिसरीन को सावधानी से लगाएं। मौखिक रूप से इसके सेवन से सिरदर्द, मतली व चक्कर आने की समस्या हो सकती है (24)।
  • चेहरे पर लगाने के लिए हमेशा अच्छी क्वालिटी व विश्वसनीय ब्रांड के ग्लिसरीन का चुनाव करें।

तो ये थे त्वचा और चेहरे के लिए ग्लिसरीन के फायदे। ग्लिसरीन ऐसा तत्व है, जिसका उपयोग लगभग हर स्किन केयर प्रोडक्ट में किया जाता है। इसमें कोई दो राय नहीं कि त्वचा के लिए ग्लिसरीन के फायदे कई सारे हैं। हालांकि, हमने यहां ग्लिसरीन के नुकसानों के बारे में भी जानकारी दी है, लेकिन इनसे बचने के लिए हमने पाठकों को इसके उपयोग से जुड़ी सावधानियों का विकल्प भी बताया है। तो कुछ सावधानियों को ध्यान में रखते हुए पाठक ग्लिसरीन का उपयोग कर त्वचा के लिए ग्लिसरीन के फायदे महसूस कर सकते हैं। साथ ही इस लेख को ज्यादा से ज्यादा शेयर कर सभी को त्वचा के लिए ग्लिसरीन के फायदे से अवगत कराएं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या ग्लिसरीन को सीधे चेहरे पर लगाया जा सकता है?

हां, पैच टेस्ट करने के बाद ग्लिसरीन को सीधे चेहरे पर लगाया जा सकता है।

क्या ग्लिसरीन त्वचा को काला करता है?

नहीं, ग्लिसरीन को त्वचा की रंगत में सुधार के लिए जाना जाता है। इसके बारे में लेख में ऊपर विस्तार से जानकारी दी गई है।

क्या डार्क सर्कल को दूर करने के लिए ग्लिसरीन का इस्तेमाल फायदेमंद हो सकता है?

डार्क सर्कल के लिए ग्लिसरीन के उपयोग को लेकर अभी कोई वैज्ञानिक शोध उपलब्ध नहीं है। वहीं, आंखों के आस-पास ग्लिसरीन लगाने से मना किया जाता है। ऐसे में डार्क सर्कल के लिए ग्लिसरीन का इस्तेमाल न करें।

क्या किसी भी बॉडी क्रीम के साथ ग्लिसरीन को मिलाकर लगाया जा सकता है?

हा, ग्लिसरीन को अपने पसंदीदा बॉडी क्रीम के साथ मिलाकर लगाया जा सकता है। बशर्ते, ग्लिसरीन की एक से दो बूंद ही लें।

क्या ग्लिसरीन मेरी त्वचा को निखार दे सकता है?

हां,ग्लिसरीन में त्वचा को हाइड्रेट और मॉइस्चराइज करने वाले गुण होते हैं (5)। ये प्रभाव त्वचा पर निखार लाने में सहायक हो सकते हैं।

क्या ग्लिसरीन का इस्तेमाल होठों के लिए फायदेमंद हो सकता है?

हां, ग्लिसरीन में मौजूद मॉइस्चराइजिंग गुण फटे होंठो को रिपेयर करने में मदद कर सकता है (25)।

कौन-सी ग्लिसरीन चेहरे के लिए सबसे अच्छी है?

बाजार में मिलने वाली सभी ग्लिसरीन अच्छी हो सकती हैं। अगर आप किसी खास ब्रांड को पसंद करते हैं, तो उसका उपयोग कर सकते हैं।

क्या ग्लिसरीन को रात भर लगाकर छोड़ सकते हैं?

हां, ग्लिसरीन को पूरी रात तक चेहरे पर लगाकर छोड़ा जा सकता है।

क्या ग्लिसरीन पिंपल्स को दूर कर सकती है?

हां, मुंहासों से निजात पाने में भी ग्लिसरीन लगाने के फायदे मिल सकते हैं (15)।

संदर्भ (Sources) :

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Glycerol and the skin: holistic approach to its origin and functions
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/18510666/
  2. Aging-associated alterations in epidermal function and their clinical significance
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7138575/
  3. Use of formulations for sensitive skin improves the visible signs of aging including wrinkle size and elasticity
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6559254/
  4. Anti-irritant and anti-inflammatory effects of glycerol and xylitol in sodium lauryl sulphate-induced acute irritation
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/26370610/
  5. The Role of Moisturizers in Addressing Various Kinds of Dermatitis: A Review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5849435/
  6. The 24-hour skin hydration and barrier function effects of a hyaluronic 1% glycerin 5% and Centella asiatica stem cells extract moisturizing fluid: an intra-subject randomized assessor-blinded study
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5560567/
  7. Psoriasis
    https://medlineplus.gov/ency/article/000434.htm
  8. Topical treatment of psoriasis with a new keratolitic agent
    https://www.researchgate.net/publication/289808612_Topical_treatment_of_psoriasis_with_a_new_keratolitic_agent
  9. Moisturizers: The Slippery Road
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4885180/
  10. Moisturizers: reality and the skin benefits
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22913439/
  11. Ultraviolet Radiation Aging and the Skin: Prevention of Damage by Topical cAMP Manipulation
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4344124/
  12. An antiaging skin care system containing alpha hydroxy acids and vitamins improves the biomechanical parameters of facial skin
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4277239/?&&utm_medium=114287
  13. Use of formulations for sensitive skin improves the visible signs of aging including wrinkle size and elasticity
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6559254/
  14. Glycerin-Based Hydrogel for Infection Control
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3839013/
  15. Skin surface glycerol levels in acne vulgaris
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/148480/
  16. Moisturizers for Acne
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4025519/#:~:text=Glycerin%20is%20the%20most%20effective
  17. Skin Photoaging and the Role of Antioxidants in Its Prevention
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3789494/
  18. The effects of continuous application of sunscreen on photoaged skin in Japanese elderly people – the relationship with the usage
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4853009/
  19. Aging-associated alterations in epidermal function and their clinical significance
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7138575/
  20. ANTITYROSINASE ACTIVITY AND ANTIOXIDANT ACTIVITY OF SANTALUM ALBUM & ROSA BRACTEATAE PLANT EXTRACTS FOR SKIN WHITENING ASSAY
    https://storage.googleapis.com/journal-uploads/ejbps/article_issue/volume_5_august_issue_8/1533021626.pdf
  21. Honey in dermatology and skin care: a review
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24305429/
  22. A review: Chemical composition and utilization of egg
    https://www.chemijournal.com/archives/2018/vol6issue3/PartAT/6-3-253-345.pdf
  23. Contact urticaria syndrome and protein contact dermatitis caused by glycerin enema
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4810294/
  24. Physiological and performance effects of glycerol hyperhydration and rehydration
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/19941615/#:~:text=In%20a%20very%20small%20number
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख