क्या जीएम डाइट बढ़ते वजन को कम करने में मदद करता है? – GM Diet For Weight Loss in Hindi

by

बढ़ते वजन को रोकने के लिए लोग कई तरह के उपाय करते हैं, जिसमें अधिक समय तक किया गया व्यायाम, जरूरत से कम भोजन करना और महंगे वेट लॉस सप्लिमेंट शामिल हैं। इसके अलावा, कुछ लोग प्रॉपर डाइट प्लान का पालन भी करते हैं, जिसमें एक नाम जीएम डाइट का भी है। यह डाइट प्लान आपके लिए नया हो सकता है। यही वजह है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम वजन कम करने लिए जीएम डाइट के फायदे बताने जा रहे हैं। इसके अलावा, इस लेख में जीएम डाइट में खाए जाने वाले खाद्य पदार्थ और जीएम डाइट के नुकसान के बारे में भी जानकारी दी गई है।

अधिक जानकारी के लिए पढ़ते रहें यह लेख।

सबसे पहले विस्तार से समझिए कि जीएम डाइट क्या है।

जीएम डाइट क्या है? – What Is GM Diet In Hindi

1985 में जनरल मोटर्स नाम की एक अमेरिकन कंपनी ने अपने कर्मचारियों की सेहत को ध्यान में रखते हुए एक खास डाइट प्लान बनाया था, जिसे ‘जीएम डाइट प्लान’ नाम दिया गया। इस डाइट में कम कैलोरी वाले आहार और अधिक पानी का सेवन करने की सलाह दी जाती है। माना जाता है कि सात दिन का यह डाइट प्लान लगभग 6-7 किलो तक वजन कम करने में मदद कर सकता है। फिलहाल, जीएम डाइट के फायदे पर कोई वैज्ञानिक शोध उपलब्ध नहीं है। इस कारण जीएम डाइट का पालन करने से पहले डाइटीशियन से संपर्क जरूर करें।

जीएम डाइट के फायदे जानने के लिए पढ़ते रहें यह लेख।

लेख के अगले भाग में जानिए जीएम डाइट के फायदे।

जीएम डाइट प्लान के फायदे – GM Diet Plan Benefits In Hindi

माना जाता है कि यह डाइट मोटापे को नियंत्रित करने में मदद कर सकती है। देखा जाए तो जीएम डाइट के फायदे के पीछे इस डाइट के दौरान सेवन करने वाले खाद्य और पेय पदार्थ शामिल हैं। वजन नियंत्रण के साथ यह और भी कई तरीके से फायदेमंद हो सकती है।

1. वजन नियंत्रित करे

माना जाता है कि जरूरत से ज्यादा कैलोरी, मोटापे का कारण बनती है (1)। जैसा कि जीएम डाइट के परिचय में हम बता चुके हैं कि इस डाइट में कम कैलोरी का सेवन करने की सलाह दी जाती है। इसका फायदा यह है कि शरीर को सीमित मात्रा में कैलोरी मिलती है और इससे वजन नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है।

2. पाचन शक्ति को बेहतर बनाए

जीएम डाइट में ऐसे कई खाद्य पदार्थों को शामिल किया जाता है, जो फाइबर से भरपूर होते हैं, जैसे साबुत अनाज, गाजर, खीरा, सेब, स्ट्रॉबेरी आदि (2)। फाइबर पाचन में मदद करता है और कब्ज की समस्या से आराम दिलाने में मदद कर सकता है (3)। इस प्रकार जीएम डाइट के फायदे पाचन शक्ति को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं।

3. शरीर को डिटॉक्स करे

शरीर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए पानी पीना बहुत जरूरी है। यह मूत्र, पसीने और मल के माध्यम से शरीर से अनावश्यक पदार्थ निकालने में मदद करता है। इसके साथ ही, यह शरीर का वजन नियंत्रित करने में और उसे हाइड्रेट रखने में भी मदद कर सकता है। जीएम डाइट प्लान में ऐसे फल, जैसे मेलन (खरबूज और तरबूज), टमाटर आदि शामिल किए गए हैं, जिनमें पानी की भरपूर मात्रा पाई जाती है (4)। इन फलों के साथ ही, इस डाइट में एक दिन में लगभग 8 से 12 गिलास पानी पीने से सलाह भी दी जाती है।

4. स्वास्थ्य के लिए लाभदायक

मोटापा, कई तरह की बीमारियों (मधुमेह, उच्च रक्तचाप, हृदय रोग, लिवर और किडनी से जुड़ी समस्याएं) का कारण बन सकता है। साथ ही यह गर्भावस्था के दौरान सी-सेक्शन का जोखिम भी बढ़ा सकता है (5)। ऐसे में, जीएम डाइट के फायदे वजन नियंत्रित करने के साथ, मोटापे के कारण होने वाली समस्याओं से बचाने में भी मदद कर सकते हैं। इस प्रकार कहा जा सकता है कि जीएम डाइट प्लान पूरे शरीर के लिए लाभदायक हो सकता है। फिलहाल, इससे जुड़ा कोई वैज्ञानिक प्रमाण मौजूद नहीं है।

अब बढ़ाते हैं सेहतमंद वजन की ओर कदम।

यह जानने के बाद कि जीएम डाइट क्या है, आगे जानिए इन सात दिनों में क्या-क्या खाया जा सकता है।

जीएम डाइट में खाए जाने वाले खाद्य पदार्थ – Foods to Eat on the GM Diet In Hindi

1. पहला दिन – सोमवार

  • केले के अलावा सभी तरह से फल

2. दूसरा दिन – मंगलवार

  • मटर, कॉर्न, गाजर, आलू के अलावा सभी सब्जियां
  • भरपूर मात्रा में हरी पत्तेदार सब्जियां, पत्तागोभी, शिमला मिर्च और प्याज

3. तीसरा दिन – बुधवार

  • फल जैसे तरबूज, सेब, कीवी, खरबूज और संतरे
  • कार्बोहाइड्रेट, फ्लूइड और डाइट्री फाइबर से भरपूर आहार
  • आलू, केला, मटर, कॉर्न और गाजर का सेवन न करें
  • शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए सलाद, उबली हुई सब्जियां और पर्याप्त पानी पिएं

4. चौथा दिन – गुरुवार

  • सोडियम और पोटेशियम से भरपूर आहार
  • फैट-फ्री दूध

5. पांचवा दिन – शुक्रवार

  • प्रोटीन और आयरन से समृद्ध आहार
  • ब्राउन राइस की जगह पनीर खाया जा सकता है।
  • नॉन वेजिटेरियन ब्राउन राइस/पनीर के साथ फिश या चिकन का सेवन कर सकते हैं।

6. छठा दिन – शनिवार

  • प्रोटीन और फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थ
  • आलू का सेवन न करें
  • नॉन-वेजीटेरियन ब्राउन राइस/ पनीर के साथ फिश या चिकन का सेवन कर सकते हैं।

7. सातवा दिन – रविवार

  • ब्राउन राइस
  • आलू के अलावा सभी सब्जियां
  • केले के अलावा सभी फल
  • फ्रेश फ्रूट जूस

है न यह रोचक?

लेख के अगले भाग में जानिए जीएम डाइट में सात दिनों का मील प्लान।

जीएम डाइट में सात दिनों का मील प्लान – Sample 7 Days GM Diet Plan In Hindi

जीएम डाइट में ऊपर बताए गए खाद्य पदार्थों को कैसे शामिल करना है, यह जानकारी नीचे जीएम डाइट मील प्लान में बताई जा रही है।

पहला दिन – सोमवार

समयक्या खाएं
सुबह उठने के बादएक गिलास पानी
नाश्ता (8 a.m)एक बाउल मेलन (खरबूजा या तरबूज) + दो गिलास पानी
मिड मोर्निंग स्नैक (10:30 a.m)एक चौथाई बाउल कीवी/संतरे या दोनों मिक्स + एक गिलास पानी
लंच (12:30 p.m)एक बड़ा बाउल भरकर फल + दो गिलास पानी
इवनिंग स्नैक्स (4:00 p.m)एक चौथाई बाउल स्ट्रॉबेरी/ब्लूबेरी/संतरे + आम की एक स्लाइस + एक गिलास पानी
डिनर (6:30 p.m)एक बाउल तरबूज + एक सेब + दो गिलास पानी
मिड मील स्नैक (8:30 p.m)सेब/नाशपाती की एक स्लाइस + कुछ अंगूर + संतरे + बेरी + एक/दो गिलास पानी

दूसरा दिन – मंगलवार

समयक्या खाएं
सुबह उठने के बादएक गिलास पानी
नाश्ता (8 a.m)एक मध्यम आकार का उबला आलू या दो मध्यम आकार के शकरकंद + दो से तीन गिलास पानी
मिड मोर्निंग स्नैक (10:30 a.m)एक बाउल उबली हुई पत्तागोबी/सलाद पत्ता + दो गिलास पानी
लंच (12:30 p.m)एक बड़ा बाउल सलाद + चेरी टमाटर + तीन गिलास पानी
इवनिंग स्नैक्स (4:00 p.m)आधा बाउल चेरी टमाटर + ब्रोकोल्ली + दो गिलास पानी + एक गिलास नींबू पानी
डिनर  (6:30 p.m)एक बाउल बेक्ड या उबली हुई ब्रोकली+ पालक + खीरा + तुरई + केल (एक चुटकी नमक और काली मिर्च के साथ)
मिड मील स्नैक (8:30 p.m)आधा खीरा + दो से तीन गिलास पानी

तीसरा दिन – बुधवार

समयक्या खाएं
सुबह उठने के बादएक गिलास पानी
नाश्ता (8 a.m.)एक बाउल फल + एक चेरी टमाटर या एक कप सेब/अनानास + दो गिलास पानी
मिड मोर्निंग स्नैक (10:30 a.m)एक चौथाई बाउल संतरे/कीवी + पत्तागोभी/ब्रोकली  + एक गिलास पानी
लंच (12:30 p.m)एक बड़ा बाउल सलाद + एक चेरी टमाटर या संतरा + दो गिलास पानी
इवनिंग स्नैक (4:00 p.m)एक बाउल स्ट्रॉबेरी/ब्लूबेरी/संतरा/खीरा/पालक/टमाटर + एक गिलास पानी
डिनर  (6:30 p.m)एक बाउल तरबूज, खीरा, सलाद पत्ता और ब्रोकली मिक्स + दो गिलास पानी

चौथा दिन – गुरुवार

समयक्या खाएं
सुबह उठने के बादएक गिलास पानी
नाश्ता (8 a.m)एक केला + दो से तीन गिलास पानी
मिड मोर्निंग स्नैक (10:30 a.m)वंडर सूप (प्याज,शिमला मिर्च, टमाटर, पत्तागोभी, अजवाइन के पत्ते और पानी) + दो गिलास पानी + एक गिलास गुनगुना दूध (इसे दो हिस्सों में पिएं)
लंच (12:30 p.m)वंडर सूप + दो केले + तीन गिलास पानी
इवनिंग स्नैक्स (4:00 p.m)एक केले का शेक + एक गिलास पानी
डिनर  (6:30 p.m.)दो केले और एक गिलास दूध या बनाना शेक
खाने के आधे घंटे बाद और सोने के बीचएक गिलास नींबू पानी या दो से तीन गिलास पानी

पांचवा दिन – शुक्रवार

समयक्या खाएं
सुबह उठने के बादएक गिलास पानी
नाश्ता (8 a.m)आधा बाउल ग्रिल्ड पनीर या दो अंडे और एक टमाटर + दो से तीन गिलास पानी
मिड मोर्निंग स्नैक (10:30 a.m)एक बाउल वंडर सूप + आधा छोटा बाउल पनीर और टमाटर + तीन गिलास पानी
लंच (12:30 p.m)एक बाउल मैश पनीर + नमक और काली मिर्च + तीन गिलास पानी
इवनिंग स्नैक (4:00 p.m)एक बाउल टमाटर-सोया/चिकन सूप + एक गिलास पानी
डिनर  (6:30 p.m)चिकन ब्राउन राइस या टोमेटो राइस
खाने के आधे घंटे बाद और सोने के बीचदो से तीन गिलास पानी

छठा दिन – शनिवार

समयक्या खाएं
सुबह उठने के बादएक गिलास पानी
नाश्ता (8 a.m)आधा बाउल ग्रिल्ड पनीर या दो उबले अंडे और उबली हुई सब्जियां + दो से तीन गिलास पानी
मिड मोर्निंग स्नैक (10:30 a.m)एक बाउल वंडर सूप + कम फ्राई सब्जियां + दो गिलास पानी
लंच (12:30 p.m)एक बाउल मैश पनीर (नमक और काली मिर्च के साथ) या आधा बाउल ग्रिल्ड चिकन + तीन गिलास पानी
इवनिंग स्नैक (4:00 p.m)एक बाउल सोया – वेजिटेबल/चिकन सूप + दो से तीन गिलास पानी
डिनर  (6:30 p.m)वेजिटेबल या चिकन ब्राउन राइस
खाने के आधे घंटे बाद और सोने के बीचदो से तीन गिलास पानी

सातवा दिन – रविवार

समयक्या खाएं
सुबह उठने के बादएक गिलास पानी
नाश्ता (8 a.m)एक बाउल सब्जी के साथ ब्राउन राइस + फ्रूट्स + दो से तीन गिलास पानी
मिड मोर्निंग स्नैक (10:30 a.m)एक बाउल वंडर सूप + फल + दो से तीन गिलास पानी
लंच (12:30 p.m)एक बाउल ब्राउन राइस + वेजिटेबल सूप + दो-तीन गिलास पानी
इवनिंग स्नैक (4:00 p.m)एक बाउल फल + एक गिलास फ्रेश जूस + दो से तीन गिलास पानी
डिनर  (6:30 p.m)एक बाउल फल और उबली हुई सब्जियां + वेजिटेबल सूप
खाने के आधे घंटे बाद और सोने के बीचदो से तीन गिलास पानी

यकीन मानिए आप यह कर सकते हैं।

आगे जानिए जीएम डाइट के फायदे उठाने के लिए किन खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए।

जीएम डाइट में इन खाद्य पदार्थों को खाने से बचें – Foods to Avoid on the GM Diet In Hindi

वजन कम करने के लिए नीचे बताए गए खाद्य पदार्थों का सेवन न करने की सलाह दी जाती है:

  • अल्कोहल
  • सोडा और कोल्ड ड्रिंक
  • पैकटबंद खाद्य और पेय पदार्थ
  • जंक फूड्स
  • जरूरत से अधिक नमक

फायदे के बाद चलिए अब बात करते हैं कि वजन कम करने में यह डाइट कितनी सहायक है।

क्या जीएम डाइट बढ़ते वजन को कम करने में मददगार है या नहीं?

वैज्ञानिक प्रमाण के अभाव में यह कहना मुश्किल है कि वजन घटाने में यह डाइट प्लान कितना कारगर होगा। इस डाइट प्लान में तरल पदार्थों पर अधिक जोर दिया गया है, जबकि स्वस्थ तरीके से वजन नियंत्रित करने के लिए संतुलित आहार और सही व्यायाम की भी जरूरत होती है (6)। अच्छा होगा कि इस विषय में डाइटिशियन से सलाह ली जाए।

लेख के अगले भाग में जानिए जीएम डाइट के नुकसान के बारे में।

जीएम डाइट प्लान के नुकसान – GM Diet Plan Side Effect In Hindi

जीएम डाइट के फायदे के साथ नुकसान भी हैं, जिनके बारे में नीचे बताया गया है।

शोध की कमी – जीएम डाइट के नुकसान में सबसे ऊपर यह आता है कि इस पर कोई वैज्ञानिक शोध उपलब्ध नहीं है। इस कारण यह नहीं कहा जा सकता कि इसके प्रभाव कितने सकारात्मक या नुकसानदायक होंगे।

पोषक तत्वों की कमी – इस डाइट प्लान में सभी पोषक तत्वों को शामिल नहीं किया गया है। इसमें विटामिन और कुछ प्रकार के मिनरल (जैसे जिंक और मैग्नीशियम) आदि का जिक्र नहीं है।

अस्थायी वेट लॉस – जीएम डाइट के नुकसान की बात करें तो यह स्वस्थ तरीके से वजन कम करने में मदद नहीं करता। इसमें संतुलित आहार के साथ वजन कम करने वाले व्यायाम का जिक्र भी नहीं किया गया है।

इस लेख में जरिए आपको इस बात का अंदाजा हो गया होगा कि वजन घटाने के लिए जीएम डाइट क्या है। इसके अलावा, इसमें खाए जाने और न खाए जाने वाले खाद्य पदार्थों के बारे में भी आपको जानकारी हो गई होगी। जैसा कि हमने ऊपर बताया कि जीएम डाइट के फायदे को लेकर कोई वैज्ञानिक प्रमाण मौजूद नहीं है, इसलिए जीएम डाइट के नुकसान से बचने के लिए डॉक्टर या किसी अनुभवी डाइटिशियन से संपर्क जरूर करें। हम उम्मीद करते हैं कि यह लेख आपके लिए मददगार साबित होगा। आगे जानिए जीएम डाइट को लेकर अक्सर पूछे जाने वाले सवालों के जवाब।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

जीएम डाइट कितना वजन कम करने में मदद कर सकती है?

माना जाता है कि जीएम डाइट की मदद से एक हफ्ते में लगभग 6-7 किलो वजन कम किया जा सकता है, लेकिन इस पर कोई वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है।

क्या जीएम आहार पेट की चर्बी कम करने में मदद करती है?

जीएम डाइट पेट की चर्बी कम करने में मदद कर सकती है, लेकिन यह किस प्रकार काम करती है, इसपर सटीक वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है।

जीएम डाइट सूप क्या है?

जीएम डाइट सूप को ही वंडर सूप कहा जाता है। जिसमें प्याज, शिमला मिर्च, टमाटर, पत्तागोभी, अजवाइन के पत्ते और नमक का इस्तेमाल किया जाता है।

जीएम से मेरा वजन कम क्यों नहीं हो रहा?

संतुलित आहार और व्यायाम की कमी के अलावा, मोटापे के अन्य कारण भी हो सकते हैं जैसे आनुवंशिक, कोई बीमारी या किसी दवा के कारण आदि (8)। ऐसे में मोटापे की वजह जानकर उसके अनुसार वजन नियंत्रण का उपाय किया जा सकता है।

जीएम डाइट में टमाटर की जगह क्या उपयोग कर सकते हैं?

अगर किसी को टमाटर नहीं पसंद तो उसकी जगह खीरे का उपयोग किया जा सकता है। इन दोनों में पानी की मात्रा ज्यादा और कैलोरी की मात्रा कम पाई जाती है (9) (10)। इस कारण इन दोनों को एक दूसरे की जगह इस्तेमाल किया जा सकता है।

क्या मैं जीएम डाइट में नमक का सेवन कर सकती हूं?

जी हां, जीएम डाइट में नमक का सेवन कम मात्रा में किया जा सकता है।

क्या मैं जीएम डाइट में अंडे खा सकती हूं?

जी हां, जीएम डाइट प्लान के पांचवे और छठे दिन आप एक से दो उबले अंडे खा सकती हैं।

और पढ़े:

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Soumya Vyas

सौम्या व्यास ने माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय, भोपाल से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में बीएससी किया है और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ जर्नलिज्म एंड न्यू मीडिया, बेंगलुरु से टेलीविजन मीडिया में पीजी किया है। सौम्या एक प्रशिक्षित डांसर हैं। साथ ही इन्हें कविताएं लिखने का भी शौक है। इनके सबसे पसंदीदा कवि फैज़ अहमद फैज़, गुलज़ार और रूमी हैं। साथ ही ये हैरी पॉटर की भी बड़ी प्रशंसक हैं। अपने खाली समय में सौम्या पढ़ना और फिल्मे देखना पसंद करती हैं।

ताज़े आलेख

scorecardresearch