वजन घटाने के लिए लौकी के जूस का सेवन – Lauki Ka Juice For Weight Loss in Hindi

Written by

बढ़ता वजन मोटापे की समस्या को जन्म दे सकता है, जो आगे चलकर कई गंभीर बीमारियों का कारण बन सकता है। उच्च रक्तचाप, हृदय रोग, मधुमेह, कोलेस्ट्रॉल की अधिकता और कैंसर जैसी कई बीमारियां हैं, जिनका मुख्य कारण मोटापा ही है (1)। इन बीमारियों के जोखिम को कम करने के लिए वजन को नियंत्रित रखना जरूरी है। ऐसे में वजन को संतुलित रखने के लिए एक सामान्य सी सब्जी ‘लौकी’ उपयोगी हो सकती है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आपके लिए लौकी का जूस फॉर वेट लॉस लेकर आए हैं। यहां हम यह भी बताएंगे कि लौकी का जूस कब पीना चाहिए। साथ ही लौकी का जूस कैसे बनाते हैं, इसकी जानकारी भी मिलेगी।

शुरू करते हैं लेख

चलिए सीधे जान लेते हैं, वजन कम करने के लिए लौकी का जूस क्यों फायदेमंद है।

वजन घटाने में लौकी का जूस क्यों फायदेमंद है? – Bottle Gourd (Lauki) Juice for Weight Loss in Hindi

अगर हम लौकी और इसके जूस के फायदे की बात करें, तो यह स्वास्थ्य के लिहाज से बहुत लाभकारी माना जा सकता है। बता दें कि लौकी के जूस में एंटी ओबेसिटी गुण यानी मोटापा कम करने का गुण मौजूद होता है, जो वजन नियत्रंण करने में काफी हद तक मददगार साबित हो सकता है (2)। वहीं, लेख में आगे हमने वजन घटाने के लिए लौकी के फायदों के बारे में विस्तार से जानकारी दी है:

1. फाइबर से भरपूर

लौकी के जूस में उच्च मात्रा में फाइबर होता है, जो वजन को कम करने के लिए कारगर माना जाता है (3)। बता दें कि फाइबर के सेवन से पेट अधिक समय तक भरा-भरा महसूस होता है, जिससे भूख में कमी हो सकती है। इसलिए, यह वजन नियंत्रण में मदद कर सकता है (4)। इस आधार पर कह सकते हैं कि लौकी का जूस फॉर वेट लॉस मददगार हो सकता है।

2. एंटी ऑक्सीडेंट

वजन घटाने के लिए लौकी का जूस इसलिए भी फायदेमंद है, क्योंकि लौकी का जूस फ्लेवोनोइड (Flavonoid) जैसे एंटीऑक्सीडेंट का समृद्ध स्रोत है (5)। बता दें कि फ्लेवोनोइड अपने आप में बायोएक्टिव कंपाउंड होते हैं, जो मोटापे से बचाव के लिए उपयोगी हो सकते हैं। वजन कम करने के लिए फ्लेवोनोइड युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन की सलाह दी जा सकती है (6)

3. प्रोटीन

वजन घटाने के लिए प्रोटीन बेहद लाभकारी माना जाता है। बता दें कि लौकी के जूस में भी प्रोटीन की अच्छी मात्रा पाई जाती है (5)। प्रोटीन के अधिक सेवन से वजन को कम किया जा सकता है। बताया जाता है कि प्रोटीन लंबे समय तक पेट को भरा-भरा सा महसूस करा सकता है। ऐसे में प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ का सेवन भोजन करने की इच्छा को कम करने के लिए किया जा सकता है (7)। यह प्रक्रिया वजन घटाने में मददगार साबित हो सकती है। इसके अलावा, वजन संतुलित रखने या वजन कम करने की डाइट में भी प्रोटीन को शामिल करने की बात सामने आई है (8)। हालांकि, अगर प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ के सेवन को लेकर मन में संशय हो तो इस बारे में एक्स्पर्ट की राय भी ले सकते हैं।

4. कैलोरी

बॉटल गॉर्ड जूस फॉर वेट लॉस इसलिए भी कारगर माना जा सकता है, क्योंकि इसमें कैलोरी बेहद कम होती है। इससे संबंधित एक शोध से जानकारी मिलती है कि पकी हुई लौकी में बहुत कम कैलोरी होती है। यही वजह है कि जो लोग डाइटिंग करते हैं उनके लिए यह एक शानदार भोजन माना जाता है। बताया जाता है कि आधा कप या 58 ग्राम लौकी में केवल आठ कैलोरी होती है (9)। वहीं, लौकी का जूस भी उसे उबाल कर ही बनाया जाता है। इस आधार पर कह सकते हैं कि लौकी का जूस वजन घटाने के लिए फायदेमंद हो सकता है।

आगे पढ़ें

लौकी जूस फॉर वेट लॉस के बाद लेख के इस हिस्से में जानिए लौकी का जूस कैसे बनाते हैं।

मोटापा कम करने के लिए लौकी का जूस का उपयोग कैसे करें?

वजन कम करने के लिए लौकी का जूस का उपयोग कैसे करें, इसके लिए यहां हम कुछ रेसिपी बता रहे हैं। इन्हें घर में आसानी से बनाया जा सकता है। इसके अलावा हम यह भी बताएंगे कि लौकी का जूस कब पीना चाहिए।

1. वजन घटाने के लिए लौकी का जूस

सामग्री:

  • उबली हुई आधी लौकी के छोटे टुकड़े
  • 2 छोटे चम्मच ताजा कटा हरा धनिया
  • 2 छाेटे चम्मच पुदीना
  • अदरक का एक छोटा टुकड़ा
  • नमक स्वादानुसार
  • चुटकीभर काला नमक
  • आधा चम्मच नींबू का रस
  • 1 कप पानी

जूस बनाने की विधि:

  • सबसे पहले ब्लेंडिंग जार में सभी सामग्रियों को डाल दें।
  • ऊपर से पानी डाल दें।
  • इसके बाद सभी सामग्रियों को 3 से 4 मिनट तक ब्लेंड करें।
  • लौकी का जूस तैयार है।
  • इस जूस को गिलास में डालकर सर्व करें।

2. लौकी का जूस नींबू व शहद के साथ

सामग्री :

  • आधी लौकी उबली हुई
  • 1 छोटा चम्मच शहद
  • 2 चम्मच नींबू का रस

जूस बनाने की विधि :

  • सभी सामग्रियों को जूसर में डालें।
  • 3 मिनट के लिए इसे ग्राइंड करें।
  • अब आप इस तैयार जूस को सर्व करें।

नोट: गर्मी के मौसम में इसे कुछ देर के लिए फ्रिज में रखने के बाद भी सेवन कर सकते हैं, ताकि यह हल्का ठंडा हो जाए।

स्क्रॉल करें

आगे जानते हैं कि वजन कम करने के लिए एक दिन में कितनी मात्रा में लौकी के जूस का सेवन कर सकते हैं।

वजन कम करने के लिए लौकी के जूस के प्रतिदिन की खुराक क्या होनी चाहिए?

लौकी जूस फॉर वेट लॉस के प्रतिदिन की खुराक की बात करें तो, इस बारे में एक शोध से जानकारी मिलती है कि 200 मिलीलीटर यानी एक कप तक इसका सेवन किया जा सकता है (10)। वहीं, एक अन्य शोध में बताया गया है कि लौकी के जूस का सेवन 100 मिलीलीटर से भी कम मात्रा में करना चाहिए (9)। वहीं, बता दें कि व्यक्ति के स्वास्थ और उम्र के अनुसार इसकी मात्रा में बदलाव संभव हो सकता है। ऐसे में इसकी मिली-जुली प्रतिक्रिया के वजह से बेहतर है कि लौकी जूस के सेवन की मात्रा से जुड़ी जानकारी के लिए एक बार डॉक्टरी सलाह भी जरूर ली जाए।

कब कर सकते हैं सेवन : एक शोध के मुताबिक, सुबह खाली पेट लौकी का जूस पीना फायदेमंद माना जा सकता है (11)। इस आधार पर मान सकते हैं कि सुबह के समय इसका सेवन करना बेहतर हो सकता है। हालांकि, इसका सेवन किसी भी समय किया जा सकता है।

आगे पढ़ें

यहां हम कुछ खास बातों का जिक्र कर रहे हैं।

वजन कम करने के लिए लौकी के जूस के कुछ जरूरी टिप्स – Points to Remember

इसमें कोई दोराय नहीं कि लौकी से मोटापा कम हो सकता है। हालांकि, इसके सेवन के समय कुछ बातों का ध्यान रखना भी जरूरी है। यहां हम ऐसे ही कुछ जरूरी टिप्स का जिक्र कर रहे हैं :

  • लौकी का जूस बनाने के लिए हमेशा ताजी और अच्छी लौकी का ही उपयोग करना चाहिए। सूखी और खराब लौकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकती है।
  • अगर लौकी का स्वाद कड़वा है, तो इसका जूस न बनाएं। इससे स्वास्थ्य को नुकसान पहुंच सकता है। वहीं, कुछ गंभीर स्थितियों में यह जान का जोखिम भी पैदा कर सकता है (12)
  • लौकी के जूस को फ्रिज में स्टोर करके न रखें। इसे हमेशा ताजा ही पीना चाहिए। हालांकि, ठंडा करने के लिए थोड़ी देर के लिए इसे फ्रिज में रख सकते हैं।
  • याद रखें कि लौकी का जूस बनाने के पहले उसे अच्छी तरह से छीलकर धो लें, फिर जूस बनाएं। इससे आप लौकी की परत पर लगे कीटनाशकों के प्रभाव से बच सकते हैं।
  • जूस बनाने से पहले लौकी को 5 मिनट के लिए उबाल लें, ताकि उसमें मौजूद हानिकारक तत्व समाप्त हो जाएं।
  • इसके अलावा, कड़वे स्वाद वाले लौकी का जूस कुछ मामलों में विषाक्तता का कारण बन सकता है, जिससे पेट में दर्द, उल्टी की समस्या, खून की उल्टी होना और दस्त की समस्या जैसी परेशानी हो सकती हैं (13)। लौकी का जूस बनाने से पहले लौकी को थोड़ा टेस्ट कर लें, अगर कड़वी हो तो जूस न बनाएं।
  • लौकी के जूस को किसी अन्य जूस के साथ मिक्स करके बिल्कुल सेवन न करें (9)
  • अगर लौकी से एलर्जी हो तो इसके जूस का सेवन न करें।

इस लेख को पढ़ने के बाद अब आप यह तो समझ गए होंगे कि लौकी से मोटापा कम हो सकता है। साथ ही यहां हमने लौकी का जूस कैसे बनाते हैं, इसकी भी विधि बताई है। ऐसे में अब चाहें तो अपनी वेट लॉस ड्रिंक में लौकी के जूस को शामिल कर सकते हैं। वहीं, इसके साथ व्यायाम और उचित खान-पान भी जरूरी है तभी इसके फायदे नजर आएंगे। इसके अलावा, लेख में कुछ उपयोगी टिप्स भी बताए गए हैं, वजन घटाने के लिए लौकी का जूस पीते वक्त जिनका ध्यान रखना जरूरी है। वहीं, अगर लौकी का जूस पीने के बाद किसी भी तरह की परेशानी हो तो बिना देर किए डॉक्टर के पास जाएं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या लौकी का जूस रोजाना पी सकते हैं?

किसी भी चीज का अधिक सेवन लाभ की जगह नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसे में बेहतर है हर रोज लौकी के जूस का सेवन करने के बजाय कभी-कभी ही इसका सेवन किया जाए। वहीं, हर रोज सेवन करना चाहते हैं, तो इससे पहले डॉक्टरी सलाह जरूर लें।

क्या लौकी पेट की चर्बी कम करती है?

हां, लौकी पेट की चर्बी कम कर सकती है (10)

लौकी का जूस कितने दिन पीना चाहिए?

लौकी का जूस कितने दिन पीना चाहिए, यह व्यक्ति के उम्र और स्वास्थ स्थिति पर निर्भर करता है। इसलिए बेहतर होगा कि इस बारे में एक बार डॉक्टरी सलाह जरूर ले लें।

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Overweight and Obesity
    https://www.nhlbi.nih.gov/health-topics/overweight-and-obesity
  2. Role of Lagenaria Siceraria Fruit Juice in Overweight and Obesity
    https://www.ijrrjournal.com/IJRR_Vol.3_Issue.7_July2016/IJRR002.pdf
  3. Is bottle gourd a natural guard?
    https://www.researchgate.net/publication/285778085_Is_bottle_gourd_a_natural_guard
  4. Fiber
    https://medlineplus.gov/ency/article/002470.htm
  5. Comparison between Centrifugation and Microfiltration As Primary Clarification of Bottle Gourd (Lagenaria siceraria) Juice
    https://pubag.nal.usda.gov/catalog/5190057
  6. Dietary flavonoid intake and weight maintenance: three prospective cohorts of 124 086 US men and women followed for up to 24 years
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4730111/
  7. Increased dietary protein consumed at breakfast leads to an initial and sustained feeling of fullness during energy restriction compared to other meal times
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/19283886/
  8. The role of protein in weight loss and maintenance
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/25926512/
  9. Bitter bottle gourd (Lagenaria siceraria): Healer or killer?
    https://www.ijnpnd.com/article.asp?issn=2231-0738;year=2012;volume=2;issue=3;spage=276;epage=277;aulast=Sukhlecha#ft5
  10. Role of Lagenaria Siceraria Fruit Juice in Overweight and Obesity
    https://www.ijrrjournal.com/IJRR_Vol.3_Issue.7_July2016/IJRR002.pdf
  11. Lipid-Lowering and Antioxidant Functions of Bottle Gourd (Lagenaria siceraria) Extract in Human Dyslipidemia
    https://journals.sagepub.com/doi/10.1177/2156587214524229
  12. Assessment of effects on health due to consumption of bitter bottle gourd (Lagenaria siceraria) juice
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3307184/
  13. Bottle gourd (Lagenaria siceraria) juice poisoning
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4677076/
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख