त्वचा के लिए टी ट्री ऑयल के फायदे – Benefits Of Tea Tree Oil for Skin in Hindi

Written by

आजकल हर तरह के कॉस्मेटिक प्रोडक्ट में टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल होने लगा है। आखिर स्किन के लिए टी ट्री ऑयल के फायदे क्या हैं कि इसे ब्यूटी संबंधी अधिकतम उत्पाद में सामग्री के रूप में जगह मिल रही है। इस बात को जानने के लिए स्टाइलक्रेज के इस लेख को पढ़ें। यहां हमने टी ट्री ऑयल के ब्यूटी बेनिफिट्स के बारे में रिसर्च क्या कहती है, यह विस्तार से बताया है। साथ ही टी ट्री ऑयल को इस्तेमाल करते हुए किन बातों का ख्याल रखना चाहिए, इसका भी जिक्र किया है।

शुरू करते हैं लेख

चलिए, सबसे पहले पढ़ते हैं कि टी ट्री ऑयल त्वचा के लिए कैसे फायदेमंद है।

क्यों फायदेमंद है टी ट्री ऑयल आपकी त्वचा के लिए?

टी ट्री ऑयल में अनगिनत गुण होते हैं, जिनकी वजह टी ट्री ऑयल के ब्यूटी बेनिफिट्स होते हैं। इसका इस्तेमाल कॉस्मेटिक इंडस्ट्री में भी सालों से किया जा रहा है। इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी फंगल व एंटी बैक्टीरियल प्रभाव मौजूद हैं। ये प्रभाव त्वचा को हानिकारक बैक्टीरिया और फंगस से बचा सकते हैं। साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट गतिविधि भी होती है। इन सबके कारण टी ट्री ऑयल त्वचा के लिए काफी लाभकारी साबित हो सकता है (1)।

पढ़ते रहें लेख

चलिए, आगे जानते हैं कि टी ट्री ऑयल से स्किन को क्या-क्या फायदे होते हैं।

टी ट्री ऑयल के ब्यूटी बेनिफिट्स : Amazing Benefits Of Using Tea Tree Oil For The Face And Skin in Hindi

टी ट्री ऑयल को त्वचा के लिए काफी अच्छा माना जाता है। शायद इसी वजह से कई कॉस्मेटिक्स में टी ट्री ऑयल को बतौर सामग्री इस्तेमाल किया जाता है। आगे जानिए क्या हैं टी ट्री ऑयल के ब्यूटी बेनिफिट्स।

1. एक्ने

एक्ने के लिए टी ट्री ऑयल और इससे युक्त प्रोडक्ट को लाभकारी माना जाता है। एक रिसर्च में बताया गया है कि टी ट्री ऑयल में एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी माइक्रोबियल प्रभाव होते हैं। इन दोनों को एक्ने व पिंपल को दूर करने में फायदेमंद माना जाता है। शोध में कहा गया है कि इसका इस्तेमाल मुंहासों के इलाज के लिए बनने वाले जेल में भी किया जाता है। इस तेल के उपयोग से हल्के से लेकर मध्यम एक्ने से राहत पाई जा सकती है (2)।

2. इंफ्लेमेशन

टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल करके इंफ्लेमेशन यानी सूजन संबंधी समस्या को दूर किया जा सकता है। स्किन पर टी ट्री ऑयल के असर को लेकर हुए एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) द्वारा पब्लिश शोध के अनुसार, इसमें असरदार एंटी इंफ्लेमेटरी प्रभाव होता है (1)। एक अन्य रिसर्च में कहा गया है कि इसमें मौजूद टेरपिनेन-4-ओएल और अल्फा-टेरपिनोल जैसे कई सारे कंपाउंड एंटी इंफ्लेमेटरी प्रभाव प्रदर्शित करते हैं (3)। इस प्रभाव के कारण यह स्किन संबंधी सूजन को कम करने में मददगार साबित हो सकता है (4)।

3. सोरायसिस

सोरायसिस यानी छाल रोग में भी टी ट्री ऑयल को फायदेमंद माना जाता है। इससे संबंधित एक रिसर्च पेपर में कहा गया है कि इस तेल में प्रभावी एंटी सोरायसिस एजेंट हो सकते हैं। दरअसल, इसमें टेरपिनेन-4-ओएल कंपाउंड सबसे ज्यादा होता है। इसको सोरायसिस से राहत दिलाने के लिए जाना जाता है। यह कंपाउंड एंटी इंफ्लेमेटरी प्रभाव भी प्रदर्शित करता है, जिसे सोरायसिस के लिए भी अच्छा माना गया है (5)। साथ ही सोरायसिस के लिए बनाए जाने वाले डुर्रडर्मा जैसे हर्बल पेस्ट में भी टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल किया जाता है (6)।

4. एंटी फंगल और एंटीसेप्टिक प्रभाव

टी ट्री ऑयल में एंटी फंगल और एंटीसेप्टिक दोनों प्रभाव होते हैं। इससे संबंधित एक रिसर्च के अनुसार, टी ट्री ऑयल की एंटी फंगल गतिविधि कई फंगल इंफेक्शन से राहत दिलाने में प्रभावी हो सकती है। बताया जाता है कि इस प्रभाव के कारण यह नाखून से संबंधित फंगल इंफेक्शन से कुछ राहत दिला सकता है (7)। साथ ही इसमें कीटाणुओं को मारने वाला एंटीसेप्टिक प्रभाव भी होता है। इसी प्रभाव के कारण हाथों को कीटाणुओं से मुक्त रखने का दावा करने वाले हैंड वॉश में भी टी ट्री ऑयल का उपयोग किया जाता है (3)।

5. ऑयली स्किन के लिए

टी ट्री ऑयल के ब्यूटी बेनिफिट्स में तैलीय त्वचा के अधिक तेल को कम करना भी शामिल है। जी हां, ऑयली स्किन से परेशान लोग भी टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसका इस्तेमाल कई स्किन क्लींजिंग प्रोडक्ट में भी खासतौर से स्किन ऑयल कंट्रोल करने के लिए किया जाता है (8)। एक अन्य रिसर्च में भी टी ट्री ऑयल को तैलीय स्किन के लिए अच्छा बताया गया है (9)।

6. एक्जिमा के लिए

त्वचा संबंधित एक्जिमा जैसी परेशानी से राहत पाने के लिए भी टी ट्री ऑयल का उपयोग किया जा सकता है। एक्जिमा का अर्थ है त्वचा में चकत्ते और पपड़ी के साथ ही सूजन होना। इससे संबंधित एनसीबीआई द्वारा पब्लिश रिसर्च पेपर में लिखा है कि टी ट्री ऑयल में असरदार एंटी एक्जिमा प्रभाव होता है। रिसर्च में तो टी ट्री ऑयल को जिंक ऑक्साइड और क्लोबेटासोन ब्यूटिरेट जैसी प्रभावी दवाओं से भी ज्यादा असरदार बताया गया है (10)।

लेख में बने रहें

टी ट्री ऑयल के ब्यूटी बेनिफिट्स के बाद आगे पढ़िए कि टी ट्री ऑयल का उपयोग स्किन और त्वचा के लिए किस तरह से किया जाता है।

त्वचा के लिए टी ट्री ऑयल का उपयोग कैसे करें – How To Use Tea Tree Oil For Face And Skin in Hindi

स्किन पर टी ट्री ऑयल का उपयोग सही तरीके से करने पर ही इसके फायदे मिलते हैं। इसी वजह से इसके उपयोग को जानना जरूरी है, जिसके बारे में आप नीचे पढ़ सकते हैं।

  • टी ट्री ऑयल को फेस पैक में मिलाकर उपयोग कर सकते हैं।
  • इस तेल की कुछ बूंदों को एक कटोरी पानी में डालकर चेहरा साफ किया जा सकता है।
  • गुलाब जल में टी ट्री ऑयल डालकर स्किन टोनर की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं
  • बाल्टी में इस तेल की पांच-छह बूंदें डालकर नहा सकते हैं।
  • नारियल और जैतून का तेल में टी ट्री ऑयल की दो-तीन बूंदें डालकर स्किन में लगा सकते हैं।

लेख में आगे बढ़ें

अगले भाग में जानिए टी ट्री ऑयल के उपयोग से जुड़ी कुछ सावधानियां

टी ट्री ऑयल से जुड़ी सावधानियां – Precautions To Follow Before Using Tea Tree Oil on Skin in Hindi

बेशक, टी ट्री ऑयल के फायदे कई हैं, लेकिन इसका उपयोग त्वचा पर करने से पहले कुछ सावधानियां बरतना जरूरी है।

  • टी ट्री ऑयल को सीधे त्वचा पर कभी भी नहीं लगाना चाहिए। इसे पानी या किसी अन्य तेल में डालकर पतले करें और तब स्किन पर लगाएं।
  • अगर टी ट्री ऑयल की मात्रा एक से दो बूंद है, तो उसमें पानी या अन्य तेल तकरीबन 12 बूंद होना चाहिए।
  • चेहरे पर इसे लगाते समय आंखों को हमेशा बचाए रखें।
  • इसे स्किन पर लगाने से पहले पैच टेस्ट कर लें। इससे यह पता चल जाएगा कि यह स्किन पर नकारात्मक प्रतिक्रिया दिखाता है या नहीं।

बने रहें हमारे साथ

अब एक नजर टी ट्री ऑयल से होने वाले नुकसान पर डाल लेते हैं।

टी ट्री ऑयल के नुकसान – Side Effects Of Using Tea Tree Oil On Your Face in Hindi

वैसे तो टी ट्री ऑयल को सीमित मात्रा में सावधानी से उपयोग करना सुरक्षित ही होता है। हां, इसका अधिक उपयोग करने से कुछ नुकसान हो सकते हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं (9) (11)।

त्वचा के लिए टी ट्री ऑयल क्यों फायदेमंद माना जाता है, यह तो आप समझ ही गए होंगे। बस थोड़ी सी सावधानी के साथ इस तेल का उपयोग करके स्किन के लिए टी ट्री ऑयल के लाभ उठाए जा सकते हैं। इसी वजह से लेख में बताई गई टी ट्री ऑयल से जुड़ी सावधानियों और नुकसान पर जरूर गौर करें। साथ ही इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ साझा करके उन्हें टी ट्री ऑयल के फायदे के बारे में बताएं, ताकि वो भी स्किन संबंधी समस्या से बचे रहें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या टी ट्री ऑयल त्वचा को काला कर सकता है?

नहीं, किसी रिसर्च में इस बात का जिक्र नहीं मिलता है कि टी ट्री ऑयल से त्वचा काली पड़ सकती है। हां, यह एक्ने को ठीक करता है। एक्ने ठीक होने के बाद उसके काले निशान से लोगों को लग सकता है कि टी ट्री ऑयल से स्किन काली हो रही है। बस ध्यान दें कि टी ट्री ऑयल को सीधे त्वचा पर इस्तेमाल नहीं करना है। इसमें पानी की बूंद, गुलाब जल या अन्य तेल मिलाकर ही उपयोग करें।

क्या मैं हर दिन अपने चेहरे पर टी ट्री तेल का उपयोग कर सकता हूं?

हां, इसे पतला करके यानी किसी अन्य तेल या पानी में मिलाकर रोजाना एक बार लगा सकते हैं। ध्यान दें कि इसकी एक या दो से अधिक बूंद का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

क्या टी ट्री ऑयल त्वचा के लिए सुरक्षित है?

हां, टी ट्री ऑयल त्वचा के लिए सुरक्षित है, लेकिन ज्यादा इस्तेमाल करने से इससे त्वचा में जलन, चुभन, खुजली, लालिमा और रूखेपन का एहसास हो सकता है (10)।

कब तक अपने चेहरे पर टी ट्री ऑयल लगाकर छोड़ सकते हैं?

टी ट्री ऑयल को किसी क्रीम, तेल या पानी में मिलाकर तकरीबन 6 घंटे के लिए छोड़ सकते हैं।

क्या टी ट्री ऑयल से काले धब्बे दूर हो सकते हैं?

नहीं, टी ट्री ऑयल से काले धब्बे दूर नहीं हो सकते।

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. A review of applications of tea tree oil in dermatology
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22998411/
  2. Tea tree oil gel for mild to moderate acne a 12 week uncontrolled open-label phase II pilot study
    https://onlinelibrary.wiley.com/doi/pdf/10.1111/ajd.12465
  3. Melaleuca alternifolia (Tea Tree) Oil: a Review of Antimicrobial and Other Medicinal Properties
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC1360273/
  4. Tea tree oil reduces histamine-induced skin inflammation
    https://onlinelibrary.wiley.com/doi/abs/10.1046/j.1365-2133.2002.05034.x
  5. Tea tree oil as a novel antipsoriasis weapon
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22473218/
  6. A case series of the effects of a novel composition of a traditional natural preparation for the treatment of psoriasis
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5067857/
  7. Antifungal activity of the essential oil of Melaleuca alternifolia (tea tree oil) against pathogenic fungi in vitro
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/9055360/
  8. Development and Preliminary Cosmetic Potential Evaluation of Melaleuca alternifolia cheel (Myrtaceae) Oil and Resveratrol for Oily Skin
    https://clinmedjournals.org/articles/ijdrt/journal-of-dermatology-research-and-therapy-ijdrt-2-032.php?
  9. An Overview on Tea Tree (Melaleuca Alternifolia) Oil
    https://eijppr.com/storage/models/article/ghKc7OvScRawdtASi05OTQIJvSPgU5BEDsPAdEGZShNEqqzkLxwIrz4Fxy5j/an-overview-on-tea-tree-melaleuca-alternifolia-oil.pdf
  10. Tea tree oil attenuates experimental contact dermatitis
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/20865268/
  11. Tea Tree Oil
    https://www.sciencedirect.com/topics/immunology-and-microbiology/tea-tree-oil
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.
अर्पिता ने पटना विश्वविद्यालय से मास कम्यूनिकेशन में स्नातक किया है। इन्होंने 2014 से अपने लेखन करियर की शुरुआत की थी। इनके अभी तक 1000 से भी ज्यादा आर्टिकल पब्लिश हो चुके हैं। अर्पिता को विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद है, लेकिन उनकी विशेष रूचि हेल्थ और घरेलू उपचारों पर लिखना है। उन्हें अपने काम के साथ एक्सपेरिमेंट करना और मल्टी-टास्किंग काम करना पसंद है। इन्हें लेखन के अलावा डांसिंग का भी शौक है। इन्हें खाली समय में मूवी व कार्टून देखना और गाने सुनना पसंद है।

ताज़े आलेख