वजन कम करने के लिए घर पर बनाएं ये 14 जूस – Home Made Drinks For Weight Loss In Hindi

by

मोटापा ऐसी समस्या है, जिसे कई बीमारियों का घर माना गया है। यही कारण है कि बढ़ता हुआ वजन किसी को भी रास नहीं आता, लेकिन जाने-अनजाने कई लोग इसकी चपेट में आ जाते हैं। इसका सबसे बड़ा कारण अनियमित खान-पान है और चाह कर भी लोग अपने खान-पान को ठीक नहीं कर पाते। ऐसे में जरूरत होती हैं ऐसे विकल्प की, जिसकी सहायता से बढ़ते वजन को कुछ हद तक नियंत्रित किया जा सके। इस काम में घर में ही बनाए जाने वाले जूस मददगार साबित हो सकते हैं। इसलिए, स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम वजन कम करने के लिए घरेलू जूस के इस्तेमाल के बारे में बता रहे हैं। यहां इस बात को समझना भी जरूरी है कि सिर्फ जूस मोटापे की समस्या को हल नहीं कर सकता। साथ में नियमित रूप से व्यायाम व डाइट पर ध्यान देना भी जरूरी है। जूस सिर्फ मोटापे की समस्या को कम करने में मदद कर सकते हैं।

आइए, अब हम वजन कम करने के लिए जूस बनाने में इस्तेमाल होने वाली चीजों और उनके फायदों के बारे में क्रमवार जानते हैं।

वजन कम करने के लिए घरेलू जूस – Weight Loss Drinks At Home in Hindi

यहां हम 14 प्रकार के जूस के बारे में बता रहे हैं, जो वजन कम करने में मदद कर सकते हैं। साथ ही यह जानना भी जरूरी है कि अगर किसी को कोई शारीरिक समस्या जैसे – हृदय रोग या फिर डायबिटीज है, तो इन जूस का सेवन डॉक्टर से पूछकर ही करें।

1. साइट्रस युक्त पदार्थों से बने पेय

सामग्री :

  • आधा कप ग्रेपफ्रूट (चकोतरा) का गूदा
  • आधा कप पानी
  • एक चुटकी काला नमक (स्वाद के लिए)

कैसे इस्तेमाल करें :

  • सबसे पहले ग्रेपफ्रूट और पानी को ब्लेंडर में मिक्स करके जूस बना लें।
  • अब छन्नी की सहायता से इस जूस को छानकर एक गिलास में अलग कर लें।
  • बाद में इसमें स्वाद के लिए एक चुटकी काला नमक मिलाएं और पिएं।

कैसे है लाभदायक :

जिन फलों में विटामिन-सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, उन्हें साइट्रस फ्रूट की श्रेणी में गिना जाता है। यही कारण है कि ग्रेपफ्रूट भी साइट्रस फ्रूट में शामिल है (1)। विशेषज्ञों के मुताबिक, ग्रेपफ्रूट इंसुलिन की सक्रियता को बढ़ाकर ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है, जो मोटापे की समस्या का एक संभावित कारण हो सकता है (2)। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि वजन कम करने के लिए घरेलू जूस में अगर ग्रेपफ्रूट का जूस शामिल किया जाए, तो स्वाभाविक तौर पर यह बढ़ते हुए वजन को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है।

2. अनानास का जूस

सामग्री :

  • एक कप अनानास के कटे हुए टुकड़े
  • एक चुटकी काला नमक (स्वाद के लिए)

कैसे इस्तेमाल करें :

  •  अनानास के टुकड़ों को ब्लेंडर में डालकर जूस निकाल लें।
  • अब तैयार जूस को छानकर एक गिलास में अलग करें।
  • फिर जूस में एक चुटकी काला नमक मिलाकर सेवन करें।

कैसे है लाभदायक :

इस संबंध में एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर ‘फूड साइंस एंड बायोटेक्नोलॉजी’ की रिसर्च को प्रकाशित किया गया है। चूहे पर किए गए शोध के मुताबिक, अनानास का उपयोग वजन घटाने में सहायक हो सकता है। शोध में जिक्र मिलता है कि अनानास में मौजूद कुछ खास तत्व लिपिड को नियंत्रित करने के साथ-साथ वसा की उपापचय प्रक्रिया को भी प्रेरित करने में मदद कर सकते हैं। चूंकि, ये सभी वजन बढ़ने के मुख्य कारणों में शामिल हैं। ऐसे में शोध से हासिल हुए इन परिणामों को देखते हुए निष्कर्ष निकाला गया कि अनानास में एंटी-ओबेसिटी (मोटापा कम करने वाला) गुण मौजूद होता है (3)। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि वजन कम करने के लिए जूस में अनानास का उपयोग सहायक साबित हो सकता है।

3. अदरक और नींबू

सामग्री :

  • एक इंच अदरक का टुकड़ा
  • आधा नींबू
  • एक कप ठंडा पानी
  • एक चुटकी काला नमक (स्वाद के लिए)

कैसे इस्तेमाल करें :

  • अदरक को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें।
  • अब अदरक के टुकड़ों को पानी के साथ मिक्सर में डालें और अच्छे से मिक्स करें।
  • जब पानी के साथ अदरक अच्छी तरह मिक्स हो जाए, तो तैयार जूस को एक गिलास में अलग कर लें।
  • अब इसमें नींबू का रस व स्वाद के लिए एक चुटकी काला नमक मिक्स करके सेवन करें।

कैसे है लाभदायक :

विशेषज्ञों के मुताबिक, अदरक शरीर के कुछ विशेष अंगों जैसे – कमर और कूल्हों पर जमा होने वाली चर्बी को कम करने में कुछ हद तक मदद कर सकता है (4)। वहीं, नींबू के रस में मौजूद पॉलीफेनोल्स इंसुलिन की सक्रियता को बढ़ाकर ब्लड शुगर को कम करने के साथ ही खाद्य पदार्थों के द्वारा शरीर पर जमा होने वाली वसा को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं (5)। इस कारण यह माना जा सकता है कि अदरक, नींबू और पानी का मिश्रण काफी हद तक वजन घटाने के प्रयास में सकारात्मक प्रभाव प्रदर्शित कर सकता है।

4. कॉफी

सामग्री :

  • एक चम्मच कॉफी पाउडर
  •  एक कप गर्म पानी
  • एक चम्मच शहद (स्वाद के लिए)

कैसे इस्तेमाल करें :

  • सबसे पहले एक चम्मच शहद में कॉफी पाउडर को डालकर अच्छे से मिला लें।
  • अब तैयार हुए इस पेस्ट को गर्म पानी में डालें और अच्छे से मिलाएं।
  • फिर तैयार कॉफी को धीरे-धीरे पिएं।

कैसे है लाभदायक :

विशेषज्ञों के मुताबिक, कॉफी में कैफीन के साथ-साथ क्लोरोजेनिक एसिड और क्विनाइड्स जैसे खास तत्व पाए जाते हैं, जो स्वाभाविक तौर पर वजन को कुछ कम करने में मदद कर सकते हैं। साथ ही शोध में यह भी बताया गया है कि हृदय रोग से ग्रस्त मरीजों के कैफीन का सेवन करने से ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है (6)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि कॉफी का सेवन करने से बढ़ते वजन को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है। बशर्ते इसका नियमित इस्तेमाल संतुलित मात्रा में ही किया जाना चाहिए। वहीं हृदय रोगी इसके सेवन से पूर्व डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

5. ग्रीन टी और मिंट की पत्तियां

सामग्री :

  • एक चम्मच ग्रीन टी
  •  चार से पांच मिंट की पत्तियां
  •  एक कप पानी
  • शहद स्वाद के लिए (वैकल्पिक)

कैसे इस्तेमाल करें :

  • एक कप पानी को टी पैन में मिंट की पत्तियों के साथ डालें और गैस पर चढ़ा दें।
  • इसे उबलने तक गर्म होने दें।
  • जब पानी उबलने लगे, तो इसमें एक कप ग्रीन टी डालें और पांच मिनट तक गर्म करें।
  • समय पूरा होने पर तैयार चाय को कप में छान लें।
  • स्वाद के लिए इसमें एक चम्मच शहद मिलाएं और पिएं।

कैसे है लाभदायक :

ग्रीन टी वजन कम करने में सहायक साबित हो सकती है। दरअसल, ग्रीन टी में कैटेचिन नाम का खास तत्व पाया जाता है, जो वजन को कम करने में मदद कर सकता है (7), (8)। वहीं, मिंट की पत्तियां तंत्रिका तंत्र और प्रतिरोधक क्षमता में सुधार करने के साथ-साथ पाचन संबंधी कई समस्याओं को ठीक करने में मदद कर सकती हैं (9)। इस कारण यह कहा जा सकता है कि मिंट की पत्तियों के साथ तैयार की गई ग्रीन टी वजन बढ़ाने वाले जोखिम कारकों को प्रभावित कर वजन कम करने में मददगार साबित हो सकती है।

6. मेथी का पानी

सामग्री :

  • दो चम्मच मेथी के दाने
  • आधा कप पानी
  • एक चुटकी काला नमक (स्वाद के लिए)

कैसे इस्तेमाल करें :

  • एक कप पानी में दो चम्मच मेथी दाने डालकर रातभर के लिए छोड़ दें।
  • अगली सुबह पानी को छानकर अन्य कप में अलग कर लें।
  • मेथी के इस पानी में एक चुटकी काला नमक मिलाकर पी जाएं।

कैसे है लाभदायक :

बायो-मेड रिसर्च इंटरनेशनल द्वारा मेथी दानों पर किए गए एक शोध में पाया गया कि यह वजन घटाने में मदद कर सकता है। शोध में बताया गया कि मेथी दाने में इंसुलिन की सक्रियता को बढ़ाने के साथ-साथ लिपिड, कोलेस्ट्रॉल और वसा की अधिक मात्रा को नियंत्रित करने की क्षमता होती है (10)। चूंकि, ये सभी संयुक्त रूप से मोटापे के मुख्य कारणों में शामिल हैं (11)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि मेथी के फायदे में एंटी-ओबेसिटी प्रभाव यानी मोटापा कम करने वाला गुण मौजूद होता है, जो मोटापे की समस्या से परेशान लोगों को राहत दिलाने में सहायक साबित हो सकता है।

7. नारियल पानी

कैसे इस्तेमाल करें :

  • प्रतिदिन एक गिलास ताजे नारियल पानी का सेवन किया जा सकता है।

कैसे है लाभदायक :

बायो मेडिकल रिपोर्ट्स द्वारा मादा चूहों पर किए गए शोध में पाया गया कि रजोनिवृत्ति (मासिक चक्र बंद होने के बाद की स्थिति) के बाद तेजी से वजन बढ़ने की प्रवृत्ति को कम करने में ताजा नारियल का पानी मददगार साबित हो सकता है (12)। इस तथ्य को देखते हुए यह माना जा सकता है कि बढ़ते वजन कम करने के लिए नारियल पानी को बेहतर विकल्प के तौर पर इस्तेमाल में लाया जा सकता है।

8. सेलेरी का जूस

सामग्री :

  • एक कप कटी हुई सेलरी
  • एक चौथाई चम्मच काली मिर्च
  • एक कप पानी
  • एक चुटकी नमक

कैसे इस्तेमाल करें :

  • एक कप पानी व कटी हुई सेलेरी को मिक्सर में डालें और पांच मिनट तक अच्छे से मिक्स करें।
  • अच्छे से मिक्स हो जाने के बाद अब इसे एक गिलास में अलग कर लें।
  • फिर इसमें एक चुटकी नमक और काली मिर्च मिलाएं और पी लें।

कैसे है लाभदायक :

विशेषज्ञों के मुताबिक, सेलेरी जूस के फायदे में एंटी-ओबेसिटी गुण पाया जाता है। इस कारण सेलेरी के जूस का सेवन मोटापे की समस्या को नियंत्रित करने में सकारात्मक प्रभाव प्रदर्शित कर सकता है। साथ ही इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए। कारण यह है कि सेलेरी का अधिक सेवन थायराइड की समस्या का कारण बन सकता है (13)। वहीं, काली मिर्च में पेपेरिन नाम का खास तत्व पाया जाता है। साथ ही इसमें एंटी-ओबेसिटी गुण भी होता है, जो सामान्य भूख को प्रभावित किए बिना लिपिड को नियंत्रित करने के साथ-साथ वसा को कम करने में भी मदद कर सकता है (14)। इन तथ्यों के आधार पर यह कहना गलत नहीं होगा कि अगर वजन कम करने के लिए घरेलू जूस में सेलेरी के जूस का संतुलित सेवन किया जाए, तो यह मोटापे की समस्या के खिलाफ लड़ने में असरदार साबित हो सकता है।

9. टमाटर और नींबू

सामग्री :

  • एक कप कटा हुआ टमाटर
  • आधा नींबू
  • एक चुटकी काला नमक

कैसे इस्तेमाल करें :

  • कटे हुए टमाटर को मिक्सर में डाले और अच्छे से पीस लें।
  • अब तैयार जूस को गिलास में अलग कर लें।
  • तैयार जूस में नींबू का रस और काला नमक डालकर मिलाएं।
  • अब जूस को पिएं।

कैसे है लाभदायक :

वजन कम करने के लिए जूस बनाने में टमाटर और नींबू को भी इस्तेमाल में लाया जा सकता है। दरअसल, चीन के मेडिकल विश्वविद्यालय द्वारा टमाटर पर किए गए एक शोध में बताया गया है कि टमाटर के जूस का सेवन करने से युवा महिलाओं के कमर और पेट की चर्बी कुछ हद तक कम हो सकती है। साथ ही शरीर के औसत वजन में भी अंतर नजर आ सकता है (15)। वहीं, नींबू के विषय में हम ऊपर लेख बता चुके हैं कि कैसे इसमें मौजूद पॉलीफेनोल्स वजन को संतुलित करने में मदद कर सकते हैं (5)। इस प्रकार यह माना जा सकता है कि टमाटर के साथ नींबू का यह मिश्रण वजन घटाने में कुछ हद तक फायदेमंद साबित हो सकता है।

10. शहद और नींबू

सामग्री :

  • एक गिलास गर्म पानी
  • एक चम्मच शहद
  • आधा नींबू

कैसे इस्तेमाल करें :

  • एक गिलास गर्म पानी लें और उसमें शहद व नींबू अच्छे से मिलाएं।
  • अब तैयार इस मिश्रण को धीरे-धीरे पी लें।

कैसे है लाभदायक :

वजन कम करने के लिए शहद और नींबू के साथ तैयार किए गए इस घोल को बेहतरीन विकल्प माना जा सकता है। विशेषज्ञों के मुताबिक, इसमें लिपिड, कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड को कम करने की क्षमता होती है (16)। दरअसल, लिपिड, कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से वजन बढ़ने के कारणों में शामिल हैं, जो कि हम लेख में पहले भी बता चुके हैं (11)। यही कारण है कि इस मिश्रण का सेवन वजन को कुछ प्रतिशत तक कम कर सकता है।

11. केल और सेब का सिरका

सामग्री :

  • एक कप कटा हुआ केल
  • आधा कप पानी
  • एक चम्मच सेब का सिरका
  • एक चुटकी काला नमक (स्वाद के लिए)

कैसे इस्तेमाल करें :

  • कटे हुए कल और पानी को मिक्सर में डालकर मिक्स कर लें।
  • अब तैयार जूस को गिलास में अलग करें।
  • फिर इसमें एक चम्मच सिरका व नमक मिलाएं और पी लें।

कैसे है लाभदायक :

वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करने से वजन घटाने में मदद मिल सकती है (17)। कारण यह कि फाइबर युक्त पदार्थों का सेवन करने से भेट भरा हुआ महसूस होता है और लंबे समय तक भूख का अहसास नहीं होता। फाइबर का यही गुण वजन को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभाता है। वहीं, केल में प्रोटीन व कार्बोहाइड्रेट जैसे पोषक तत्वों के साथ-साथ फाइबर की भरपूर मात्रा पाई जाती है (18)। इस कारण यह माना जा सकता है कि केल से तैयार जूस का सेवन वजन कम करने में मददगार साबित हो सकता है। वहीं, इस जूस में शामिल किया जाने वाला सेब का सिरका भी काफी हद तक वजन को कम करने में सकारात्मक योगदान से सकता है (19)

12. व्हीट ग्रास और अंगूर

सामग्री :

  • एक कप कटी हुई व्हीट ग्रास
  • आधा कप अंगूर
  • आधा कप पानी
  • एक चुटकी काला नमक (स्वाद के लिए)

कैसे इस्तेमाल करें :

  • कटी हुई व्हीट ग्रास और अंगूर को पानी के साथ ब्लेंडर में डालकर जूस निकाल लें।
  • अब तैयार हुए जूस को गिलास में अलग करें और उसमें एक चुटकी काला नमक मिलाकर सेवन करें।

कैसे है लाभदायक :

व्हीट ग्रास में बढ़े हुए लिपिड और कोलेस्ट्रॉल को कम करने के साथ-साथ अन्य विषाक्त पदार्थों को दूर करने की क्षमता मौजूद होती हैं (20)। वहीं, लेख में ऊपर बताया गया है कि लिपिड और कोलेस्ट्रॉल प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से मोटापे की समस्या से जुड़े हैं। ऐसे में व्हीट ग्रास कुछ हद तक वजन को नियंत्रित करने में मदद कर सकती है। वहीं, अंगूर के गूदे में फाइबर और पॉलीफेनोल्स संयुक्त रूप से मोटापे के जोखिमों को दूर कर बढ़ते हुए वजन को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं (21)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि व्हीट ग्रास और अंगूर के मेल से तैयार किया गया जूस मोटापे की समस्या से ग्रस्त लोगों के लिए कारगर साबित हो सकता है।

13. व्हे प्रोटीन और चिया बीज से तैयार पेय

सामग्री :

  • दो चम्मच व्हे प्रोटीन पाउडर
  • एक चम्मच चिया बीज पाउडर
  • एक कप गर्म दूध (फैट फ्री)

कैसे इस्तेमाल करें :

  • एक गर्म दूध में व्हे प्रोटीन व चिया बीज पाउडर को अच्छे से मिलाएं और पी जाएं।

कैसे है लाभदायक :

मोटापे से संबंधित होने वाले जोखिमों को कम करने के साथ-साथ व्हे प्रोटीन बढ़ते वजन को नियंत्रित करने में भी मदद कर सकता है। इस संबंध में किए गए एक शोध में पाया गया कि व्हे प्रोटीन का उपयोग करें 5 प्रतिशत तक फैट को घटाकर मोटापे के जोखिम को कम करने में मदद मिल सकती है (22)। दूसरी ओर चिया बीज लिपिड और ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के साथ-साथ शरीर की उपापचय प्रक्रिया को ठीक कर वजन कम करने में मदद कर सकता है (23)। इस कारण यह माना जा सकता है कि मोटापे की समस्या से राहत पाने के लिए व्हे प्रोटीन और चिया बीज से तैयार जूस लाभकारी साबित हो सकता है।

14. दालचीनी युक्त पपीते का जूस

सामग्री :

  • एक कप कटा हुआ पपीता
  • आधा चम्मच दालचीनी पाउडर
  • एक कप ठंडा पानी
  • एक चुटकी काला नमक (स्वाद के लिए)

कैसे इस्तेमाल करें :

  • ब्लेंडर में पपीते के टुकड़े, पानी और दालचीनी पाउडर को डालकर मिक्स कर लें।
  • अब तैयार जूस को एक गिलास में अलग करके उसमें एक चुटकी काला नमक डालें।
  • फिर इसे अच्छे से मिलाएं और सेवन करें।

कैसे है लाभदायक :

इंटरनेशनल जर्नल ऑफ मोल्यूकुलर साइंसेज द्वारा डायबिटीज और मोटापे के संबंध में किए गए एक शोध में पाया गया है कि पपीता वजन घटाने में मदद कर सकता है। शोध से पता चलता है कि यह शरीर में इंसुलिन की सक्रियता को बढ़ाकर ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। वहीं, इस शोध में यह भी पाया गया है कि दालचीनी ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के साथ-साथ शरीर पर जमा चर्बी को कम करने में मदद कर सकती है (24)। चूंकि, ब्लड शुगर भी मोटापे के प्रमुख कारणों में से एक है (25), इसलिए माना जा सकता है कि दालचीनी और पपीता संयुक्त रूप से वजन कम करने में मददगार साबित हो सकता हैं।

अब तो आप यह अच्छे से समझ गए होने कि अगर मोटापे की समस्या को दूर करना है, तो आपको क्या करना चाहिए। साथ ही लेख में हमने वजन कम करने के लिए घरेलू जूस के लिए किन-किन चीजों का इस्तेमाल किया जा सकता है, इस बारे में भी विस्तार से बताया है। तो फिर देर किस बात की लेख में सुझाए गए वजन कम करने के लिए जूस के 14 प्रकार में से किसी एक का चुनाव कर नियमित इस्तेमाल में शामिल करें और स्वस्थ्य जीवन की ओर कदम बढ़ाएं। इस संबंध में कोई अन्य जानकारी चाहिए हो, तो बेझिझक नीचे दिए कमेंट बॉक्स की सहायता से अपनी बात हम तक पहुंचाएं। हम ठोस वैज्ञानिक प्रमाण के साथ आपके हर सवाल का मुमकिन जवाब देने का प्रयास करेंगे।

और पढ़े:

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Ankit Rastogi

अंकित रस्तोगी ने साल 2013 में हिसार यूनिवर्सिटी, हरियाणा से एमए मास कॉम की डिग्री हासिल की है। वहीं, इन्होंने अपने स्नातक के पहले वर्ष में कदम रखते ही टीवी और प्रिंट मीडिया का अनुभव लेना शुरू कर दिया था। वहीं, प्रोफेसनल तौर पर इन्हें इस फील्ड में करीब 6 सालों का अनुभव है। प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में इन्होंने संपादन का काम किया है। कई डिजिटल वेबसाइट पर इनके राजनीतिक, स्वास्थ्य और लाइफस्टाइल से संबंधित कई लेख प्रकाशित हुए हैं। इनकी मुख्य रुचि फीचर लेखन में है। इन्हें गीत सुनने और गाने के साथ-साथ कई तरह के म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट बजाने का शौक भी हैं।

ताज़े आलेख

scorecardresearch