बालों के लिए 6 आयुर्वेदिक नुस्खे

राइटर: अंकिता मिश्रा

एलोवेरा जेल

एलोवेरा जेल में एक प्रकार का एंजाइम होता है, जो नए हेयर फॉलिकल्स को बढ़ाने में मदद करता है।

इस्तेमाल का तरीका

एलोवेरा जेल को स्कैल्प पर लगाएं या हफ्ते में एक बार आधा कप इसका जूस पिएं।

रीठा का पानी

सदियों से बालों की देखभाल के लिए रीठा इस्तेमाल किया जाता है। इसमें सैपोनिन होता है, जो बालों को स्वस्थ रखने में मददगार होता है।

इस्तेमाल का तरीका

5-6 सूखे हुए रीठा को आधा लीटर पानी में उबालें और इसका इस्तेमाल बालों को धोने के लिए करें।

आंवला हेयर टॉनिक 

आंवले में आवश्यक फैटी एसिड के साथ-साथ विभिन्न विटामिन, मिनरल और एल्कलॉइड होते हैं, जो बालों का झड़ना रोक सकते हैं।

इस्तेमाल का तरीका

इसके रस से बालों को धोएं या इसके चूर्ण को हेयर ऑयल में मिलाकर गर्म करें और ठंडा होने पर सिर की मालिश करें।

आंवले की चटनी, मुरब्बा, आचार, जूस या चूर्ण को आहार में शामिल करें। 

 शिकाकाई शैंपू

इसका एंटीऑक्सीडेंट गुण न सिर्फ बालों के अच्छा बनाता है, बल्कि जड़ों तक जाकर उन्हें साफ करता है।

इस्तेमाल का तरीका

5-6 सूखी हुई शिकाकाई फलियों का पाउडर बनाएं। इसमें 2 चम्मच नारियल तेल व आधा कप हर्बल शैंपू मिलाकर रख दें। एक हफ्ते बाद इससे बालों को धोएं।

ब्राह्मी ऑयल

ब्राह्मी का एंटीऑक्सीडेंट गुण बालों को जड़ों से मजबूत करके उनका झड़ना कम करता है।

इस्तेमाल का तरीका

हफ्ते में 2 से 3 बार ब्राह्मी तेल से स्कैल्प की मसाज करें। आप नियमित रूप से 1 गिलास पानी के साथ 1 चम्मच ब्राह्मी चूर्ण का सेवन भी कर सकते हैं।

होम मेड भृंगराज ऑयल

भृंगराज का एंटी-माइक्रोबियल गुण स्कैल्प को वायरल संक्रमण से बचाता है। साथ ही इसके अन्य पोषक तत्व बालों के विकास को बढ़ा सकते हैं।

इस्तेमाल का तरीका

आधा कप भृंगराज तेल में एक मुट्ठी कड़ी पत्ता व 2 चम्मच मेथी दानों को गर्म करें और ठंडा होने पर इस आयुर्वेदिक तेल का प्रयोग करें।

इसी तरह के और ब्यूटी हैक्स जानने के लिए जुड़े रहें स्टाइलक्रेज के साथ।