केसर के फायदे स्किन के लिए – Benefits of Saffron for Skin in Hindi

Written by , (एमए इन मास कम्युनिकेशन)

लाल रंग के धागे की तरह दिखने वाले केसर की गिनती दुनिया के सबसे महंगे मसालों में होती है। यही वजह है कि इसे रेड गोल्ड भी कहा जाता है। खाने के जायके को बढ़ाने के अलावा केसर खबूसूरती में चार चांद लगाने के लिए भी जाना जाता है। यही वजह है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम त्वचा के लिए केसर के फायदे से जुड़ी जानकारी लाए हैं। तो केसर के फायदे स्किन के लिए किस प्रकार हैं, इसकी जानकारी के साथ-साथ यहां चेहरे के लिए केसर के उपयोग के बारे में भी बताया गया है। तो त्वचा के लिए केसर के फायदे से जुड़ी पूरी जानकारी के लिए लेख को अंत तक पढ़ें।

स्क्रॉल करें

लेख में सबसे पहले जानते हैं केसर त्वचा के लिए क्यो फायदेमंद हैं।

क्यों फायदेमंद है केसर आपकी त्वचा के लिए?

केसर के फायदे स्किन के लिए कई सारे हैं। इसका उपयोग त्वचा की कई परेशानियों से छुटकारा दिलाने में लाभकारी माना जा सकता है। त्वचा के लिए केसर किस प्रकार फायदेमंद है, इसको लेकर कई सारी जानकरियां हैं। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर उपलब्ध एक रिपोर्ट के अनुसार, त्वचा को मॉइस्चराइज और मुलायम बनाए रखने के लिए केसर को लाभकारी माना गया है। इसके अलावा, त्वचा को चमकदार बनाने और रंगत को निखारने करने के लिए भी इसे गुणकारी माना गया है। इतना ही नहीं, केसर त्वचा पर यूवी किरणों से होने वाले दुष्प्रभावों से सुरक्षा प्रदान कर सकता है (1)। इसके अलावा, केसर त्वचा से जुड़ी समस्याएं जैसे – सोरायसिस, एक्जिमा, एक्ने व घाव या चोट की समस्या में भी राहत दे सकता है (2)

लेख में आगे बढ़ें

अब लेख में केसर के फायदे स्किन के लिए क्या हैं, इसके बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं।

त्वचा के लिए केसर के फायदे – Benefits Of Using Saffron For The Face And Skin in Hindi

केसर के फायदे स्किन के लिए तमाम हैं। नीचे क्रमवार तरीके से त्वचा के लिए केसर के फायदों से जुड़ी जानकारी दे रहे हैं। साथ ही इस बात का ध्यान रखें कि केसर किसी भी गंभीर त्वचा संबंधी परेशानी का इलाज नहीं, बल्कि उससे बचाव या लक्षणों को से राहत प्रदान कर सकता है। तो अब नीचे विस्तार से जानिए त्वचा के लिए केसर के फायदे:

1. डार्क सर्कल से राहत

केसर का उपयोग कई सालों से हर्बल औषधि के रूप में किया जा रहा है (2)। इस विषय में कई सारी जानकारियां मौजूद हैं, जो यह साबित करते हैं कि केसर त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है (3)। केसर में आंखों के नीचे होने वाले डार्क सर्कल की समस्या को कुछ हद तक कम करने के लिए प्रभावी माने जा सकते हैं (1)

हालांकि, इसके पीछे केसर का कौन सा गुण है, यह अभी जांच का विषय है, लेकिन केसर रंगत को बेहतर करने के लिए भी जाना जाता है। इसी आधार पर यह कहा जा सकता है कि डार्क सर्कल की परेशानी को कम करने के लिए केसर का रंगत निखारने वाला गुण फायदेमंद हो सकता है।

2. यूवी किरणों से सुरक्षा

त्वचा पर केसर औषधि के रूप में काम कर सकता है। यह सूरज की हानिकारक यूवी किरणों के प्रभाव से छुटकारा दिलाने में मददगार हो सकता है (4)। इसमें एंटी सोलर गुण होते हैं, जो सूर्य की हानिकारक यू वी किरणों को अवशोषित कर सकता है (5)

ऐसे में इसका उपयोग गर्मियों के दौरान स्किन को यू वी किरणों से सुरक्षा प्रदान करने के लिए केसर ब्यूटी ट्रीटमेंट के तौर पर किया जा सकता है। केसर का उपयोग कई तरह के स्किन लोशन और सनस्क्रीन में भी किया जाता है।

3. सूजन को दूर करने के लिए

चिकित्सा पद्धति में कई प्रकार से केसर का उपयोग किया जाता रहा है। इससे जुड़े एक रिसर्च पेपर के मुताबिक, केसर में सूजन को कम करने वाला एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाया जाता है। इसके साथ ही केसर में एंटीऑक्सीडेंट गुण भी मौजूद होता है। यह गुण ऑक्सीडेटिव डैमेज से बचाव कर सकता है (6)। बता दें, ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के कारण त्वचा में सूजन और यहां तक की स्किन कैंसर का जोखिम भी बढ़ सकता है (7)

4. हाइपरपिग्मेंटेशन के लिए

हाइपर पिगमेंटेशन की समस्या त्वचा पर तब होती है, जब व्यक्ति सूर्य के संपर्क में आता है। इस दौरान मेलेनिन को बनाने वाली त्वचा की मेलेनोसाइट्स कोशिकाएं ज्यादा मात्रा में मेलेनिन का उत्पादन करने लगती है। ऐसे में मेलेनिन का असंतुलित उत्पादन त्वचा की गहरी रंगत या हाइपरपिग्मेंट्श का कारण बन जाता है (8)

वहीं, इससे जुड़ी जानकारी में इस बात का जिक्र मिलता है कि केसर में में मौजूद सफरनाल (safranal), एक प्रकार का यौगिक में पिग्मेंट को कम करने का गुण मौजूद होता है (1)। इस आधार पर माना जा सकता है कि यह पिगमेंटेशन की समस्या के लिए उपयोगी हो सकता है।

5. घाव भरने में सहायक

शरीर के घाव को भरने के लिए केसर का उपयोग बेहद फायदेमंद हो सकता है। इससे जुड़े एक रिसर्च में इस बात का साफतौर पर जिक्र मिलता है कि केसर हल्के-फुल्के जलने के घाव पर प्रभावकारी पाया गया है। इसका कारण इसमें मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुणों को माना गया है (9)। हालांकि, ध्यान रहे कि यह हल्के-फुल्के जख्म पर प्रभावित हो सकता है। अगर घाव गहरा है तो डॉक्टरी उपचार को प्राथमिकता दें।

6. मुंहासों से राहत

मुंहासों की समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए भी केसर बेहद उपयोगी माना जा सकता है। दरअसल, केसर में पाया जाने वाला यौगिक सफरनाल कील-मुंहासों की समस्या पर प्रभावकारी हो सकता है (1)। ऐसे में माना जा सकता है कि पिंपल्स के लिए केसर का उपयोग लाभकारी हो सकता है।

7. चमकती त्वचा के लिए

चमकती त्वचा की चाहत रखने वालों के लिए केसर का उपयोग प्रभावकारी हो सकता है। दरअसल, केसर में क्रोसिन और क्रोसेटिन नामक कपाउंड पाया जाता है। इन दोनों कंपाउंड में एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं, जो त्वचा को चमकदार बनाने के लिए कारगर हो सकते हैं (5)

इसके अलावा, इसमें मौजूद सफरनाल नामक यौगिक भी त्वचा की रंगत निखारने में सहायक हो सकता है (1)। ऐसे में यह कहा जा सकता है कि ग्लोइंग स्किन पाने के लिए केसर का उपयोग लाभकारी हो सकते हैं।

8. टैनिंग के लिए

केसर का उपयोग अक्सर त्वचा को निखारने के लिए किया जाता है। दरअसल, इसमें सनस्क्रिन और मॉइस्चराइजिंग गुण होते हैं। यह एजेंट सूर्य के हानिकारक प्रभाव से होने वाली टैनिंग की समस्या पर लाइटनिंग प्रभाव डाल सकते हैं। वहीं, हमने पहले ही जानकारी दी है कि केसर में सफरनाल नामक यौगिक होता है, जो रंगत को हल्का कर सकता है (1)। इस आधार पर माना जा सकता है कि केसर का रंगत हल्का करने का गुण टैनिंग को कम करने में प्रभावकारी हो सकता है। हालांकि, अगर टैनिंग गहरा है तो बेहतर है इस बारे में त्वचा विशेषज्ञ की सलाह लें।

पढ़ना जारी रखें

त्वचा के लिए केसर के फायदे जानने के बाद अब इसका उपयोग कैसे कर सकते हैं यह जानते हैं।

चेहरे और त्वचा के लिए केसर का उपयोग कैसे करें? – How To Use Saffron For Face And Skin in Hindi

त्वचा के लिए केसर के फायदे लेने के लिए चेहरे पर केसर का उपयोग सही तरीके से करना जरूरी है। नीचे हम चेहरे पर केसर का कुछ अलग-अलग तरीकों से इस्तेमाल करने से जुड़ी जानकारी दे रहे हैं। चेहरे पर केसर लगाने के लिए आप अपनी सुविधा के अनुसार नीचे लिखे निम्न तरीकों में से कोई भी तरीका अपना सकते हैं।

  • केसर के 2-3 रेशे को एक छोटे चम्मच दूध में मिलाकर कॉटन बॉल के द्वारा चेहरे पर लगा सकते हैं।
  • त्वचा पर टोनर की तरह इसका उपयोग गुलाब जल में मिलाकर कर सकते हैं।
  • ग्लोइंग त्वचा के लिए 5 से 6 केसर के रेशे को दो चम्मच मिल्क पाउडर में डालकर थोड़ी मात्रा में पानी मिलाकर पेस्ट बना लें। इसके बाद इसे फेस पैक की तरह त्वचा पर लगाएं और कुछ देर बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें।
  • त्वचा की खूबसूरती निखारने के लिए एक चम्मच चंदन पाउडर में 5 से 6 केसर के रेशे और गुलाब जल मिलाकर फेस पैक बना लें। इस फेस पैक को चेहरे पर अच्छी तरह से लगा लें। इससे त्वचा पर निखार आने के साथ-साथ त्वचा मॉइस्चराइज भी हो सकती है।
  • केसर के 3 से 4 धागे में एक टीस्पून शहद, दो से तीन बूंद दूध, आधा से एक चम्मच चंदन पाउडर मिलाकर उपयोग कर सकते हैं। इससे टैन कम हो सकता है।
  • चाहें तो केसर दूध का सेवन भी कर सकते हैं।

पढ़ते रहें

त्वचा के लिए केसर के फायदों के अलावा इसके साइड इफेक्ट भी कुछ इस प्रकार हैं।

चेहरे पर केसर लगाने के साइड इफेक्ट – Side Effects Of Using Saffron On Your Face in Hindi

केसर ब्यूटी ट्रीटमेंट में बेहद गुणकारी है, लेकिन इसके कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। हालांकि, ये नुकसान न के बराबर हैं, लेकिन यहां सावधानी के तौर पर केसर के कुछ संभावित नुकसानों को साझा कर रहे हैं। केसर या केसर ब्यूटी ट्रीटमेंट नुकसान कुछ इस प्रकार हो सकते हैं:

  • केसर का उपयोग करने के दौरान अगर यह मुंह में चला जाए, तो एलर्जी का कारण बन सकता है (10)
  • संवेदनशील त्वचा पर केसर को लगाने से त्वचा लाल हो सकती है, या हल्के लाल चकत्ते भी पड़ सकते हैं।
  • अगर केसर का सेवन सीमित मात्रा से अधिक किया जाए तो ये सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है (11)

स्क्रॉल करें

चलिए अब जानते हैं, केसर का उपयोग करते वक्त बरती जाने वाली सावधानियां

त्वचा पर केसर का उपयोग करने से पहले बरती जाने वाली सावधानियां – Precautions To Follow Before Using Saffron on Skin in Hindi

लेख में ऊपर बताया गया है कि त्वचा पर केसर के फायदे हैं तो कुछ नुकसान भी हैं। ऐसे में अब स्किन पर इसके साइड इफेक्ट्स से बचाव के लिए केसर का इस्तेमाल करने से पहले कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना भी जरूरी है। ये सावधानियां कुछ इस प्रकार हैं:

  • केसर के नुकसान से बचने के लिए केसर या केसर युक्त कोई भी फेस पैक लगाने से पहले पैच टेस्ट जरूर करें।
  • केसर को खरीदते वक्त उसकी गुणवत्ता की जांच कर लें। कई बार इसमें मिलावट की आशंका रहती है।
  • केसर के तेल का अगर त्वचा पर इस्तेमाल कर रहे हैं, तो इसे कैर्रिएर ऑयल जैसे बादाम का तेल, नारियल तेल या जैतून के तेल में ही मिलाकर उपयोग करें। साथ ही पैच टेस्ट भी जरूर करें।

हम आशा करते हैं कि इस लेख के माध्यम से आप समझ गए होंगे कि केसर के फायदे स्किन के लिए कितने सारे हैं। भले ही यह थोड़ा महंगा है, लेकिन त्वचा को निखारने के लिए इसको थोड़ी मात्रा में तो खरीदा जा ही सकता है। वहीं, केसर ब्यूटी ट्रीटमेंट में इसका अत्यधिक उपयोग त्वचा के लिए नुकसानदायक भी हो सकता है। इसलिए इसको त्वचा पर इस्तेमाल करने से पहले ऊपर लेख में बताई गई सावधानियों का ख्याल जरूर रखें। अब इस लेख को अन्य लोगों के साथ शेयर कर हर किसी को त्वचा के लिए केसर के फायदे से अवगत कराएं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या केसर को सीधे त्वचा पर लगा सकते हैं?

केसर के धागे सीधे त्वचा पर लगाने से वो स्किन पर चिपकेंगे नहीं और इसके गुण त्वचा में अवशोषित नहीं हो पाएंगे। इसलिए बेहतर है केसर को दूध या लेख में बताए गए किसी फेस पैक के साथ मिलाकर लगाएं।

क्या केसर त्वचा की रंगत को गहरा करता है?

नहीं केसर त्वचा की रंगत को गहरा नहीं करता है। इसका उपयोग त्वचा की रंगत को सुधारने व हल्का करने के लिए किया जाता है (1)

क्या केसर डार्क सर्कल्स को दूर करता है?

हां केसर डार्क सर्कल्स को दूर कर सकता है (1)

क्या मैं केसर को अपनी बॉडी क्रीम में मिला सकती हूं?

हां, बॉडी क्रीम में मिलाकर केसर का उपयोग किया जा सकता है। वहीं, त्वचा पर इसका बेहतर प्रभाव पाने के लिए लेख में बताए गए केसर के उपयोग में से किसी भी तरीके को अपना सकते हैं।

क्या केसर त्वचा को चमकदार बना सकता है?

हां केसर त्वचा को चमकदार बना सकता है (5)

कौन सा केसर चेहरे के लिए सबसे अच्छा है?

बाजार में कई तरह के केसर उपलब्ध हैं, जिसमें कश्मीरी केसर को ससबसे शुद्ध और अच्छी गुणवत्ता वाला माना जाता है। ऐसे में कशिमिरी केसर का उपयोग कर सकते हैं। चाहें तो इस बारे में विशेषज्ञ या दुकानदार से भी पूछ सकते हैं।

क्या केसर को रात भर चेहरे पर लगा सकते हैं?

हां, केसर को एक चम्मच पानी के साथ इसके एक दो धागे मिलाकर रात भर लगा सकते हैं।

क्या केसर मुंहासों को दूर कर सकता है?

हां, केसर मुंहासों पर प्रभावकारी हो सकता है (1)

संदर्भ (Sources):

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Therapeutic effects of saffron (Crocus sativus L.) in digestive disorders: a review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4923465/
  2. Saffron: A Herbal Medicine of Third Millennium
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3957135/
  3. Clinical Applications of Saffron (Crocus sativus) and its Constituents: A Review
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24848002/
  4. Does Saffron Have Antisolar and Moisturizing Effects?
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3862060/
  5. Clinical Applications of Saffron (Crocus sativus) and its Constituents: A Review
    https://www.thieme-connect.com/products/ejournals/html/10.1055/s-0034-1375681#R2013- 11-0491REV-0089
  6. The effects of Crocus sativus (saffron) and its constituents on nervous system: A review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4599112/
  7. Oxidative stress and skin diseases: possible role of physical activity
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24568458/
  8. Hyperpigmentation 2
    https://medlineplus.gov/ency/imagepages/2973.htm
  9. The effect of saffron (Crocus sativus) extract for healing of second-degree burn wounds in rats
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/19110531/
  10. Specific IgG antibodies (total and subclasses) against Saffron pollen: a study of their correlation with specific IgE and immediate skin reactions
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/18094441/
  11. Toxicology effects of saffron and its constituents: A review
    https://www.researchgate.net/publication/316084151_Toxicology_effects_of_saffron_and_its_constituents_A_review
Was this article helpful?
thumbsupthumbsup
The following two tabs change content below.
कविता सिंह ने पंजाब तकनीकी विश्वविद्यालय से मास कम्युनिकेशन में स्नातक हैं। इन्होंने वर्ष 2014 में एक प्रख्यात न्यूज चैनल... more

ताज़े आलेख