Medically Reviewed By Dr. Suvina Attavar, MBBS, DVD
Written by , (एमए इन मास कम्युनिकेशन)

चाहे महिला हो या पुरुष साफ-बेदाग चेहरे की चाहत लगभग हर किसी को होती है, लेकिन कई बार लाख जतन के बाद भी कुछ कारणों से चेहरे पर दाग हो जाते हैं। इसलिए, स्टाइलक्रेज के इस लेख से हम मुंहासे कम करने के लिए शहद जैसे आसान और प्राकृतिक उपाय के बारे में जानकारी दे रहे हैं। पाठकों को मुंहासे से छुटकारा पाने के लिए शहद फेस मास्‍क का उपयोग आसानी से कैसे किया जाए उसकी जानकारी मिलेगी। इसके अलावा, पाठकों को पिंपल हटाने के लिए हनी फेस मास्‍क कैसे फायदेमंद हो सकता है, इस बारे में भी पढ़ने को मिलेगा।

स्क्रॉल करें

चलिए, अब सीधे पिंपल हटाने के लिए हनी फेस मास्‍क के बारे में जान लेते हैं।

मुंहासे से छुटकारा पाने के लिए शहद कैसे फायदेमंद है?

बैक्टीरिया, त्वचा में बनने वाले अधिक तेल, तरह-तरह के कॉस्मेटिक्स और बालों के उत्पादों की वजह से चेहरे पर मुंहासे व एक्ने की समस्या होती है (1)। ऐसे में शहद में मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण एक्ने के बैक्टीरिया को खत्म करने और पिंपल को ठीक करने में मददगार हो सकते हैं। यही कारण है कि विभिन्न कॉस्मेटिक उत्पादों में भी शहद का उपयोग किया जाता है (2)।

एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक रिसर्च में भी शहद को एक्ने के लिए फायदेमंद पाया गया है। शोध के दौरान मुंहासे के इलाज के लिए कुछ लोगों के चेहरे पर एंटीबैक्टीरियल साबुन का इस्तेमाल किया गया। साथ ही दूसरे ग्रुप के लोगों ने एंटीबैक्टीरियल साबुन से चेहरा धोने के बाद कनुका शहद (शहद का एक प्रकार) का उपयोग किया। 12 हफ्ते के बाद पाया गया कि जिन्होंने एंटी-बैक्टीरियल साबून के साथ त्वचा के लिए शहद का उपयोग किया उनमें ज्यादा सुधार हुआ (3)। ऐसे में कहा जा सकता है कि शहद में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल गुण एक्ने से लड़ने व उन्हें कम करने में प्रभावी हो सकते हैं।

मुंहासे से छुटकारा पाने के लिए शहद फेस मास्‍क – Honey Face Mask For Acne in Hindi

नीचे हम मुंहासे से छुटकारा पाने के लिए शहद फेस मास्‍क के बारे में विस्तार से बताएंगे। अगर फेसपैक में मौजूद सामग्रियों से एलर्जी न हो, तो एक्ने से छुटकारा पाने के लिए इनको इस्तेमाल में लाया जा सकता है।

1. बेकिंग सोडा और शहद फेस मास्क

सामग्री:

  • दो चम्मच शहद
  • एक चम्मच बेकिंग सोडा (खाने वाला)

उपयोग का तरीका:

  • दोनों सामग्रियों को अच्छी तरह से मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब इस तैयार पेस्ट को मुंहासे पर लगाएं। दो से तीन मिनट तक इसे लगा रहने दें और फिर उंगली से हल्की मसाज कर इसे हटा लें ।
  • उसके बाद गुनगुने पानी से चेहरा धो लें।

कैसे लाभदायक है:

शहद में मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण मुंहासों के लिए जिम्मेदार बैक्टीरिया को खत्म करने का काम करती है। इसके अलावा, शहद में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं, जो एक्ने में होने वाली सूजन को ठीक करने में सहायता कर सकते हैं (3) (4)। वहीं, बेकिंग सोडा का इस्तेमाल भी मुंहासों के कारण होने वाले संक्रमण को एंटीबैक्टीरियल गुण के कारण खत्म कर सकता है (5)। यह हनी फेसपैक मुंहासे को ठीक करने के साथ-साथ उसके कारण त्वचा पर होने वाले निशान को भी कम कर सकता है।

2. हल्दी और शहद फेस मास्क

सामग्री:

  • एक चम्मच ऑर्गेनिक शहद या सामान्य शहद
  • एक चुटकी हल्दी पाउडर

उपयोग का तरीका:

  • दोनों को अच्छे से मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • तैयार पेस्ट को मुंहासे पर लगाकर 15 से 20 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • फिर गुनगुने पानी से चेहरे को धो लें।

कैसे लाभदायक है:

हल्दी का इस्तेमाल आयुर्वेद में बतौर औषधि के रूप में किया जाता है। इसमें मौजूद एंटीसेप्टिक और हीलिंग (घाव को भरने के गुण) गुणों की वजह से यह कई तरह की समस्याओं के इलाज में इस्तेमाल में लाया जा सकता है (6)। हल्दी में मौजूद करक्यूमिन (Curcumin) में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं। ये दोनों गुण पिंपल व मुंहासों को ठीक कर सकते हैं (7)। साथ ही हल्दी से त्वचा में चमक भी आ सकती है। फिलहाल, इस संबंध में और शोध की जरूरत है। कुछ लोगों को हल्दी से एलर्जी हो सकती है। ऐसे में पैच टेस्ट करने के बाद ही इस फेस मास्क का इस्तेमाल करें।

3. शहद और दालचीनी (Cinnamon) फेस मास्क

सामग्री:

  • एक से दो चम्मच शहद
  • एक चम्मच दालचीनी

उपयोग का तरीका:

  • शहद और दालचीनी को मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब इस पेस्ट को मुंहासे के ऊपर या फिर पूरे चेहरे पर अच्छी तरह से लगा लें।
  • पेस्ट लगाने के बाद उसे 15 से 20 मिनट तक छोड़ दें।
  • अंत में पूरे चेहरे को धोकर पोंछ लें।
  • अगर किसी को दालचीनी से एलर्जी है, तो इस पैक का इस्तेमाल न करें।

कैसे लाभदायक है:

शहद और दालचीनी का मिश्रण भी एक्ने की समस्या को दूर करने में सहायता कर सकता है। इन दोनों में मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण मुंहासों को पैदा करने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने का काम करता है। इन बैक्टीरिया में प्रोपियोनिबैक्टीरियम एक्ने (Propionibacterium acnes) और स्टेफिलोकोकस एपिडर्मिडिस (Staphylococcus epidermidis) शामिल हैं (8)।

4. सेब का सिरका (एप्पल साइडर विनेगर) और शहद फेस मास्क

सामग्री:

  • 2 बड़े चम्मच ऑर्गेनिक शहद
  • आधा चम्मच सेब का सिरका
  • आधा चम्मच पानी
  • रूई

उपयोग का तरीका:

  • अपनी त्वचा को थोड़ा नम करके पूरे चेहरे पर शहद लगाएं।
  • शहद लगाने के बाद लगभग पांच से सात मिनट तक चेहरे की मालिश करें।
  • मालिश करने के बाद चेहरे को 30 से 40 मिनट बाद गुनगुने पानी से धो लें।
  • चेहरे के सूखने तक एप्पल साइडर विनेगर में पानी मिलाकर मिश्रण तैयार करें।
  • अब इसे बतौर टोनर रूई की मदद से चेहरे पर लगाएं।
  • इस मिश्रण के सूख जाने के बाद चेहरे पर मॉइस्चराइजर लगा लें।

कैसे लाभदायक है:

एप्पल साइडर विनेगर और शहद दोनों प्रभावशाली एंटी-एक्ने की तरह काम कर सकते हैं। दरअसल, स्किन का पीएच लेवल भी एक्ने का कारण होता है (9)। ऐसे में शहद से त्वचा की मसाज के बाद एप्पल साइडर विनेगर को लगाने से मुहांसों को दूर करने में फायदा हो सकता है, क्योंकि सेब का सिरका त्वचा के पीएच को संतुलित करने का काम करता है। इसके अलावा, शहद में मौजूद एंटीबैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण एक्ने से बचाव के लिए लाभदायक हो सकते हैं (10)।

5. शहद और दूध मास्क

सामग्री:

  • 1 बड़ा चम्मच शहद
  • 1 चम्मच दूध

उपयोग का तरीका:

  • एक कटोरे में शहद और दूध डालकर अच्छे से मिलाएं।
  • अब इस मिश्रण को प्रभावित त्वचा पर लगाएं।
  • चार-पांच मिनट त्वचा की मालिश करें।
  • मसाज के लगभग 20 से 30 मिनट बाद चेहरे को धो लें।

कैसे लाभदायक है:

दूध और शहद से बना फेस मास्क भी मुंहासों से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकता है। दूध में मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण एक्ने बैक्टीरिया को खत्म करने का काम करते हैं (11)। इसके साथ ही दूध में मौजूद लेक्टिक एसिड मुंहासों की वजह से पड़ने वाले दाग को दूर करने का काम कर सकता है (12) (13)। ऐसे में यह मास्क मुंहासों को ठीक करने के साथ ही इससे त्वचा पर पड़ने वाले दाग-धब्बों को भी ठीक करने में सहायता कर सकता है।

6. ओट्स और शहद फेस मास्क

सामग्री:

  • आधा कप पका हुआ दलिया/ ओट्स
  • 1 से 2 चम्मच शहद

उपयोग का तरीका:

  • पानी में पके हुए दलिया में शहद डालकर अच्छे से मिलाएं।
  • अब ओटमील ठंडा हो जाने के बाद उंगलियों से इसे चेहरे पर लगाएं।
  • करीब 20-30 मिनट बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें।

कैसे लाभदायक है:

ओट्स और शहद के मिश्रण को भी मुंहासों से राहत पाने के लिए उपयोग किया जा सकता है। इसमें मौजूद एंटीइंफ्लेमेशन और क्लिनंजिंग गुण एक्ने ठीक करने में मदद कर सकते हैं। साथ ही ओट्स में मौजूद सूदिंग (Soothing) एजेंट मुंहासों में होने वाली खुजली को दूर करने में मदद कर सकता है (14)। इसके साथ ही शहद में पाए जाने वाले एंटीबैक्टीरियल गुण एक्ने का कारण बनने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने में सहायक हो सकता है (3)।

7. एलोवेरा और शहद

सामग्री:

  • 1 बड़ा चम्मच एलोवेरा जेल
  • 1 बड़ा चम्मच शहद

उपयोग का तरीका:

  • एक कटोरे में शहद और एलोवेरा जेल को अच्छे से मिला लें।
  • अब इस मिश्रण को मुंहासे से प्रभावित हिस्सों पर लगाएं।
  • लगभग 10 मिनट बाद चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें।

कैसे लाभदायक है:

एलोवेरा का इस्तेमाल प्राचीन काल से ही खूबसूरती के लिए किया जाता रहा हैं। इसमें मौजूद एंटीसेप्टिक गुण बैक्टीरिया को त्वचा पर पनपने से रोक सकता है। साथ ही इसमें एंटी-एक्ने गुण भी होते हैं, जो मुंहासों से बचाते हैं (15) । इसलिए, माना जाता है कि शहद और एलोवेरा से बना यह मिश्रण दोनों पदार्थों के गुणों की वजह से मुंहासों से छुटकारा दिला सकता है। साथ ही यह फेस पैक चेहरे को जवां बनाए रखने का भी काम कर सकता है।

8. जायफल (Nutmeg) और शहद फेस मास्क

सामग्री:

  • 1 चम्मच जायफल पाउडर
  • 1 चम्मच शहद

उपयोग का तरीका:

  • जायफल के पाउडर को शहद में डालकर अच्छे से मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब इस मिश्रण को मुंहासों के धब्बों या पूरे चेहरे पर लगा लें।
  • करीब 30 मिनट के बाद चेहरे को धो लें।

कैसे लाभदायक है:

जायफल अपनी सौंधी-सौंधी सुगंध के साथ ही एंटी-बैक्टीरियल, एंटीमाइक्रोबियल, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-ऑक्सीडेंट गुणों के लिए भी जाना जाता है (16) (17) (18) । इसलिए, माना जाता है कि यह गुण बैक्टीरिया की वजह से होने वाले एक्ने को खत्म करने के साथ ही इन्हें पनपने से भी रोक सकता है (19)। मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए जायफल को दही के साथ भी इस्तेमाल में लाया जा सकता है (20)।

9. समुद्री नमक (Sea Salt) और शहद फेस मास्क

सामग्री:

  • 1 चम्मच शहद
  • 1 चम्मच समुद्री नमक (सी सॉल्ट)
  • 1 चम्मच गर्म पानी

उपयोग का तरीका:

  • सभी सामग्रियों को एक बर्तन में डालकर अच्छे से मिला लें।
  • अब मुंहासे से प्रभावित त्वचा पर इस मिश्रण को लगाएं।
  • करीब 10 मिनट बाद त्वचा को धो लें।

कैसे लाभदायक है:

शहद और सी सॉल्ट (समुद्री नमक) का मिश्रण भी पिंपल्स को ठीक करने के लिए उपयोग में लाया जा सकता है। माना जाता है कि यह त्वचा के अधिक तेल को अवशोषित करने में मदद कर सकता है, जिस वजह से चेहरे पर मुंहासों से बचाव हो सकता है (21) (22)। यदि स्किन ड्राई हा या स्किन पर कोई कट है तो इसे लगाने से परहेज करें।

10. नारियल का तेल और शहद मास्क

सामग्री:

  • 1 चम्मच वर्जिन नारियल का तेल या सामान्य नारियल का तेल
  • 1 चम्मच कच्चा शहद या सामान्य शहद

उपयोग का तरीका:

  • शहद और नारियल के तेल को एक बर्तन में डालकर अच्छे से मिला लें।
  • अब इस पेस्ट को मुंहासे वाली जगहों पर लगा लें।
  • तकरीबन 15 मिनट के बाद चेहरे को धो लें।

कैसे लाभदायक है:

नारियल के तेल में विटामिन-ई और जीवाणु रोधी यौगिक पाए जाते हैं, इसलिए इसका उपयोग मुंहासों को रोकने और इसके धब्बों के उपचार के लिए किया जा सकता है (23)। ऐसे में नारियल तेल की कुछ बूंदों को शहद में मिलाकर लगाने से एक्ने से राहत मिल सकती है। हालांकि इसका इस्तेमाल करने से पहले पैच टेस्ट करना न भूलें।

11. टी ट्री ऑयल और शहद मास्क

सामग्री:

  • 1 बड़ा चम्मच शहद
  • 2-3 बूंदें टी ट्री ऑयल

उपयोग का तरीका:

  • शहद में टी ट्री ऑयल डालें और अच्छी तरह से मिलाएं।
  • इस मिश्रण को चेहरे पर समान रूप से लगा लें।
  • करीब 10 से 12 मिनट के बाद चेहरे को धो लें।

कैसे लाभदायक है:

टी-ट्री ऑयल और शहद में मौजूद औषधीय गुण एक्ने से बचाने और इसका इलाज करने में मदद कर सकते हैं। एक शोध में टी-ट्री ऑयल और इसके जेल को हल्के से मध्यम एक्ने के उपचार में लाभदायक माना गया है (24)। दरअसल, टी-ट्री ऑयल में जीवाणु-रोधी गुण पाए जाते हैं, जो एक्ने को ठीक कर सकते हैं (25)।

12. लहसुन और शहद फेस मास्क

सामग्री:

  • लहसुन की 3 कलियां
  • डेढ़ चम्मच शहद
  • एक चुटकी हल्दी पाउडर

उपयोग का तरीका:

  • लहसुन को छीलकर पेस्ट बना लें।
  • अब इसमें शहद और हल्दी पाउडर डालकर अच्छे से मिला लें।
  • मिश्रण तैयार होने के बाद इसे मुंहासों से प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं।
  • करीबन 8 से 10 मिनट बाद इसे धो लें।

कैसे लाभदायक है:

लहसुन में एलिसिन (Allicin) होता है, जो एक जीवाणुरोधी यौगिक है। यह त्वचा को कीटाणु रहित रखने और हानिकारक बैक्टीरिया को मारने का काम करता है (26)। लहसुन के हाइड्रोक्लोरिक अर्क का इस्तेमाल एंटी-एक्ने जेल बनाने के लिए भी किया जाता है। दरअसल, इसमें एंटीबैक्टीरियल, एंटीमाइक्रोबियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। इन्हीं गुणों की वजह से यह एक्ने से लड़ने व इसके लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है (27)। लहसुन के गुणकारी तत्व कुछ लोगों को मुश्किल में डाल सकते हैं। इसलिए लहसुन का इस्तेमाल करने से पहले पैच टेस्ट जरूर करें।

13. ग्रीन टी और शहद फेसपैक

सामग्री:

  • 1 ग्रीन टी बैग
  • 1 चम्मच शहद
  • उबलता पानी आवश्यतानुसार

उपयोग का तरीका:

  • ग्रीन टी बैग को कुछ मिनट के लिए गर्म पानी में डुबो कर रखें।
  • अब टी बैग को पानी से निकालकर इसे ठंडा होने दें।
  • टी बैग के ठंडा होने पर इसे खोलकर इससे पत्तियां निकाल लें।
  • इन चाय की पत्तियों में शहद को डालकर पेस्ट तैयार करें
  • अब ग्रीन टी के काढ़े से चेहरे को अच्छे से धोएं।
  • चेहरा धोने के बाद चाय की पत्ती और शहद के पेस्ट को मुंहासों पर लगाएं।
  • इसे 15 से 20 मिनट बाद धो लें।

कैसे लाभदायक है:

ग्रीन टी में मौजूद पॉलीफेनोल्स मुंहासे के उपचार में अहम भूमिका निभा सकते हैं। यह गुण त्वचा में होने वाले सीबम (ग्रंथियों से निकले वाला एक प्रकार का तैलीय पर्ग्थ) स्राव को कम करता है। इससे मुंहासे ठीक हो सकते हैं या इनसे राहत मिल सकती है (28)। इसके अलावा, ग्रीन टी में एंटी-माइक्रोबियल और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो मुंहासे से लड़ने में सहायता कर सकते हैं (21)।

14. शहद और नींबू का मास्क

सामग्री:

  • 1 बड़ा चम्मच शहद
  • आधा चम्मच नींबू का रस
  • आधा चम्मच चीनी (वैकल्पिक)

उपयोग का तरीका:

  • एक कटोरे में शहद और नींबू का रस डालकर अच्छे से मिला लें।
  • इस मिश्रण को चेहर पर लगाकर 30 मिनट बाद धो लें।
  • इसको बतौर स्क्रब इस्तेमाल करने के लिए इसमें थोड़ी-सी चीनी मिला सकते हैं।

कैसे लाभदायक है:

एक्ने और पिंपल सबसे आम त्वचा संबंधी विकार हैं, जो चेहरे के साथ ही पीठ और अन्य हिस्सों को प्रभावित करते हैं। एक्ने के ट्रीटमेंट के लिए कई अन्य घरेलू पदार्थों की तरह ही नींबू का उपयोग किया जा सकता है (29)।

दरअसल, इसमें मौजूद फ्लेवोनोइड जीवाणुरोधी व एंटीफंगल गतिविधि को प्रदर्शित करते हैं। यही वजह है कि ये त्वचा में बैक्टीरिया को पनपने नहीं देते, जिससे एक्ने में राहत मिल सकती है। इसके अलावा, नींबू में मौजूद सिट्रस एसेडिक भी प्रोपिओनी बैक्टीरियम एक्ने (Propionibacterium Acnes) को बढ़ने नहीं देता (30)। ऐसे में माना जाता है कि नींबू का यह गुण मुंहासों से त्वचा को बचाता है। नींबू और शहद दोनों मिलकर त्वचा में निखार भी ला सकते हैं।

15. टमाटर और शहद फेस मास्क

सामग्री:

  • 1 बड़ा चम्मच टमाटर की प्यूरी
  • 2 चम्मच शहद

उपयोग का तरीका:

  • टमाटर प्यूरी में शहद डालकर अच्छी तरह से मिलाएं।
  • मिश्रण को प्रभावित क्षेत्र में अच्छे से लगा लें।
  • कुछ मिनट हल्के हाथों से चेहरे की मालिश करें।
  • मसाज के बाद लगभग 10 मिनट बाद त्वचा को धो लें।

कैसे लाभदायक है:

टमाटर को एक्ने ठीक करने और इनके निशान को कम करने के लिए लाभदायक माना जाता है। इसका पेस्ट पोर्स को सिकोड़ने का काम करता है। साथ ही त्वचा में मौजूद अधिक तेल को कम करने का काम भी करता है (31)। दरअसल, इसमें कई लाभदायक विटामिन के साथ ही एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं, जो त्वचा को एक्ने से बचा सकता है और त्वचा को स्वस्थ रख सकता है (32)। इसके साथ ही टमाटर में मौजूद लाइकोपीन (lycopene) फोटो डेमेज से भी बचाव कर सकता है, जो यूवी रेज (सूर्य की हानिकारक किरणों) की वजह से होता है (33)।

16. नीम और शहद फेस मास्क

सामग्री:

  • मुट्ठी भर नीम के पत्ते
  • तुलसी की 10-12 पत्तियां
  • 1 से 2 चम्मच शहद

उपयोग का तरीका:

  • नीम की पत्तियों को धूप में तब तक सुखाएं, जब तक वो कुरकुरी न हो जाएं।
  • अब सूखी हुई पत्तियों को पीसकर महीन पाउडर तैयार कर लें।
  • आवश्कतानुसार पाउडर एक बर्तन में लें और इसमें शहद डालकर मिला लें।
  • इस पेस्ट को मुंहासे से प्रभावित हिस्से में पर्याप्त मात्रा में लगाएं।
  • पांच से सात मिनट बाद चेहरे को धो लें।

कैसे लाभदायक है:

नीम के पेड़ के हर हिस्से का इस्तेमाल पारंपरिक चिकित्सा में त्वचा, स्वास्थ्य और प्रतिरक्षा समस्याओं के इलाज में किया जाता रहा है। नीम की पत्तियों में रोगाणुरोधी, एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो मुंहासों से छुटकारा दिला सकते हैं (19)।

एनसीबीआई में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक, नीम के इथेनॉल अर्क का इस्तेमाल करके एंटी-एक्ने पैक तैयार किया जा सकता है। इस दौरान, नीम के साथ ही ग्रीन-टी, तुलसी और कई अन्य सामग्रियों का भी इस्तेमाल किया गया। इस अध्ययन में पाया गया कि यह एंटी-एक्ने फॉर्मूला सफलतापूर्वक प्रोपियोबैक्टीरियम और स्टैफिलोकोकस एपिडर्मिस (एक्ने और उसमें इंफेक्शन पैदा करने वाले बैक्टीरिया) के खिलाफ काम करता है (34)।

17. लाल चंदन और शहद फेसपैक

सामग्री:

  • 2 चम्मच लाल चंदन पाउडर
  • 2 चम्मच शहद
  • 1 चम्मच पानी

उपयोग का तरीका:

  • पेस्ट बनाने के लिए सभी सामग्रियों को एक बर्तन में डालकर अच्छे से मिला लें।
  • अब इसे पूरे चेहरे और मुंहासे से प्रभावित हिस्सों पर लगाएं।
  • मिश्रण के सूखने के बाद इसे धो लें।

कैसे लाभदायक है:

लाल चंदन पाउडर मुंहासे के साथ ही इसके निशान भी कम करने में मदद कर सकता है। इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी और कूलिंग गुण एक्ने की वजह से होने वाली सूजन और एक्ने को कम करने का काम करते हैं। इसमें एंटीसेप्टिक एजेंट भी है, जो एक्ने से होने वाले मवाद से भरे लाल घाव से राहत दिलाता है (35)।

18. जैतून का तेल और शहद फेस मास्क

सामग्री:

  • 2 बड़े चम्मच शहद
  • 2 चम्मच वर्जिन जैतून का तेल
  • आवश्यकतानुसार गर्म पानी
  • रूई

उपयोग का तरीका:

  • शहद और जैतून के तेल को अच्छे से मिलाकर मिश्रण तैयार करें।
  • अब गर्म पानी में वॉशक्लॉथ व रूई को भिगो लें।
  • सबसे पहले जैतून के तेल और शहद के मिश्रण को प्रभावित जगह पर लगाकर पांच मिनट तक मसाज करें।
  • मसाज के बाद पानी से रूई या वॉशक्लॉथ को निकालकर चेहरे को पोंछ लें।

कैसे लाभदायक है:

जैतून के तेल में मौजूद फेनोलिक यौगिक ऑलेरोपीन (Oleuropein) में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी व रोगाणुरोधी गतिविधि पाई जाती है। ये तीनों गुण मुंहासों को ठीक करने में मदद कर सकते हैं (36)। वहीं, जब इसे शहद के साथ मिला लिया जाता है, तो यह उत्कृष्ट एंटी-एक्ने फेस मास्क की तरह का काम कर सकता है।

19. एस्पिरिन (Aspirin) और शहद

सामग्री:

  • 2 से 3 एस्पिरिन की गोलियां
  • आधा चम्मच शहद
  • आवश्यकतानुसार पानी

उपयोग का तरीका:

  • एस्पिरिन की गोलियों को क्रश करके पाउडर बना लें।
  • अब इसमें शहद और पानी डालकर पेस्ट बना लें।
  • इस मिश्रण को मुंहासों से प्रभावित हिस्सों पर लगाएं।
  • लगभग 10 मिनट के बाद एस्पिरिन मास्क को धो लें।

कैसे लाभदायक है:

एस्पिरिन में मौजूद सैलिसिलिक (Salicylic) एसिड का उपयोग मुंहासों के उपचार के लिए किया जाता है। माना जाता है कि यह पिंपल और सूजन को कम करने में लाभदायक हो सकता है (21)।

20. शहद और चीनी

सामग्री:

  • 1 बड़ा चम्मच शहद
  • 1 चम्मच ब्राउन शुगर या व्हाइट शुगर

उपयोग का तरीका:

  • चीनी में शहद डालकर अच्छे से मिला लें।
  • चीनी के पिघलने से पहले शहद और चीनी के मिश्रण को एक्ने प्रभावित हिस्सों पर लगा लें।
  • लगभग 15 मिनट बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें।

कैसे लाभदायक है:

शहद और चीनी के मिश्रण को बेहतरीन स्क्रब और मास्क माना जाता है। लोगों का मानना है कि यह त्वचा में मौजूद ऑयल को खत्म कर सकता है, जिससे एक्ने में राहत मिल सकती है। हालांकि, इसका कोई प्रमाण मौजूद नहीं है, लेकिन शहद और चीनी का इस्तेमाल त्वचा के लिए अच्छा माना गया है। साथ ही इसे एक्ने ठीक करने के लिए बतौर विकल्प इस्तेमाल किया जा सकता है (37)।

नोट: अगर हल्के या मध्यम एक्ने हैं, तो यह घरेलू उपचार काम कर सकता है। वहीं, अगर एक्ने गंभीर हैं, तो एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए। इसके अलावा, अगर ऊपर बताई गई किसी सामग्री से आपको एलर्जी है, तो उसका उपयोग न करें।

अधिक जानकारी आगे है

चलिए, अब फेसपैक लगाते समय किन सावधानियों को बरतना जरूरी है, इस पर भी एक नजर डाल लेते हैं।

बचाव – Caution

मुंहासे से छुटकारा पाने के लिए शहद फेस मास्‍क का इस्तेमाल करने से पहले कुछ एतिहात बरतने की भी जरूरत है। सावधानी न बरतने पर मुंहासे ठीक होने की जगह बढ़ भी सकते हैं। इसलिए, फेस मास्क का इस्तेमाल करते समय नीचे दी गई बातों का ख्याल जरूर रखें।

  • त्वचा को अगर स्क्रब कर रहे हैं, तो हल्के हाथों से धीरे-धीरे स्क्रब करें। ऐसा इसलिए, क्योंकि एक्ने की वजह से त्वचा में सूजन होने के साथ ही संवेदनशील भी होती है।
  • हल्दी का उपयोग करते समय ख्याल रखें कि इसे ज्यादा मात्रा में न लगाएं। ऐसा करने पर त्वचा में हल्दी के पीले दाग रह सकते हैं।
  • दालचीनी या अन्य कोई ऐसा पदार्थ, जिससे एलर्जी हो उसका उपयोग न करें।
  • एप्पल साइडर विनेगर एसेडिक होता है, इसलिए हमेशा पानी डालकर ही इसका इस्तेमाल करें।
  • मुंहासे से छुटकारा पाने के लिए हनी फेस मास्‍क का उपयोग करने के बाद त्वचा पर जेल बेस्ड मॉइस्चराइजर लगाना न भूलें।
  • पिंपल हटाने के लिए हनी फेस मास्‍क लगाते समय ब्रश या हल्के हाथों का ही इस्तेमाल करें। त्वचा पर किसी तरह का दबाव न बनाएं।
  • नारियल का तेल युक्त फेस मास्क का इस्तेमाल हर प्रकार की त्वचा के अनुरूप नहीं होता। अगर पैक लगाने वाले व्यक्ति की त्वचा बहुत तैलीय है, तो इसके
  • इस्तेमाल से मुंहासे बढ़ भी सकते हैं। इसलिए, अपने त्वचा के अनुरूप ही फेसपैक का चुनाव करें।
  • लहसुन का इस्तेमाल करते वक्त त्वचा पर जलन हो सकती है। इसलिए, लहसुन की ज्यादा मात्रा का इस्तेमाल न करें।
  • त्वचा में किसी तरह का कट या घाव लगा हो, तो टमाटर या लहसुन का प्रयोग न करें।
  • साथ ही पिंपल हटाने के लिए हनी फेस मास्‍क का उपयोग चेहरे पर करने से पहले पैच टेस्ट कर लें। परीक्षण बांह या हाथों में किया जा सकता है।

मुंहासे से छुटकारा पाने के लिए शहद फेस मास्‍क को किस-किस तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं, यह तो आप जान ही चुके हैं। बस अब अपनी त्वचा के प्रकार और उसकी संवेदनशीलता को ख्याल में रखते हुए लेख में दिए गए 20 हनी फेस मास्‍क में से किसी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। हम उम्मीद करते हैं कि अपनी त्वचा का ध्यान रखकर हमेशा दमकते रहेंगे। इस लेख को अपने दोस्तों के साथ साझा करना न भूलें। आपका एक कदम उन्हें मुंहासों और इसके दाग को कम करने में मदद कर सकता है।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या पूरी रात शहद को लगाने से मुंहासों से छुटकारा पा सकते हैं?

नहीं, शहद का उपयोग मुंहासों से एक रात में छुटकारा नहीं दिला सकता है। नियमित रूप से रात में इसका इस्तेमाल करने से मुंहासों की समस्या को काफी हद तक कम करने में मदद हो सकती है।

क्या शहद को पूरी रात अपने चेहरे पर लगाया जा सकता है?

हां, शहद को पूरी रात चेहरे पर लगाया जा सकता है। बशर्ते, इसमें बराबर मात्रा में पानी मिलाया गया है। सीधे तौर पर त्वचा पर शहद लगाना चिपचिपा हो सकता है। यही वजह है ड्राई स्किन वाले लोगों को शहद में बराबर मात्रा में पानी मिलाकर लगाने की सलाह दी जाती है।

संदर्भ (Sources):

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Acne
    https://medlineplus.gov/ency/article/000873.htm
  2. Medicinal and cosmetic uses of Bee’s Honey – A review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3611628/
  3. Honey: A Therapeutic Agent for Disorders of the Skin
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5661189/
  4. The Role of Inflammation in the Pathology of Acne
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3780801/
  5. Antibacterial activity of baking soda
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/12017929/
  6. Turmeric the Golden Spice
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK92752/
  7. Effects of Turmeric (Curcuma longa) on Skin Health: A Systematic Review of the Clinical Evidence
    htps://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/27213821/
  8. Antibacterial Activity of Ethanolic Extract of Cinnamon Bark Honey and Their Combination Effects against Acne-Causing Bacteria
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/28398231/
  9. Skin Surface pH in Acne Vulgaris: Insights from an Observational Study and Review of the Literature
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5605222/
  10. Apple Cider Vinegar Could Benefit Your Health
    http://www.aztecnm.gov/senior-community/nutrition/AppleCiderVinegar.pdf
  11. Antibacterial and antiviral effects of milk proteins and derivatives thereof
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/12769735/
  12. Lactic acid bacteria in dairy food: surface characterization and interactions with food matrix components
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/25277266/
  13. Lactic acid peeling in superficial acne scarring in Indian skin
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/20883299/
  14. Colloidal oatmeal: history chemistry and clinical properties
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/17373175/
  15. ALOE VERA: A SHORT REVIEW
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2763764/
  16. Antibacterial principles from Myristica fragrans seeds
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/17004905/
  17. Antimicrobial activity of nutmeg against Escherichia coli O157
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16233309/
  18. Effects of macelignan isolated from Myristica fragrans (Nutmeg) on expression of matrix metalloproteinase-1 and type I procollagen in UVB-irradiated human skin fibroblasts
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23037157/
  19. PREPARATION AND EVALUATION OF HERBAL ANTI-ACNE GEL
    http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.302.2512&rep=rep1&type=pdf
  20. Efficacy of Nutmeg as a Face Cream an Mukhsdushika
    https://www.researchgate.net/publication/334250403_Efficacy_of_Nutmeg_as_a_Face_Cream_an_Mukhsdushika
  21. ACNE-CAUSES AND AMAZING REMEDIAL MEASURES FOR ACNE
    https://www.academia.edu/33538604/ACNE-CAUSES_AND_AMAZING_REMEDIAL_MEASURES_FOR_ACNE
  22. Acne – self-care
    https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000750.htm
  23. Antibacterial Effect of Coconut Oil Encapsulated Chitosan Nanoparticles
    https://www.researchgate.net/publication/327350430_Antibacterial_Effect_of_Coconut_Oil_Encapsulated_Chitosan_Nanoparticles
  24. The efficacy of 5% topical tea tree oil gel in mild to moderate acne vulgaris: a randomized double-blind placebo-controlled study
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/17314442/
  25. Effect of tea tree (Melaleuca alternifolia) oil as a natural antimicrobial agent in lipophilic formulations
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/25515896/
  26. Garlic: a review of potential therapeutic effects
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4103721/
  27. Preparation and Evaluation of Garlic Extract Containing Herbal Anti-acne Gel
    https://www.researchgate.net/publication/262944034_Preparation_and_Evaluation_of_Garlic_Extract_Containing_Herbal_Anti-acne_Gel
  28. Green Tea and Other Tea Polyphenols: Effects on Sebum Production and Acne Vulgaris
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5384166/
  29. Treatment Modalities for Acne
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6273829/
  30. ANTIBACTERIAL ACTIVITY OF Citrus limon ON Acnevulgaris ( PIMPLES ) SHINKAFI
    https://www.semanticscholar.org/paper/ANTIBACTERIAL-ACTIVITY-OF-Citrus-limon-ON-%28-PIMPLES-Pimples/74f374e7aa23dd53e4660323a31d858c97fafa39?p2df
  31. Acne scars
    https://www.academia.edu/14786414/Acne_scars
  32. EVALUATION OF ANTIBACTERIAL ACTIVITY OF FIVE SELECTED FRUITS ON BACTERIAL WOUND ISOLATES
    http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.642.4120&rep=rep1&type=pdf
  33. Plants used to treat skin diseases
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3931201/
  34. Medicinal Plants for the Treatment of Acne Vulgaris: A Review of Recent Evidences
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4740760/
  35. Anti-inflammatory analgesic and antioxidant activities of methanolic wood extract of Pterocarpus santalinus L.
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3157138/
  36. Oleuropein in Olive and its Pharmacological Effects
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3002804/
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.
कविता सिंह ने पंजाब तकनीकी विश्वविद्यालय से मास कम्युनिकेशन में स्नातक हैं। इन्होंने वर्ष 2014 में एक प्रख्यात न्यूज चैनल... more

Dr. Suvina Attavar

(MBBS, DVD)
Dr. Suvina Attavar - I have a thirst for learning and a passion for Dermatology, Cosmetology and hair transplantation. I... more

ताज़े आलेख